myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्या आपको ऐसा लगता है कि एक भी ब्रा ऐसी नहीं है जो आपको पूरी तरह से फिट आती हों? अगर आप इस बारे में चिन्तित हैं कि किस माप की ब्रा खरीदें तो इन बातों के लिए परेशान होने या अनुमान के आधार पर ब्रा खरीदने के बजाए पहले घर पर हीं थोड़ा होमवर्क कर लें। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी ब्रेस्ट का सही माप लें जिससे आपकी ब्रा आपको बिल्‍कुल फिट आएं।

ब्रेस्ट साइज और ब्रा का कप साइज जानना इस लिए भी जरूरी है क्योंकि आजकल विभिन्न स्टाइल के उत्पाद बाजर में उपलब्ध है और सभी के नम्बर या साईज का माप भिन्न होता है। कप साइज का माप अलग होता है जो आपके स्तनों को सुंदर और सुडौल दिखाने के लिए आवश्यक है। तो आइये जानते है स्तनों के आकार का पता कैसे लगाया जाएँ।

(और पढ़ें - स्तन कैंसर की सर्जरी)

  1. सही ब्रा का चयन क्यों जरूरी है - Why choose the right bra in hindi
  2. सही ब्रा का चुनाव कैसे करेें - How To Choose The Right Bra in Hindi
  3. कुछ प्रकार की ब्रा हैं स्वास्थ्य के लिए लाभदायक - Some types of bra are beneficial for health in hindi
  4. कैसे नापें ब्रा साइज - How To Measure Bra Size in Hindi
  5. ब्रा बैंड और कप साइज कैसे मापें - How to Measure Bra Band and Cup Size in Hindi
  6. ब्रा पहनने के फायदे - Benefits of bra wear in hindi
  7. ब्रा पहनने के नुकसान - Side effects of wearing bra in hindi
  8. ब्रा को कितनी बार धोना चाहिए - How Often Should You Wash Your Bra in Hindi

महिलाओं के लिए सही ब्रा को पहनना जरूरी होता है, लेकिन ये जितना महत्वपूर्ण विषय है, उतनी ही कम इसकी चर्चा होती है।  अध्ययन से पता चला है कि 70-80% महिलाएं गलत साइज की ब्रा पहनती हैं। इसकी वजह से गर्दन में दर्द, कंधे में दर्द, कमर में दर्द, यहाँ तक की सिरदर्द भी हो सकता है। अब कई डॉक्टर और फ़िज़ियोथेरेपिस्ट भी इस बात को मानने लगे हैं।

इसके अलावा सही ब्रा का चयन न करने से आपको सांस लेने में मुश्किल, किसी भी कार्य करने में असहजता, कंधों पर रैशेज और दर्द हो सकता है।

ब्रा पहनने से महिलाओं के स्तनों को आवश्यक सपोर्ट मिलता है, जिससे उनके स्तनों का आकार ठीक बना रहता है और पीठ पर अतिरिक्त बोझ भी नहीं पड़ता है। कई महिलाओं का मानना है कि जिनके स्तनों का आकार बड़ा होता है, उन महिलाओं को ही ब्रा पहनने की आवश्यकता होती है। लेकिन ये भी बिलकुल गलत है - चाहे आपके स्तन का आकार कैसा भी हो, सही साइज की ब्रा अवश्य  पहननी चाहिए। 

इसके पीछे का विज्ञान क्या है?

मांसपेशियों के अलावा, स्तन एक तरह के फैट से बने ऊतकों से बने होते हैं (इस वजह से जब महिलाओं का वजन कम होता है, तो स्तन का आकार भी कम हो जाता है)। स्तनों में जो मासपेशियां होती हैं, वह काफी अंदर की तरफ होती हैं, जिसकी वजह से स्तनों को उनसे ज्यादा सहारा नहीं मिलता है। इसके अलावा, पूरे स्तन में कूपर लिगमेंट (Cooper Ligament, लिगमेंट यानी स्नायु) होते हैं, लेकिन ये ज्यादा मजबूत नहीं होते। 

(और पढ़ें - स्तन में गांठ)​

अगर आपने सही साइज की ब्रा नहीं पहनती, तो ये कूपर लिगमेंट ढीले पड़ने शुरू हो जाते हैं और स्तन लटकने शुरू हो जाते हैं। और इनको ठीक करने का इलाज नहीं है। लटकने के आलावा, स्तन में दर्द भी हो सकता है।

(और पढ़ें - breast ko tight kaise kare

सही ब्रा का चयन करना कुछ भी नहीं है, बल्कि हर प्रकार के सटीक ब्रा आकार को जानना है। हालांकि हम इस संख्या पर सिर्फ जादुई तरीके से नहीं पहुंच सकते हैं। इससे पहले कि हम अन्य पहलुओं को मापने और समझने के तरीके को सीखे उससे पहले कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं -

  1. आपकी ब्रा को शरीर के चारों ओर फिट होनी चाहिए। यह न तो बहुत तंग होनी चाहिए और न ही ढीली होनी चाहिए। (और पढ़ें - क्या टाइट ब्रा से होता है सीने में दर्द)
  2. हमेशा सबसे निकटतम पिन पर अपनी ब्रा को हुक करें। जब ब्रा समय के साथ ढीली हो जाती है तब हुक नेक्स्ट पिन पर लगाएं।
  3. यदि आपकी ब्रा आपकी पीठ पर घूम रही है तो इसका मतलब है कि आपको एक छोटे आकार वाले बैंड की ब्रा की आवश्यकता है।
  4. आगे की ओर बेंड करें और अपनी ब्रा पहनें जिससे कि सब कुछ कप में चला जाएँ और तार के नीचे कुछ भी ना लटकें। (और पढ़ें - क्या रात को सोते समय ब्रा पहननी चाहिए या नहीं)
  5. सुनिश्चित करें कि कप तना हुआ है और उसमें कोई अतिरिक्त जगह ना हों।
  6. यदि आपकी ब्रा पट्टियां आपके कंधों में चुभ रही हैं तो आपको एक बड़े आकार की ब्रा की आवश्यकता है।
  7. जब आप ऊपर या नीचे होते हैं (वजन कम या अधिक होना) तो आपकी ब्रा का आकार, कप का आकार भी अलग होता है। उदाहरण के लिए, यदि आपका आकार 34 बी है, तो आपके लिए एक बड़ा आकार 36 ए होगा या यदि आप एक छोटे आकार चाहते हैं तो आप 32C चुनें।
  8. याद रखें कि आपके स्तन कोहनी और कंधों के बीच में होने चाहिए।

महिलाओं की सहुलियत और आरामदायक को देखते हुए ब्रा के कई प्रकार बाजार में उपलब्ध हैं। आप अपने कपड़ों और विशेष अवसर के आधार पर इन ब्रा का चयन कर सकती हैं। इनमें से ही कुछ खास ब्रा के बारे में आपको बताया जा रहा है। यह ब्रा स्वास्थ्य के लिहाज से भी आपके लिए फायदेमंद साबित होती है। जानते हैं इन ब्रा के बारे में। 

(और पढ़ें - ब्रेस्ट से जुड़ें सच और मिथक

स्पोर्टस ब्रा

रोजाना पहने जाने वाली ब्रा की तुलना में स्पोटर्स ब्रा काफी मजबूत होती हैं। एक्सरसाइज और खेल के दौरान महिलाओं के स्तनों पर खिचाव न पड़े, इसलिए स्पोर्ट्स ब्रा को बनाया गया। यह ब्रा खेलकूद के दौरान स्तनों को अनावश्यक हिलने से बचाती है। इतना ही नहीं एक्सरसाइज के दौरान कड़ी मेहनत करने पर भी यह ब्रा आपको आराम पहुंचाती है।

