myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सूजाक क्या है?

गोनोरिया (सूजाक) यौन क्रियाकलाप के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने वाले सबसे आम रोगों में से एक है।

गोनोरिया एक संक्रमण है, जो एक यौन संचारित बैक्टीरिया जिसे 'नेइसेरिया गोनोरिया' (Neisseria Gonorrhoeae) कहा जाता है, के कारण फैलता है। यह पुरुष और स्त्री दोनों को संक्रमित कर सकता है।  

सूजाक अक्सर मूत्रमार्ग, मलाशय या गले को प्रभावित करता है। यह महिलाओं में गर्भाशय ग्रीवा (Cervix) को भी प्रभावित कर सकता है। सूजाक पीआईडी (पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज), ट्यूबो-डिम्बग्रंथि फोड़ा (Tubo-ovarian abscess) और बाँझपन का कारण हो सकता है। यह टॉयलेट सीट द्वारा नहीं फैलता है।

सूजाक/गोनोरिया सेक्स के दौरान सबसे ज़्यादा फैलता है। अगर माँ संक्रमित हैं, तो प्रसव के दौरान शिशु भी इससे संक्रमित हो सकता है। गोनोरिया शिशुओं की आँखों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है।

कई मामलों में, इसके कोई लक्षण दिखाई नहीं देते। आपको यह भी पता नहीं चलता कि आप संक्रमित हैं।

यदि आप किसी अन्य एसटीडी (STDs) से ग्रसित हैं, तो आपको सूजाक होने का खतरा बढ़ जाता है। कंडोम का उपयोग यौन संचारित संक्रमणों को रोकने का सर्वोत्तम उपाय है।

सूजाक का उपचार आमतौर पर एंटीबायोटिक इंजेक्शन या एंटीबायोटिक दवाओं के साथ किया जाता है।

  1. यदि आप सूजाक (गोनोरिया) से ग्रसित हैं, तो क्या करें? - what to do,if you have Gonorrhea
  2. सूजाक के लक्षण - Sujak (Gonorrhea) Symptoms in Hindi
  3. सूजाक के कारण - Gonorrhea (sujak) Causes in Hindi
  4. सूजाक से बचाव - Prevention of Gonorrhea in Hindi
  5. सूजाक का परीक्षण - Diagnosis of Gonorrhea in Hindi
  6. सूजाक का इलाज - Gonorrhea Treatment in Hindi
  7. सूजाक के जोखिम और जटिलताएं - Gonorrhea Risks & Complications in Hindi
  8. सूजाक में परहेज़ - What to avoid during Gonorrhea in Hindi?
  9. सूजाक में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Gonorrhea in Hindi?
  10. सूजाक की दवा - Medicines for Gonorrhea in Hindi
  11. सूजाक की दवा - OTC Medicines for Gonorrhea in Hindi
  12. सूजाक के डॉक्टर

यदि आप सूजाक (गोनोरिया) से ग्रसित हैं, तो क्या करें? - what to do,if you have Gonorrhea

यदि आप सूजाक (गोनोरिया) से ग्रसित हैं, तो क्या करें?

यदि आपको लगता है कि आपको गोनोरिया है, तो आपको यौन गतिविधि से बचना चाहिए। आपको तुरंत अपने डॉक्टर से भी संपर्क करना चाहिए। 

चिकित्सक से मिलने के दौरान अपने लक्षणों को विस्तार से बताएं, अपने यौन इतिहास की चर्चा करें, पिछले यौन साझेदारों की जानकारी प्रदान करें ताकि चिकित्सक आपकी ओर से गुमनाम रूप से उनसे संपर्क कर सकें।

यदि आप अपने यौन साझेदार के संपर्क में हों, तो उन्हें तुरंत परीक्षण करवाने के लिए कहना चाहिए।

यदि आप एंटीबायोटिक दवाएं ले रहे हैं, तो दवा का पूरा कोर्स ख़त्म करना महत्वपूर्ण है, ताकि आपके संक्रमण का इलाज पूरी तरह से किया जा सके। अपने एंटीबायोटिक दवाओं के कोर्स को घटाने से जीवाणुओं में एंटीबायोटिक के प्रतिरोध को विकसित करने की संभावना अधिक हो जाती है।

आपको यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका संक्रमण पूरी तरह से ठीक हो गया है या नहीं, एक या दो सप्ताह बाद अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। यदि परिणाम नकारात्मक आते हैं और आपके यौन साथी को किसी भी तरह का संक्रमण नहीं है, तो यौन गतिविधि फिर से शुरू करना संभव है।

(और पढ़ें - महिलाओं के यौन रोग)

सूजाक के लक्षण - Sujak (Gonorrhea) Symptoms in Hindi

सूजाक (गोनोरिया) के लक्षण क्या होते हैं?

सूजाक लक्षण आमतौर पर संक्रमण के दो से 14 दिनों के भीतर दिखाई देने लगते हैं। हालांकि, सूजाक से संक्रमित कुछ लोगों में कभी भी ध्यान देने योग्य लक्षण विकसित नहीं होते हैं। यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि सूजाक से संक्रमित कोई व्यक्ति जिसमें लक्षण दिखाई नहीं देते, उसे एक गैर रोगसूचक वाहक (Nonsymptomatic Carrier) भी कहा जाता है और वह संक्रामक भी होता है। एक व्यक्ति जिसमें ध्यान देने योग्य लक्षण नहीं होते हैं, उससे संबंधित अन्य भागीदारों में संक्रमण के फैलने की संभावना अधिक  होती है।

पुरुषों में लक्षण:

सूजाक के मामले में पुरुषों में कई हफ्तों के लिए ध्यान देने योग्य लक्षण विकसित नहीं होते हैं। कुछ पुरुषों में  इसके लक्षणों का विकास कभी नहीं हो पाता है। साधारण रूप से संचरण के एक हफ्ते बाद संक्रमण लक्षण दिखाना शुरू कर देता है। अक्सर पेशाब के दौरान जलन और दर्द होना पुरुषों में पहला प्रत्यक्ष लक्षण है। जैसे संक्रमण बढ़ता है, अन्य लक्षण भी इसमें शामिल हो जाते हैं -

  1. बहुत बार पेशाब जाना 
  2. लिंग से एक मवाद जैसा पदार्थ डिस्चार्ज होना या टपकना (सफेद, पीला, मटमैला या हरा)
  3. लिंग के छिद्र का सूजना या लाल होना 
  4. अंडकोष में सूजन या दर्द (और पढ़ें - अंडकोष में दर्द)
  5. गले में लगातार रहने वाली खराश 

(और पढ़ें - पेशाब में दर्द के घरेलू उपाय)

उपरोक्त लक्षणों का इलाज होने के बाद भी कुछ हफ्तों तक संक्रमण शरीर में मौजूद रहता है। दुर्लभ उदाहरणों में, गोनोरिया शरीर को विशेष रूप से मूत्रमार्ग और अंडकोष को लगातार नुकसान पहुंचा सकता है। इससे मलाशय में दर्द भी हो सकता है। 

महिलाओं में लक्षण:

कई महिलाओं में सूजाक के किसी भी प्रत्यक्ष लक्षण का विकास नहीं होता है। जब महिलाओं में इसके लक्षणों का विकास होता है, तो वे हल्के या अन्य संक्रमणों के समान ही दिखाई देते हैं, जिससे उन्हें पहचानना अधिक मुश्किल हो जाता है। सूजाक संक्रमण साधारण रूप से योनि खमीर संक्रमण (Vaginal Yeast Infection) या योनि में बैक्टीरियल संक्रमण (Bacterial Vaginosis) की तरह दिखाई दे सकता है। इसके लक्षणों में शामिल है -

  1. योनि से डिस्चार्ज (पानी जैसा, गाढ़ा या हल्का हरा) होना,
  2. पेशाब के दौरान दर्द या जलन महसूस होना, (और पढ़ें - पेट दर्द के घरेलू उपाय)
  3. बार-बार पेशाब करने की आवश्यकता,
  4. मासिक धर्म में अत्यधिक रक्त स्राव होना,
  5. गले में खराश,
  6. सेक्स के दौरान दर्द होना,
  7. पेट के निचले हिस्से में तेज़ दर्द,
  8. बुखार आदि।  (और पढ़ें - बुखार ठीक करने के घरेलू उपाय)

(और पढ़ें - योनि में इन्फेक्शन के घरेलू उपाय)

सूजाक के कारण - Gonorrhea (sujak) Causes in Hindi

सूजाक (गोनोरिया) क्यों होता है?

यह यौन संचारित रोग (एसटीडी) एक बैक्टीरिया के द्वारा फैलता है, जिसे नेइसेरिया गोनोरिया कहा जाता है। भले ही यह सेक्स के माध्यम से फैलता है, लेकिन एक नर को इससे अपने सेक्स साथी को संक्रमित करने के लिए स्खलन की ज़रूरत नहीं  होती है।

आप किसी भी प्रकार के यौन संपर्क से सूजाक से संक्रमित हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं –

  1. योनि संभोग,
  2. गुदा मैथुन (एनल सेक्स),
  3. ओरल सेक्स (देना और प्राप्त करना दोनों)

(और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स के तरीके और sex kaise kare)

अन्य रोगाणुओं की तरह आप सूजाक के बैक्टीरिया से संक्रमित हो सकते है, यदि आप किसी दूसरे व्यक्ति के संक्रमित हिस्से को स्पर्श करते हैं। यदि आप इस बैक्टीरिया से संक्रमित किसी व्यक्ति के लिंग, योनि, मुँह या गुदा के संपर्क में आते हैं, तो आपको गोनोरिया हो सकती है।

गोनोरिया के रोगाणु शरीर के बाहर कुछ सेकंड से अधिक जीवित नहीं रह सकते हैं, इसलिए आप टॉयलेट सीट या कपड़े जैसे वस्तुओं को स्पर्श करके इस एसटीडी से संक्रमित नहीं हो सकते हैं। लेकिन जिन महिलाओं को सूजाक होता है, वे प्रसव के समय योनि की नली से बच्चे के के गुजरने के दौरान उसे इस बीमारी से संक्रमित कर सकती हैं। सी-सेक्शन (सिजेरियन डिलीवरी) से पैदा हुए बच्चे इस संक्रमण को अपनी माँ से फैलने से बच जाते हैं.

सूजाक से बचाव - Prevention of Gonorrhea in Hindi

सूजाक (गोनोरिया) की रोकथाम (Prevention of Gonorrhea):

गोनोरिया के जोखिम को कम करने के लिए निम्न कदम उठाएं –

  1. सेक्स करते समय कंडोम का प्रयोग करें – सेक्स से दूर रहना गोनोरिया को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है, लेकिन अगर आप सेक्स करना चाहते हैं तो किसी भी प्रकार के यौन संपर्क (गुदा सेक्स, मौखिक सेक्स या योनि सेक्स) के दौरान कंडोम का उपयोग करें। 
  2. अपने साथी को यौन संचारित संक्रमणों की जांच कराने के लिए कहें – पता करें कि आपके साथी ने सूजाक जैसे यौन संचारित संक्रमणों के लिए परीक्षण कराया है या नहीं। यदि नहीं, तो पूछें कि क्या वह परीक्षण कराने के लिए तैयार है।
  3. किसी ऐसे व्यक्ति के साथ यौन संबंध न बनाएं, जिसमें कोई भी असामान्य लक्षण हो – यदि आपके साथी में यौन संचारित संक्रमण के संकेत या लक्षण हैं, जैसे कि पेशाब करते समय जलन होना या लिंग पर चकत्ता या छाला होना, तो उस व्यक्ति के साथ यौन संबंध न बनाएं।
  4. नियमित गोनोरिया स्क्रीनिंग का ध्यान रखें –  यौन रूप से सक्रिय 25 वर्ष से कम आयु की सभी महिलाओं और वृद्ध महिलाओं के लिए जिनमें संक्रमण का अधिक जोखिम रहता है, जैसे कि वे जिनका एक नया सेक्स पार्टनर हो, एक से अधिक सेक्स पार्टनर हों, एक सेक्स पार्टनर जिसने कई लोगों के साथ सेक्स किया हो या एसटीडी से संक्रमित सेक्स पार्टनर हो – के लिए वार्षिक स्क्रीनिंग की राय दी जाती है।
  5. गे पुरुषों को करानी चाहिए नयमित रूप से सूजाक की जांच - पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों और साथ ही उनके सहयोगियों के लिए भी नियमित रूप से स्क्रीनिंग की सिफारिश की जाती है। गोनोरिया के पुनः संक्रमण से बचने के लिए आपको और आपके सेक्स पार्टनर को उपचार पूरा करने और लक्षणों के समाधान के बाद सात दिनों तक असुरक्षित यौन सम्बन्ध से बचना चाहिए।

(और पढ़ें - सेक्स के दौरान की जाने वाली गलतियां)

सूजाक का परीक्षण - Diagnosis of Gonorrhea in Hindi

सूजाक (गोनोरिया) का परीक्षण (Diagnosis of Gonorrhea): 

आपके शरीर में गोनोरिया जीवाणु की उपस्थिति निर्धारित करने के लिए आपके डॉक्टर कोशिकाओं के नमूने का विश्लेषण करेंगे। निम्नलिखित प्रकार के नमूने इनके द्वारा एकत्र किए जा सकते हैं -

  1. मूत्र परीक्षण – यह आपके मूत्रमार्ग में बैक्टीरिया की उपस्थिति की पहचान करने में मदद कर सकता है।
  2. प्रभावित क्षेत्र का 'स्वाब' नमूना – डॉक्टर स्वाब (संक्रमण का कुछ द्रव्य भाग) का कुछ अंश जाँच के लिए ले सकते हैं इसके तहत आपके गले, मूत्रमार्ग, योनि या मलाशय के बैक्टीरिया को इकट्ठा किया जा सकता है, जिसकी पहचान लैब में की जा सकती है।

(और पढ़ें - लैब टेस्ट)

अन्य यौन संचारित संक्रमणों के लिए परीक्षण
आपके डॉक्टर अन्य यौन संचारित संक्रमणों के लिए परीक्षण की सिफारिश कर सकते हैं। गोनोरिया इन संक्रमणों के जोखिम को बढ़ाता है, विशेषकर क्लैमाइडिया, जो अक्सर गोनोरिया से जुड़ा होता है। यौन संचारित संक्रमण के निदान के लिए एचआईवी के परीक्षण की भी सिफारिश की जाती है। आपके जोखिम कारकों के आधार पर अतिरिक्त यौन संचारित संक्रमणों के लिए परीक्षण फायदेमंद हो सकते हैं।

 

सूजाक का इलाज - Gonorrhea Treatment in Hindi

सूजाक (गोनोरिया) का उपचार कैसे किया जाता है?

लक्षण प्रदर्शित होने पर डॉक्टर अन्य रोगों के अलावा सूजाक के लिए भी एक परीक्षण की सिफारिश कर सकते हैं। सूजाक के लिए परीक्षण  मूत्र नमूना या प्रभावित क्षेत्र के एक 'स्वाब' नमूने का विश्लेषण करके पूरा किया जा सकता है। स्वाब नमूने आमतौर पर लिंग, गर्भाशय ग्रीवा, मूत्रमार्ग, गुदा और गले से लिए जाते हैं।

महिलाओं के लिए होम किट भी उपलब्ध हैं, जिनमें योनि स्वाब शामिल हैं। ये किट एक लैब में भेजी जाती हैं और परिणाम से सीधे रोगी को सूचित किया जाता है।

यदि सूजाक संक्रमण के लिए किये गए परीक्षणों का नतीजा सकारात्मक होता है, तो संक्रमित व्यक्ति और उनके साथी को उपचार कराना होता है। इनमें आमतौर पर शामिल होते हैं –

  1. एंटीबायोटिक्स – चिकित्सक संभावित रूप से इंजेक्शन (सेफ्ट्रियाक्सनए - Ceftriaxone) और एक मौखिक दवा (एजिथ्रोमाइसिन) दोनों का परामर्श देंगे।
  2. संभोग से बचें – जब तक इलाज पूरा नहीं हो जाता है, तब तक जटिलताओं और संक्रमण के प्रसार का खतरा रहता है।
  3. कुछ मामलों में पुनः परीक्षण – यह सुनिश्चित करने के लिए हमेशा परीक्षण करना आवश्यक नहीं है कि उपचार कारगर साबित हो रहा है या नहीं। हालांकि, सीडीसी कुछ रोगियों के लिए पुन: परीक्षण करने की सिफारिश करता है और एक चिकित्सक तय करेंगे कि क्या यह आवश्यक है। उपचार के 7 दिनों के बाद पुनः परीक्षण करना चाहिए।

यदि एक महिला गर्भवती है और सूजाक से संक्रमित है, तो नवजात शिशु को सूजाक हस्तांतरण से बचाने के लिए आँखों का मरहम दिया जाता है। हालांकि, यदि आँख का संक्रमण बढ़ जाता है तो एंटीबायोटिक दवाओं की आवश्यकता पड़ सकती है।

सूजाक के जोखिम और जटिलताएं - Gonorrhea Risks & Complications in Hindi

सूजाक (गोनोरिया) के जोखिम कारक -

गोनोरिया संक्रमण के जोखिम को निम्न कारक बढ़ा सकते हैं –

  1. छोटी उम्र,
  2. एक नया सेक्स पार्टनर,
  3. एक सेक्स पार्टनर जो कई अन्य लोगों के साथ सेक्स करता हो,
  4. एकाधिक सेक्स पार्टनर,
  5. पूर्व गोनोरिया निदान,
  6. अन्य यौन संचारित संक्रमण से ग्रसित होना इत्यादि। 

सूजाक (गोनोरिया) की जटिलताएं:

कई गंभीर संभावित जटिलताएं हैं, जो लक्षण दिखाई देने पर त्वरित निदान और उपचार की आवश्यकता पर प्रकाश डालती हैं।  

महिलाओं में सूजाक निम्न को बढ़ा सकता है –

  1. पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज, एक ऐसी स्थिति है जो फोड़े का कारण बन सकती है।
  2. क्रोनिक पेल्विक दर्द
  3. बाँझपन
  4. अस्थानिक गर्भावस्था (Ectopic Pregnancy), जिसमें भ्रूण गर्भाशय के बाहर संलग्न होता है।

पुरुषों में सूजाक संक्रमण निम्न का कारण बन सकता है –

  1. एपिडाइडाइमाइटिस – एपिडिडिमिस की सूजन, जो शुक्राणुओं के उत्पादन को नियंत्रित करती है।
  2. बांझपन

सूजाक का उपचार न होने पर पुरुषों और महिलाओं दोनों में ज़िंदगी के लिए खतरा उत्पन्न करने वाले गोनोकोकल संक्रमण के विकास का जोखिम रहता है। इस प्रकार के संक्रमण के लक्षण निम्नलिखित हैं –

  1. बुखार
  2. गठिया
  3. टेनोसिनोवाइटिस – नसों के आसपास जलन और सूजन 
  4. त्वचाशोथ (त्वचा में जलन, सूजन और खुजली होना) - Dermatitis

सूजाक से संक्रमित लोगों को एचआईवी के संक्रमण में आने का अधिक खतरा होता है। अगर आप पहले ही एचआईवी पॉजिटिव हैं तो गोनोरिया के अलावा आप एचआईवी भी फैला सकते हैं।

सूजाक संक्रमण की जटिलताएं प्रसव के दौरान गर्भवती महिलाओं में बढ़ सकती हैं। प्रसव के दौरान बच्चे को संक्रमित करना संभव है। एक नवजात शिशु में गोनोरिया संक्रमण होने के कारण जोड़ों का संक्रमण, अंधापन या गंभीर रक्त संक्रमण हो सकता है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में होने वाली समस्या)

गर्भवती महिलाओं में अगर सूजाक को अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो उनमें समय से पूर्व प्रसव या मृत बच्चे को जन्म देने का जोखिम भी बढ़ जाता है।

सूजाक में परहेज़ - What to avoid during Gonorrhea in Hindi?

इनसे परहेज करें:

  1. कैफीन युक्त शराब, तम्बाकू, चाय, कॉफी या पेय पदार्थों को मूत्राशय में गंभीर जलन और दर्द उत्पन्न करने वाला माना जाता है।
  2. मसाले, मिर्च और तीखा भोजन (और पढ़ें - हरी मिर्च खाने के फायदे)
  3. कृत्रिम मिठास वाले खाद्य और पेय पदार्थ 
  4. कृत्रिम मिठास (Artificial Sweeteners)
  5. समुद्री भोजन –  हिलसा मछली, झींगा मछली, केकड़े, झींगे, श्रिम्प, सार्डिन आदि, क्योंकि इनमें मौजूद उच्च प्रोटीन गुर्दे पर भार बढ़ा देते हैं।
  6. ग्लूटेन युक्त भोजन से बचें या सीमित मात्रा में सेवन करें। 

सूजाक में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Gonorrhea in Hindi?

भोजन में इन्हें शामिल करें:

  1. गन्ने का रस, दूध, किशमिश, तरबूज, खरबूज़, ब्लूबेरी, क्रैनबेरी, अनानास, खीरा, कद्दू, जौ और चावल।
  2. लहसुन और प्याज का अधिक मात्रा में सेवन करें।
  3. अपने दैनिक आहार में अधिक प्रोबायोटिक्स शामिल करें। दही सर्वश्रेष्ठ प्रोबायोटिक्स में से एक है।
  4. विटामिन सी – इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो वायरल आक्रमण को रोकते हैं। इस विटामिन से समृद्ध मुख्य खाद्य पदार्थों में शामिल हैं – स्ट्रॉबेरी, मटर, एन्डिव, मूली, पपीता, खरबूज, तरबूज, बैंगन, जौ, सलाद पत्ता, अजमोद, अंजीर, कद्दू, आम, सेम की फली, आड़ू, आलू, सोयाबीन, गाजर, चेरिमोया, आलूबुखारा, सेब, मक्का आदि।
  5. विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थ विशेष रूप से पालक, गाजर, तुलसी, कद्दू, धनिया, ऐस्पैरागस (शतावरी), डेंडलाइन (सिंहपर्णी), पपीता, एन्डिव, जौ, कद्दू, चिकरी (कासनी), सलाद पत्ता, अजमोद, फूलगोभी, सेब, जई (ओट्स), काजू, एवोकाडो, आड़ू, मटर, सोयाबीन, जैतून, केला, खीरा, स्ट्रॉबेरी, लहसुन, अनानास, खजूर, नाशपाती, पिस्ता, मसूर, सेम आदि हैं।
  6. जिंक से समृद्ध खाद्य पदार्थ हैं – अजमोद, ऐस्पैरागस (शतावरी), बोरेज, अंजीर, आलू, मूंगफली, बैंगन, काजू, सूरजमुखी, प्याज, राजमा, मसूर की दाल, आड़ू, बादाम, मूली, नाशपाती, शकरकंद, पपीता, अनाज आदि।
Dr. Neha Gupta

Dr. Neha Gupta

संक्रामक रोग

Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग

सूजाक की दवा - Medicines for Gonorrhea in Hindi

सूजाक के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Blumox CaBLUMOX CA 1.2GM INJECTION 20ML103
BactoclavBACTOCLAV 1.2MG INJECTION99
Mega CvMEGA CV 1.2GM INJECTION98
AzibactAzibact 100 Mg/5 Ml Redimix Suspension21
AtmAtm 100 Mg Tablet Xl20
Erox CvEROX CV DRY SYRUP45
MoxclavMoxclav 1.2 Gm Injection95
NovamoxNOVAMOX 500MG CAPSULE 10S0
Moxikind CvMoxikind Cv 1000 Mg/200 Mg Injection101
PulmoxylPulmoxyl 250 Mg Tablet Dt50
AzilideAzilide 100 Mg Redimix22
ZithroxZithrox 100 Mg Suspension20
AzeeAZEE 100MG DRY 15ML SYRUP27
ClavamCLAVAM 1GM TABLET 10S223
AdventAdvent 200 Mg/28.5 Mg Dry Syrup47
AugmentinAUGMENTIN 1.2GM INJECTION 1S105
ClampCLAMP 30ML SYRUP45
AzithralAzithral XL 200 Liquid 60ml152
MoxMox 250 mg Capsule27
Zemox ClZemox Cl 1000 Mg/200 Mg Injection135
P Mox KidP Mox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet12
AceclaveAceclave 250 Mg/125 Mg Tablet85
Amox ClAmox Cl 200 Mg/28.5 Mg Syrup39
ZoclavZoclav 500 Mg/125 Mg Tablet159

सूजाक की दवा - OTC medicines for Gonorrhea in Hindi

सूजाक के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Baidyanath Kanchanar GugguluBaidyanath Kanchanar Guggulu Tablet92
Baidyanath Chandraprabha VatiBaidyanath Chandra Prabha Bati88
Baidyanath Chandanadi VatiBaidyanath Chandanadi Vati Tablets104
Baidyanath Gokshuradi GugguluBaidyanath Gokshuradi Guggulu116
Baidyanath Kaishore GugguluBaidyanath Kaishore Guggulu171

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Gonorrhea
  2. Office on Women's Health [Internet] U.S. Department of Health and Human Services; Gonorrhea.
  3. National Health Service [Internet] NHS inform; Scottish Government; Gonorrhoea
  4. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Gonorrhea
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Gonorrhea Test
और पढ़ें ...