myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

स्ट्रॉबेरी लाल रंग का और बच्चों का पसंदीदा फल है। यह एक रसीला फल होता है और स्वाद में भी अच्छा होता है। इसका प्रयोग कई रूपों में किया जाता है, साथ ही इसके फ्लेवर का उपयोग कई प्रकार के स्वीट्स बनाने में किया जाता है जैसे मिल्कशेक, आइस-क्रीम, दही और जैम।

पहले यह आसानी से कही नहीं मिलती थी लेकिन आज यह पूरे भारत देश में पाई जाती है। पूरी दुनिया में इसकी 600 किस्म की प्रजातियां पाई जाती है और सभी क़िस्मो का रंग और स्वाद अलग होता है।

स्ट्रॉबेरी खाने में जितना स्वादिष्ट होती है उतनी ही स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होती है। इसमें विटामिन, फोलिक एसिड और कैल्शियम, फास्फोरस सहित कई प्रकार के मिनरल्स पाए जाते हैं जो की स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा के लिए भी फायदेमंद होते हैं। यह शरीर को कैंसर और उच्च रक्तचाप सहित कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करती है। तो आइए लेते हैं स्ट्रॉबेरी के स्वास्थ्यवर्धक लाभों के बारे में जानकारी -

  1. स्ट्रॉबेरी के फायदे उच्च रक्तचाप के लिए - Strawberry for High Blood Pressure in Hindi
  2. स्ट्रॉबेरी के गुण बचाएं कैंसर से - Strawberry for Cancer in Hindi
  3. त्वचा के लिए स्ट्रॉबेरी के फायदे - Strawberry for Skin in Hindi
  4. स्ट्रॉबेरी खाने के फायदे करें वजन कम - Strawberry for Weight Loss in Hindi
  5. हड्डियों को मजबूत बनाएँ स्ट्रॉबेरी से - Strawberry ke Fayde for Bones in Hindi
  6. स्ट्रॉबेरी लाभ बालों की समस्या के लिए - Strawberry for Hair in Hindi
  7. स्ट्रॉबेरी के लाभ डायबिटीज़ से बचाएं - Strawberry for Diabetics in Hindi
  8. स्ट्रॉबेरी के अन्य फायदे - Other Benefits of Strawberry in Hindi

स्ट्रॉबेरी विटामिन सी से भरपूर होने की वजह से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है। साथ ही हाई बीपी से पीड़ित व्यक्तियों के शरीर में रक्त संचरण में मदद करती है।

(और पढ़ें – उच्च रक्तचाप के लिए बहुत ही उपयोगी जूस)

स्ट्रॉबेरी में उपस्थित फोलिक और विटामिन सी शरीर को कैंसर जैसी ख़तरनाक बीमारियों से बचाने में मदद करती है। यह पोषक तत्व शरीर में कैंसर को जन्म देने वाली कोशिकाओं को नष्ट कर देती है और कैंसर को बढ़ने से रोकती है।

फोलिक शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में सहायक होती है और स्ट्रॉबेरी में उपस्थित पोटैशियम शरीर को हार्ट अटैक से बचाने में मदद करता है। 

(और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार

त्वचा को सुंदर और गोरा बनाने के लिए यह रस भरा फल बहुत ही फायदेमंद होता है। इसमें उपस्थित अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड मृत त्वचा को जीवित कर त्वचा की नई सेल्स का निर्माण करता है। साथ ही इसमें सलिसीक्लिक एसिड और एललगिक एसिड की मात्रा भी होती है जो कि त्वचा के सभी काले धब्बों को हटाकर त्वचा को साफ और गोरा बनाने का काम करती है। 

(और पढ़ें – खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)

इसका प्रयोग करने के लिए 3 स्ट्रॉबेरी को मैश कर लें फिर उसमें शहद को मिलाकर 15 से 20 मिनट तक के लिए त्वचा पर लगा लें। फिर हल्के गुनगुने पानी से त्वचा को साफ कर लें।

लाल रंग के फल स्ट्रॉबेरी में नाइट्रेट की मात्रा भी होती है जो कि रक्त के साथ मिलकर शरीर में ऑक्सीजन के प्रवाह को नियंत्रित करती है। इस तरह यह वजन को कम करने के साथ-साथ मोटापा दूर करने में सहायक होती है। इसके अलावा इसमें बाकी सभी फलों की अपेक्षा फैट की बहुत कम मात्रा होती है।

(और पढ़ें – मोटापा कम करने के घरेलू उपाय)

स्ट्रॉबेरी का प्रयोग हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए किया जाता है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ कुछ लोगों की हड्डियां कमजोर पड़ने लगती है, ऐसे में इस रस भरे फल का सेवन हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करता है। इसमें विटामिन K, कैल्शियम और मैग्नीशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है। इस वजह से यह गर्भवती महिलाओं के लिए भी फायदेमंद होता है।

(और पढ़ें – बादाम तेल की मालिश से हड्डियाँ होती हैं मज़बूत)

स्ट्रॉबेरी के प्रयोग से बाल मजबूत बनते हैं और रूसी की समस्या से भी निजाद मिलती है। इसमें उपस्थित विटामिन सी बालों को गिरने से रोकता है और बालों को मजबूती प्रदान करता है।

इसका प्रयोग करने के लिए 2 स्ट्रॉबेरी को अच्छे से मैश कर लें और इसमें नारियल का तेल और शहद मिलाकर आधे घंटे के लिए रख दें फिर इस मिश्रण को बालों पर आधे घंटे तक लगाकर बालों को धो लें। ऐसा हफ्ते में दो बार करने से बालों में असर देखने को मिलने लगेगा। 

(और पढ़ें – सफेद बालों को काला करने के उपाय)

स्ट्रॉबेरी में 40 ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है जो काफी कम होता है। इसका मतलब है कि डायबिटीज़ के मरीज़ बिना ज्यादा चिंता किए इसे खा सकते हैं। इसके अलावा, स्ट्रॉबेरी में ऐसे घटक होते हैं जो डायबिटीज़ के मरीज़ों के ग्लूकोज़ लेवल और लिपिड प्रोफाइल पर अच्छा असर डालते हैं। नियमित रूप से स्ट्रॉबेरी खाने से टाइप 2 डायबिटीज़ का जोखिम भी कम हो जाता है। 

(और पढ़ें – मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए यह दस जड़ी बूटियाँ हैं बहुत फायदेमंद)

स्ट्रॉबेरी का प्रयोग आँखो के लिए भी किया जाता है। इसे खाने से आँखो की रोशनी तेज होती है और मोतियाबिंद जैसे रोगो से निजाद मिलती है।

यह पाचन में सहायक होती है जिससे लीवर और पेट संबंधी समस्या में आराम मिलता है।

इसमें उपस्थित विटामिन सी दांतो को मजबूती प्रदान कर उन्हें सफेद और चमकदार बनाता है।

और पढ़ें ...