संक्षेप में सुनें

स्खलन का अर्थ है लिंग के माध्यम से शरीर से वीर्य का स्राव होना। शीघ्र स्खलन या शीघ्रपतन (प्रिमेच्यूर ईजॅक्युलेशन या पीई) वह स्थिति है जिसमें किसी पुरुष का सेक्स के दौरान उसके साथी की तुलना में शीघ्र ही स्खलन हो जाता हैI कभी-कभी शीघ्र स्खलन को तेजी से स्खलन, समय से पहले चरमोत्कर्ष या जल्दी स्खलन के रूप में भी जाना जाता है।

सामान्यतः पीई चिंता का कारण नहीं है। लेकिन अगर यह सेक्स को कम आनंददायक बनाता है और आपके साथी के साथ रिश्तों पर प्रभाव डालता है तो यह निराशाजनक हो सकता है। ऐसा अक्सर होता है और समस्याएं बढ़ती जाती हैं क्योंकि आपके साथी की सेक्स संतुष्टि एक स्वस्थ और खुशनुमा जीवन के लिए आवश्यक हैं।

(और पढ़ें - sex karne ke tarike)

30% से अधिक पुरुष कभी न कभी समय से पहले स्खलन से पीड़ित हुए है। यह व्यक्ति के आत्मसम्मान को प्रभावित करता है और पार्टनर को असंतुष्ट छोड़ देता है। इस समस्या को अक्सर मनोवैज्ञानिक माना जाता है, लेकिन कुछ बायोलॉजिकल कारक भी हो सकते है।

स्खलन केंद्रीय तंत्रिका तंत्र द्वारा नियंत्रित किया जाता है। जब पुरुष यौन उत्तेजित होते हैं, तो संकेत आपके रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क में भेजे जाते हैं। जब पुरुष उत्तेजना के एक निश्चित स्तर तक पहुँचते हैं, तब संकेत आपके दिमाग से आपके प्रजनन अंगों को भेजे जाते हैं। इससे लिंग (स्खलन) के माध्यम से वीर्य स्राव किया जा सकता है।

  1. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के प्रकार - Types of Premature Ejaculation in Hindi
  2. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के लक्षण - Premature Ejaculation Symptoms in Hindi
  3. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के कारण - Premature Ejaculation Causes in Hindi
  4. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) से बचाव - Prevention of Premature Ejaculation in Hindi
  5. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) का परीक्षण - Diagnosis of Premature Ejaculation in Hindi
  6. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) का इलाज - Premature Ejaculation Treatment in Hindi
  7. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के जोखिम और जटिलताएं - Premature Ejaculation Risks & Complications in Hindi
  8. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Premature Ejaculation in Hindi?
  9. शीघ्र स्खलन के इलाज का विडियो - Premature Ejaculation video in hindi
  10. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) रोकने के घरेलू उपाय
  11. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) की दवा - Medicines for Premature Ejaculation in Hindi
  12. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) की दवा - OTC Medicines for Premature Ejaculation in Hindi
  13. शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के डॉक्टर
  1. लाइफलांग (प्राथमिक) शीघ्र स्खलन:- इस प्रकार का शीघ्र स्खलन आपके जीवन के पहले यौनिक संपर्क से लेकर जीवनभर या लगभग हमेशा होता है।
  2. अर्जित (माध्यमिक) शीघ्र स्खलन:- आपको बिना किसी समस्या के पूर्व यौन अनुभव के बाद अगर शीघ्र स्खलन की समस्या होती है तो उसे अर्जित या अक्वायर्ड शीघ्र स्खलन कहते हैं।

शीघ्र स्खलन के निम्नलिखित प्रमुख लक्षण हैं:-

  1. एक तेज उत्तेजना, स्तंभन और स्खलन प्रक्रिया।
  2. स्खलन आमतौर पर उत्तेजना के कुछ सेकंड या मिनट के भीतर हो जाता है।

हालांकि, सभी यौन स्थितियों में शीघ्र स्खलन की समस्या हो सकती है, हस्तमैथुन के दौरान भी। बहुत से पुरुषों का मानना ​​है कि उनको समयपूर्व स्खलन के लक्षण हैं, लेकिन वे लक्षण समयपूर्व स्खलन के लिए निर्धारित ​​मानदंडों को पूरा नहीं करते हैं। इसके बजाय इन पुरुषों को प्राकृतिक परिवर्तन वाला समयपूर्व स्खलन हो सकता है, जिसमें तीव्र स्खलन के साथ-साथ सामान्य स्खलन की अवधि भी शामिल है। (और पढ़ें - यौनशक्ति कम होने के कारण)

समय से पहले स्खलन का सही कारण ज्ञात नहीं है। हालांकि यह पहले केवल मनोवैज्ञानिक माना जाता था, पर अब डॉक्टरों को पता है कि समय से पहले स्खलन में मनोवैज्ञानिक और जैविक कारकों का जटिल संपर्क शामिल है।

मनोवैज्ञानिक कारण

  1. प्रारंभिक यौन अनुभव।
  2. यौन शोषण।
  3. अपने शरीर के रूप के प्रति नाकारात्मक छवि।
  4. डिप्रेशन
  5. समय से पहले स्खलन के बारे में चिंता करना।
  6. दोषी होने की भावनाएं जो यौन संपर्क के माध्यम से भागने की आपकी प्रवृत्ति को बढ़ाती हैं।
  7. जिन पुरुषों को स्तंभन दोष हैं, उनमें जल्दी स्खलन हो सकता हैं, जो कि बदलना मुश्किल हो सकता है। चूंकि स्खलन के बाद उत्तेजना दूर हो जाती है इसलिए यह जानना मुश्किल हो सकता है कि समस्या पीई है या स्तंभन दोष (ईडी)। ईडी का पहले इलाज किया जाना चाहिए। एक बार ईडी का इलाज होने के बाद शीघ्र स्खलन समस्या नहीं रहेगा।
  8. शीघ्र स्खलन का कारण कई लोगो में चिंता की समस्याएं भी हो सकता है, विशेष रूप से यौन प्रदर्शन या अन्य मुद्दों से संबंधित चिंता।
  9. रिश्ते संबंधी समस्याएं भी शीघ्र स्खलन का कारण हो सकती हैं।

बायोलॉजिकल कारण

  1. थायरॉयड ग्रंथि या शरीर में यौन हार्मोन के असामान्य स्तर के साथ हार्मोनल समस्याएं।
  2. मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर के साथ समस्याएं, जिससे मस्तिष्क के आनंद केंद्रों को सही संकेत देने में विफल हो जाते हैं।
  3. आपकी स्खलन प्रणाली के प्रतिवर्त (रिफ्लेक्स) तंत्र के साथ समस्याएं।
  4. मूत्रमार्ग या प्रोस्टेट में संक्रमण।
  5. आनुवंशिकता।
  6. सर्जरी या मानसिक आघात के कारण तंत्रिका या संवेदी प्रणाली में क्षति।
  1. शीघ्र स्खलन से बचने के लिए अन्य यौन सुखों पर ध्यान दें। इससे चिंता कम हो सकती है और आपको स्खलन पर बेहतर नियंत्रण प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।
  2. स्खलन रिफ्लेक्स (शरीर का एक स्वत: रिफ्लेक्स, जिसके दौरान स्खलन होता है) को रोकने के लिए एक गहरी सांस लें।
  3. अपने साथी के साथ सेक्स करते हुए उसे ऊपर रहने को कहें (जब आप स्खलन के करीब हो तो वो दूर हट सके)।
  4. सेक्स के दौरान रुके और कुछ उबाऊ चीज के बारे में सोचे।

आपके यौन जीवन के बारे में पूछने के अलावा, आपका डॉक्टर आपके स्वास्थ्य के इतिहास के बारे में पूछेगा और शारीरिक परिक्षण भी कर सकता है।

यदि आपको समय से पहले स्खलन और उत्तेजना लाने या बनाए रखने दोनों में समस्या है, तो आपका डॉक्टर आपके पुरुष हार्मोन (टेस्टोस्टेरोन) के स्तर की जांच के लिए रक्त परीक्षण या अन्य परीक्षण कर सकता है।

कुछ मामलों में, आपका चिकित्सक सुझाव दे सकता है कि आप मूत्र रोग विशेषज्ञ या मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के पास जाएँ, जो यौन रोग के विशेषज्ञ भी हो।

1. अपने स्खलन रिफ्लेक्स पर नियंत्रण पाएं  

नियमित रूप से (प्रति सप्ताह तीन से पांच बार) संवेदनशीलता और उत्तेजना के स्तर के आदी बनने के लिए स्वयं उत्तेजक (हस्तमैथुन) से शुरू करें। अलग-अलग संवेदनाओं का आदि होने के लिए गीले हाथ और सूखे हाथ दोनों के साथ हस्तमैथुन करने की कोशिश करें।

जब तक आपको वीर्यपात होना महसूस हो, तब तक हस्तमैथुन करते हुए नियंत्रण करने का प्रयास करें, वीर्यपात होने से पहले ही हस्तमैथुन रोक दें, अब उत्तेजना कम हो जाने दे, लगभग पांच मिनट या उससे अधिक और तब फिर से हस्तमैथुन करना शुरू करें। अंततः वीर्यपात होने से पहले तीन या चार बार इस क्रिया का प्रयोग करें।

इस क्रिया का अभ्यास करने से आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि आपका "गैर-वापसी का बिंदु" कहां है, ताकि साथी से सेक्स के दौरान जब आपको लगता है कि वीर्यपात होने वाला है, तो आप यौन स्थितियों को बदलने के लिए लिंग बाहर खींच लें। इससे एक पल के लिए वीर्यपात रोक सकते हैं।

दूसरा, आप अपना स्ट्रोक बदल सकते हैं (सेक्स के दौरान अंदर और बाहर के बजाय आप अपने साथी के अंदर अपने लिंग को छोड़ सकते हैं और सर्कल में जा सकते हैं, जो थोड़ा कम उत्तेजक हो सकता है)। स्खलन पर नियंत्रण पाने के लिए आपके 'गैर-वापसी का बिंदु' का क्या अर्थ है, यह जानना महत्वपूर्ण है।

2. पैल्विक फ्लोर मांसपेशी व्यायाम

तीन महीने के नियमित पैल्विक फ्लोर मांसपेशियों के अभ्यास के बाद 55 पुरुषों के ऊपर एक छोटे से अध्ययन में पेनाइल फंक्शन में सुधार देखा गया और छह महीने बाद 40 प्रतिशत पुरुषों ने सामान्य स्तंभन फंक्शन पुनः प्राप्त कर लिया था।

अपने पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को पहचानें। जब पेशाप करते-करते उसे बीच में रोकते हैं तो इसके लिए आपके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली मांसपेशियां आपके पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियां हैं। जब आप इन मांसपेशियों को सिकोड़ते हैं तो आपके अंडकोष ऊपर उठ जाते हैं।

अब जब आप जानते हैं कि ये मांसपेशियां कहाँ हैं, उन्हें 5 से 20 सेकंड के लिए सिकोड़े और फिर उन्हें सामान्य रूप में छोड़ दे। इस अभ्यास को एक साथ 10 से 20 बार दोहराएं, दिन में तीन से चार बार आप यह अभ्यास कर सकते हैं।

3. कंडोम का इस्तेमाल करें 

कंडोम का उपयोग करने से स्खलन के समय को बढ़ाने में भी मदद मिलती है। वे संभोग के दौरान संवेदनशीलता को कम करने का काम करते हैं, इसलिए वे शीघ्र स्खलन की समस्या के लिए सहायक हो सकते हैं। ऐसे ब्रांड के कंडोम का प्रयोग करें जो आकार में थोड़े मोटे हो।

(और पढ़ें - महिला कंडोम के बारे में जानकारी

4. सेक्स से पहले हस्तमैथुन करें

बहुत से पुरुषों को दूसरी बार उत्तेजना के दौरान कम संवेदनशीलता का अनुभव होता है। अक्सर समय से पहले स्खलन के लिए एक अच्छा इलाज है - एक बार सेक्स से पहले ही वीर्यपात करना (शायद संभोग के दौरान), और फिर उत्तेजना प्राप्त करके अपने साथी को खुश करने के लिए आगे बढ़ें। दूसरी उत्तेजना का उपयोग लंबे समय तक कर सकेंगे।

हालांकि कुछ जोड़ों ने शुरू में इस तरीके के बारे में शिकायत की है, लेकिन इसने बहुत से जोड़ों के लिए बहुत अच्छा काम किया है। (और पढ़ें - महिलाओं और पुरुषों को यौन विकारों से बचना है तो ज़रूर मानें बाबा रामदेव की बात)

5. ड्रग्स और सुन्न करने वाली क्रीम या स्प्रे

पीई यानी शीघ्र स्खलन का इलाज करने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका में किसी ड्रग्स को मंजूरी नहीं दी गई है। फिर भी, कुछ दवाएं और क्रीम या स्प्रे है। जो पीई से पीड़ित पुरुषों में स्खलन धीमा करने के लिए प्रायोगिक स्तर पर उपयोगी पायें गए हैं।

कृपया ध्यान दें कि निम्न दवाएं केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से बताई गयी है। सख्त हिदायत दी जाती है कि किसी भी दवा को एक अच्छे डॉक्टर की सिफारिश के बिना न लें।

डॉक्टरों ने प्रायोगिक चरण में यह पाया है कि एंटीडिप्रेसेंट के प्रयोग से पुरुषों और महिलाओं में ओर्गास्म प्राप्त करने में देरी होती है। फ्लूक्सैटिन (Fluoxetine), परोक्सेटीन (Paroxetine), सर्ट्रालाइन (Sertraline) और क्लॉमिप्रामाइन (Clomipramine) जैसे ड्रग्स सेरोटोनिन के स्तर को प्रभावित करते हैं। पीई का इलाज करने के लिए डॉक्टरों ने इन दवाओं का इस्तेमाल "ऑफ-लेबल" (दवा के मूल उपयोग से अलग कारण के लिए) करना शुरू कर दिया।

पीई के लिए दवाएं हर दिन या केवल सेक्स से पहले ही ली जा सकती हैं। आपका डॉक्टर आपकी गतिविधि स्तर के आधार पर तय करेगा कि आपको कौनसी दवा लेनी चाहिए। दवा लेने का सबसे अच्छा समय स्पष्ट नहीं है। ज्यादातर डॉक्टर सेक्स से पहले 2 से 6 घंटे का सुझाव देते हैं। यदि आप ये दवाएं लेना बंद कर देते हैं तो पीई वापस आ सकता है। पीई वाले अधिकांश लोगों को एक निरंतर आधार पर इन दवाओं को लेने की जरूरत होती है।

ये क्रीम या स्प्रे लिंग के मुँह पर 20 से 30 मिनट सेक्स से पहले लगाए जाते हैं। यदि आप उपयोग के लिए निर्धारित मात्रा से अधिक समय तक अपने लिंग पर क्रीम या स्प्रे छोड़ते हैं, तो आपकी उत्तेजना समाप्त हो सकती है, इसलिए मात्रा संबंधी निर्देशों का सख्ती से पालन करें। सेक्स से 5 से 10 मिनट पहले अपने लिंग पर लगे क्रीम या स्प्रे को धो लें। इसे सेक्स के दौरान लिंग पर बिलकुल भी लगा न रहने दे, क्योंकि आपके साथी की योनि को नुकसान हो सकता हैं।

विभिन्न कारक समय से पहले स्खलन के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, इनमें शामिल हैं:

  1. स्तंभन दोष:- यदि आप को कभी-कभी या लगातार उत्तेजना प्राप्त करने या बनाए रखने में परेशानी हो, तो आपको समय से पहले स्खलन का खतरा बढ़ सकता है।
  2. तनाव:- आपके जीवन के किसी भी क्षेत्र में भावनात्मक या मानसिक तनाव शीघ्र स्खलन में भूमिका निभा सकते हैं। आपकी आराम करने की क्षमता और यौन संपर्क के दौरान ध्यान देने की आपकी क्षमता को सीमित कर सकते हैं।
  3. तनाव और रिश्ते की समस्याएं:- शीघ्रपतन से आपके निजी जीवन में भी समस्याएं हो सकती हैं। शीघ्रपतन की एक आम जटिलता संबंध में तनाव का उत्त्पन होना है।
  4. प्रजनन समस्याएं:- अगर स्खलन योनि के अंदर नहीं होता है तो शीघ्र स्खलन से अक्सर ऐसे जोड़ों के लिए गर्भधारण करना मुश्किल हो सकता है जो बच्चा पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। (और पढ़ें - अगर आप गर्भवती होने का कर रही हैं विचार तो इन कुछ महत्वपूर्ण बातों का रखें खास ख्याल)

आप अंडे का उपभोग कर सकते हैं। अंडे कोलेस्ट्रॉल प्रदान करते हैं जो सेक्स हार्मोन का उत्पादन करते हैं। आहार में अनाज और ब्लूबेरी शामिल करें, क्योंकि ये धमनियों को ब्लॉक होने से बचाते हैं। इससे जननांग क्षेत्र में रक्त परिसंचरण में सुधार होता है। यह उत्तेजना प्राप्त करने और बनाए रखने को आसान बनाता है। ब्लूबेरी को एक सिमित मात्रा में लें, क्योंकि अत्यधिक खपत से दस्त हो सकता है।

ऐसे खाद्य पदार्थ जो मीठे और शरीर पर शीतल प्रभाव डालते हो उनका सेवन करें। जैसे - दूध, मक्खन, शुद्ध मक्खन, बादाम, किशमिश, काले चने, मुलेठी और शतावरी इत्यादी। (और पढ़ें - यौन-शक्ति को बढ़ाने वाले आहार)

