myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

टिक बाइट्स क्या है?

टिक छोटा मकड़ी जैसा जीव होता है जो बहुत तेजी से त्वचा को काटकर खून चूसने लगता है। टिक कई पक्षियों और जानवरों के पंखों और उनके बालों में पाए जाते हैं। वसंतु ऋतू से लेकर गर्मियों के अंत तक के मौसम में टिक बाइट्स की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। इसके अलावा, यह समस्या उन जगहों पर भी अधिक होती है जहां जंगली जानवर और पक्षी रहते हैं। 

कई टिक के कारण बीमारी नहीं होती और कई टिक बाइट्स के कारण गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं भी नहीं होती हैं। अगर आपको त्वचा पर टिक दिखाई देता है तो उसे जल्द से जल्द हटा दें। टिक हटाने से किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं होती। टिक हटाने से त्वचा पर होने वाले संक्रमण से भी बचाव होता है।  

(और पढ़ें - मधुमक्खी के काटने पर इलाज​)

टिक बाइट्स के लक्षण क्या हैं?

टिक बाइट्स आमतौर पर हानिकारक नहीं होते और इससे लक्षण भी देखने को नहीं मिलते। हालांकि अगर आपको टिक बाइट से एलर्जी है तो उस क्षेत्र पर दर्द व सूजन की समस्या हो सकती है, त्वचा पर चकत्ते, जलन, छाले, सांस लेने में दिक्कत, गर्दन में अकड़नसिरदर्दमतली और उल्टीकमजोरी जैसी परेशानियां हो सकती हैं। टिक्स के काटने से कुछ प्रकार की बीमारी भी होती हैं। 

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी का इलाज​)

टिक बाइट्स का इलाज कैसे होता है?

जब आप त्वचा पर टिक देख लेते हैं तो सबसे जरूरी है कि आप उसे हटाएं। टिक को हटाने वाले उपकरण या ट्वीज़र की मदद से भी टिक को हटा सकते हैं। हटाने के बाद उस क्षेत्र को साबुन और पानी से धोएं। जब आप टिक को हटा दें तो फिर उसे एल्कोहॉल की मदद से मार दें। अब जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर टिक बाइट को देखकर खाने की दवाई या लगाने की क्रीम दे सकते हैं। 

(और पढ़ें - त्वचा के चकत्तों के घरेलू उपाय)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...