myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत
संक्षेप में सुनें

डेंगू बुखार डेंगू वायरस से संक्रमित मच्छर के काटने के कारण होने वाली बीमारी है। यह दुनिया के उष्णकटिबंधीय (ट्रॉपिकल) क्षेत्रों में प्रचलित है। डेंगू बुखार एक दर्दनाक, अक्षम या असमर्थ करने वाली बीमारी है, जिसमें दर्द की गंभीरता हड्डियों के टूटने के सामान्य होती है - इसलिए इसे 'ब्रेकबोन' (हड्डी-तोड़) बुखार भी कहा जाता है।

डेंगू बुखार हर साल दुनिया भर में करीब 40 करोड़ लोगों को प्रभावित करता है, और दुनिया की लगभग 40% आबादी संक्रमण के खतरे में है। चूंकि डेंगू बुखार वायरस के कारण होता है, इसलिए इसे एंटीबायोटिक दवाओं से ठीक नहीं किया जा सकता है।

बरसात के मौसम के बाद यह रोग बहुत आम हो जाता है। डेंगू बुखार मच्छर के काटने से फैलता है और यह अत्यधिक संक्रामक है। अफ्रीका, उत्तर और दक्षिण अमेरिका, पूर्वी भूमध्यसागर, दक्षिण-पूर्वी एशिया और पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र के 100 से अधिक देशों में यह रोग पाया जाता है। उत्तर और दक्षिण अमेरिका, दक्षिण-पूर्व एशिया और पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र सबसे गंभीर रूप से प्रभावित हैं।

यह पिछले दो दशकों से भारत में एक बहुत ही सामान्य बीमारी बीमारी बन गया है। डेंगू किसी को प्रभावित कर सकता है, चाहे वह छोटा बच्चा हो या कोई बड़ा व्यक्ति, नर या नारी। डेंगू बुखार का एक गंभीर और जीवन के लिए खतरनाक रूप है डेंगू हॅमरेजिक बुखार (डीएचएफ), जिसके शिकार ज़्यादातर बच्चे होते हैं।

  1. डेंगू बुखार के लक्षण - Dengue Fever Symptoms in Hindi
  2. डेंगू बुखार के कारण - Dengue Fever Causes in Hindi
  3. डेंगू बुखार से बचाव - Prevention of Dengue Fever in Hindi
  4. डेंगू बुखार का परीक्षण - Diagnosis of Dengue Fever in Hindi
  5. डेंगू बुखार का इलाज - Dengue Fever Treatment in Hindi
  6. डेंगू बुखार के जोखिम और जटिलताएं - Dengue Fever Risks & Complications in Hindi
  7. डेंगू बुखार की आयुर्वेदिक दवा और इलाज
  8. मानसून में डेंगू के बढ़ते जोखिमों को न करें नजरअंदाज
  9. डेंगू होने पर क्या करे प्राथमिक उपचार
  10. थमेगा डेंगू का कहर, वैक्सीन को मिली मंजूरी
  11. डेंगू के घरेलू उपाय
  12. मानूसन में डेंगू ने दी दस्तक, जानिए बचाव के तरीके
  13. डेंगू की दवा - Medicines for Dengue Fever in Hindi
  14. डेंगू की दवा - OTC Medicines for Dengue Fever in Hindi
  15. डेंगू के डॉक्टर

डेंगू बुखार के लक्षण - Dengue Fever Symptoms in Hindi

डेंगू बुखार के प्रमुख लक्षणों में शामिल है:

  1. अचानक तेज़ बुखार (104 डिग्री तक भी हो सकता है)।
  2. ठंड लगना।
  3. गंभीर सिरदर्द (आमतौर पर आँखों के पीछे)।
  4. मांसपेशियों में दर्द और जोड़ों में दर्द।
  5. मतली।
  6. उल्टी होना।
  7. त्वचा का लाल होना और साथ ही जलन महसूस होना।
  8. कुछ मामलों में खसरे के समान चकत्ते।

डेंगू बुखार के लक्षण शुरू में हल्के हो सकते हैं और इस लिए इन्हे कई बार ग़लतफहमी में सर्दी या वायरल के लक्षण समझ लिया जाता है। थोड़े से मामलों में, डेंगू का बुखार एक गंभीर रूप ले लेता है जिसे डी-एच-एफ के नाम से जाना जाता है। डी-एच-एफ काफ़ी जानलेवा हो सकता है, जिसके परिणामस्वरूप रक्तस्राव होता है, रक्त प्लेटलेट की गिनती कम हो जाती है (थ्रॉम्बोसाइटोपेनिया), रक्त प्लाज्मा रिसाव हो सकता है, या अधिक घातक डेंगू शॉक सिंड्रोम भी हो सकता है जिससे खतरनाक रूप से रक्तचाप कम होता है।

