हाथ-पैर में खुजली होना परेशानी का सबब बन जाता है. खुजली करने से भले ही कुछ देर के लिए राहत मिलती हो, लेकिन फिर से बार-बार खुजली करने का मन करने लगता है. साथ ही स्किन रेड भी होने लगती है, ज्यादा खुजली करने से स्किन से खून भी निकलने लगता है. इसलिए, हाथ-पैर में खुजली की शुरुआत होते ही उसके इलाज के बारे में सोचना चाहिए ताकि स्थिति और न बिगड़े. हाथ-पैर में खुजली के घरेलू उपाय के तौर पर ठंडे पानी से नहाने व कोल्ड कम्प्रेस का इस्तेमाल करने से व्यक्ति को राहत मिल सकती है.

आज इस लेख में आप हाथ-पैर में खुजली के घरेलू उपाय के बारे में जानेंगे -

खुजली की समस्या से हो चुके हैं परेशान, तो आज ही खरीदें आयुर्वेदिक स्किन इंफेक्शन टेबलेट.

  1. हाथ-पैर की खुजली में फायदेमंद घरेलू उपाय
  2. सारांश
हाथ-पैरों में खुजली के उपाय के डॉक्टर

बार-बार खुजली करने से स्किन खराब होने लगती है और इंफेक्शन का खतरा भी रहता है. हाथ-पैर में खुजली से निजात पाने में कोल्ड कम्प्रेस, एलोवेरा, ओटमील व ठंडे पानी से नहाने जैसे घरेलू उपाय से मदद मिलती है. आइए, हाथ-पैर में खुजली के घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानते हैं -

ठंडे पानी से नहाना

खुजली हो जाने पर ठंडे पानी से स्नान करने पर राहत मिलती है. भले ही गरम पानी से नहाना पसंद हो, लेकिन यह जानना जरूरी है कि गरम पानी से स्नान करने से स्किन से नमी गायब हो जाती है और हाथ-पैर में खुजली की समस्या और बढ़ जाएगी. इस स्थिति से राहत पाना है, तो ठंडे पानी से स्नान खुजली को कम करने में सहायता कर सकता है.

(और पढ़ें - पूरे शरीर पर खुजली की दवा)

Antifungal Cream
₹629  ₹699  10% छूट
खरीदें

कोल्ड कम्प्रेस

कोल्ड कम्प्रेस बहुत काम की चीज है. यह हाथ-पैर में खुजली होने की स्थिति में भी मददगार है. इसे स्किन पर लगाने से तुरंत खुजली से राहत मिलती है. ऐसा इसलिए, क्योंकि ठंडापन नसों में सूजन को तुरंत कम करने के साथ ब्लड फ्लो को भी कम करता है. इसके लिए गीले ठंडे कपड़े या तौलिये में बर्फ को डालकर प्रभावित जगह पर रखने से आराम मिलता है.

अगर आप फंगल इंफेक्शन का इलाज ढूंढ रहे हैं, तो कृपया यहां दिए लिंक पर जरूर क्लिक करें.

कोलाइडल ओटमील

कोलाइडल ओटमील बारीकी से पीसे गए ओट्स हैं, जिसे आसानी से पानी में मिलाया जा सकता है. इसे स्किन पर लगाने से यह प्रोटेक्टिव बैरियर का काम करता है और स्किन की नमी को बनाए रखता है. इस तरह से जब स्किन पर ड्राइनेस नहीं रहती है, तो खुजली भी अपने आप कम होने लगती है. कोलाइडल ओटमील में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं, जो हाथ-पैर में खुजली की वजह से होने वाली सूजन से भी राहत दिलाने का काम करते हैं. कोलाइडल ओटमील बाजार में आसानी से मिल जाता है.

(और पढ़ें - खुजली का आयुर्वेदिक इलाज)

एलोवेरा

एलोवेरा में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो हाथ-पैर में होने वाली खुजली को कम कर सकते हैं. एलोवेरा को लगाने से स्किन को ठंडापन भी महसूस होता है, जो खुजली को दूर करने में सहायक है. इसके लिए एलोवेरा की एक पत्ती को तोड़कर उसके अंदर के फ्लेश को प्रभावित जगह पर लगाने की सलाह दी जाती है.

मुंहासों को जड़ से खत्म करने के लिए जल्द से जल्द इस्तेमाल करना शुरू करें एंटी एक्ने क्रीम, जिसे आप यहां से खरीद सकते हैं.

नारियल तेल

बचपन से स्किन पर नारियल तेल का इस्तेमाल करने की सलाह दादी-नानी द्वारा दी जाती रही है. स्किन पर नारियल तेल लगाने से स्किन ड्राइनेस से बची रहती है और खुजली भी नहीं होती. नारियल तेल में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जिनकी वजह से यह हाथ-पैर में खुजली के घरेलू उपचार के तौर पर कारगर है.

(और पढ़ें - त्वचा पर चकत्ते)

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल भी वर्षों से खुजली को ठीक करने के तौर पर किया जाता रहा है. बेकिंग सोडा स्किन के पीएच बैलेंस को भी बनाए रखने में मददगार है, लेकिन बेकिंग सोडा को सीधे स्किन पर लगाने की सलाह नहीं दी जाती, बल्कि बेकिंग सोडा को गुनगुने पानी में मिलाकर हाथ-पैर में खुजली वाली जगह पर लगाने से आराम मिलता है.

(और पढ़ें - कान में खुजली)

एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर के एंटीमाइक्रोबियल गुण हाथ-पैर में खुजली को दूर करने में असरकारी साबित हुए हैं. इसमें मौजूद एसिटिक एसिड की वजह से यह एक प्राकृतिक डिसइनफेक्टेंट और एंटीसेप्टिक के तौर पर काम करता है. इसे सीधे खुजली वाली जगह पर न लगाकर पानी में मिक्स करके लगाना चाहिए. अगर खुजली करने से स्किन छिल गई है या फिर स्किन से खून निकल रहा हो, तो एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.

(और पढ़ें - जॉक खुजली)

मॉइश्चराइजर

मॉइश्चराइजर के इस्तेमाल से स्किन की बाहरी परत हाइड्रेट होती है. अगर स्किन पर नमी बनी रही, तो खुजली होने की आशंका कम रहती है. एक अच्छे मॉइश्चराइजर में ह्यूमेक्टेंट्स और एमोलिएंट्स गुण पाए जाते हैं. जहां ह्यूमेक्टेंट्स स्किन में पानी की कमी नहीं होने देता, वहीं एमोलिएंट्स स्किन की सतह पर एक सुरक्षात्मक लेयर बना लेता है, जो नमी को बाहर नहीं निकलने देता. इसलिए, नहाने के तुरंत बाद हाथ-पैर में मॉइश्चराइजर लगाना चाहिए, ताकि नमी स्किन के अंदर ही लॉक हो जाए. 

(और पढ़ें - कान की खुजली दूर करने के उपाय)

हाथ-पैर में खुजली हो जाए, तो जीना मुहाल हो जाता है, क्योंकि बिना खुजली के राहत नहीं मिलती है. इसलिए, हाथ-पैर में खुजली के घरेलू उपाय के तौर पर एलोवेरा जेल, कोल्ड कंप्रेस, बेकिंग सोडा व नारियल तेल राहत दिलाने में अहम भूमिका निभाते हैं. साथ ही यह जानना भी जरूरी है कि हर व्यक्ति की बॉडी का रिएक्शन अलग-अलग होता है, इसलिए किसी भी घरेलू उपाय को अपनाने से पहले उसके साइड इफेक्ट के बारे में जानना जरूरी है. बेहतर तो यह होगा कि हाथ-पैर में खुजली होने की स्थिति में डॉक्टर से पूछकर ही ये घरेलू उपाय इस्तेमाल किए जाएं.

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी की होम्योपैथिक दवा)

Dr Prashant Kumar

Dr Prashant Kumar

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr Rudra Gosai

Dr Rudra Gosai

आयुर्वेद
1 वर्षों का अनुभव

Dr Bhawna

Dr Bhawna

आयुर्वेद
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Padam Dixit

Dr. Padam Dixit

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें