myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कई ऐसी शारीरिक समस्याएं हैं, जिनके विषय में महिलाएं बात करने से कतराती हैं। जबकि इन शारीरिक समस्याओं पर न सिर्फ बात किया जाना चाहिए बल्कि जरूरत हो तो विशेषज्ञों से भी संपर्क करना चाहिए। समय रहते इलाज और उपचार करने से ये समस्याएं गंभीर रूप इख्तियार नहीं करतीं। यहां हम आपको कुछ ऐसी ही बीमारियों के बारे में बता रहे हैं जिन पर बात करना महिलाओं के लिए शर्म का विषय बनता है।

योनि से दुर्गंध आना
योनि से बदबू आना संक्रमण का संकेत है। विशेषज्ञों के मुताबिक जरूरी नहीं है कि योनि से बदबू यीस्ट संक्रमण की वजह से ही हो। खैर, कुछ महिलाओं को लगता है कि सिर्फ उन्हीं की योनि से दुर्गंध आती है और यह उनके लिए शर्म का विषय है। यह समस्या दूसरी महिलाओं में या तो होती नहीं या फिर कम होती है। उन्हें यह भी लगता है कि इससे उनकी सेक्स के प्रति चाह प्रभावित होगी। इस वजह से वे अन्य महिलाओं से इस संबंध में बात करने से हिचकिचाती हैं। जबकि ऐसा करना सही नहीं है। योनि से दुर्गंध आने पर डाॅक्टर से संपर्क करना जरूरी है। इस समस्या का इलाज किया जाना जरूरी है। 

(और पढ़ें - योनि में यीस्ट संक्रमण के लक्षण)

अपने आप पेशाब निकलना
तमाम ऐसी महिलाएं हैं जिन्हें पेशाब को नियंत्रित करने में समस्या आती है। उन्हें बार-बर पेशाब आता है। इसके बावजूद वे इस समस्या पर बात करना पसंद नहीं करतीं या फिर शर्म महसूस करती हैं। दरअसल उन्हें लगता है कि पेशाब को नियंत्रित किया जाना जरूरी है। दूसरों को इस संबंध बताने को वह अपमान का विषय समझती हैं। जबकि उम्र बढ़ने के साथ-साथ यह समस्या बढ़ती है। आमतौर पर इसे नियंत्रित किया जाना मुश्किल होता है। इसी तरह अपने आप पेशाब का निकल जाना भी एक समस्या है। आपको बता दें कि ये दोनों अलग-अलग समस्याएं है।अपने आप पेशाब निकलने की समस्या का भी उपचार आसानी से किया जा सकता है। इसके लिए विशेषज्ञ से मिलें और उपचार कराएं।

(और पढ़ें - पेशाब कम आने का इलाज)

बवासीर होना
हालांकि, बवासीर एक आम रोग है और 50 साल से ज्यादा उम्र के लोग इस समस्या से ज्यादा परेशान होते हैं। इसके बावजूद यह समस्या लोगों के लिए शर्मिंदगी का विषय है। जबकि बवासीर एक गंभीर समस्या है। बवासीर मलाशय के अंदरूनी और ऊपरी हिस्सों में विकसित होता है। लक्षण के तौर पर इसमें खुजली, दर्द, कब्ज, मल में खून आने की समस्या हो जाती है। इस तरह देखा जाए तो बवासीर जैसी समस्या को लेकर शर्म महसूस करने के बजाय विशेषज्ञ से बात करना जरूरी है। 

(और पढ़ें - बवासीर के घरेलू उपचार)

गैस बनना
गैस बनने की समस्या सबको होती है। कुछ लोग खुलकर इस पर बात करते हैं, जबकि कुछ लोग ऐसा नहीं करते। खासकर महिलाएं इस पर बात करने को शर्मिंदगी समझती हैं। अगर आपको गैस की समस्या है तो बेहतर है कि इस तरह की सोच से उबरें। अमूमन गैस की समस्या आपके खानपान की शैली पर निर्भर करती है। कुछ आहार विशेष जैसे बीन्स ऐसे हैं, जिनसे गैस की समस्या होती है। बेहतर है अपने डाइटीशियन से मिलकर संतुलित आहार चार्ट बनवाएं ताकि इस समस्या से छुटकारा पा सकें।

(और पढ़ें - पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

मुंह से बदबू आना
मुंह से बदबू आने को हेलिटोसिस कहते हैं। मुंह में भोजन, मुंह का सूखना, धूम्रपान, लंबे समय से चल रही बीमारियों की वजह से मुंह में बैक्टीरिया पनपते लगते हैं, जिससे मुंह से बदबू आने की समस्या पैदा हो जाती है। आमतौर पर मुंह से बदबू से छुटकारा पाने के लिए अपने मुंह के हाइजीन का ख्याल रखा जाना चाहिए। महिलाओं के लिए यह भी एक ऐसा विषय है, जिस पर वह बात करने से कतराती हैं। यदि उनके मुंह से बदबू आए तो इसे शर्म का विषय समझ बैठती हैं। ऐसा सोचना भी सही नहीं है। विशेषज्ञों के अनुसार रोजाना दो बार दांतों को ब्रश करने से मुंह की बदबू से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके साथ ही माउथ वाश, मिंट का इस्तेमाल भी आपके लिए उपयोगी हो सकता है। इसके बावजूद अगर समस्या कम न  हो तो डाक्टर से संपर्क करें।

(और पढ़ें - मुंह की बदबू का घरेलू उपाय)

यहां बताई गई सभी ऐसी शारीरिक समस्याएं हैं, जो गंभीर हैं। अगर इनकी अनदेखी की जाए तो आपका स्वास्थ्य बुरी तरह बिगड़ सकता है। अतः इन समस्याओं को नजरंदाज करने के बजाय इन पर बात करें और जरूरत हो तो विशेषज्ञों से संपर्क कर अपना इलाज कराएं।

और पढ़ें ...