डेंगू बुखार के कारण - Dengue Fever Causes in Hindi

डेंगू होने के कारण

डेंगू वायरस वाले मच्छरों के काटने से डेंगू बुखार और डेंगू हॅमरेजिक बुखार (डीएचएफ) मानव-से-मच्छर-से-मानव तक फैलता है। डेंगू वायरस एक समूह से संबंधित है जिसे फ्लैवीवायरस कहा जाता है और इन्हें आमतौर पर चार वायरल श्रेणियों में डाला जाता है: डी-ई-एन 1, डी-ई-एन 2, डी-ई-एन 3 और डी-ई-एन 4।

एडीस (aedes) प्रजाति के कई मच्छरों से डेंगू संचारित हो सकता है - विशेष रूप से, एडीस ईजिप्टी (Aedes aegypti) प्रजाति जो कि डेंगू संचरण का प्रमुख कारण है। मच्छर की यह प्रजातियां स्थिर जल में पनपती हैं और आमतौर पर दिन के दौरान काटती हैं। एक व्यक्ति के संक्रमित होने के बाद वायरस 2-7 दिनों के लिए रक्त में फैलता है और उस दौरान अगर इस व्यक्ति को मच्छर काटता है तो वह मच्छर भी संक्रमित हो जाता है और दूसरे लोगों को काटकर संक्रमित कर देता है।

डेंगू वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में सीधे नहीं फैलता, यह संक्रामक नहीं है और व्यक्ति से व्यक्ति के संपर्क में नहीं फैलता। इस वायरस को फैलने के लिए एडीज़ मच्छर की जरूरत पड़ती है। ये मच्छर हल्के ठंडे तापमान में जीवित रह सकते हैं, इस मौसम में ये आसानी से वायरस फैला पाते हैं। 

डेंगू बुखार से बचाव - Prevention of Dengue Fever in Hindi

डेंगू की रोकथाम

डेंगू को रोकने के लिए कुछ बुनियादी कदम वास्तव में सबसे प्रभावी उपाय है। डेंगू होने का एकमात्र तरीका मच्छर का काटना होता है, इसलिए इसे रोकने के लिए सबसे अच्छा तरीके है मच्छरों से बचना और मच्छरों के पैदा होने को रोकना। यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है अगर आपके शहर में डेंगू महामारी चल रही है। डेंगू को रोकने के कुछ तरीके नीचे वर्णित हैं:

  1. डेंगू से बचने के घरेलू उपाय: स्थिर पानी इकट्ठा ना होने दें - Avoid stagnant water to prevent Dengue Fever in Hindi
  2. डेंगू से बचने के घरेलू उपाय: मच्छरों द्वारा काटे जाने से बचें - Avoid being bitten by mosquitoes to prevent Dengue Fever in Hindi
  3. डेंगू में क्या खायें - Food for Dengue Patient in Hindi

डेंगू से बचने के घरेलू उपाय: स्थिर पानी इकट्ठा ना होने दें - Avoid stagnant water to prevent Dengue Fever in Hindi

मच्छर स्थिर पानी में पैदा होते हैं। इसलिए घर में और घर के आसपास पौधों, बाल्टी आदि या जमीन पर स्थिर पानी इकट्ठा ना होने दें। पानी को हमेशा बंद कंटेनर में ही रखा जाना चाहिए। कहीं पर भी पानी इकट्ठा हो जाए तो उसे तुरंत सॉफ कर देना चाहिए। स्विमिंग पूल में पानी को साफ रखना मुश्किल हो सकता है, खासकर यदि आप उसे ढक कर नहीं रख सकते हैं।

मच्छरों के पैदा होने को नियंत्रित करने के लिए पूल में कुछ गप्पी मछलियां डालनी आसान उपाय है। गप्पी, जो कि मीठे पानी की एक मछली है, मच्छर लार्वा और अंडे खाती है जो पूल में मच्छर होने से रोकता है।

पानी के एन स्रोतों में जो कि पीने के लिए नहीं हैं, उनमें ब्लीचिंग पाउडर का उपयोग किया जा सकता है, क्योंकि ब्लीचिंग पाउडर मच्छर के अंडों के विकास को रोकता है।

डेंगू से बचने के घरेलू उपाय: मच्छरों द्वारा काटे जाने से बचें - Avoid being bitten by mosquitoes to prevent Dengue Fever in Hindi

मच्छरों द्वारा काटे जाने से बचें। मच्छर हमें काटते हैं क्योंकि उन्हें अंडों का उत्पादन करने के लिए मानव रक्त में मौजूद प्रोटीन की आवश्यकता होती है। काटना रोकने के लिए मच्छर को दूर भगाने वाले स्प्रे या पौधों का उपयोग करें, चाहे घर के अंदर या बाहर।

मच्छरों से बचने के लिए, एक अच्छी तरह से बंद या वातानुकूलित घर के अंदर रहना सबसे अच्छा है। यदि यह संभव नहीं है, तो मच्छरदानी का प्रयोंग अवश्य करना चाहिए।

मच्छर के काटने को रोकने के लिए एक और तरीका है कि जब बाहर हों तब लंबी बाजू वाली शर्ट, पैंट, मोज़े और जूते पहनें।

सुबह या शाम को मच्छर अधिक सक्रिय होते हैं। इसलिए डेंगू से संक्रमित मच्छर से काटे जाने की संभावना कम करने के लिए इन समय के दौरान बाहर होने से बचना चाहिए।

मच्छरों को गहरे रंग के वस्त्र आकर्षित करते हैं, इसलिए हल्के रंग के कपड़े पहनना बेहतर है।

इत्र या सुगंधित शरीर लोशन ना लगायें या कम लगायें, क्योंकि मच्छरों को तेज़ गंध आकर्षित करती हैं।

कीटनाशक छिड़काव या फॉगिंग भी प्रभावी हो सकते हैं।

डेंगू में क्या खायें - Food for Dengue Patient in Hindi

डेंगू के साथ ही साथ कई सामान्य वायरल बीमारियों को रोकने या उनका उपचार करने में मदद के लिए सही आहार एक ज़रूरी कदम है+। ऐंटी-वायरल गुणों से समृद्ध भोजन और जड़ीबूटियों आपके शरीर को संक्रमण से बचा सकते हैं। साधारण खाने की सामग्री जैसे कि अदरक और लहसुन को आपके आहार में शामिल किया जाना चाहिए या कच्चे खाया जाना चाहिए। (और पढ़ें - लहसुन के फायदे)

 

डेंगू बुखार का परीक्षण - Diagnosis of Dengue Fever in Hindi

डेंगू का निदान कैसे किया जाता है? 

जब बुखार के साथ शरीर, मांसपेशियों या जोड़ों में तेज दर्द होने लगे तो ये डेंगू के संकेत हो सकते हैं। उष्णकटिबंधीय या उप-उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों रहने वाले अगर किसी व्यक्ति को 2 हफ्ते से उपर बुखार है, तो उसकी जांच करना बहुत जरूरी है। डेंगू होने के लक्षण अक्सर फ्लू, खसरा, और टाइफाइड बुखार आदि जैसे अन्य रोगों के समान होते हैं। इसलिए असली बीमारी का पता लगाने के लिए हमेशा पहले जांच की जाती है। खून में एंटीबोडीज और वायरस की उपस्थिति का पता लगाने के लिए खून की जांच की जाती है।

डेंगू के संक्रमण का निदान निम्नलिखित तरीकों के द्वारा किया जाता है -

  • लक्षणों की उपस्थिति के 5 दिनों के भीतर रोगियों के सेरम का सेंपल लेकर उनमें उपस्थित वायरस का पता लगाना
  • पूर्ण खून की जांच
  • लक्षणों की शुरुआत के 6 दिनों के भीतर, शरीर में विशिष्ट एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए सेरम का सेंपल लेकर किया जा सकता है।
  • रोगी के शरीर से लिए गए सीरम या सेरेब्रो स्पाइनल द्रव (CSF) के सेंपल से वायरल जीनोमिक का पता लगाने के लिए पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (Polymerase Chain Reaction) का उपयोग किया जाता है। लेकिन ये काफी महंगा और जटिल भी हो सकता है

रक्तस्त्रावी डेंगू जैसी गंभीर जटिल स्थितियों में निम्न निदान करना चाहिए -

  • टूनिकेट टेस्ट करना - जब टूनिकेट को रोगी के हाथ से बांधा जाएगा उस दौरान अगर खून के धब्बे बाहर दिखते हैं तो मरीज खून में खून की अधिकता है। जो मरीज में रक्तस्त्रावी डेंगू को संकेत देती है।
  • प्लैटलेट का घटना - इसको थ्रोम्बोसाइटोपेनिया भी कहा जाता है यह तब होता है जब प्लेटलेट की संख्या 1 लाख से कम हो जाए। सामान्य व्यक्ति में प्लेटलेट की संख्या 1.5 लाख से 4 लाख होनी चाहिए। प्लेटलेट की संख्या में कमी डेंगू के संकेत दिखाती है।
  • हेमोटोक्रिट में वृद्धि - लाल रक्त कोशिकाओं (red blood cells) की मात्रा में 20% तक वृद्धि भी एक संकेत हो सकता है अगर यह प्लाज्मा की वेस्कुलर पर्मेबिलिटी (vascular permeability) में बढ़ोत्तरी के कारण हुआ हो।

डेंगू बुखार का इलाज - Dengue Fever Treatment in Hindi

डेंगू का उपचार कैसे करें?

डेंगू बुखार एक वायरस के कारण होता है, इसलिए इसका उपचार करने के लिए कोई एंटीबायोटिक्स नहीं है। इसके इलाज के लिए कोई एंटीवायरल दवा भी मौजूद नहीं है। डेंगू का इलाज करने के लिए उसके लक्षण और संकेतों को ठीक करने पर ध्यान देना होता है। 

इस दौरान डॉक्टर मरीज को अधिक से अधिक तरल पदार्थ पीने की सलाह देते हैं, ताकि उल्टी और बुखार से शरीर में होने वाली पानी की कमी को दूर किया जा सके।

डेंगू ठीक होने के दौरान, हमेशा निर्जलीकरण के लक्षण और संकेतों पर नजर रखनी चाहिए। अगर नीचे दिए गए किसी भी लक्षण या संकेत मरीज के शरीर में दिखे तो जल्दी से जल्दी डॉक्टर से बात करनी चाहिए -

  1. पेशाब की मात्रा में कमी
  2. आंसू कम आना या बिलकुल ना आना
  3. मुंह और होंठ सूखे रहना
  4. सुस्ती या अस्त-व्यस्त रहना
  5. हाथ-पैरों के सिरों में ठंड महसूस होना

पैरासिटामोल (Paracetamol) दवाएं दर्द और बुखार को कम कर देती हैं।

ऐसी दर्द निवारक दवाएं लेने से बचें जिनके कारण से खून बहने जैसी  जटिलताएं बढ़ती हैं, जैसे एस्पिरिन, आईबूप्रोफेन और नेप्रोक्सिन सोडियम आदि।

डेंगू के इलाज में कई घरेलू और प्राकृतिक चीजें भी काफी मदद करती हैं, जैसे पपीते के पत्ते, कीवी आदि। ऐसे कई घरेलू और प्राकृतिक खाद्य पदार्थ हैं, जो प्लेटलेट को बढ़ाने में शरीर की मदद करते हैं।

डेंगू के मरीज की देखभाल के लिए मिंनलिखित चीज़ों की ज़रूरत पड़ सकती है -

  1. अस्पताल में अच्छी देखभाल
  2. इंटरविनस (तरल पदार्थों और इलैक्ट्रोलाइट के प्रतिस्थापन के लिए)
  3. रक्तचाप की जांच के लिए मॉनिटर
  4. खून में कमी की आपूर्ति के लिए ट्रांसफ्यूजन

डेंगू बुखार के जोखिम और जटिलताएं - Dengue Fever Risks & Complications in Hindi

डेंगू की वजह से होने वाली अन्य बीमारियां?

डेंगू बुखार कई बार रक्तस्त्रावी डेंगू और डेंगू शॉक सिंड्रोम जैसे कई खतरनाक रूप धारण कर सकता है। जिस कारण से जानलेवा लक्षण पैदा हो जाते हैं। डेंगू के कारण होने वाली जटिलताओं में से कुछ निम्न हैं:

  • शरीर में द्रव की कमी (गंभीर निर्जलीकरण)
  • लगातार शरीर से खून निकलना
  • प्लेटलेट्स घटना
  • रक्तचाप का खतरनाक तरीके से कम होना
  • ब्रैडीकार्डिया (हृद्य का 1 मिनट में 60 से भी कम बार धड़कना)
  • एन्केफेलाइटिस, सेजर्ज और खून बहने के कारण दिमाग को नुकसान पहुंचना
  • रोग प्रतिरोधक प्रणाली को नुकसान
  • लीवर का फैल जाना और उसको नुकसान पहुंचना
Dr. Neha Gupta

Dr. Neha Gupta

संक्रामक रोग

Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग

डेंगू की दवा - Medicines for Dengue Fever in Hindi

डेंगू के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
DoloparDOLOPAR 25/500MG TABLET 10S33
Sumo LSUMO L 650MG TABLET22
PacimolPACIMOL 500MG TABLET 15Nos11
DoloDolo 100 MG Drop26
Zerodol PZerodol-P Tablet32
Zerodol SpZerodol-SP Tablet59
Zerodol MRZerodol Mr 100 Mg/2 Mg Tablet Mr62
SumoSUMO GEL 15GM50
Calpol TabletCALPOL TABLET 1000S455
Samonec PlusSamonec Plus 100 Mg/500 Mg Tablet26
EbooEboo 500 Mg Tablet31
Hifenac P TabletHifenac P Tablet56
Eboo PlusEboo Plus 500 Mg Tablet104
IbicoxIbicox 100 Mg/500 Mg Tablet44
Serrint PSerrint P 100 Mg/500 Mg Tablet28
Eboo SpazEboo Spaz 500 Mg Tablet21
Ibicox MrIbicox Mr Tablet101
FabrimolFabrimol 250 Mg Suspension7
Iconac PIconac P 100 Mg/500 Mg Tablet30
Sioxx PlusSioxx Plus 100 Mg/500 Mg Tablet24
FebrexFEBREX 500MG TABLET 15S0
Inflanac PlusInflanac Plus 100 Mg/500 Mg Tablet20
Sistal ApSistal Ap Tablet59
FebrinilFebrinil 125 Mg Suspension20
InstanaInstana 200 Mg/325 Mg Tablet Sr0

डेंगू की दवा - OTC medicines for Dengue Fever in Hindi

डेंगू के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Divya Madhunashini VatiDivya Madhunashini189
Divya Jwarnashak VatiDivya Jwarnashak Vati36

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

डेंगू से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल लगभग 1 महीना पहले

क्या मच्छर के काटने से डेंगू होता है?

Dr. Ravi Udawat MBBS, सामान्य चिकित्सा

जी हां, डेंगू का बुखार मच्छर के काटने से ही होता है।

सवाल 26 दिन पहले

क्या डेंगू का मच्छर सिर्फ दिन में काटता है?

,

जी हां, डेंगू का मच्छर दिन में, सूर्यास्त और सूर्योदय के समय काटता है।

सवाल 19 दिन पहले

क्या डेंगू मच्छर की पहचान की जा सकती है?

Dr. Kuldeep Meena MBBS, MD, श्वास रोग विज्ञान

डेंगू का मच्छर काले रंग का होता है। यह मच्छर 4 से 7 मि.मी लंबा होता है। इसके पैरो पर सफेद रंग के धब्बे होते है। मादा मच्छर, नर डेंगू मच्छर से बड़ी होती है।

सवाल 12 दिन पहले

अगर डेंगू मच्छर काट ले तो डेंगू के संक्रमण से कैसे बच सकते हैं?

Dr. Haleema Yezdani MBBS, सामान्य चिकित्सा

डेंगू फीवर 7 से 10 दिन में खुद ठीक हो जाता है लेकिन अगर मच्छर के काटने के बाद आपको सिर दर्द, उल्टी, शरीर पर लाल चकत्ते, फीवर, आंखों में दर्द, शरीर टूटने जैसी समस्या होने लगे तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

References

  1. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; Dengue control.
  2. Center for Disease Control and Prevention [Internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Dengue and Dengue Hemorrhagic Fever .
  3. Malavige GN, Fernando S, Fernando DJ, Seneviratne SL. Dengue viral infections. Postgrad Med J. 2004 Oct;80(948):588-601. PMID: 15466994
  4. Stephenson JR. Understanding dengue pathogenesis: implications for vaccine design. Bull World Health Organ. 2005 Apr;83(4):308-14. Epub 2005 Apr 25. PMID: 15868023.
  5. Brian Walker Nicki R Colledge Stuart Ralston Ian Penman. Davidson's Principles and Practice of Medicine E-Book. 22nd Edition Churchill Livingstone; Elsevier: 1st February 2014. page 322.
  6. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; Dengue and severe dengue.
  7. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; Control strategies.
  8. Hang VT, Nguyet NM, Trung DT, Tricou V, Yoksan S, Dung NM, Van Ngoc T, Hien TT, Farrar J, Wills B, Simmons CP. [Link]. PLoS Negl Trop Dis. 2009;3(1):e360. doi: 10.1371/journal.pntd.0000360. Epub 2009 Jan 20. PMID: 19156192.
और पढ़ें ...