myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

मिडरियासिस - Mydriasis in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

November 15, 2018

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
मिडरियासिस
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

मिडरियासिस होना क्या है?

मिडरियासिस एक ऐसी समस्या है, जिसमें आंखों की पुतली फैल जाती है। आंख के सफेद हिस्से के बीच मौजूद काले भाग को आंखों की पुतली कहा जाता है। ये पुतली बाहर से रौशनी लेती है और रेटिना के पास भेजती है ताकि हम देख पाएं। सामान्य तौर पर, कम रौशनी में आंखों की पुतली फैल जाती है ताकि ज्यादा से ज्यादा रौशनी आंख के अंदर जा सके। कभी-कभी पुतली सामान्य रौशनी में भी अपने आप फैलने लगती है, जिसे मिडरियासिस कहते हैं।

(और पढ़ें - आंखों के भारीपन का इलाज​)

मिडरियासिस के लक्षण क्या हैं?

मिडरियासिस का मुख्य लक्षण होता है आंख की पुतलियों का फैल जाना और बड़ा-छोटा न हो पाना। आंख की पुतली फैल जाती है, तो हमारी आंख रौशनी के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाती है। इसके कारण व्यक्ति को धुंधला दिखना और माथे व आंखों के पास संकुचन महसूस होने लगता है। इसके अलावा कभी-कभी व्यक्ति को सिरदर्द, चक्कर आना, आंख में समस्याएं महसूस होना और सोने में परेशानी जैसी समस्याएं भी होने लगती हैं। आंख की पुतली को घुमाने में दिक्कत और पलकों का अपने आप बंद होना इस बात का संकेत हो सकता है कि आंख की नस को नुकसान पहुंचने के कारण मिडरियासिस की समस्या हो रही है।

(और पढ़ें - सिरदर्द दूर करने का तरीका)

मिडरियासिस क्यों होता है?

मिडरियासिस होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। आंख पर चोट लगना एक मुख्य कारण है, जिसकी वजह से पुतलियां फैल जाती हैं। ऑक्सीटोसिन ऐसा हॉर्मोन होता है, जो व्यायाम करने या लोगों के साथ सामाजिक व शारीरिक संपर्क में आने से शरीर में बनता है। अगर ये हार्मोन अधिक हो जाए, तो आंखों की पुतलियां फैल जाती हैं। जो लोग ड्रग्स लेते हैं, उन्हें भी मिडरियासिस की समस्या हो सकती है। इसके अलावा कुछ मामलों में आंख की नसों को नुकसान होना या मस्तिष्क पर चोट लगने के कारण मिडरियासिस होता है।

(और पढ़ें - आंख में चोट लगने पर क्या करना चाहिए)

मिडरियासिस का इलाज कैसे होता है?

मिडरियासिस का इलाज उसके कारण पर निर्भर करता है और इलाज में आंख के सब कार्यों को सुरक्षित रखने का प्रयास किया जाता है। जैसे, अगर किसी दवा से रिएक्शन के कारण मिडरियासिस हुआ है, तो डॉक्टर मरीज को कुछ समय इंतजार करने की सलाह देते हैं ताकि पुतली अपने आप सामान्य हो जाए। अगर दिमाग या आंखों की चोट के कारण मिडरियासिस हुआ है, तो ज्यादा तीव्र उपचार का उपयोग किया जाता है। कुछ दुर्लभ मामलों में, आंख के अंदरूनी अंगों और नसों के नुकसान को ठीक करने के लिए व्यक्ति की सर्जरी भी की जा सकती है। सर्जरी के बाद आंख सही हो जाने तक व्यक्ति को आंख पर पैच पहनने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा मिडरियासिस के लिए ऐसी दवाओं का उपयोग भी किया जा सकता है जिनसे ग्लूकोमा में पुतलियों का संकुचन ठीक किया जाता है।

(और पढ़ें - आंखों की सूजन का इलाज)



संदर्भ

  1. Spector RH. The Pupils. In: Walker HK, Hall WD, Hurst JW, editors. Clinical Methods: The History, Physical, and Laboratory Examinations. 3rd edition. Boston: Butterworths; 1990. Chapter 58.
  2. American Academy of Ophthalmology [Internet] California, United States; Pupil Efferent Defects.
  3. Wilhelm H,Wilhelm B,Schiefer U. Mydriasis caused by plant contact. Fortschr Ophthalmol. 1991;88(5):588-91. PMID: 1757054
  4. National Institutes of Health; [Internet]. U.S. National Library of Medicine. Lidocaine Usage for Pupil Dilatation (Mydriasis).
  5. National Institutes of Health; [Internet]. U.S. National Library of Medicine. Optimal Method for Mydriasis in Cataract Surgery.

मिडरियासिस की दवा - Medicines for Mydriasis in Hindi

मिडरियासिस के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹24.92

20% छूट + 5% कैशबैक


₹33.56

20% छूट + 5% कैशबैक


₹58.8

20% छूट + 5% कैशबैक


₹43.4

20% छूट + 5% कैशबैक


₹30.8

20% छूट + 5% कैशबैक


₹25.2

20% छूट + 5% कैशबैक


₹49.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹146.65

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 109 entries


डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