myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कान में कुछ चले जाना क्या है?

कान में कुछ चले जाने की समस्या का मुख्य रूप से उन बच्चों को सामना करना पड़ता है, जो खेलते-खेलते किसी भी वस्तु जैसे कोई आभूषण, भोजन या कोई भी छोटी वस्तु कान में डाल लेते हैं। ऐसे बच्चों को विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है, ताकि वह समस्या के दौरान ना तो भयभीत हों और ना ही खुद को चोट पहुंचाएं। इस समस्या में ज्यादातर बच्चों के कान सिरिंजिंग (syringing: विशेष तरह की प्रक्रिया) की मदद से साफ किए जाते हैं।

(और पढ़ें - बच्चों की देखभाल)

कान में कुछ चले जाने पर क्या करें?

यदि आपके कान में कोई वस्तु चली जाती है तो आप निम्नलिखित उपाय आजमा सकते हैं:

  • ईयर बड्स ( जैसे किसी रूई को माचिस की तिल्ली पर लगाना) या माचिस की तिल्ली जैसी किसी वस्तु से कान में बिलकुल ना डालें। ऐसा करने से आपके कान में गयी वस्तु और अंदर जा सकती है और कान को अधिक नुकसान हो सकता है।
  • यदि संभव हो तो कान के अंदर गई वस्तु को निकाल दें। लेकिन इस काम को तभी करें जब वस्तु स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही हो और वह लचीली हो।  
  • कान में गई वस्तु को बाहर निकालने के लिए उस कान को नीचे की ओर करें। ताकि कान के अंदर गई वस्तु आसानी से बाहर आ जाए।
  • यदि कान में गई वस्तु कोई कीट है तो इसको मारने के लिए किसी कीट तेल का उपयोग करें। ऐसे में आप कान में मिनिरल तेल, जैतून का तेल या बेबी ऑयल डाल कर कीट को बाहर निकालने का प्रयास कर सकते हैं। साथ ही ऐसा करते समय तेल हल्का गर्म होना चाहिए, लेकिन बहुत अधिक गर्म नहीं होना चाहिए। कीट के अलावा किसी भी वस्तु को हटाने के लिए तेल का उपयोग न करें। यदि आपको नुकसान की आशंका है तो इस विधि का उपयोग न करें।
  • कान को धोकर निकालने का प्रयास करें। लेकिन इसमें यह भी ध्यान रखें कि यदि आपके कान को नुकसान होने का जोखिम हो तो ऐसा न करें।

(और पढ़ें - क्या कान में तेल डालना चाहिए)

अगर आप आसानी से वस्तु को बाहर नहीं निकाल पाएं या इसके कुछ हिस्से कान में ही रह जाते हैं तो ऐसे में आपको तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाना चाहिए। वस्तु हटा दिए जाने के बाद भी यदि दर्द, सुनने में कोई परेशानी हो, तो आपको तुरंत चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

(और पढ़ें - सुनने में परेशानी के उपाय)

कान में कुछ चले जाने का इलाज कैसे होता है?

डॉक्टर कई तकनीकों का उपयोग करके कान में गई वस्तु को निकाल देते हैं। (घर पर इन्हें कभी नहीं आजमाएं):

  • विशेष तरह के यंत्र जैसे ट्वीजर्स या फोरसेप्स का उपयोग कर कान में गई वस्तु को पकड़ने के लिए किया जाता है, इस दौरान कान को नुकसान न हो इस बात का भी विशेष ध्यान दिया जाता है।  
  • वस्तु को बाहर खींचने के लिए हल्की सक्शन तकनीक का उपयोग किया जा सकता है। (और पढ़ें - कान बंद होने का इलाज)
  • कान के कैनाल (अंदरुनी मार्ग) को हल्के गर्म पानी से साफ करने से कई बार छोटे कैथेटर से फंसी सामग्री को बाहर आ जाती हैं और कान की गंदगी भी साफ हो जाती है। 
  • कुछ डॉक्टर कान की कैनाल से वस्तुओं को हटाने के लिए अन्य सरल और आधुनिक तरीकों का उपयोग करते हैं।

बाहरी वस्तु को हटा दिए जाने के बाद डॉक्टर कान में चोट के कारण किसी भी संक्रमण को रोकने के लिए रोगी को सप्ताह में पांच दिनों तक एंटीबायोटिक दवाएं डालने के लिए दे सकते हैं।

(और पढ़ें - एंटीबायोटिक लेने से पहले इन बातों का ध्यान रखें)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...