myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सभी महिलायें उम्रभर अपनी ब्रेस्ट एकदम सही आकार में देखना चाहती हैं। लेकिन दुःख की बात तो यही होती है कि ऐसा कई मामलों में नहीं हो पाता। स्तनों का लटकना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जो कि उम्र के साथ साथ बढ़ती जाती है जहां स्तन अपनी लचीलता खो देते हैं। हालाँकि महिलाओं में स्तनों का लटकना 40 की उम्र के आसपास देखा जाता है। लेकिन ये स्थिति पहले भी देखने को मिल सकती है। उम्र के अलावा, ब्रेस्ट के लटकने के अन्य कारण भी हैं जैसे स्तनपान, गर्भावस्था, रजोनिवृत्ति, तेज़ी से वजन घटना या बढ़ना, अधिक दम लगाने वाले व्यायाम, पोषण की कमी और बेकार ब्रा पहनना आदि।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के दौरान पेट दर्द और प्रेग्नेंट होने के उपाय)

कुछ बिमारियों कि वजह से भी ये समस्या दिख सकती है जैसे ब्रेस्ट कैंसर या श्वसन सम्बन्धित बीमारी जैसे टीबी भी ब्रेस्ट के लटकने का कारण बनती है। इसके साथ ही अत्यधिक निकोटिन, शराब और कार्बोनेटेड पेय पदार्थ के सेवन करने से भी ये परेशान दिखाई देने लगती है।

आपको बता दें, ब्रेस्ट में मांसपेशियां नहीं होती है। वे वसा, उत्तकों और दूध उत्पादन ग्रंथियों से बनती हैं। एक सही आकार में स्तनों को रखने के लिए ज़रूरी है कि आप उनकी पर्याप्त देखभाल करें। इसके अलावा स्तनों को कसने के लिए मार्किट में क्रीम और लोशन दोनों मिल जाते हैं। लेकिन ये क्रीम और लोशन कभी कभी गलत प्रभाव भी छोड़ जाते हैं।

तो आज हम आपके लिए स्तनों को कसने के कुछ घरेलू उपाय लेकर आये हैं जिनके इस्तेमाल से आपकी ब्रेस्ट को कोई नुकसान नहीं पहुचेगा और उनका लटकाना भी कम होगा।

  1. ब्रेस्ट टाइट करने के लिए खीरे और सफ़ेद अंडे का करें इस्तेमाल - Cucumber and egg yolk helps in tightening the breast in hindi
  2. स्तन को टाइट करने का नुस्खा है सफ़ेद अंडा - Egg white for sagging breast in Hindi
  3. स्तनों का ढीलापन दूर करने के लिए मेथी का करें इस्तेमाल - Fenugreek improves sagging breast in Hindi
  4. चेस्ट टाइट करने का उपाय है अनार - Pomegranate benefits for breast sagging in Hindi
  5. चेस्ट को टाइट करने के लिए एलो वेरा है फायदेमंद - Aloe vera for sagging breast in Hindi
  6. स्तनों में कसाव लाने का घरेलू उपाय है शिया बटर - Shea Butter helps to get rid of sagging breast in Hindi
  7. ब्रेस्ट में कसाव लाने के लिए रहसोल क्ले है लाभदयक - Rhassoul clay for breast tightening in Hindi
  8. ब्रेस्ट को टाइट करने के टिप्स - Tips for sagging breast in Hindi
  9. ब्रेस्ट टाइट करने का तरीका है व्यायाम - Exercise for saggy breasts in Hindi
  10. स्तन टाइट करने का उपाय है बर्फ से मसाज - Ice massage benefits for breast sagging in Hindi
  11. स्तन टाइट करने का तरीका है जैतून का तेल - Olive oil for breast tightening in Hindi

लटके हुए स्तनों को उठाने के लिए खीरा और अंडे की जर्दी का मास्क भी एक बेहतरीन घरेलू उपाय है। खीरे में त्वचा को टोन करने के गुण मौजूद होते हैं और अंडे की जर्दी में उच्च मात्रा में प्रोटीन और विटामिन होते हैं जो लटके हुए स्तनों का इलाज करते हैं।

खीरे और अंडे की जर्दी का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक खीरे को मिक्सर में मिक्स कर लें।
  2. अब एक अंडे की जर्दी और एक चम्मच बटर या क्रीम को एक साथ मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  3. अब इस पेस्ट को स्तनों पर लगाएं और फिर आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  4. फिर ठंडे पानी से उस क्षेत्र को धो लें।
  5. इस मास्क को हफ्ते में एक बार ज़रूर इस्तेमाल करें और ब्रेस्ट के उत्तकों को मजबूती दें।

(और पढ़ें - खीरे के फायदे और नुकसान

अंडे की सफ़ेद जर्दी में एस्ट्रिजेंट और त्वचा को पोषण देने के गुण मौजूद होते हैं जो लटके हुए स्तनों के लिए बहुत ही प्रभावी उपाय है। अंडे में हाइड्रो लिपिड होता है जो स्तनों के आसपास ढीली त्वचा को उठाने में मदद करता है।

अंडे की सफ़ेद जर्दी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले अंडे की सफ़ेद जर्दी लें और फिर उसे चलाये और तब तक चलाएं जब तक वो मिश्रण झागदार न बन जाए।
  2. अब इसे अपनी छाती पर लगाएं और फिर आधे घंटे के लिए उसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. फिर इस पेस्ट को खीरे या प्याज के जूस से हटाएँ फिर ठंडे पानी से ब्रेस्ट को धोएं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप ब्रेस्ट मास्क भी तैयार कर सकते हैं।
  2. सबसे पहले एक अंडे की सफ़ेद जर्दी को एक चम्मच दही और शहद के साथ मिला दें।
  3. अब अच्छे से इस मिश्रण को चलाने के बाद फिर इसे ब्रेस्ट पर लगा लें और 20 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें। 
  4. फिर ठंडे पानी से ब्रेस्ट को साफ़ कर लें।
  5. स्तनों में स्थिरता लाने के लिए आप इस उपाय को हफ्ते में एक बार ज़रूर इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - अंडे के फायदे और नुकसान

आयुर्वेद में, मेथी का इस्तेमाल अक्सर ब्रेस्ट को उठाने के लिए किया जाता है। इसमें विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट के गुण होते हैं जो स्तनों को उठाने, टाइट और छाती के आसपास त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करते हैं।

मेथी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले एक चौथाई मेथी के पाउडर को लें और फिर उसमे पानी को मिला लें जिससे एक पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस पेस्ट को अपने स्तनों पर लगाएं और पांच से दस मिनट के लिए उन्हें इसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. फिर ब्रेस्ट को गुनगुने पानी से धो लें।
  4. इस उपाय को हफ्ते में एक या दो बार ज़रूर दोहराएं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा ब्रेस्ट मास्क तैयार कर सकते हैं।
  2. सबसे पहले एक या दो कप दही को लें।
  3. मेथी के तेल और विटामिन ई के तेल के दस बूँद और एक सफ़ेद अंडे की जर्दी।
  4. अब इन सामग्रियों को एक साथ अच्छे से मिला लें।
  5. फिर इस पेस्ट को ब्रेस्ट पर लगाकर मसाज करें।
  6. अब इसे आधे घंटे के लिए ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर ठंडे पानी से इसे धो लें।
  7. इस मास्क को हफ्ते में एक बार ज़रूर इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - मेथी के फायदे और नुकसान

अनार को एक बेहतरीन एंटी-एजिंग सामग्री के रूप में जाना जाता है और ये ब्रेस्ट को लटकने से रोकता  है। साथ ही अनार के बीज का तेल फाइटो न्यूट्रिएंट्स से समृद्ध होता है जो ब्रेस्ट में स्थिरता लाता है।

अनार का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले अनार के छिलकों और कुछ मात्रा में गर्म सरसों के तेल का एक पेस्ट तैयार कर लें।  
  2. अब इस पेस्ट को सोने से पहले ब्रेस्ट पर लगाएं और पांच से दस मिनट तक मसाज करें।
  3. फिर ठंडे पानी से स्तन को धो लें।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप चार चम्मच नीम के तेल को एक चम्मच अनार के छिलकों के पाउडर के साथ मिला दें।
  2. अब इस मिश्रण को कुछ मिनट तक गर्म करें।
  3. गर्म होने के बाद इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें और फिर इसे स्तनों पर कुछ हफ्ते के लिए पूरे दिन में दो बार ज़रूर लगाएं।

(और पढ़ें - अनार के फायदे

एलो वेरा में प्राकृतिक तरीके से स्किन को टोन करने के गुण मौजूद होते हैं जो ब्रेस्ट को लटकने से रोकते हैं। एलो वेरा के एंटीऑक्सीडेंट गुण फ्री रेडिकल्स से पहुंचने वाली हानि को दूर रखते हैं और स्तनों में स्थिरता लाते हैं।

एलो वेरा का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले एलो वेरा को ब्रेस्ट पर लगाएं और फिर दस मिनट तक मसाज करें।
  2. फिर दस मिनट तक इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर गुनगुने पानी से स्तनों को धो लें।
  3. अव्छा परिणाम पाने के लिए इस उपाय को हफ्ते में चार से पांच बार दोहराएं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप एक चम्मच एलो वेरा और एक चम्मच मेयोनीज़ और शहद को एक साथ मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को अपने स्तनों पर लगाएं और फिर 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. फिर ब्रेस्ट को गर्म पानी से धो लें और फिर ठंडे पानी से धोएं।
  4. इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार ज़रूर दोहराएं।

(और पढ़ें - एलोवेरा के फायदे और नुकसान

शिया बटर ब्रेस्ट में स्थिरता और कसाव लाने के लिए एक और प्रभावी प्राकृतिक सामग्री है। ये विटामिन ई का स्रोत है जो त्वचा को टाइट करने में मदद करता है। इसके साथ ही ये फ्री रेडिकल्स की वजह से कोशिकाओं को पहुंचने वाली हानि से बचाता भी है।

शिया बटर का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले अपने स्तनों पर शिया बटर को रगड़ें।
  2. फिर 10 से 15 मिनट तक अच्छे से मसाज करें।
  3. अब दस मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर स्तनों को ठंडे पानी से धो लें।
  4. अच्छा परिणाम पाने के लिए इस उपाय को तीन से चार बार दोहराएं।

रहसोल क्ले प्राकृतिक त्वचा में स्थिरता लाने वाली सामग्री है। इसमें कई खनिज होते हैं जैसे सिलिका, मैग्नीशियम, आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम और सोडियम जो त्वचा को स्थिर और टाइट करने में मदद करते हैं जैसे स्तन।    

रहसोल क्ले का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले दो चम्मच रहसोल क्ले के पाउडर को पानी में मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  2. अब इस पेस्ट को अपनी छाती पर लगाएं और सूखने का इंतज़ार करें।
  3. फिर स्तनों को गुनगुने पानी से धो लें।
  4. इस उपाय को हफ्ते में एक बार ज़रूर दोहराएं।
  1. अधिक डाइटिंग न करें इससे आपका वजन बहुत ही कम समय में गिर सकता है और इस तरह स्तन लटक सकते हैं।
  2. ब्रेस्ट को स्थिर रखने के लिए स्विमिंग बहुत ही बेहतरीन व्यायाम है।
  3. बिना सपोर्टिंग ब्रा के फॉरवर्ड बेंड्स, कांट्रेक्टिंग पोसेस, चलना या दौड़ना न करें।
  4. रोज़ाना ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीने की आदत बनाएं जिससे आपका शरीर हाइड्रेटेड रहे।
  5. सूरज के सामने ब्रेस्ट को सीधा सम्पर्क में न रखें। जाने से पहले सनस्क्रीन लगाएं। सूरज की किरणों की वजह से त्वचा की लचीलता कम हो सकती है। जब भी आप टेंक टॉप, बाथिंग सूट पहने उससे पहले स्तनों पर सनस्क्रीन का इस्तेमाल ज़रूर करें।
  6. स्वास्थ्य को सुधारने के लिए और छाती की नाजुक त्वचा को बचाने के लिए धूम्रपान करना छोड़ दें।
  7. ध्यान रखें स्तनों को लटकने से बचाने के लिए अपनी अवस्था को सही रखें। हमेशा सीधा बैठे और सीधा चलें।
  8. हमेशा सही फिट की ब्रा पहने जिससे स्तनों को एक अच्छा सहारा मिले। आप पुश अप ब्रा पहन सकती हैं जिसमे आपके स्तन लटकेंगे नहीं। एरोबिक व्यायाम, टेनिस खेलते वक़्त, जॉगिग या अन्य तरीके के वर्कआउट के लिए स्पोर्ट्स ब्रा पहने।
  9. अगर आपका वजन बहुत ज़्यादा है तो उसे कम करें। अधिक वजन त्वचा को खींचता है जिससे स्तन लटकने लगते हैं।
  10. इसके अलावा आप स्तन को टाइट रखने के लिए योग भी कर सकते हैं।
  11. ब्रेस्ट में स्थिरता लाने के लिए स्वस्थ आहार खाएं जैसे प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम, खनिज, कार्बोहाइड्रेट और आवश्यक वसा।     

