myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मुंह से बदबू आने पर न सिर्फ लोगों के सामने शर्मिंदगी महसूस होती है बल्कि यह भी लगता है कि आप अपने मुंह की साफ-सफाई के प्रति सजग नहीं हैं। लेकिन हर बार मुंह से आ रही बदबू मुंह से जुड़ी समस्या की वजह से नहीं होती। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि मुंह से आ रही बदबू आपके पूरे स्वास्थ्य को बयां करती है। मुँह से आ रही हर गंध अलग होती है जैसे मुंह से आ रही एमोनिया जैसी गंध किडनी रोग की ओर इशारा करती है। जबकि अस्थमा, सिस्टिक फाइब्रोसिस, लंग कैंसर, लिवर डिजीज होने पर भी मुंह से अलग-अलग किस्म की गंध आती है। इसी तरह मीठी या फल जैसी गंध केटोएसिडोसिस का संकेत देती है। केटोएसिडोसिस डायबिटीज का एक गंभीर रूप है।

(और पढ़ें - शुगर कम करने के घरेलू उपाय)

डायबिटीज और मुंह से बदबू
2009 में हुए एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पता लगाया कि डायबिटीज की वजह से मुंह से गंध आ सकती है। शोधकर्ताओं का कहना है कि मुंह की गंध से डायबिटीज के शुरूआती चरण का पता लगाया जा सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार डायबिटीज के साथ दो तरह की स्थितियां जुड़ती हैं जैसे मसूड़ों से संबंधित रोग और कीटोन का बढ़ा हुआ स्तर। डायबिटीज की वजह से मसूड़ों से संबंधित रोग के जोखिम बढ़ जाते हैं, जिससे मुंह से बदबू आने लगती है। हालांकि मसूड़ों के रोग की वजह से मुंह से एसिटोन की बदबू नहीं आती। यदि किसी को डायबिटीज है तो मुंह से एसिटोन जैसी बदबू आ सकती है। यह अमूमन रक्त में कीटोन का स्तर बढ़ने से होता है।

(और पढ़ें - शुगर में क्या खाना चाहिए)

क्यों आती है मुंह से एसिटोन की बदबू
अगर डायबिटीज होने पर अपना सही तरह से ख्याल न रखा जाए तो इससे शरीर में पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता है। नतीजतन शरीर में ग्लूकोज की कमी होने लगती है। इसका मतलब यह है कि एनर्जी में बदलने के लिए शरीर को पर्याप्त ग्लूकोज नहीं मिल पा रहा है । जब शरीर को शुगर से एनर्जी नहीं मिलती तो वह एनर्जी के लिए फैट को बर्न करने लगता है। वसा को एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करने वाली प्रक्रिया को कीटोन्स कहते हैं। कीटोन में एसिटोन होता है। एसिटोन वही तत्व होता है जिसे नेल पाॅलिश हटाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जब डायबिटीज के मरीजों से मुँह से एसिटोन (नेल पोलिश रीमूवर जैसी गंध आती है) जैसी महक आने लगे तो समझें कि उसके खून में कीटोन्स का स्तर बढ़ गया है।

(और पढ़ें - डायबिटीज में परहेज)

डायबिटीज के मरीज इस तरह मुंह से बदबू को रोकें
डायबिटजी के मरीज अगर सही तरह अपनी देखरेख न करें तो इससे उन्हें किसी भी तरह की बीमारी हो सकती है। इनमें से मुंह से बदबू आना भी एक समस्या है। मुंह से बदबू आने को रोका जा सकता है। इसके लिए निम्नलिखित कुछ उपायों को आजमाएं:

  • रोजाना दो बार दांतों को ब्रश करें। इसके साथ ही फ्लाॅस भी करें।
  • अपनी जीभ को साफ करना न भूलें। (और पढ़ें - जीभ साफ करने के तरीके)
  • खूब पानी पीएं ताकि मुंह में नमी बनी रहे। (और पढ़ें - पानी कितना पीना चाहिए)
  • अपने ब्लड शुगर को अपने नियंत्रित रखें।
  • लार निकलने के लिए च्युइंग गम चबाएं।
  • डेंटिस्ट के पास नियमित जाएं। साथ ही डाॅक्टर को बताएं कि आपको डायबिटीज है। इससे डेंटिस्ट को आपका चेकअप करने में सुविधा होगी।
  • धूम्रपान न करें।

डायबिटीज के मरीजों को न सिर्फ अपने स्वास्थ्य का बल्कि मुंह का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए। मुंह से बदबू आने पर सजग हो जाना चाहिए ताकि समय रहते इलाज किया जा सके।

(और पढ़ें - डायबिटीज डाइट चार्ट)

और पढ़ें ...