myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गर्मी का पारा बढ़ते ही तरह-तरह की ड्रिंक्स पीने का चलन शुरू हो जाता है। हो भी क्यों न? इससे गर्मी से लड़ने में मदद मिलती है और शरीर ठंडा रहता है। इन्हीं तमाम ड्रिंक यानी पेय पदार्थ में एनर्जी ड्रिंक भी शामिल है। बच्चों से लेकर वयस्कों तक सबको एनर्जी ड्रिंक खूब पसंद है। लेकिन एनर्जी ड्रिंक्स में कैफीन की काफी मात्रा मौजूद होती है जो आपके शरीर को नुकसान पहुंचाती है। आपको यह तथ्य जानकर हैरानी होगी कि जो एनर्जी ड्रिंक्स पीते हैं उन्हें ब्रेन हेमरेज और स्ट्रोक होने की आशंका बहुत ज्यादा होती है। विशेषज्ञों का कहना है कि अस्पताल में स्ट्रोक या ब्रेन हैमरेज के मरीजों में विश्लेषण के बाद पता चला है कि वे एनर्जी ड्रिंक पीते थे। इस तरह देखें तो एनर्जी ड्रिंक और उसमें मौजूद तत्व आपके स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। जानिए इनके बारे में।

एनर्जी ड्रिंक से स्ट्रोक के कारण
रोजाना एक एनर्जी ड्रिंक पीने से दिल की धड़कन अनियमित हो सकती है जिससे स्ट्रोक की आशंका 5 गुणा ज्यादा बढ़ जाती है। ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन ने हाल ही में खुलासा किया है साल दर साल स्ट्रोक के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ज्यादातर लोग एनर्जी ड्रिंक में मौजूद साइलेंट किलर के विषय में नहीं जानते। जबकि एनर्जी ड्रिंक में मौजूद तत्व साइलेंट किलर के रूप में काम करते हैं और स्ट्रोक की एक बड़ी वजह बन रहे हैं।

(और पढ़ें - शराब के साथ एनर्जी ड्रिंक मिलाने का नुकसान)

एनर्जी ड्रिंक में मौजूद हानिकारक तत्व

  • कैफीनः 
    जैसा कि पहले ही आपको बताया गया है कि एनर्जी ड्रिंक में कैफीन होता है। इस वजह से स्ट्रोक हो सकता है। दरअसल कैफीन आपकी नींद को प्रभावित करता है, बीपी और हृदय गति को बढ़ा देता है। हालांकि कैफीन के ये प्रभाव कुछ लोगों के लिए उपयोगी है। लेकिन व्यापक नजरिए से देखा जाए तो कैफीन की ज्यादा मात्रा के काफी नकारात्मक प्रभाव हैं जो कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं। (और पढ़ें - पेय पदार्थ के फायदे
     
  • ग्लूकोजः 
    ग्लूकोज युक्त एनर्जी ड्रिंक में ग्लूकोज और अन्य कार्बोहाइड्रेट उच्च मात्रा में मौजूद होते हैं। शरीर इनका एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करता है। हालांकि एनर्जी हमारे शरीर के लिए उपयोगी है लेकिन बहुत ज्यादा मात्रा में ग्लूकोज समस्या पैदा कर सकता है जैसे ब्लड शुगर का बढ़ना (सामान्यतः डायबिटीज से संबंधित), मोटापा, घबराहट होना आदि।

विशेषज्ञों की राय
हालाँकि अब तक यह नहीं पता चला पाया कि सभी तरह के एनर्जी ड्रिंक एक जैसे होते हैं या नहीं। इस संबंध में अब भी जानकारी एकत्रित की जा रही है। इसके बावजूद देखने में आया है कि ज्यादातर एनर्जी ड्रिंक्स में एक जैसे तत्व मौजूद हैं जैसे कैफीन, ग्लूकोज, विटामिन, मिनरल्स आदि। सब एनर्जी ड्रिंक में इनकी मात्रा अलग-अलग है। इसके साथ ही एनर्जी ड्रिंक्स में अलग-अलग तरह के रसायानों का भी इस्तेमाल किया जाता है। उनमें भी काफी समानता है। लेकिन यह सवाल अब भी ज्यों का त्यों है कि क्या एनर्जी ड्रिंक स्वास्थ्य के लिए सही है या नहीं? विशेषज्ञों का मानना है कि ब्रांडेड एनर्जी ड्रिंक सेफ हो सकते हैं। इनसे स्ट्रोक के खतरे कम हो जाते हैं। इसके बावजूद एनर्जी ड्रिंक का सेवन सोच समझकर ही किया जाना चाहिए।

(और पढ़ें - सोडा पीने के नुकसान)

और पढ़ें ...