बढ़ते पेट के कारण शरीर में कई तरह की बीमारियां होने की आशंका होती है. इसलिए हमेशा पेट की चर्बी को कम रखने की कोशिश करनी चाहिए. अगर आपका पेट तेजी से बढ़ रहा है, तो केमिकल्स युक्त दवाओं या फिर सर्जरी का सहारा लेने से बेहतर है आप नैचुरल तरीकों से अपना पेट घटाएं.

आज हम आपको इस लेख में पेट घटाने के कुछ आयुर्वेदिक दवाओं और तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं. ताकि आप आयुर्वेदिक तरीकों से अपना पेट घटा सकें.

(और पढ़ें - पेट की चर्बी कम करने की दवा)

  1. पेट की चर्बी कम करने की आयुर्वेदिक दवाएं - Ayurvedic medicine for for reducing belly fat in Hindi
  2. पेट कम करने की आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic remedies for reducing belly fat in Hindi
  3. पेट की चर्बी घटाने के कुछ अन्य नुस्खे - Other remedies for burning belly fat in Hindi
  4. सारांश - Takeaway
पेट की चर्बी कम करने की आयुर्वेदिक दवा और उपाय के डॉक्टर

आयुर्वेदिक तरीकों से पेट की चर्बी को घटाने के लिए आप आयुर्वेद की कुछ दवाओं का सहारा ले सकते हैं. यह दवाइयां आपको बाजारों में आसानी से मिल सकती हैं. लेकिन ध्यान रहे कि इन दवाइयों को लेने से पहले एक बार एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें.

आयुर स्लिम कैप्सूल (Ayur Slim Capsules)

आयुर स्लिम कैप्सूल का सेवन करने से चीनी और बार-बार खाने की इच्छा कम हो सकती है. इस आदत से आपका मोटापा कुछ ही दिनों में कंट्रोल हो सकता है, इस कैप्सूल में मेथी के बीज का उपयोग किया जाता है, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में आपकी मदद कर सकता है. साथ ही यह भूख को कंट्रोल करने में आपकी मदद करता है.

(और पढ़ें - पेट कम करने के उपाय)

कैसे लें आयुर स्लिम कैप्सूल

खाने के बाद दिन में दो बार 2-2 गोलियां ली जा सकती हैं. 

इसके अलावा इस दवा को लेने से पहले एक बार एक्सपर्ट से जरूर सलाह लें.

गुडुची (Guduchi)

गुड़ुची को टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया (Tinospora Cordifolia) या गिलोय के नाम से भी जाना जाता है. यह एक आयुर्वेदिक दवा है, जिसका इस्तेमाल पेट को कम करने के लिए किया जा सकता है. इस दवा की सबसे खास बात यह है कि इसके कोई साइड-इफेक्ट्स नहीं होते हैं. गुड़ुची आपके शरीर को शक्ति प्रदान करने से साथ-साथ पेट की चर्बी घटाने में कारगर होता है.

(और पढ़ें - पेट कम करने के लिए डाइट चार्ट)

कैसे करें गुड़ुची का सेवन

मार्केट में आपको गुड़ुची पाउडर औरकैप्सूल के रूप में आसानी से मिल सकता है. इसके अलावा आप इसकी पत्तियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. 

पाउडर के रूप में इसका सेवन करने के लिए गर्म पानी के साथ 1 चम्मच गुड़ुची पाउडर लें. 

वहीं, अगर आप पत्तियों का सेवन कर रहे हैं, तो इसे पानी में उबालकर एक कप पत्तियों का काढ़ा ले सकते हैं.

गुग्गुलु (Guggulu)

गुग्गुलु एक आयुर्वेदिक फॉर्मूलेशन है, जिसका इस्तेमाल शरीर की चर्बी को जलाने के लिए भी किया जा सकता है. साथ ही यह पाचन की क्रिया को बेहतर करने में आपकी मदद कर सकता है. यह शक्तिशाली दवा सांस से जुड़ी बीमारियों को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - पेट कम करने के लिए एक्सरसाइज)

कैसे करें गुग्गुल का सेवन

अगर आपका पेट काफी ज्यादा बढ़ गया है, तो गुग्गुलु की गोलियों को मुंह में चबाएं. 

इस गोली को आप कम से कम 3 महीनों तक गुनगुने पानी के साथ ले सकते हैं.

इन दवाइयों के अलावा आप कपिवा गेट स्लिम जूस (Kapiva Get Slim Juice), वेदलाइफ आयुर्वेदिक वेट लॉस टेबलेट्स (Vedlife Ayurvedic Weight Loss Tablets) और कई तरह के ब्रांड्स के ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं. इससे आपका पेट काफी हद तक कम हो सकता है.

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

ऊपर बताई दवाओं के अलावा आप पेट कम करने के लिए कुछ अन्य आयुर्वेदिक उपाय अपना सकते हैं, जैसे -

  • त्रिफला - पेट की चर्बी घटाने के लिए आप त्रिफला का इस्तेमाल कर सकते हैं. यह तीन आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से मिलकर तैयार हुआ है. इसका सेवन करने से आपका मोटापा कंट्रोल हो सकता है. साथ ही इससे ब्लड शुगर को भी कंट्रोल किया जा सकता है.
  • कलौंजी - कलौंजी के बीज और तेल का सेवन करने से पेट बढ़ने को कंट्रोल किया जा सकता है. यह महिला और पुरुष में होने वाली ओबेसिटी की समस्या को काफी हद तक कम कर सकती है. हालांकि, इस पर अभी पूर्ण अध्ययन करने की आवश्यकता है.
  • विजयासार - पेट को घटाने में विजयासार भी मददगार हो सकता है.

(और पढ़ें - सिजेरियन के बाद पेट कम करने के उपाय)

इन आयुर्वेदिक नुस्खों के अलावा कुछ घरेलू उपायों से भी आप अपना पेट घटा सकते हैं.

  • नियमित रूप से एलोवेरा जूस का सेवन करने से आप अपना पेट घटा सकते हैं. 
  • अजवाइन का पानी पीने से भी काफी हद तक मोटापा कंट्रोल किया जा सकता है. 
  • शहद और नींबू का पानी बेली फैट को कम करने में असरदार हो सकता है. 
  • नींबू-अदरक और लहसुन का एक साथ सेवन करने से चर्बी को कम किया जा सकता है.

(और पढ़ें - पेट की चर्बी कम करने के योगासन)

इन आयुर्वेदिक तरीकों से आप काफी हद तक अपना पेट कम कर सकते हैं. लेकिन ध्यान रखें कि आयुर्वेदिक दवाओं के साथ-साथ आपको अपने लाइफस्टाइल में भी बदलाव करने की आवश्यकता है. अगर आप प्राकृतिक रूप से पेट घटाना चाहते हैं, तो दवाओं के साथ-साथ हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज को अपने रुटीन में शामिल करें. इसके साथ ही अगर आपको किसी तरह की बीमारी या समस्या है, तो एक बार अपने एक्सपर्ट से जरूर राय लें.  ध्यान रखें कि आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन करने से पहले एक बार आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से जरूर संपर्क करें.

(और पढ़ें - सिजेरियन के बाद पेट कम करने के उपाय)

Dr. Sunil Kilaniya

Dr. Sunil Kilaniya

आयुर्वेद
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Tanushri Yeole

Dr. Tanushri Yeole

आयुर्वेद

Dr. Verender Singh Chaudhary

Dr. Verender Singh Chaudhary

आयुर्वेद
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Ghanshyam Digrawal

Dr. Ghanshyam Digrawal

आयुर्वेद
6 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