मैटरनिटी ब्रा

विशेष रूप से गर्भावस्था के दौरान स्तनों को आराम देने के लिए मैटरनिटी ब्रा को बनाया गया। इस ब्रा को प्रेग्नेंसी में स्तनों के बदलते आकार के अनुसार फिट बैठने वाले कपड़े के प्रयोग से बनाया जाता है। प्रेग्नेंसी के बाद बच्चों को स्तनपान कराने में आने वाले समस्या को ध्यान में रखते हुए, इसके आगे के पैड को खोलने का विकल्प दिया जाता है। ताकि स्तनपान के दौरान महिलाओं को ब्रा खोलने की परेशानी का सामना न करना पड़े। मैटरनिटी ब्रा को नर्सिंग ब्रा के नाम से भी जाना जाता है। (और पढ़ें - माताओं और बच्चों की देखभाल)

मास्टेक्टोमी ब्रा

स्तन कैंसर के बाद स्तन के ऊतकों को निकलवाने वाली महिलाओं के लिए मास्टेक्टोमी ब्रा को बनाया गया है। इस ब्रा को इस तरह से बनाया जाता है ताकि महिलाओं के स्तन ऊतक निकलने के बाद भी किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़ें। जो महिलाएं स्तने कैंसर के बाद स्तन प्रत्यारोपण नहीं कराती है, उनके लिए यह एक बेहतर विकल्प मानी जाती है। इसमें अंदर की तरफ कपड़े से कृत्रिम अंग की तरह आकार दिया जाता है। जिसको पहनने के बाद महिलाओं के आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है।

(और पढ़ें - स्तन में सूजन)

आकार के बारे में सुनिश्चित होने से पहले आपको प्रत्येक प्रकार की ब्रा की कोशिश करनी चाहिए। प्रत्येक प्रकार / ब्रांड के लिए आकारों में मूल अंतर नहीं होता है। अनुसंधान से पता चलता है कि 80% महिलाएं ग़लत प्रकार की ब्रा पहनती हैं।

  1. आकार का संख्यात्मक भाग (numerical part) आपके बैंड का साइज है और वर्णानुक्रमित हिस्सा (alphabetical part) कप का आकार है। इसलिए उदाहरण के लिए, यदि आपका आकार 34 डी है - '34' आपका बैंड आकार है और 'डी' कप आकार है।
  2. सटीक अंतिम संख्या पर पहुंचने के लिए आपको पहले बैंड और कप के आकार को अलग से मापने की आवश्यकता है।
  3. माप करते समय बिना पैड वाली ब्रा या उस समय ब्रा ही नहीं पहनें। या टी-शर्ट की तरह हल्का कुछ पहनें और स्वेटर, जैकेट या कुछ भारी चीजों को पहनने से बचें। (और पढ़ें - ब्रेस्ट में हो रही खुजली के पीछे छिपे होते हैं ये कारण)

घर पर अपने ब्रा आकार को मापने के लिए इन सरल चरणों का पालन करें -

1. बैंड साइज

  1. जब आप यह करते हैं तब दर्पण के सामने खड़े होना उचित है। isse yah pata chalta hai ki टेप पूरी प्रक्रिया में तना हुआ है और आपकी कमर से फिसला हुआ नहीं है। 
  2. अपनी छाती के चारों ओर टेप लपेटें, जिस जगह पर आपका बैंड आता है और सुनिश्चित करें कि यह बहुत तंग या ढीली नहीं है।
  3. यदि नंबर 33 या 33.5 इंच है, तो आकार 34 होगा। या 35 के लिए, अपने कप आकार के आधार पर 34 और 36 दोनों की कोशिश करें।
  4. इस अंतिम संख्या का ध्यान रखें।

2. कप साइज

  1. टेप को अपने स्तन के पूरे हिस्से के आसपास ढीले से लपेटें।
  2. एक सरल विकल्प है निप्पल स्तर को मापना - यह हमेशा सटीक नंबर बताता है।
  3. उसे नजदीकी या अगले पूरे नंबर पर माप करें।
  4. इस अंतिम संख्या का ध्यान रखें।
  5. अब, बैंड आकार से कप के आकार को घटाएं। इंच में अंतर आपके कप आकार के अनुरूप होगा।
  6. इसके अलावा एक और तरीका है साइज को मापने का - एक कपड़े नापने वाला टेप लें। अब अपने स्तनों के नीचे टेप को ले जाएँ और टेप के एक हिस्से को स्तन के नीचे से ले जाते हुए पीठ की ओर से ले जाकर टेप के दूसरे हिस्से की ओर मिला दें। अब जितना नंबर आए उसमें 5 और जोड़ें दें। उदाहरण के लिए आपके ब्रेस्ट नंबर 29 अब इसमें और 5 जोड़ दें तो इसका मतलब है कि आपका ब्रा साइज 34 है।

लड़कियां और महिलाएं अपने अंतरवस्त्र में मुख्य रूप से ब्रा को पहनती हैं। यह मुख्य रूप से स्तन के ऊतकों को सहारा देने और स्तनों में शिथिलता न आने के उद्देश्य से पहनी जाती है। ब्रा को पहनने के फायदों को लेकर कई तरह के अध्ययन किए गए, जिनमें ब्रा पहनने के फायदों को सभी के सामने लाया गया। आगे जानते हैं इनके फायदों के बारे में।

  1. स्तनों को सपोर्ट प्रदान करना
    महिलाओं के स्तन वसायुक्त ऊतकों से बने होते हैं। इनमें मांसपेशियां नहीं होती हैं। इसलिए ब्रा को पहनने से स्तनों को सपोर्ट मिलता है और वह नीचे की ओर अनावश्यक लटकते नहीं हैं। स्तनों की त्वचा में नीचे की ओर खिंचाव होने से यह ढीले हो जाते हैं। त्वचा के इस खिचाव से बचने के लिए आपको नियमित ब्रा पहननी चाहिए।
     
  2. शारीरिक मुद्रा (posture) का सही होना
    ब्रा पहनने से महिलाओं को शारीरिक मुद्रा सही रखने में मदद मिलती है। सेहतमंद रहने के लिए शारीरिक मुद्रा का सही होना बेदह जरूरी होता है। आपकी खराब शारीरिक मुद्रा आपको सुस्त व बीमार दिखाती है, इससे बचने के लिए आपको ब्रा को पहनना चाहिए। किशोरावस्था में शरीर के विकास के लिए लड़कियों की शारीरिक मुद्रा का सही होना जरूरी माना जाता है। बड़े आकार के स्तनों वाली महिलाओं और लड़कियों के द्वारा ब्रा ना पहनने से पीठ में दर्द की समस्या शुरू हो जाती है। (और पढ़ें - ब्रेस्ट बढ़ाने के घरेलू उपाय)
     
  3. आकर्षित दिखाना
    स्तनों का सही आकार आपको आकर्षक बनाता है। इससे महिला का पूरा शरीर आकर्षित दिखाई देता है। ब्रा पहनने से महिलाओं के स्तनों के आकार में बदलाव होता है। वह पहले की अपेक्षा अधिक आकर्षक और सुडौल लगते हैं। इसके अलावा सही आकार की ब्रा पहनने से महिलाएं स्तनों के कम आकार होने पर भी उभार ला सकती है।
     
  4. आराम पाने के लिए जरूरी
    सही आकार की ब्रा पहनने से महिलाओं को काफी आराम मिलता है। इसके साथ ही यह आपके पसीने को भी सोखने में मदद करती है। कई बार पसीने के कारण महिलाओं को काफी असुविधा होती है। जबकि पसीने के कारण स्तनों में संक्रमण होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती है। एक्सरसाइज और अधिक परिश्रम के दौरान आपको आरामदायक ब्रा का ही चयन करना चाहिए, ताकि आपको किसी तरह की असहजता महसूस न हो।
     
  5. महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ाए
    कई महिलाएं इस बात को मनाती है कि वह ब्रा को पहनने के बाद खुद को ज्यादा आत्मविश्वासी महसूस करती है। कई तरह के अध्ययन भी इस बात को साबित करते हैं। युवा महिलाओं पर हुई रिसर्च इस बात को बताती है कि महिलाओं के द्वारा ब्रा न पहनने से उनमें कोलेजन का स्तर बढ़ जाता है। इससे स्तनों में खिंचाव आता है। इससे बचने के लिए ब्रा का पहनना जरूरी होता है।

(और पढ़ें - स्तनों को कसने के घरेलू उपाय)

समय-समय पर आपके शरीर में होने वाले बदलाव के कारण आपके स्तनों के आकार में भी परिवर्तन होता रहता है। इसलिए एक ही साइज की ब्रा को पहनने से आपको कई तरह की परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है। आगे आप जानेंगे ब्रा पहनने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

  1. ब्रा से गर्दन, कंधें और पीठ में दर्द – यदि आप गलत साइज की ब्रा पहनती हैं, तो यह आपको आराम देने की बजाय आपकी परेशानी का कारण बन सकती है। टाइट ब्रा पहनने से कई बार महिलाओं की गर्दन, कंधे और पीठ में दर्द होने लगता है।
  2. लसिका प्रणाली पर असर होना – एक अध्ययन में पाया गया कि ब्रा पहनने से महिलाओं की लसिका प्रणाली प्रभावित होती है। लसिका प्रणाली शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने का कार्य करती है। इसके प्रभावित होने से महिलाओं में कैंसर होने की संभावनाएं बढ़ जाती है।
  3. सांस लेने में परेशानी – सही ब्रा न पहनना या टाइट ब्रा पहनने से महिलाओं की हड्डियों और मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। इतना ही नहीं इससे सांस लेने में भी मुश्किल होती है।
  4. त्वचा पर रैशेज होना – कई बार टाइट ब्रा पहने से आपके कंधों पर इसकी रगड़ से रैशेज हो जाते हैं। रैशेज के कारण महिलाओं के कंधों पर जलन होने लगती है।
  5. कैंसर का खतरा – फ्रांस में हुए एक अध्ययन में इस बात का पता चला कि अधिक देर तक ब्रा पहनने वाली महिलाओं को स्तन कैंसर होने की संभावनाएं रहती है।  
  1. दो बार पहनने के बाद (अधिकतम कम से कम तीन बार) नियमित रूप से ब्रा को धोया जाना चाहिए। ये आपकी जीन्स की तरह नहीं हैं, जहां उन्हें धुलाई के बिना एक पूरे सेमेस्टर और दो से तीन महीने के लिए पहना जा सकें।
  2. वास्तव में, आपको उष्णकटिबंधीय (Tropical) जलवायु में हर उपयोग के बाद ब्रा को धोने की जरूरत है क्योंकि इससे डबल तेल जमा हो जाता है, साथ ही आप कुछ खतरनाक सूक्ष्मजीवों से खतरा हो सकता है।
  3. आपके स्पोर्ट्स ब्रा को हर उपयोग के बाद धोया जाना चाहिए। अन्यथा, इसे रात भर सूखाएं और इसे 3 या 4 दिनों में एक बार धो लें।
  4. थोड़ी देर के लिए ठंडे पानी में अपनी ब्रा भिगोए और अधिक पानी में से निकालें। फिर, इसे हवा में सूखने दें यह ब्रा की लोच या आकार के साथ छेड़छाड़ किए बिना यह धोने का एक आदर्श तरीका है। डिटर्जेंट जो कठोर रसायन हैं वे भी कपड़े की दीर्घायु को कम कर देते हैं।
  5. या फिर इन्हें हाथ से एक सॉफ्ट डिटर्जेंट के साथ धो लें और सूखने के लिए डाल दें।
  6. वॉशर में धोने से और अन्य कपड़ों के साथ ड्रायर में छोड़ देने से बचें क्योंकि अधिक गर्मी ब्रा के लिए अच्छी नहीं है।
  7. नीचे पहनने वाले कपड़ों के लिए ब्लीच का उपयोग कभी नहीं करना चाहिए।
  8. विशेषज्ञ छह महीने से अधिक या एक वर्ष के लिए ब्रा का उपयोग करने के बारे में सलाह देते हैं।
और पढ़ें ...