myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

Baidyanath Haridra Khand (Br)

उत्पादक: Baidyanath

सामग्री / साल्ट:

दवा के विकल्प चुनें

₹130.0 ₹130.0
cashback

Baidyanath Haridra Khand (Br) की जानकारी

हरिद्रा खण्ड एलर्जी के लिए एक बहुत प्रसिद्ध और अत्यधिक प्रभावी आयुर्वेदिक दवा है। यह कणिकाओं रूप में है। हल्दी - हरिद्रा का मुख्य घटक है। हरिद्रा खण्ड क्रोनिक बुखार, पांडु रोग (रक्ताल्पता), कृमि रोग,एक्जिमा आदि में भी उपयोग की जाती है। यह लिवर को ठीक, सांस की बीमारियों से बचाकर रखने में मदद करती है। यह शरीर से कोलेस्ट्रॉल को कम करने में उपयोगी होती है। 

 

 

Baidyanath Haridra Khand (Br) के लाभ और उपयोग करने का तरीका - Baidyanath Haridra Khand (Br) Benefits & Uses in Hindi

Baidyanath Haridra Khand (Br) इन बिमारियों के इलाज में काम आती है -

Baidyanath Haridra Khand (Br) की खुराक और इस्तेमाल करने का तरीका - Baidyanath Haridra Khand (Br) Dosage & How to Take in Hindi

दिन में 3 ग्राम (1/2 चाय चम्मच ) दो बार गर्म पानी के साथ या चिकित्सक के द्वारा निर्देशित रूप में।

पुराने चावल, करेला (करेला), सहिजन (ड्रम छड़ी), मूली (मूली), अनार (सेब ग्रानाते), शहद और अन्य खाद्य कड़वे आदि आहार में लेने की सलाह दी जाती है।

गुड़, मछली, गैर शाकाहारी भोजन, शराब, दिन में सोना, ठंडे पानी से स्नान, व्यायाम, भारी भोजन से बचें।

Baidyanath Haridra Khand (Br) की सामग्री - Baidyanath Haridra Khand (Br) Active Ingredients in Hindi

Baidyanath Haridra Khand (Br) के नुकसान, दुष्प्रभाव और साइड इफेक्ट्स - Baidyanath Haridra Khand (Br) Side Effects in Hindi

रिसर्च के आधार पे Baidyanath Haridra Khand (Br) के निम्न साइड इफेक्ट्स देखे गए हैं -

हरिद्रा खंड को स्वम से लेना खतरनाक साबित हो सकता है इसलिए केवल आयुर्वेदिक चिकित्सक की देखरेख में ही ली जानी चाहिए।

Baidyanath Haridra Khand (Br) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - Frequently asked Questions about Baidyanath Haridra Khand (Br) in Hindi

  1. अपनी हालत में सुधार लाने के लिए मुझे बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?
    ऐसा देखने में आया है कि आम तौर से दो हफ्ते में सुधार दिखना शुरू हो जाता है। पर आपकी ज़रूरत फरक हो सकती है तो अवधि भी फरक हो सकती है जो एक डॉक्टर की सलाह से ही पता चल सकती है।

  2. बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) को दिन में कितनी बार लेने की आवश्यकता है?
    हमारे उपयोगकर्ता बताते हैं कि बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) एक दिन में दो बार लेनी चाहिए। किंतु आपको डॉक्टर से बात करने के बाद ही अपने लिए तैय करना चाहिए की बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) की सही मात्रा क्या है।

  3. बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) को खाली पेट लेना चाहिए या भोजन से पहले या भोजन के बाद?
    हमारे उपयोगकर्ताओं के अनुसार बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) सबसे अधिक भोजन के बाद लेने की सूचना है। परंतु अपनी स्थिति के बारे में डॉक्टर से सलाह और फिर निर्णए लें।

  4. क्या यह दवा आदत या लत बन सकती है?
    अधिकांश दवाएं आदत या लत नहीं बनती हैं। ऐसी दवाइयों को भारत सरकार ने अनुसूची H या X में डाल दिया है, यानी यह नियंत्रित पदार्थ हैं। डॉक्टर के निर्देशन में कोई भी दवाई का सेवन शुरू करें।

  5. क्या बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) को लेना एकदम से रोका जा सकता है या इसे धीरे धीरे लेना रोकना चाहिए?
    कई दवाइयों को अचानक लेना बंद कर दें तो विपरीत असर हो सकता है। बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) को रोकने से पहले अपनी स्थिति अपने डॉक्टर को बतायें और फिर निर्णय लें।

  6. क्या बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?
    हर महिला की स्थिति अलग होती है, इसलिए डॉक्टर से पूछें बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) को लेने से पहले।

  7. क्या बैद्यनाथ हरिद्रा खंड(बृहत्) का उपयोग स्तनपान की अवधि के दौरान सुरक्षित है?
    इसके बारे में डॉक्टर से ज़रूर पूछें और उनकी सलाह के अनुसार ही निर्णय लें।

विशेष विवरण

उत्पादक Baidyanath
Weight 100 Gm

क्या आप या आपके परिवार में कोई Baidyanath Haridra Khand (Br) लेता है ? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें