myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -
संक्षेप में सुनें

खाज (स्केबीज) क्या है?

स्केबीज त्वचा में खुजली, जलन व चकत्ते उत्पन्न करने वाली समस्याओं में से एक है। यह एक ऐसी स्थिति है, जो सार्कोप्टेसस्केबीएइ (Sarcoptesscabiei) के कारण होती है, यह आठ पैर वाला एक अत्यंत सूक्ष्म माइट (एक प्रकार का कीट) होता है। स्केबीज बहुत ही संक्रामक होता है, जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में करीबी संपर्क से ही बहुत आसानी से फैल जाता है। यह कुछ प्रकार की स्थितियों में आसानी से फैल जाता है, जैसे बड़ा परिवार, बाल देखभाल केंद्र, स्कूल की कक्षाएं या अस्पताल आदि।

स्केबीज से संबंधित माइट एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक बहुत आसानी से फैल जाता है। ज्यादातर लोग सीधे त्वचा से त्वचा का संपर्क करके ही इस माइट को प्राप्त कर लेते हैं। कुछ बहुत ही कम मामलों में लोग माइट से संक्रमित किसी अन्य वस्तु को छूकर भी इससे संक्रमित हो जाते हैं, जैसे बिस्तर, कपड़े या फर्नीचर आदि। यह माइट मानव शरीर के बिना भी 3 से 4 दिन तक अन्य वस्तु पर जीवित रह लेता है।

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी ट्रीटमेंट)

स्केबीज त्वचा पर किसी भी हिस्से पर विकसित हो सकता है। हालांकि, माइट शरीर के कुछ ही भागों में घुसना ज्यादा पसंद करता है। खुजली और जलन होने के कुछ सबसे सामान्य जगह हैं, जैसे:

  • हाथ - माइट उंगली के बीच और नाखूनों के आसपास की त्वचा में ज्यादातर घुसते हैं।
  • बाजू - जैसे कोहनी और कलाई।
  • त्वचा जो आमतौर पर कपड़ों या आभूषणों से ढ़की होती है - नितंबों, पुरुष गुप्तागों और निपल्स के आसपास आदि ऐसे स्थान होते हैं, जहां पर माइट्स के संक्रमण की ज्यादा संभावनाएं होती है। ब्रेसलेट, वॉचबैंड और अंगूठी आदि के नीचे ढ़की त्वचा पर भी माइट्स आम तौर पर हमला करते हैं।
  • वयस्कों में - बहुत ही कम मामलों में माइट्स गर्दन की त्वचा में भी घुस जाते हैं। 

(और पढ़ें - चर्म रोग का इलाज)

  1. खाज (स्कैबीज) के लक्षण - Scabies Symptoms in Hindi
  2. खाज (स्कैबीज) के कारण - Scabies Causes in Hindi
  3. खाज (स्कैबीज) से बचाव - Prevention of Scabies in Hindi
  4. खाज (स्कैबीज) का परीक्षण - Diagnosis of Scabies in Hindi
  5. खाज (स्कैबीज) का उपचार - Scabies Treatment in Hindi
  6. खाज (स्कैबीज) की दवा - Medicines for Scabies in Hindi
  7. खाज (स्कैबीज) की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Scabies in Hindi
  8. खाज (स्कैबीज) के डॉक्टर

खाज (स्कैबीज) के लक्षण - Scabies Symptoms in Hindi

स्केबीज के लक्षण व संकेत क्या हो सकते हैं?

जब माइट्स त्वचा में घुस जाते हैं, तो उसके बाद संकेत व लक्षण विकसित होने में समय लगता है। अगर आपको पहले भी कभी स्केबीज हो चुका है, तो खुजली आम तौर पर 1 से 4 दिनों के भीतर शुरू हो जाती है। अगर आपको पहले कभी स्केबीज नहीं हुआ हो, तो शरीर को माइट्स का रिएक्शन विकसित करने के लिए समय लगता है। इस स्थिति में लक्षण व संकेत शुरू होने में 2 से 6 हफ्ते लग जाते हैं।

स्केबीज के लक्षण व संकेत जिसमें शामिल है:

  • खुजली मुख्य रूप से रात के समय - स्केबीज में खुजली एक सामान्य लक्षण होता है, कई बार खुजली इतनी तीव्र होती है, जिससे व्यक्ति नींद से जाग जाता है।
  • चकत्ते - स्केबीज के कारण होने वाले चकत्ते काफी लोगों को हो सकते हैं। ये चकत्ते त्वचा की परत पर विकसित होने वाले छोटे-छोटे दाने होते हैं। ये चकत्ते त्वचा पर छोटे-छोटे कट, फुंसी या हीव्स आदि के रूप में भी दिखाई पड़ सकते हैं। कुछ लोगों में ये परतदार व पपड़ीदार धब्बे के रूप में दिखाई पड़ते हैं, जो कुछ-कुछ एक्जिमा की तरह भी दिखाई देते हैं। (और पढ़ें - कट लगने पर क्या करें)
  • घाव - खुजलीदार चकत्तों को अधिक खरोंचने से घाव बन सकता है और घाव में कोई संक्रमण भी विकसित हो सकता है।
  • त्वचा पर मोटी पपड़ी आना - पपड़ी तब बनती है, जब किसी व्यक्ति में गंभीर स्केबीज विकसित हो जाता है, जिसे पपड़ीदार स्केबीज (Crusted scabies) कहा जाता है। यह तब होता है, जब त्वचा में कई सारे माइट्स घुस जाते हैं और गंभीर खुजली उत्पन्न कर देते हैं।

गंभीर खुजली के कारण खरोंचे उत्पन्न हो सकती हैं। क्योंकि इसमें खुजली बंद ही नहीं होती, जिससे घावों में संक्रमण विकसित हो सकता है।

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

त्वचा संबंधी कई स्थितियां जैसे डर्मेटाइटिस या एक्जिमा आदि त्वचा में खुजली व छोटी फुंसियों और दानों से जुड़े मामले हैं। डॉक्टर इसके सटीक कारण को निर्धारित करने में मदद कर सकते हैं, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि आपको उचित उपचार मिल रहा है। संक्रमित व्यक्ति के साथ शारीरिक संबंध और उनके साथ बिस्तर, कपड़े आदि शेयर करने से माइट्स आपके अंदर फैल सकते हैं।

त्वचा को जोर-जोर से खुजाने से त्वचा छिल सकती है, जिससे अन्य बैक्टीरिया उसके अंदर घुस जाते हैं और संक्रमण फैला देते हैं।

स्केबीज का एक और अधिक गंभीर रूप जिसे पपड़ीदार स्केबीज (Crusted scabies) कहा जाता है, यह कुछ उच्च जोखिम वाले समूहों को प्रभावित कर सकता है। जिनमें निम्न शामिल हैं -

  • कुछ ऐसी शारीरिक स्थितियों वाले लोग जो प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर बनाते हैं, जैसे एचआईवी या ल्यूकेमिया
  • अत्याधिक बीमार लोग, जैसे जो लोग अस्पताल में रहते हैं।
  • नर्सिंग होम में रहने वाले बूढ़े लोग।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल कैसे करें)

खाज (स्कैबीज) के कारण - Scabies Causes in Hindi

स्केबीज (खाज) क्यों होता है?

  • स्केबीज, माइट द्वारा त्वचा में पैदा की गई समस्या होती है। इसको मानव का खुजली माइट (The human itch mite) के नाम से भी जाना जाता है।
  • ये माइट त्वचा में छेद (Burrowing) करते रहते हैं, जिससे त्वचा में सुरंगनुमा छेद बन जाते हैं और उनमें मादा माइट्स अपने अंडे छोड़ देती है। अंडे फूटने पर उनसे निकलने वाले सूक्ष्म कीट (Larvae) त्वचा में अलग दिशाओं में या शारीरिक संपर्क के दौरान दूसरे शरीर में फैलने लगते हैं।
  • वैसे माइट को खाने और जीवित रहने के लिए त्वचा चाहिए होती है, लेकिन ये बिना त्वचा के किसी अन्य वस्तु पर भी 3 से 4 दिन तक जीवित रह लेते हैं।
  • स्केबीज की समस्या से पीड़ित लोगों को त्वचा में खुजली और चकत्ते की समस्या होती है, जो माइट्स, उनके अंडे और उनके अपशिष्ट पदार्थों के रिएक्शन का परिणाम होता है।

स्केबीज काफी संक्रामक है, जो त्वचा से त्वचा के संपर्क में आने से या माइट्स से संक्रमित बिस्तर, तौलिया और फर्नीचर आदि के संपर्क से फैलता है। इसके साथ ही कुछ ऐसे लोग जो माइट्स से संक्रमित हो सकते हैं, उनमें शामिल हैं -

  • स्कूल या देखभाल केंद्र में रहने के दौरान बच्चे।
  • छोटे बच्चों के माता-पिता।
  • यौन रूप से सक्रिय युवा वयस्क (जिनके एक से अधिक यौन साथी हों)। (और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स)
  • विस्तारित देखभाल सुविधाओं में रहने वाले लोग।
  • वृद्ध लोग।
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोग (जिनमें एचआईवी एड्स पीड़ित लोग, जिनके अंदरूनी अंगों का प्रत्यारोपण किया गया हो या वे लोग जो प्रतिरक्षा प्रणाली को दबाने वाली दवाएं लेते हों)।

(और पढ़ें - सफेद दाग का इलाज)

खाज (स्कैबीज) से बचाव - Prevention of Scabies in Hindi

खाज (स्केबीज) की रोकथाम कैसे की जा सकती है?

संक्रमण को फिर से होने से रोकने के लिए और माइट्स को अन्य लोगों में फैलने से रोकने के लिए निम्न तरीके अपनाए जा सकते हैं -

  1. उपचार शुरू करने से 3 दिन पहले सभी कपड़े, तौलिये और बिस्तरों को साबुन और गर्म पानी से साफ करें और उच्च गर्मी में सूखाएं। जिन चीजों को आप धो नहीं सकते, उनको ड्राई-क्लीन करें।
  2. माइट्स को भूखा रखें ताकि वे नष्ट हो जाएं, इसके लिए जिन वस्तुओ को आप धो नहीं सकते हैं, उन्हें किसी प्लास्टिक बैग या डिब्बे में सील करें और कुछ हफ्तों के लिए कहीं पहुंच से दूर रख दें। ऐसे में माइट्स को खाने के लिए कुछ नहीं मिलेगा और वे मर जाएंगे।

(और पढ़ें - इन्फेक्शन का इलाज)

खाज (स्कैबीज) का परीक्षण - Diagnosis of Scabies in Hindi

स्केबीज का निदान कैसे किया जाता है?

डॉक्टर अक्सर स्केबीज के कारण होने वाले विशेष प्रकार के दानों को पहचानने में सक्षम हो जाते हैं। डॉक्टर स्केबीज का निदान त्वचा के परिवर्तनों को देखकर करते हैं, जिसमें माइट्स द्वारा बनाए गए छेदों के निशान का पता लगाते हैं।  डॉक्टर त्वचा पर माइट्स के द्वारा बनाए गये छेद और माइट्स को देखने के लिए लेंस का इस्तेमाल करते हैं।

क्योंकि, स्केबीज बहुत ही आसानी से फैलता है, इसलिए अगर एक परिवार में एक से अधिक व्यक्तियों को समान लक्षण हों, तो बिना संदेह के इस रोग को पहचाना जाता है और इसका निदान किया जाता है। डॉक्टर उन अन्य स्थितियों का भी पता लगाते हैं जो अक्सर ऐसे लक्षणों को विकसित करती हैं, जैसे एक्जिमा आदि। सूक्ष्मदर्शी परीक्षण (Microscopic examination) द्वारा त्वचा में माइट्स तथा उनके अंडों की उपस्थिति का पता लगाया जा सकता है।

(और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट)

खाज (स्कैबीज) का उपचार - Scabies Treatment in Hindi

स्केबीज का इलाज कैसे किया जाता है?

घर के सभी सदस्यों या जिनके साथ रोगी के करीबी या यौन संपर्क होते हैं, इन सभी का रोगी के साथ-साथ इलाज होना चाहिए। रोगी का उपचार करने और फिर से संक्रमित होने की रोकथाम करने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि सभी का एक ही दिन इलाज किया जाए। जब तक मरीज और उनके यौन साथी का पूरी तरह से इलाज नहीं हो जाता तब तक उनको आपसी संबंध न बनाने की सलाह दी जाती है।

स्केबीज के उपचार के लिए प्राथमिक विधि में सिर से पैर तक पूरे शरीर में पैरासाइटिकल सामग्री (Parasiticidal preparation) लगानी होती है, जिसको पूरी रात लगाकर रखा जाता है। इसको एक हफ्ते के बाद फिर से दोहराया जाना चाहिए।

(और पढ़ें - छाल रोग का इलाज)

उपचार की सामग्री को पूरे शरीर पर लगाएं, जिसमें सिर, गर्दन, चेहरा और कान शामिल हैं और विशेष रूप से हाथों-पैरों की उंगलियों के बीच और नाखूनों के आस-पास की जगह। यह गर्म पानी में नहाने के बाद लगाना चाहिए।

अगर हाथ व पैरों को धोया जाता है, तो उपचार की सामग्री को फिर से लगाना चाहिए:

  1. पर्मेथ्रिन 5% डर्मल क्रीम (Permethrin 5% dermal cream) को व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है।
  2. मेलाथियन 0.5% एक्विएयस द्रव (Malathion 0.5% aqueous liquid)
  3. क्रोटामिटॉन 10% क्रीम या लोशन (Crotamiton 10% cream or lotion)
  4. ओरल आइवरमेक्टिन (Oral ivermectin) इस उपचार को डॉक्टर की सलाह के बाद शुरू किया जाता है।

स्कूल में स्केबीज के संचारित होने का जोखिम कम होता है और बच्चों के घर वापस आने से पहले प्राथमिक उपचार को पूरा किया जा सकता है।

खुजली के उपचार –

  1. एंटिहिस्टामिन (Antihistamines) दवाएं खुजली की समस्या में थोड़ी मदद कर सकती है। खाने वाली सेडेटिव एंटिहिस्टामिन (आराम देने वाली) दवाएं अच्छी नींद लेने में मदद करती हैं, जिससे खुजाना कम हो सकता है।
  2. क्रोटामिटॉन क्रीम या लोशन खुजली में सुखदायक होते हैं, जो स्केबीज के कारण होने वाली खुजली से छुटकारा पाने में मदद करते हैं।
  3. सामान्य मॉश्चराइज़र भी इस बेचैनी को कम कर सकते हैं।
  4. अपनी त्वचा को ठंडा व गीला रखें। त्वचा को ठंडे पानी से भिगोना या उस पर ठंडे पानी से भिगा कपड़ा लगाने से खुजली कम हो सकती है।

(और पढ़ें - चिकन पॉक्स का इलाज)

निम्न संभावित परिस्थियां जिनमें उपचार विफल हो सकते हैं:

  1. प्राथमिक कीटाणुनाशक दवा लगने के बाद भी लगातार 6 महीनें तक खुजली बनी रहना
  2. निर्देश के अनुसार दवा ना लगाई जाना या करीबी संपर्कों के क्षेत्रों के आस पास दवा ना लगाना।
  3. नए चकत्ते दिखाई देना।

अगर ठीक से ना लगाई गई दवा के कारण उपचार विफल हो जाता है, तो उपचार को फिर से दोहराएं और सभी निर्देशों का स्पष्ट रूप से पालन करें। जहां पर ठीक से उपचार करने के बाद भी कोई असर ना दिखे, वहां पर दूसरे प्रकार की पैरासाइटिल सामग्री को लगाएं। यह दवा प्रतिरोध विकसित होने के प्रभाव को कम करती है।

अन्य बैक्टीरियल संक्रमण होने पर, अगर उसका इलाज जरूरी हो तो एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) दवाओं द्वारा उनका इलाज किया जाना चाहिए। 

(और पढ़ें - दाद का इलाज)

Dr. Ragini Puvvala

Dr. Ragini Puvvala

डर्माटोलॉजी

Dr. Priyanka Mutyala

Dr. Priyanka Mutyala

डर्माटोलॉजी

Dr. Siva Subramanian

Dr. Siva Subramanian

डर्माटोलॉजी

खाज (स्कैबीज) की दवा - Medicines for Scabies in Hindi

खाज (स्कैबीज) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Iversafe खरीदें
Bjain Leucas aspera Dilution खरीदें
Schwabe Leucas aspera CH खरीदें
Uniscab खरीदें
Proscab खरीदें
Bjain Azadirachta indica Mother Tincture Q खरीदें
SBL Azadirachta indica Dilution खरीदें
Lindane खरीदें
Bjain Azadirachta indica Dilution खरीदें
Psure खरीदें
SBL Ficus religiosa Dilution खरीदें
Klmite खरीदें
Gamamed खरीदें
Bactiscab खरीदें
Schwabe Azadirachta indica MT खरीदें
Schwabe Topi Azadirachta Cream खरीदें
Dermiscab खरीदें
Omeo D-FVR Plus Syrup खरीदें
Ivscab खरीदें
Tetminol खरीदें
Tetmosol खरीदें
Bjain Azadiracta Indica 1X Tablet खरीदें

खाज (स्कैबीज) की ओटीसी दवा - OTC medicines for Scabies in Hindi

खाज (स्कैबीज) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine Name
Patanjali Divya Kayakalp Vati खरीदें
Baidyanath Talkeshwar Ras खरीदें
Himalaya Talekt syrup खरीदें
Hamdard Majun Musaffi Khas खरीदें

References

  1. American Academy of Dermatology. Rosemont (IL), US; Scabies
  2. National Health Service [Internet] NHS inform; Scottish Government; Scabies
  3. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Scabies Frequently Asked Questions (FAQs)
  4. National Health Service [Internet]. UK; Scabies.
  5. HealthLink BC [Internet] British Columbia; Scabies
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें