myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम क्या है?

एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम एक यौन विकास संबंधी विकार है, जिसमें शरीर मुख्य  रूप से पुरुष सेक्स हार्मोन (एंड्रोजन) को प्रतिक्रिया देने में पूरी तरह से अक्षम हो जाता है। यह उस जीन में बदलाव के कारण होता है, जो कोशिकाओं के अंदर प्रोटीन बनाने का काम करती है। ये प्रोटीन एंड्रोजन हार्मोन को प्राप्त करता है और कोशिकाओं को इस हार्मोन का इस्तेमाल करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - यौन संचारित रोग का इलाज)

एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम के क्या लक्षण हैं?

एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम के लक्षण काफी अलग-अलग हो सकते हैं। कम से भी कम गंभीर मामलों में बांझपन ही एकमात्र ऐसा लक्षण होता है, जो एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम को दर्शाता है। एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम में बांझपन होना वृषण की नलियां कठोर होने से होता है। इस स्थिति में वीर्य में शुक्राणु नहीं होते या फिर बहुत ही कम होते हैं।

(और पढ़ें - बांझपन के घरेलू उपाय)

एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम क्यों होता है?

एआर (AR) जीन में किसी प्रकार का बदलाव होने से एंड्रोजन असंवेदनशीलता सिंड्रोम हो जाता है। यह जीन एंड्रोजन रिसेप्टर नामक प्रोटीन बनाने में मदद करती है। एंड्रोजन रिसेप्टर की मदद से कोशिकाएं एंड्रोजन हार्मोन को प्रतिक्रिया दे पाती हैं। एंड्रोजन हार्मोन (जैसे की टेस्टोस्टेरोन) पुरुषों में यौन विकास करने का कार्य करता है।

(और पढ़ें - टेस्टोस्टेरोन टेस्ट क्या है)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...