myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

जब भी मुहं की सफाई की बात आती है तो हम केवल दांतों की सफाई पर ही जोर देते हैं, लेकिन दांतों की तरह ही जीभ को भी रोजाना साफ करना बेहद जरूरी होता है। जीभ में कई तरह के बैक्टीरिया एकत्रित हो जाते हैं और इसमें सफेद परत बन जाती है, यह दोनों ही कई तरह की समस्याओं का कारण बनते हैं। इसके साथ ही जीभ की नियमित सफाई न करने से सांसों में बदबू और दांतों की भी समस्याएं शुरू हो जाती हैं। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आपको दांतों के साथ ही रोजाना सुबह जीभ को भी साफ करना चाहिए।

इस लेख में आपको जीभ साफ करने के उपाय और तरीके के बारे में बताया गया है। साथ ही इस लेख में आपको जीभ को साफ करने के फायदे और नुकसान के बारे में भी बताने का प्रयास किया गया है।

(और पढ़ें - जीभ के छाले का इलाज

  1. जीभ साफ करने का तरीका और उपाय - jeebh saaf karne ka tarika aur upay
  2. जीभ साफ करने के फायदे और नुकसान - jeebh saaf karne ke fayde aur nuksan

जीभ को साफ करने के लिए बाजार में कई तरह के क्लीनर मौजूद हैं, लेकिन स्क्रैपर सबसे अधिक प्रयोग में लाया जाता है। बाजारों में यह क्लीनर “टंग क्लीनर” या “टंग स्क्रैपर” के नाम से मिलता है। जीभ साफ करने के लिए आपको सही स्क्रैपर को चुनना चाहिए। प्लास्टिक, कॉपर और स्टील तीनों रूप में टंग स्क्रैपर मिलते हैं। अधिकतर टंग स्क्रैपर का आकार चम्मच की तरह होता है।

जीभ को साफ करने के लिए आप टूथब्रश या चम्मच का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन इनसे सांसों की दुर्गंध पैदा करने वाले बैक्टीरिया पूरी तरह से साफ नहीं हो पाते हैं, इसीलिए आपको टंग स्क्रैपर को ही इस्तेमाल करने का सुझाव दिया जाता है। जीभ को साफ करने का सही तरीका यहाँ दिया जा रहा है: 

  • सबसे पहले किसी शीशे के सामने खड़े हो जाएं। इसके बाद आप मुंह को खोले और जीभ को बाहर निकाल लें। (और पढ़ें - जीभ में सूजन का इलाज)
  • टंग स्क्रैपर के गोल भाग को जीभ के पिछले हिस्से पर रखें।
  • अगर आप इस दौरान गैगिंग (उल्टी की तरह आवाज आना) के शोर से संकोच कर रहे हैं तो ऐसे में आप जीभ के मध्य हिस्से से सफाई प्रारंभ करें। कुछ समय के बाद आदत होने पर आप जीभ को पीछे से भी साफ कर सकते है। (और पढ़ें - मुंह के छाले का इलाज)
  • जीभ की सफाई करते समय टंग स्क्रैपर को हल्के हाथों से जीभ पर लगाएं। इसके बाद जीभ के पिछले हिस्से से स्क्रैपर पर हल्का दबाव देते हुए बाहर की ओर लाएं। इस प्रक्रिया के बाद स्क्रैपर को उठाएं और फिर से उसको जीभ के पिछले हिस्से से बाहर की ओर लाएं। इससे आपकी जीभ में जमा गंदगी निकलने लगती है।
  • टंग स्क्रैपर से जब गंदगी बाहर निकलने लगे तो उसको पानी, रूई या किसी साफ कपड़े से हटाएं। (और पढ़ें - जीभ के कैंसर का इलाज)
  • इस क्रिया को तब तक दोहराएं जब तक आपकी पूरी जीभ साफ ना हो जाएं। जीभ के एक ही हिस्से पर दो से तीन बार स्क्रैपर का उपयोग काफी होता है।
  • जीभ साफ होने के बाद आप साफ पानी से कुल्ला कर लें।
  • इसके बाद आप टंग क्लीनर या स्क्रैपर को गर्म पानी या साबुन से धो लें और इसको सूखाकर किसी साफ जगह पर रखें। (और पढ़ें - मुंह के छाले दूर करने के उपाय)

इस पूरी प्रक्रिया में दो मिनट से भी कम समय लगता है। साथ ही आवश्यकता होने पर आप दिन में किसी भी समय इस प्रक्रिया को दोबारा दोहरा सकते हैं।  

(और पढ़ें - मुंह में छाले होने पर क्या करना चाहिए)  

जीभ साफ करने के फायदों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है:

  • जीभ साफ करने से आपको भोजन का स्वाद महसूस करने में आसानी होती है।
  • सफेद परत के हटने से जीभ साफ दिखती है। 
  • बैक्टीरिया दूर होते हैं।
  • बैक्टीरिया दूर होने से कैविटी, मसूड़ों के रोग और अन्य समस्याओं से बचाव होता है। (और पढ़ें - मसूड़ों से खून आने का इलाज)
  • सांसों की दुर्गंध दूर होती है।

(और पढ़ें - मुंह की बदबू हटाने का उपाय)

जीभ साफ करने से नुकसान

जीभ साफ करने के निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं:

  • गैग रिफ्लेक्स (gag reflex)  की समस्या जीभ साफ करने का सबसे बड़ा नुकसान है। इसमें आपको जीभ साफ करते समय उल्टी हो सकती हैं। इसको कम करने के लिए आपको पहले जीभ के मध्य से शुरुआत करनी चाहिए। (और पढ़ें - दांत के मैल का इलाज
  • टंग स्क्रैपर से जीभ के छिलने का डर होता है, इससे बचने के लिए आप नुकीले स्क्रैपर का उपयोग करने से बचें।
  • अधिक दबाव के साथ स्क्रैपर इस्तेमाल करने से स्वाद इंद्री (taste buds) और जीभ की त्वचा को नुकसान हो सकता है। ऐसे में आप हल्के हाथों से स्क्रैपर का इस्तेमाल करें।    

(और पढ़ें - पायरिया के घरेलू उपाय

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें