बितिलासन को काउ पोज (Cow Pose) कहा जाता है. इस आसन को करने से शरीर की कई समस्याएं दूर होती हैं. यह बॉडी पॉश्चर में सुधार लाने के साथ-साथ दिमाग को तरोताजा करता है. साथ ही कूल्हे, कमर और पेट को सही शेप दे सकता है. इस आसन को करना आसान है.

आज हम इस लेख में आप बितिलासन करने का तरीका और फायदे के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - बालासन के फायदे)

  1. बितिलासन करने का तरीका
  2. बितिलासन करने के फायदे
  3. सारांश
बितिलासन करने का तरीका व फायदे के डॉक्टर

बितिलासन का अभ्यास करना आसान होता है. इसे हमेशा मार्जरी आसन के साथ किया जाता है. यह योगासन करने पर शरीर गाय की आकृति की तरह दिखता है. यही कारण है कि इसे काउ पोज भी कहा जाता है. आइए, जानते हैं कि इसे करने का तरीका क्या होता है -

  • बितिलासन को करने के लिए सबसे पहले अपने घुटनों और हाथों को फर्श पर रखें. 
  • इस दौरान घुटने हिप्स के नीचे और कलाइयां कंधों के ठीक नीचे सीधी होनी चाहिए.
  • इसके बाद कूल्हों को ऊपर की तरफ उठाने का प्रयास करें और पेट को जमीन की तरफ ले जाएं.
  • अब लंबी गहरी सांस लेते हुए जितना संभव हो सके सिर को पीछे की तरफ ले जाएं और आसमान की तरफ देखने का प्रयास करें.
  • इस अवस्था में शरीर की मुद्रा पूरी तरह से गाय की तरह नजर आती है.
  • कुछ देर इसी मुद्रा में बने रहें और सामान्य गति से सांस लेते रहें.
  • फिर धीरे-धीरे सामान्य मुद्रा में आ जाएं और वज्रासन में बैठ जाएं.
  • इसके बाद कुछ सेकंड आराम करें और थोड़ी देर बार फिर से इसका अभ्यास करें.

(और पढ़ें - शलभासन के फायदे)

बितिलासन के कई फायदे होते हैं. यह बॉडी पॉश्चर को सुधारने में असरदार होता है. साथ ही रीढ़ की हड्डियों में होने वाली समस्याओं को भी दूर कर सकता है. इसके अलावा कई अन्य फायदे होते हैं, जैसे -

  • यह योगासन बॉडी पॉश्चर में सुधार लाने में असरदार होता है. 
  • इससे शरीर के संतुलन में सुधार हो सकता है.
  • यह आसन रीढ़ और गर्दन को मजबूत करने में मददगार साबित हो सकता है.
  • नियमित रूप से बिटिलासन का अभ्यास करने से कूल्हों, पेट और पीठ की स्ट्रेचिंग हो सकती है.
  • यह आसन पेट के अंगों को उत्तेजित करता है, जिससे किडनी और एड्रेनल ग्लैंड स्वस्थ हो सकती हैं. 
  • बितिलासन करने से आप भावनात्मक रूप से भी काफी बेहतर हो सकते हैं.
  • यह आसन स्ट्रेस से राहत दिलाकर आपके मन को शांत करता है.

(और पढ़ें - शीर्षासन के फायदे)

बितिलासन का अभ्यास करना स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है. इससे स्ट्रस को कम किया जा सकता है. साथ ही यह बॉडी पॉश्चर में सुधार लाया जा सकता है. ध्यान रहे कि अगर आप किसी तरह की परेशानी से जूझ रहे हैं, तो डॉक्टर की सलाह पर ही इस आसन का अभ्यास करें.

(और पढ़ें - सर्वांगासन के फायदे)

शहर के योग ट्रेनर खोजें

  1. पूर्वी सिक्किम के योग ट्रेनर
Dr. Smriti Sharma

Dr. Smriti Sharma

योग
2 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें