myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट क्या है?

ब्रूसेला एक बैक्टीरिया है, जो ब्रुसीलोसिस नामक संक्रामक रोग पैदा करता है। ये बीमारी अधिकतर उन लोगों को प्रभावित करती है, जो जानवरों के संपर्क में आते हैं जैसे डेरी कर्मचारी, किसान, पशु चिकित्सक और मीट-प्रोसेसिंग प्लांट में कार्य करने वाले कर्मचारी। ये बीमारी कुत्तों से भी मनुष्यों में आ सकती है। हालांकि ये बहुत ही दुर्लभ है और उन लोगों को हो सकती है जिन्हें कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली संबंधी बीमारियां जैसे एचआईवी/एड्स (ह्यूमन इम्यूनोडेफिशिएंसी वायरस/ अक्वायर्ड इम्यून डेफिशियेंसी सिंड्रोम) होती है। बैक्टीरिया के संपर्क में आने के बाद व्यक्ति में लक्षण दिखने मे थोड़ा समय लगता है।

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट एक ब्लड टेस्ट है जो कि व्यक्ति के शरीर में ब्रूसेला के विरोध में बने एंटीबॉडीज की जांच करता है ताकि इस बात की पुष्टि की जा सके कि व्यक्ति को इस बैक्टीरिया का संक्रमण है या नहीं। 

इस टेस्ट को ब्रूसेला एंटीबॉडी टाइटर, ब्रूसेला-स्पेसिफिक एग्लूटिनेशन, ब्रूसेला माइक्रोएग्लूटिनेशन टेस्ट या स्टैंडर्ड ट्यूब एग्लूटिनेशन टेस्ट भी कहते हैं।

  1. ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है - Brucella antibody Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट से पहले - Brucella antibody Test Se Pahle
  3. ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट के दौरान - Brucella antibody Test Ke Dauran
  4. ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Brucella antibody Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट क्यों किया जाता है?

डॉक्टर इस टेस्ट की सलाह निम्न लक्षण दिखने पर दे सकते हैं:

ब्रूसेलोसिस के लक्षणों को विकसित होने में चार हफ्तों का समय लग सकता है इसलिए डॉक्टर संक्रमण का पता टेस्ट की मदद से ही लगा सकते हैं। डॉक्टर व्यक्ति से विस्तृत जानकारी लेंगे कि व्यक्ति किसी संक्रमित जानवर के साथ करीबी संपर्क में आया है या नहीं। अगर आपने ऐसे देशों में यात्रा की है जहां ये बीमारी सामान्य है जैसे स्पेन, मेक्सिको या ग्रीस तो भी ये संक्रमण हो सकता है। 

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट के लिए ज्यादा तैयारी की जरूरत नहीं होती। परीक्षण करने के लिए डॉक्टर आपसे यात्रा और व्यवसाय संबंधी प्रश्न पूछ सकते हैं। चूंकि ये बीमारी कम पका मीट खाने, किसी संक्रमित जानवर से प्राप्त दूध को बिना पाश्चुरीकृत किए पीने से भी फैल सकती है इसीलिए डॉक्टर आपसे पूछ सकते हैं कि अगर आपने ऐसा कुछ खाया या पिया है या फिर आपका किसी मृत जानवर के साथ संपर्क हुआ है। यदि आप किसी ऐसी लैब में काम करते हैं जहां आपका संपर्क बैक्टीरिया से होता है तो इसके बारे में डॉक्टर को बता दें। यह बीमारी माँ द्वारा बच्चे में भी संचारित हो सकती है इसीलिए यदि आप स्तनपान कराती हैं या गर्भवती हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं।

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट कैसे किया जाता है?

डॉक्टर आपकी बांह की नस में सुई लगाकर ब्लड सैंपल ले लेंगे। सुई लगने से आपको हल्का सा दर्द या चुभन हो सकती है और रक्त लेने के बाद हल्का सा दर्द भी रह सकता है। सुई लगी जगह पर हल्का सा नील भी पड़ सकता है। हालांकि ये लक्षण आमतौर पर जल्दी ठीक हो जाते हैं। यदि ये लक्षण ठीक नहीं होते तो कृपया डॉक्टर इस बार में डॉक्टर से बात करें।

ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सामान्य परिणाम:
टेस्ट के परिणाम आने में दो दिन का समय लग सकता है। रक्त में पाए जाने वाले एंटीबॉडीज की सामान्य रेंज हर लैब के अनुसार अलग-अलग हो सकती है। हालांकि टेस्ट के पॉजिटिव या नेगेटिव रिजल्ट को हर लेबोरेटरी में निर्धारित किया जाता है। सामान्य टेस्ट में पता चलता है कि शरीर में एंटीबॉडीज नहीं है। रिजल्ट को नेगेटिव लिखा जाता है। हालांकि, इस टेस्ट में गलत तरह से भी नेगेटिव परिणाम आ सकते हैं। इसीलिए डॉक्टर आपसे दस दिन बाद यह टेस्ट फिर से करवाने के लिए कह सकते हैं।

असामान्य परिणाम:
असामान्य परिणामों को टेस्ट रिपोर्ट्स में पॉजिटिव लिखा जाता है। जिसका मतलब है कि शरीर में ब्रूसेला के एंटीबॉडीज मौजूद हैं। एंटीबॉडी मौजूद होने का मतलब है कि व्यक्ति का संपर्क बैक्टीरिया से हुआ है। हालांकि कुछ बिमारियों के लिए ली गई वैक्सीनेशन के कारण भी टेस्ट के परिणाम पॉजिटिव आ सकते हैं। इसीलिए डॉक्टर परिणामों की पुष्टि के लिए अन्य टेस्ट करेंगे।

नेगेटिव और पॉजिटिव दोनों ही परिणामों की पुष्टि के लिए डॉक्टर ब्रूसेला एंटीबॉडी टेस्ट के तीन महीनों बाद एंजाइम-लिंक्ड इम्यूनोसोर्बेंट एस्से (एलिसा) करवाने की सलाह दे सकते हैं। संक्रमण की पुष्टि करने के लिए डॉक्टर आपसे अन्य प्रकार के ब्लड टेस्ट, बोन मेरो या अन्य टिशू टेस्ट करने के लिए भी कह सकते हैं। एक बार परिणामों की पुष्टि हो जाने पर उसी के अनुसार इलाज शुरू किया जाता है।

और पढ़ें ...

References

  1. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Brucella Antibody
  2. Dias M, Dias E. Comparative evaluation of various serological tests in the laboratory diagnosis of brucellosis. CHRISMED J Health Res. 2015;2:136-139.
  3. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Brucellosis: Transmission
  4. Benioff Children's Hospital [internet]: University of California, San Francisco; Serology for Brucellosis
  5. Department of health: Australia. Brucellosis Laboratory Case Definition (LCD)