जिन महिलाओं के स्तन लटके हुए होते हैं उन्हें रोज़ाना व्यायाम करने की आदत डालनी चाहिए। ऐसे व्यायाम जो आपके स्तनों के उत्तकों को पर असर डालें और छाती के आसपास की मांसपेशियों में स्थिरता लाने में मदद करे।

कुछ व्यायाम प्रभावी तरीके से लटके हुए ब्रेस्ट को उठाते हैं और उनमे स्थिरता लाते हैं। चेस्ट प्रेसेस और पूल्स (pulls), आर्म रेसेस, राउंड अबाउट पुश अप्स, और डंबल फलयाइस व्यायाम ब्रेस्ट के लिए बने हैं। इसके साथ ही कुछ अन्य व्यायाम भी हैं जिनकी मदद से आप अपने लटके हुए स्तनों में स्थिरता ला सकते हैं। ध्यान रहे व्यायाम को करने के लिए हमेश ब्रेस्ट को सहारा देने वाली ब्रा पहने या स्पोर्ट्स ब्रा पहने।

(और पढ़ें - ब्रेस्ट टाइट करने के लिए एक्सरसाइज)

बर्फ से मसाज को भी स्तनों में स्थिरता लाने के लिए एक बेहतरीन उपाय माना जाता है। इससे लटके हुए ब्रेस्ट उठ जाते हैं। बर्फ का ठंडा तापमान उत्तकों पर असर करता है और ब्रेस्ट में स्थिरता लाता है और उन्हें झुकने नहीं देता।

बर्फ का कैसे करें इस्तेमाल -

  1. सबसे पहले दो बर्फ लें और उन्हें स्तनों पर एक मिनट तक गोल गोल तरीके से घुमाएं।
  2. अब ब्रेस्ट को मुलायम तौलिया से सूखा लें और फिर एकदम फिट ब्रा पहन लें।
  3. फिर आराम से आधे घंटे के लिए लेट जाएँ।
  4. पूरे दिन में इस प्रक्रिया को एक बार रोज़ाना ज़रूर करें।

नोट - एक मिनट से ज़्यादा भी बर्फ को ब्रेस्ट पर न लगाएं इससे छाती सुन्न पड़ सकती है।

ब्रेस्ट को जैतून के तेल से मसाज करने से इनमे स्थिरता लाने में मदद मिलती है। जैतून का तेल एंटीऑक्सीडेंट और फैटी एसिड से समृद्ध होता है जो फ्री रेडिकल्स से होने वाली हानि से बचाता है और ब्रेस्ट को लटकने नहीं देता। इसके साथ ही ये त्वचा को निखारता भी है।

जैतून के तेल का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले जैतून के तेल को अपने हाथ में लें और अब इस तेल को दोनों हाथों में लेकर रगड़ें।
  2. फिर तेल के हाथों को छाती पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद 15 मिनट तक मसाज करें जिससे रक्त का प्रवाह बढे और कोशिकाओं का भी इलाज हो।
  4. इस उपाय को हफ्ते में चार से पांच बार ज़रूर दोहराएं।
  5. आप जैतून के तेल के अलावा बादाम, ऑर्गन, एवोकाडो या जोजोबा के तेल से भी ब्रेस्ट पर मसाज कर सकते हैं।   

(और पढ़ें - जैतून के तेल के फायदे और नुकसान

और पढ़ें ...

References

  1. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; Ultraviolet radiation (UV)
  2. Rinker B, Veneracion M, Walsh CP. The effect of breastfeeding on breast aesthetics. 2008 Sep-Oct;28(5):534-7. PMID: 19083576
  3. U.S. Department of Veterans Affairs. Chest. Washington DC
  4. Cleveland Clinic. [Internet]. Cleveland, Ohio. Back Health & Posture
  5. Barbara G, Facchin F, Buggio L, Alberico D, Frattaruolo MP, Kustermann A. Vaginal rejuvenation: current perspectives. 2017 Jul 21;9:513-519. PMID: 28860864
  6. Barbara G, Facchin F, Buggio L, Alberico D, Frattaruolo MP, Kustermann A.Vaginal rejuvenation: current perspectives. 2017 Jul 21;9:513-519. PMID: 28860864
  7. Ivana Binic, Viktor Lazarevic, Milanka Ljubenovic, Jelena Mojsa and Dusan Sokolovic. Skin Ageing: Natural Weapons and Strategies. 2013; 2013: 827248. PMID: 23431351
  8. Wolfenson M, Hochman B, Ferreira LM. Laser lipolysis: skin tightening in lipoplasty using a diode laser.. 2015 May;135(5):1369-77. PMID: 25919251