Dr. Neethu Mary

Dr. Neethu Mary

सामान्य चिकित्सा

Dr. Archana Singh

Dr. Archana Singh

सामान्य चिकित्सा

Dr. Fardan Qadeer

Dr. Fardan Qadeer

सामान्य चिकित्सा

शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
EscotEscot 100 Mg Tablet57.0
Anas DeeAnas Dee Gel37.17
BiocaineBiocaine 2% Injection12.5
Lignocaine (Neon)Lignocaine 2% Injection17.0
Lox HeavyLox Heavy 2% Injection18.75
LoxicardLoxicard 2% Infusion52.0
NummitNummit 15% W/W Spray220.0
WocaineWocaine 2% Gel27.06
Xylocaine AdrenalineXylocaine Adrenaline 2% Injection30.7
Xynova LonzengeXynova Lonzenge 200 Mg Tablet52.56
AnescaineAnescaine 2% Gel38.0
LidfastLidfast 2% Injection31.25
LidocynLidocyn Gel53.9
Lidocyn PlusLidocyn Plus Injection41.5
LignoxLignox 1% Injection26.97
Lox (Neon)Lox 2% Injection32.5
OculanOculan 1% Injection144.2
ResocaineResocaine 2% Gel29.0
Xylo(Astra)Xylo 2% Infusion36.22
XylocaineXylocaine 1%W/V Injection34.5
Xylocaine HeavyXylocaine Heavy 5% Injection4.5
XylocardXylocard 2% Injection43.0
XyloxXylox 0.2% Gel37.17
AlocaineAlocaine Injection18.0
LcaineLcaine Injection30.0
NircaineNircaine Injection80.92
UnicainUnicain 2% Injection14.5
Wocaine AWocaine A Injection583.31
XylonumbXylonumb 2% Injection26.0
XynovaXynova 2% Gel39.65
ZelcaineZelcaine Injection16.58
Lignocaine (Azp)Lignocaine (Azp) 4% Cream11.87
LignocareLignocare Gel19.37
OcukaneOcukane 4% Solution27.48
PilenilPilenil 0.70% Ointment80.0
BiosoreBiosore 2% Gel38.5
CalignoCaligno Jelly37.5
GesicainGesicain 5% Ointment29.76
Suhagra DuralongSuhagra Duralong Spray264.0
Vigora SprayVigora 15 Gm Spray170.0
Xynova EndoXynova Endo 200 Mg Lozenges59.0
Zenegra LidoZenegra Lido Spray69.87
ZyloZylo 5% Ointment18.75
AsenvenAsenven 30 Mg Tablet96.0
Da SutraDa Sutra 30 Mg Tablet220.0
DejacDejac 30 Mg Tablet114.0
DurajectDuraject 30 Mg Tablet59.0
DuralastDuralast 30 Mg Tablet131.0
JustinexJustinex 30 Mg Tablet162.0
RistorRistor 200 Mg Injection294.78
SensapeSensape Tablet85.0
ViglastViglast 30 Mg Tablet99.0
XydapXydap 30 Mg Tablet94.33
ActinexActinex 30 Mg Tablet200.0
DapnexDapnex 30 Mg Tablet117.0
Dapoxy TabletDapoxy 60 Mg Tablet144.0
EjEj 30 Tablet240.0
SustinexSustinex 30 Tablet176.45
CaldobCaldob 500 Mg Capsule120.0
AnomexAnomex Suppository54.0
CorectCorect Suppository66.0
PileumPileum Suppository60.0
AnovateAnovate Cream83.5
Pilo GoPilo Go Cream55.0
Proctosedyl BdProctosedyl Bd Cream58.85
ProctosedylProctosedyl Ointment53.6
AudoticAudotic Ear Drops58.78
Obpex Eye DropsObpex Eye Drops29.0
OtiflamOtiflam Ear Drops51.6
OtorestOtorest Ear Drop52.0
Otras OtOtras Ot Drops42.0
Bestoflox ClBestoflox Cl Ear Drops33.93
Clodibiotic Ear DropClodibiotic Ear Drop48.0
DrepDrep Ear Drop46.55
Myclin OMyclin O Ear Drops30.5
CandibioticCandibiotic Ear Drop65.0
Orecure PlusOrecure Plus Ear Drops59.7
AlbioticAlbiotic Ear Drop52.0
GlybioticGlybiotic Ear Drop45.0
MycoticMycotic Ear Drop48.0
OtidropOtidrop Ear Drops25.33
OtocinOtocin Ear Drop39.6
Smuth SuspensionSmuth Suspension65.15
Dejac TDejac T Tablet213.0
Td PillTd Pill Tablet230.0
UpholdUphold 10 Mg/30 Mg Tablet234.0
DepofilDepofil Tablet200.0
DentacainDentacain 8.7%/2% Gel58.0
CurasilCurasil Gel32.0
Orogard SgOrogard Sg Ointment20.0
SelenoSeleno Gel45.0
LidocamLidocam Mouth Wash84.75
Lignocad AdrLignocad Adr Injection12.5
Lignox+AdrenlineLignox+Adrenline 0.005 Mg/2% Injection25.86
XicaineXicaine 0.022 Mg/2% Injection21.5
Mugel Freshora 8.7%W/W/2.0%W/W GelMugel Freshora 8.7%W/W/2.0%W/W Gel40.0
Oraflora LaOraflora La 8.70% W/W/2% W/W Gel48.4
ViloralViloral 8.7%W/W/2%W/W Gel51.9
Anabel CtAnabel Ct 8.7% W/W/2% W/W Gel53.0
DentogelDentogel 8.7%/2% Gel57.7
MyclinMyclin 1%W/W/2%W/W Ear Drops25.0
RaystatRaystat 1%W/W/2%W/W Eye/Ear Drops44.45
NumbexNumbex Cream160.0
XyloplusXyloplus Ointment37.0
AsthesiaAsthesia Cream530.0
DolocaineDolocaine Cream137.9
Xynova PXynova P Cream144.0
Orabliss 2%/2% GelOrabliss 2%/2% Gel61.0
Otobiotic Sf 0.3%W/V/1%W/V/2%W/V Eye DropOtobiotic Sf 0.3%W/V/1%W/V/2%W/V Eye Drop39.0
Quik KoolQuik Kool Gel65.0
Ora FastOra Fast Cream40.0
Orex LoOrex Lo Gel58.3
Sd PillSd Pill 50 Mg/30 Mg Tablet240.0
DaposureDaposure 50 Mg/30 Mg Tablet200.0
Da Sutra 30 XDa Sutra 30 X 50 Mg/30 Mg Tablet220.0
DuraforceDuraforce 50 Mg/30 Mg Tablet190.47
Kutub 30 XKutub 30 X Tablet220.0
Manforce StaylongManforce Staylong Condom Pineapple24.92
PowerforcePowerforce 50 Mg/30 Mg Tablet62.25
Suhagra ForceSuhagra Force Tablet199.0
SustimaxSustimax Tablet201.45
ThrilpilThrilpil Tablet230.0
Viglast SViglast S 50 Mg/30 Mg Tablet190.47
Softee(Leo)Softee Laxative Syrup94.9
Sufrate LaSufrate La Cream75.0
TricozolTricozol Ear Drop50.5
Tympalin CTympalin C Drops45.0
PilcarePilcare Cream29.0
Lignocaine 2% InjectionLignocaine 2% Injection15.13
Lignocaine (Cdl)Lignocaine 213 Mg Injection10.0
Lignocip 2 % InjectionLignocip 2 % Injection29.96
XcinXcin Gel138.1
HadensaHadensa Capsule40.0

शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Dabur Camne Vid TabletsDabur Camne Vid Tablets
Dabur Shrigopal TailaDabur Shrigopal Tail
Charak Neo TabletsCharak Neo Tablets196.0
Baidyanath Shri Gopal OilBaidyanath Shri Gopal Tel (Ky)240.0
Dabur Stimulex OilDabur Stimulex Oil96.0
Dabur Shrigopal TailDabur Shrigopal Tail220.0
Baidyanath Manmath Ras Manmath Ras By Baidyanath122.0
Baidyanath Vita-ex gold plusbaidyanath vita-ex gold plus cap 20 capsules585.0
Patanjali Youvan ChurnaPatanjali Youvan Churna200.0
Hamdard Tila AzamHamdard Tila Azam50.0
Baidyanath Shakti Ras CapsuleBaidyanath Shaktiras Capsule650.0
Zandu Vigorex SFZandu Vigorex Sf Capsule175.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

शीघ्रपतन (शीघ्र स्खलन) से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल 8 महीना पहले

Hello dr., Me shighrapatan se grasit hu. Rat ko ya din me sote samay mera ling hamesha khada rehta hai. Mujhe dar hai ki koi badi bimari na hojaye. Plz iska koi to ilaj hoga plz btaye

Dr. Akshatha Kp BAMS

akki ji aap pareshan na ho pehle toh agar zyada hasthmaithun karne ka adath hain toh kam kare utejan kari video aur pictures na deke shilajith gold 1 goli din main 2 baar khane ke baadh doodh ke saath le dhathu poustik choorn 1tsp din main 2 baar khane ke baadh le. zyada stress na le

और पढ़ें ...