myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

संक्षेप में:

ब्रूसीलोसिस क्या है?

ब्रूसीलोसिस, बैक्टीरिया के कारण होने वाली एक बीमारी है जो इंसानों और जानवरों दोनों को प्रभावित कर सकती है। ये बीमारी दूषित खाना खाने से फैलती है, जैसे कच्चा मीट। ब्रूसीलोसिस पैदा करने वाले बैक्टीरिया को "ब्रूसेला" (Brucella) कहा जाता है और ये बैक्टीरिया हवा या किसी खुले घाव के संपर्क में आने से भी फैल सकता है।

(और पढ़ें - घाव भरने के उपाय)

ब्रूसीलोसिस क्यों होता है?

अगर कोई व्यक्ति बैक्टीरिया से संक्रमित किसी जानवर या जानवरों से मिलने वाले उत्पाद के संपर्क में आता है, तो उसे ब्रूसीलोसिस हो सकता है। कुछ मामलों में ये बीमारी स्तनपान करा रही महिला से उसके बच्चे हो सकती है, इसके अलावा यौन संबंध बनाने से भी ये रोग फैल सकती है।

(और पढ़ें - स्तनपान से जुड़ी समस्याएं)

ब्रूसीलोसिस के लक्षण क्या है? 

ब्रूसीलोसिस होने पर भूख न लगना, वजन कम होना, पीठ दर्द, बुखार, सुस्ती, पेट दर्द और सिरदर्द जैसे लक्षण अनुभव होते हैं। अगर आपको फ्लू जैसे लक्षण अनुभव हो रहे हैं और आप किसी ऐसे जानवर के संपर्क में आए हैं जिसे ब्रूसीलोसिस हो सकता है, तो अपने डॉक्टर के पास जाएं।

(और पढ़ें - तेज बुखार होने पर क्या करें)

ब्रूसीलोसिस का इलाज कैसे होता है?

ब्रूसीलोसिस के निदान के लिए यूरिन कल्चर, ब्लड कल्चर और रीढ़ की हड्डी व दिमाग में मौजूद द्रव की जांच की जाती है। बीमारी की पुष्टि होने के बाद डॉक्टर इसके लिए एंटीबायोटिक दवाएं दे सकते हैं। इलाज करने के समय और बीमारी की गंभीरता के आधार पर इसे ठीक होने में कुछ हफ्तों से महीनों तक का समय लग सकता है। बहुत ही दुर्लभ मामलों में ब्रूसीलोसिस से किसी व्यक्ति की मौत होती है।

(और पढ़ें - ब्लड टेस्ट कैसे किया जाता है)

इससे बचने का तरीका है कि पूरी तरह से पका हुआ मीट ही खाएं और ऐसे डेयरी उत्पाद न लें जिनके अंदर से बैक्टीरिया न निकाले गए हों। बैक्टीरिया निकालने के लिए दूध को उबाला जाता है, जिससे उसमें मौजूद बैक्टीरिया मर जाते हैं।

अगर ब्रूसीलोसिस का इलाज सही तरीके से न किया जाए, तो इससे कुछ जटिलताएं हो सकती हैं, जैसे इन्सेफेलाइटिस, दिमागी बुखार, हड्डियों व जोड़ों पर घाव या एंडोकार्डिटिस

(और पढ़ें - हड्डियों में दर्द का इलाज)

  1. ब्रूसीलोसिस क्या है - What is Brucellosis in Hindi
  2. ब्रूसीलोसिस के लक्षण - Brucellosis Symptoms in Hindi
  3. ब्रूसीलोसिस के कारण व जोखिम कारक - Brucellosis Causes & Risk Factors in Hindi
  4. ब्रूसीलोसिस से बचाव - Prevention of Brucellosis in Hindi
  5. ब्रूसीलोसिस का परीक्षण - Diagnosis of Brucellosis in Hindi
  6. ब्रूसीलोसिस का इलाज - Brucellosis Treatment in Hindi
  7. ब्रूसीलोसिस की जटिलताएं - Brucellosis Complications in Hindi
  8. ब्रूसीलोसिस की दवा - Medicines for Brucellosis in Hindi
  9. ब्रूसीलोसिस के डॉक्टर

ब्रूसीलोसिस क्या है - What is Brucellosis in Hindi

ब्रूसीलोसिस क्या है?

ब्रूसीलोसिस एक संक्रामक रोग है, जो “ब्रूसिला” (Brucella) नाम के एक प्रकार के बैक्टीरिया के कारण होता है। यह बैक्टीरिया जानवरों से मनुष्य के शरीर में फैल सकता है। 

(और पढ़ें - संक्रमण का इलाज​)

ब्रूसीलोसिस के लक्षण - Brucellosis Symptoms in Hindi

ब्रूसीलोसिस के लक्षण क्या हैं?

ज्यादातर लोगों में बैक्टीरिया शरीर में चले जाने के दो से चार हफ्तों के बाद ब्रूसीलोसिस के लक्षण दिखाई देने लग जाते हैं। इस बीच के समय को गुप्त अवधि (Latent period) कहा जाता है। लक्षणों की गंभीरता व लक्षण कितने समय तक रहते हैं, यह हर व्यक्ति के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं। मनुष्यों में ब्रूसीलोसिस के लक्षण फ्लू के लक्षणों के समान होते हैं। इसके निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

(और पढ़ें - वजन बढ़ाने के तरीके)

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

निम्न स्थितियों में डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए:

  • लंबे समय तक बुखार रहना, जिसके कारण का पता ना हो
  • प्लीहा (Spleen) में सूजन होना

(और पढ़ें - बुखार भगाने के घरेलू उपाय)

ब्रूसीलोसिस के कारण व जोखिम कारक - Brucellosis Causes & Risk Factors in Hindi

ब्रूसीलोसिस क्यों होता है?

मनुष्यों में ब्रूसीलोसिस तब होता है, जब कोई व्यक्ति ब्रूसिला से संक्रमित किसी जानवर या उसके उत्पाद के संपर्क में आता है।

जानवरों में ब्रूसिला बैक्टीरिया प्रसव के ऊतकों व द्रवों के संपर्क में आने के कारण फैलता है, इनमें गर्भनाल, गर्भपात हुआ भ्रूण, भ्रूण का द्रव और योनि से निकलने वाले अन्य द्रव आदि शामिल है। इसके अलावा बैक्टीरिया दूध, खून, पेशाब और वीर्य में भी पाया जाता है।

(और पढ़ें - वीर्य की जांच क्या है)

निम्नलिखित तरीकों से बैक्टीरिया मनुष्य के शरीर में जा सकता है:

  • मुंह के द्वारा
  • सांस के द्वारा
  • खुले घाव के अंदर से

(और पढ़ें - घाव की मरहम पट्टी कैसे करे)

ब्रूसीलोसिस होने के का खतरा कब बढ़ता है?

इसके निम्नलिखित जोखिम कारक हो सकते हैं:

  • बिना पाश्चराइज्ड (Unpasteurized) किया गया दूध पीना
  • बिना पाश्चराइज्ड किया गया पनीर या चीज खाना
  • जानवरों के करीबी संपर्क में रहने वाले लोग जैसे किसान, जानवरों के डॉक्टर, शिकारी व मीट आदि का काम करने वाले लोग
  • यदि किसी महिला को ब्रूसीलोसिस है, तो वह स्तनपान करवाने के दौरान अपने बच्चे में ब्रूसिला बैक्टीरिया जा सकता है
  • शारीरिक संबंधों के दौरान भी ब्रूसिला बैक्टीरिया फैल सकता है।

(और पढ़ें - एसटीडी रोग का इलाज​)

ब्रूसीलोसिस से बचाव - Prevention of Brucellosis in Hindi

ब्रूसीलोसिस की रोकथाम कैसे करें?

अभी तक ऐसा कोई टीका नहीं बना है, जो ब्रूसीलोसिस से बचाव कर सके। संक्रमित जानवरों (या जिनके संक्रमित होने का शक है) या उनके उत्पादों के संपर्क में आने के दौरान विशेष सावधानियां बरतना ही ब्रूसीलोसिस से बचाव करने का सबसे अच्छा तरीका है। 

यदि आपके संक्रमित जानवरों के संपर्क में आने की अधिक संभावना है, तो निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • मरे हुऐ जानवरों के पास जाने से पहले अपने चेहरे पर मास्क लगा लें और हाथों पर दस्ताने पहन कर ही उन्हें छुएं
  • यदि आपकी त्वचा पर कोई खरोंच या खुला घाव बना हुआ है, तो उसे वाटरप्रूफ (जिसके अंदर पानी भी ना जा पाए) पट्टी के साथ ढक लें।
  • जानवरों या मरे हुऐ जानवरों के शवों को छूने के बाद अपने हाथों को साबुन व पानी के साथ अच्छे से धो लें
  • प्रसव के दौरान जानवरों के शरीर से निकलने वाले पदार्थों (गर्भनाल, गर्भपात हुआ भ्रूण या योनि से निकलने वाले अन्य द्रव आदि) को नष्ट करने के दौरान सावधान रहें। 
  • जानवर के मूत्र व शरीर के अन्य द्रवों को अच्छे से धो दें और जगह को अच्छे से साफ कर दें।

(और पढ़ें - योनि में सूजन का इलाज)

ब्रूसीलोसिस की रोकथाम करने के लिए अन्य उपाय, जैसे:

  • जानवरों के आस-पास रहने वाले चूहों को हटा दें और धूल आदि को भी कम करने की कोशिश करें
  • यदि जरूरी नहीं हैं, तो जानवरों संबंधी काम ना करें
  • नियंत्रण रखना जानवरों की बीमारियों को खत्म करने का सबसे अच्छा तरीका है।
  • जहां पर खाने वाली मीट आदि तैयार की जाती है, वहां पर जंगली सूअर का मांस ना काटें। क्योंकि जंगली सूअर ब्रूसिला बैक्टीरिया से संक्रमित हो सकता है।
  • घर के पालतू जानवरों के जंगली सूअर का कच्चा मांस ना खाने दें, ऐसा करने से घरेलू जानवर भी ब्रूसीलोसिस से संक्रमित हो सकते हैं। 
  • बिना पाश्चराइज्ड किया गया दूध ना पिएं और ना ही उससे बने कोई अन्य पदार्थ खाएं, खासकर यदि आप विदेशों में घूम रहे हैं। यदि दूध को पाश्चराइज्ड करने की सुविधा उपलब्ध नहीं है, तो उसे उबाल लें।

(और पढ़ें - बैक्टीरियल इन्फेक्शन का इलाज)

ब्रूसीलोसिस का परीक्षण - Diagnosis of Brucellosis in Hindi

ब्रूसीलोसिस की जांच कैसे की जाती है?

इस स्थिति की जांच करने के लिए डॉक्टर सबसे पहले आपसे आपके लक्षणों व आपके स्वास्थ्य से जुड़ी पिछली जानकारियों के बारे में पूछेंगे। इस दौरान मरीज का शारीरिक परीक्षण किया जाता है। शारीरिक परीक्षण से मिलने वाले रिजल्ट इस पर निर्भर करते हैं कि अंग कितना प्रभावित हुआ है। परीक्षण के दौरान मुख्य रूप से बुखार, लिम्फ नोड्स में सूजन, प्लीहा व लीवर में सूजन आदि की जांच की जाती है।

(और पड़ें - फैटी लिवर में क्या खाएं)

यदि आपको फ्लू जैसे लक्षण हो रहे हैं जिनके कारण का पता नहीं लग पाया है, तो डॉक्टर ब्रूसीलोसिस की जांच कर सकते हैं। ब्रूसीलोसिस का पता लगाने के लिए निम्नलिखित टेस्ट किए जा सकते हैं:

  • ब्लड कल्चर:
    डॉक्टर खून के सेंपल की जांच करके उसमें ब्रूसिला बैक्टीरिया या उनके खिलाफ बनाए गए एंटीबॉडीज की उपस्थिति का पता लगा लेते हैं और ब्रूसीलोसिस की पुष्टि कर लेते हैं। (और पड़ें - पैप स्मीयर टेस्ट क्या है)
     
  • अस्थि मज्जा की जांच:
    यदि खून के सेंपल की जांच करने से कुछ रिजल्ट ना प्राप्त हो पाएं तो फिर अस्थि मज्जा से एक सेंपल लिया जाता है और उस पर कल्चर टेस्ट किया जाता है। (और पड़ें - ब्लड ग्रुप टेस्ट कैसे करे)
     
  • एक्स रे:
    इस टेस्ट की मदद से आपके जोड़ों की हड्डियों में किसी तरह के बदलाव की जांच की जाती है। (और पढ़ें - एक्स रे क्या है)
     
  • सीटी स्कैन या एमआरआई स्कैन:
    इन टेस्टों की मदद से मस्तिष्क या अन्य ऊतकों में किसी प्रकार की सूजन व फोड़े आदि की जांच की जाती है। (और पढ़ें - सीटी स्कैन क्या है)
     
  • सेरिब्रोस्पाइनल फ्लूड टेस्टिंग:
    इसमें मस्तिष्क व रीढ़ की हड्डी के चारों तरफ उपस्थित द्रव का सेंपल निकाल कर इसकी मदद से मेनिनजाइटिसइन्सेफेलाइटिस आदि जैसे संक्रमणों की जांच की जाती है। (और पड़ें - विटामिन डी टेस्ट)
     
  • इकोकार्डियोग्राफी:
    इस टेस्ट में ध्वनि तरंगों का इस्तेमाल किया जाता है, जिसकी मदद से हृदय की छवि बनती हैं। इस टेस्ट की मदद से हृदय में संक्रमण जैसी स्थितियों का पता लगाया जाता है। (और पढ़ें - इको टेस्ट क्या है)

     
  • एंटीबॉडीज टेस्ट:
    ब्रूसीलोसिस के खिलाफ शरीर द्वारा बनाए गए एंटीबॉडीज की जांच करना। (और पड़ें - लिवर फंक्शन टेस्ट कैसे किया जाता है)
     
  • यूरिन कल्चर:
    यूरिन कल्चर टेस्ट के माध्यम से यूरिन या पेशाब में उपस्थित संक्रमण पैदा करने वाले जीवाणुओं का पता लगाया जाता है।

(और पड़ें - यूरिन टेस्ट क्या है)

ब्रूसीलोसिस का इलाज - Brucellosis Treatment in Hindi

ब्रूसीलोसिस का इलाज कैसे किया जाता है?

ब्रूसीलोसिस से ग्रस्त लोगों का इलाज करने के लिए कई एंटीबायोटिक का संयोजन दिया जाता है। ये दवाएं मरीज को कम से कम 6 हफ्ते तक दी जाती हैं। यदि आपको स्वस्थ महसूस होने लगा है, तो भी इन दवाओं के कोर्स को पूरा करना बहुत जरूरी होता है। ब्रूसीलोसिस में आमतौर पर निम्नलिखित प्रकार की एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग किया जाता है:

  • डॉक्सीसाइक्लिन
  • सिप्रोफ्लॉक्ससिन या ओफ्लोक्सासिन
  • रिफैम्पिन
  • बैक्टरीम
  • टेट्रासाइक्लिन

मरीज को आमतौर पर डॉक्सिसाइक्लिन और रिफैम्पिन को संयोजन के रूप में लगातार 6 से 8 हफ्तों तक दिया जाता है। मरीज एक हफ्ते से एक महीने के बीच में स्वस्थ महसूस करने लगता है। ब्रूसीलोसिस के जिस मरीज का लक्षण शुरू होने के एक महीने के भीतर इलाज शुरू हो जाता है, उसका इलाज सफल हो सकता है।

यह रोग इलाज होने के बाद फिर से हो सकता है या दीर्घकालिक रोग बन सकता है। यदि यह बार-बार हो रहा है, तो डॉक्टर लगातार तीन महीनों तक एंटीबायोटिक दवाओं का कोर्स देते हैं।

(और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन का इलाज)

ब्रूसीलोसिस की जटिलताएं - Brucellosis Complications in Hindi

ब्रूसीलोसिस से क्या समस्याएं होती है?

एंटीबायोटिक दवाएं कुछ मामलों में ब्रूसीलोसिस का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को नष्ट नहीं कर पाती। रोग को पूरी तरह से ठीक करने के लिए डॉक्टरों को कुछ प्रकार की दवाएं देनी पड़ती हैं। कुछ मामलों में पूरा इलाज होने के बावजूद भी शरीर में बैक्टीरिया रह जाता है। 

ब्रूसीलोसिस शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकता है, जिसमें प्रजनन प्रणाली, लिवर, हृदय व तंत्रिका तंत्र आदि शामिल हैं। यदि आपको काफी लंबे समय से ब्रूसीलोसिस है, उससे शरीर के एक अंग या पूरे शरीर में जटिलताएं विकसित हो सकती हैं। ब्रूसीलोसिस से होने वाली कुछ संभावित जटिलताएं जैसे:

  • गठिया:
    जोड़ों में इन्फेक्शन होने पर जोड़ों में दर्द, अकड़न व सूजन होने लग जाती है, जो खासकर घुटने, कूल्हे, टखने, कलाई व रीढ़ की हड्डी के जोड़ों में होती है। स्पॉन्डिलाइटिस का इलाज करना मुश्किल हो सकता है, जो काफी लंबे समय तक नुकसान पहुंचाता है। रीढ़ की हड्डियों के जोड़ों के बीच में या रीढ़ की हड्डी व पेल्विस के जोड़ों में सूजन व जलन होने की स्थिति को स्पॉन्डिलाइटिस कहा जाता है।
    (और पढ़ें - गठिया का इलाज)
     
  • एंडोकार्डाइटिस (हृदय की अंदरुनी परत में इन्फेक्शन होना):
    यह ब्रूसीलोसिस से होने वाली सबसे गंभीर जटिलताओं में से एक है। यदि एंडोकार्डाइटिस का समय पर इलाज ना किया जाए, तो उससे हृदय के वाल्व क्षतिग्रस्त हो सकते हैं, जिस कारण से मरीज की मृत्यु हो सकती है।
     
  • प्लीहा या लिवर में सूजन और संक्रमण:
    ब्रूसीलोसिस रोग प्लीहा व लिवर को भी प्रभावित करता है, इसके कारण लिवर व प्लीहा का आकार सामान्य से अधिक होने लग जाता है। (और पढ़ें - लिवर में सूजन के कारण)
     
  • वृषणों में सूजन व संक्रमण:
    ब्रूसीलोसिस का कारण बनने वाले बैक्टीरिया एपिडिडिमिस को भी संक्रमित कर सकते हैं। यह एक कुंडलीदार नली होती है, जो वृषण व वास डेफरेंस (Vas deferens) से जुड़ी होती है। इन्फेक्शन यहां से वृषण तक भी फैल सकता है, जिसके कारण वृषण में सूजन व दर्द होने लगता है जो एक गंभीर स्थिति होती है। (और पढ़ें - वृषण में सूजन के लक्षण)
     
  • केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में इन्फेक्शन:
    इससे संभावित रूप से जीवन के लिए घातक स्थिति पैदा हो जाती है, जैसे मेनिनजाइटिस और इन्सेफेलाइटिस। मस्तिष्क व रीढ़ की हड्डी को ढकने वाली झिल्ली में सूजन व लालिमा की स्थिति को मेनिनजाइटिस कहा जाता है। यदि संक्रमण मस्तिष्क में आ जाए तो इसे इन्सेफेलाइटिस कहा जाता है।

गर्भवती महिलाओं को ब्रूसीलोसिस होने पर निम्नलिखित जटिलताएं विकसित हो सकती हैं:

(और पढ़ें - दिल में छेद का कारण)

Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग

Dr. Amisha Mirchandani

Dr. Amisha Mirchandani

संक्रामक रोग

ब्रूसीलोसिस की दवा - Medicines for Brucellosis in Hindi

ब्रूसीलोसिस के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AdoxAdox Tablet180.0
BiodoxiBiodoxi 100 Mg Tablet12.0
CodoxCodox 100 Mg Capsule18.0
Codox LCodox L 100 Mg Capsule56.0
CordoxCordox 100 Mg Tablet29.0
DelineDeline 100 Mg Capsule17.0
Detab PlusDetab Plus Tablet46.0
DetabDetab Tablet10.0
DetaxlDetaxl 120 Mg Injection15570.0
DifidoxDifidox 100 Mg Injection399.0
DmtDmt 100 Mg Capsule31.0
Doc DrDoc Dr 100 Mg Tablet49.0
DoxDox 10 Mg Capsule14.0
Doxid (Drakt)Doxid 100 Mg Tablet45.0
DoxificDoxific 100 Mg Injection359.0
DoxikaDoxika 100 Mg Tablet10.0
Dox MDox M 100 Mg Capsule12.0
DoxmoDoxmo 100 Mg Tablet14.0
Doxmo TzDoxmo Tz Tablet42.0
DoxolDoxol Tablet6.0
DoxtDoxt 100 Mg Tablet15.0
Doxy 24Doxy 24 Tablet26.0
DoxyclinDoxyclin 100 Mg Capsule17.0
Doxycycline 100 Mg CapsuleDoxycycline 100 Mg Capsule19.0
DoxydayDoxyday 100 Mg Tablet318.0
DoxylabDoxylab 100 Mg Capsule34.0
DoxylebDoxyleb 100 Mg Capsule15.0
DoxylinDoxylin 100 Mg Capsule13.0
DoxylivDoxyliv 100 Mg Tablet13.0
DoxypalDoxypal 100 Mg Capsule Dr67.0
Doxyrek DrDoxyrek Dr 100 Mg Capsule39.0
Doxy ( A N Pharmacia)Doxy Tablet69.0
Doxytab (Omega)Doxytab Tablet29.0
DoxytinDoxytin Tablet67.0
DoxytopDoxytop 100 Mg Tablet9.0
DoxywellDoxywell 100 Mg Tablet11.0
DuradoxDuradox Capsule13.0
LaaLaa 100 Mg Capsule52.0
LandoxLandox 100 Mg Tablet170.0
LenteclinLenteclin 100 Mg Capsule10.0
Martidox MMartidox M 100 Mg Tablet8.0
NabNab 100 Mg Tablet34.0
Nee (Bennet)Nee 100 Mg Tablet Dt59.0
NovadoxNovadox 100 Mg Tablet6.0
NudoxyNudoxy 100 Mg Capsule10.0
RalidexRalidex 100 Mg Capsule456.0
RapidoxynRapidoxyn 100 Mg Tablet6.0
SeadoxSeadox 100 Mg Tablet8.0
SwidoxSwidox 100 Mg Capsule10.0
TabdoxTabdox 100 Mg Tablet142.0
UltracyclineUltracycline 100 Mg Capsule8.0
WedoxWedox 100 Mg Tablet27.0
Akem TabletAkem Tablet Dt64.0
AndoxAndox Tablet37.0
BidoxBidox 100 Mg Tablet11.0
CadoxyCadoxy 100 Mg Capsule8.0
DcDc 100 Mg Capsule9.0
DocmycinDocmycin 100 Mg Tablet11.0
Dox (Dd Pharma)Dox 75 Mg Capsule57.0
DoxicipDoxicip 100 Mg Capsule10.0
DoxitabDoxitab Tablet35.0
DoxitasDoxitas 100 Mg Tablet17.0
DoxycylineDoxycyline Capsule13.0
DoxygatesDoxygates Tablet37.0
DoxygeeDoxygee 100 Mg Tablet8.0
DoxynDoxyn 100 Mg Tablet16.0
Doxy PlusDoxy Plus 100 Mg Tablet57.0
DoxyricDoxyric 100 Mg Tablet47.0
DoxytabDoxytab 100 Mg Tablet31.0
EffidoxEffidox 100 Mg Capsule28.0
EldoxEldox 100 Mg Capsule29.0
G DoxG Dox Capsule7.0
LytedoxLytedox Tablet24.0
Lytedox LbLytedox Lb Tablet28.0
MinicyclineMinicycline Capsule11.0
MonodoxMonodox Capsule24.0
Mydox SMydox S Tablet53.0
NicodoxyNicodoxy 100 Mg Capsule9.0
Novadox (Radicura)Novadox 100 Mg Tablet98.0
NurodoxNurodox Capsule75.0
OdclinOdclin 100 Mg Capsule29.0
QuidoxQuidox 100 Mg Capsule10.0
R DoxR Dox 100 Mg Tablet34.0
RevidoxRevidox 100 Mg Tablet7.0
Sandox CpSandox Cp 100 Mg Tablet121.0
Sk DoxSk Dox Tablet14.0
SolomycinSolomycin 50 Mg Tablet14.0
TetradoxTetradox 100 Mg Capsule41.0
ZeedoxyZeedoxy Capsule9.0
BactigenBactigen 0.3% Drops44.0
G 80G 80 80 Mg Injection7.0
GaramycinGaramycin 80 Mg Injection8.0
GarasolGarasol 0.3% Drops8.0
Gem (Sigmund)Gem 1 Mg Tablet40.0
Gencin (Torque)Gencin 0.3% Drops10.0
Genster (Sterkem)Genster 20 Mg Injection7.0
GentalabGentalab 40 Mg Injection7.0
GentamideGentamide 0.3% Drops6.0
Gentamycin (Cadila)Gentamycin 40 Mg Injection12.0
Gentamycin (Fulford)Gentamycin 80 Mg Injection8.0
Genticyn (Allergan)Genticyn 0.3% Eye Drop10.0
GenticynGenticyn 10 Mg Injection45.0
GentinGentin 100 Mg Tablet29.0
GentoGento Injection7.0
Germenta(Zyd)Germenta 0.18% Injection17.0
Gerocin DpsGerocin Dps 0.3% Drops6.0
GracinGracin 0.3% Eye Drop9.0
LyramycinLyramycin 0.1% Cream7.0
MerigentaMerigenta 0.10% Cream7.14
TamigenTamigen 0.3% Drops7.0
ZoftagenZoftagen 0.3% Injection11.0
AgigentaAgigenta 40 Mg Injection20.0
BiogaracinBiogaracin 80 Mg Injection4.0
DiclogentaDiclogenta Drops8.0
EldegentaEldegenta 40 Mg Eye Drop19.0
GenkaGenka 40 Mg Injection7.0
GentabestGentabest Injection7.0
GentabioticGentabiotic Eye Drop6.0
Genta (Cadila Pharma)Genta Injection17.0
GentacipGentacip 0.3% Eye Drop11.25
GentamaxGentamax Injection24.0
Gentamycin(Nel)Gentamycin 80 Mg Injection3.0
Gentamycin (Nicholas)Gentamycin Injection24.0
Gentamycin (Wockhardt)Gentamycin 40 Mg Injection28.0
Gentamycin(Zyd)Gentamycin 40 Mg Injection5.0
GentapenGentapen 40 Mg Injection4.0
GentasporinGentasporin 10 Mg Injection11.0
GentaGenta Injection26.0
GenticareGenticare Eye Drop10.0
GentyricGentyric 80 Mg Injection8.0
GentyGenty 40 Mg Injection22.0
Geragen InjectionGeragen Injection8.0
GmiGmi 20 Mg Injection6.0
G Mycin (Bpl)G Mycin 800 Mg Injection52.0
G MycinG Mycin Eye Drop15.0
GmyGmy 80 Mg Injection6.0
IntagentaIntagenta 80 Mg Injection7.0
LaramycinLaramycin 20 Mg Injection7.0
LupigentaLupigenta 40 Mg Injection29.0
MagentaMagenta 40 Mg Injection25.0
MahagentaMahagenta 0.3% Eye Drop7.5
MicogenMicogen Drops6.0
NestogenNestogen Injection140.0
NirgentNirgent Injection19.0
OtogenOtogen Ear Drop32.0
RanbioticRanbiotic 40 Mg Injection21.0
UnigentaUnigenta 40 Mg Injection27.0
ZenoticZenotic Kit 20 Mg Injection7.0
ZygentaZygenta 40 Mg Injection17.0
ArnocinArnocin 100 Mg Capsule255.45
CnnCnn 100 Mg Tablet Mr300.0
CynomycinCynomycin 100 Mg Capsule206.51
Cynomycin CpCynomycin Cp 100 Mg Capsule185.75
MclinMclin 100 Mg Tablet203.16
MinocynMinocyn 100 Mg Tablet240.87
MinolinMinolin 100 Mg Tablet275.0
MinozMinoz 100 Mg Tablet325.0
DivaineDivaine 100 Mg Tablet273.5
EthiminEthimin 50 Mg Tablet189.51
MinoloxMinolox 100 Tablet297.0
MinonilMinonil 45 Mg Tablet Er190.0
MinovaMinova 100 Mg Tablet47.85
SynoSyno 100 Mg Capsule270.51
DermycinDermycin 0.30% Cream8.67
Genbiotic (Optho)Genbiotic (Optho) 0.3% Eye Drop8.26
Gental(Alive)Gental(Alive) 0.1% W/W Cream7.0
Gentamicin 0.3% W/V Eye DropGentamicin 0.3% W/V Eye Drop9.19
Genta SwiftGenta Swift 0.3% Eye Drop16.5
GentcGentc Cream72.37
GentijetGentijet Eye Drop6.91
GentimGentim 0.30% Eye Drop9.6
NicogentaNicogenta 0.25% Eye/Ear Drops22.0
GemGem Soap50.0
Genta (Marck)Genta (Marck) Eye Drop7.43
Gentamycin (Hetero)Gentamycin Cream7.75
Gentamycin Sulphate(Ind)Gentamycin Sulphate(Ind) Ointment6.25
GentarilGentaril Eye/Ear Drops8.36
GentodGentod Eye/Ear Drops12.76
GentopGentop 80 Mg Lotion25.0
KargenKargen Ointment18.18
LeegentaLeegenta Eye Drop8.75
SupragentSupragent 0.10% Cream7.62
ArcyclineArcycline 250 Mg Capsule86.97
LinemettLinemett 333 Mg Tablet15.37
SubamycinSubamycin 250 Mg Capsule12.78
TerapalTerapal 250 Mg Capsule96.25
TetracycllinTetracycllin 250 Mg Capsule72.83
TetralabTetralab 250 Mg Capsule9.2
AchromycinAchromycin 250 Mg Capsule14.7
CadicyclineCadicycline 250 Mg Capsule6.87
GetraGetra 250 Mg Capsule6.71
HostacyclineHostacycline 250 Mg Capsule16.99
NicocyclineNicocycline 250 Mg Capsule10.0
RancyclineRancycline 250 Mg Capsule6.87
ResteclinResteclin 250 Mg Capsule11.3
TetlinTetlin 250 Mg Capsule5.62
TetracylineTetracyline 250 Mg Capsule7.33
TetrastarTetrastar 500 Mg Capsule10.74
OxyteracinOxyteracin 2% Injection20.1
TetracinTetracin 1 Gm Ointment30.0
EcomycinEcomycin 1 Gm Injection194.56
Oxy Dihydrate LaOxy Dihydrate La Infusion180.95
Oxy (Pfizer Ltd)Oxy 500 Mg Capsule99.9
Oxytetracycline AfOxytetracycline Af Tablet22.0
OxytetracylineOxytetracyline Solution67.06
Oxytetracylin LaOxytetracylin La Solution83.48
Oxytetra WockOxytetra Wock 50 Mg Liquid41.81
Oxytetra(Wyeth)Oxytetra Injection19.97
TerramycinTerramycin 250 Mg Capsule8.37
T MT M 250 Mg Capsule8.37
T M SfT M Sf 250 Mg Capsule9.89
DermaspanDermaspan 0.025%/1%/0.1% Cream32.72
AmbistrynAmbistryn 1 Gm Injection10.79
Ambistryn SAmbistryn S 0.75 Gm Injection8.21
StreptomacStreptomac 0.75 Mg Injection8.25
Streptomycin (Hindustan Antibiotic)Streptomycin Injection 0.75 Gm8.17
GenpodGenpod 200 Mg Tablet199.99
LedermycinLedermycin 150 Mg Tablet19.91
AcdermAcderm 0.025%/1%/0.1% Cream36.87
Beclolab CgBeclolab Cg 0.25%/0.1%/1% Cream8.75
Beclotis CgBeclotis Cg 0.025%/1%/0.1% Cream12.5
Biomet CBiomet C 0.025%/1%/0.1% Cream29.25
Biomet CgBiomet Cg 0.025%/1%/0.1% Ointment28.5
Canditas BgnCanditas Bgn 0.1% Cream8.75
Clomax BgClomax Bg 0.25%/0.1%/1% Cream38.5
Decand BgDecand Bg 0.025%/1%/0.1% Cream11.2
Dewderm (Dew Drops Lab)Dewderm Ointment28.75
Fungi BcFungi Bc Drop34.28
Lamonte BLamonte B 0.025%/1%/0.1% Cream23.47
Lamonte BgLamonte Bg 0.025%/1%/0.1% Cream35.16
Lotril BgLotril Bg Cream60.5
Maxiderm RfMaxiderm Rf 0.025%/1%/0.1% Cream20.18
MydermMyderm 0.025%/1%/0.1% Ointment5.93
Refur PlusRefur Plus Cream28.87
SigmadermSigmaderm 0.025%/1%/0.1% Cream55.07
Translipo TripleTranslipo Triple 0.025%/1%/0.1% Cream47.02
ZydermZyderm 0.025%/1%/0.1% Ointment9.53
Betsonir CgBetsonir Cg Cream2.5
Cloz GbCloz Gb 0.5%W/W/0.10%W/W/1%W/W Cream36.0
DiprodermDiproderm 0.025%W/W/0.1%W/W/1%W/W Cream33.65
QtecQtec 0.025%/1%/0.1% Ointment5.93
Qtec PlusQtec Plus Ointment9.0
SuperdermSuperderm 0.25%/0.1%/1% Cream42.35
Adoxy Lb CapsuleAdoxy Lb Capsule59.0
Doxol LbDoxol Lb Tablet47.16
Doxy 1 Ld R ForteDoxy 1 Ld R Forte Capsule71.75
Microdox LbxMicrodox Lbx Capsule63.5
CodoCodo Capsule Xl56.17
Doxt SlDoxt Sl Capsule63.0
Doxy Plus LbDoxy Plus Lb Tablet52.0
DoxytasDoxytas Tablet10.0
Zedox LbZedox Lb Capsule32.62
AtrocinAtrocin 1% W/W/1% W/W Ointment40.75
Beclomethasone 0.025% + Clotrimazole 1% + Gentamycin 0.1% CreamBeclomethasone 0.025% + Clotrimazole 1% + Gentamycin 0.1% Cream10.95
CandidermaCandiderma Cream42.8
Clowin GmClowin Gm Cream9.42
CuticareCuticare Cream55.0
DiproliteDiprolite Cream11.25
Siloderm MixiSiloderm Mixi Cream49.25
Betaderm GBetaderm G Cream112.0
Betagel GBetagel G 0.05%/0.1% Cream11.6
Cortiderm GCortiderm G Cream 0.05%/1%20.31
DipgentaDipgenta 0.5 Mg/1 Mg Cream93.0
Propygenta EPropygenta E Cream80.72
Azonate GAzonate G 0.05% W/W/0.10% W/W Cream37.0
Beacon GBeacon G Ointment50.0
BetagenBetagen Cream32.81
Sternon GSternon G Gel63.0
Betnederm GmBetnederm Gm 0.12%/0.1% Ointment27.06
BgBg 0.064%/0.1% Cream20.16
Exevate GExevate G 0.05%/0.1% Cream38.36
Gencin BGencin B Drops12.6
GentopicGentopic 0.64 Mg/1 Mg Cream11.68
PropygentaPropygenta Cream93.33
Tolnacomb (Surmuont)Tolnacomb Cream32.0
Dipnate GmDipnate Gm Cream38.36
Dipnate GDipnate G Ointment32.31
GarticGartic Ear Drops27.06
GentaleneGentalene 0.05%/0.1% Cream33.1
Genticyn BGenticyn B Eye Drops9.98
Gentosa BGentosa B Eye/Ear Drops15.9
MedidermMediderm Cream8.37
Betnovate GmBetnovate Gm Cream23.35
PropydermPropyderm Cream80.16
Betamil GmBetamil Gm Cream16.4
Garasol DGarasol D 0.3%/0.1% Drops11.5
Gencin D MGencin D M Drops18.0
Gentacip DGentacip D 0.3%/0.1% Drop9.62
Gentajin DGentajin D 0.3%/0.1% Eye Drops7.04
Gentamide DmGentamide Dm 0.3%/0.1% Eye Drops8.2
Gentapen DGentapen D 0.3%/0.1% Eye Drops8.36
Genticare DGenticare D 0.01%/0.3% Eye Drops9.66
GermentadGermentad 0.3%/0.1% Drops7.8
GlycortGlycort 0.3%/0.1% Drops10.0
Gentaglow DGentaglow D 0.3%/0.1% Eye Drops20.0
PyricortPyricort Eye Drop9.39
Cans 3Cans 3 Capsule72.0
DermowenDermowen Cream29.45
ExoticExotic Drops29.75
Provate GcProvate Gc Cream40.0
Quadriderm AfQuadriderm Af 0.64 Mg/10 Mg/1 Mg Ointment43.31
XtradermXtraderm Cream44.18
KezidermKeziderm Cream20.18
Olprovate GcOlprovate Gc Ointment13.83
OmnidermOmniderm Cream37.94
Clobal GClobal G Cream15.2
Clobiderm GzClobiderm Gz Cream35.71
Clopinate GmClopinate Gm Cream55.0
Clovate G PlusClovate G Plus Cream65.0
Colbet GmColbet Gm 0.05%/0.1% Cream44.87
MicrogramMicrogram 0.05%W/W/0.1%W/W Cream28.18
Ocovate GOcovate G 0.05%/0.1% Cream34.92
PowergenPowergen 0.05%/0.1% Cream12.55
PsorvatePsorvate 0.05%W/W/0.1%W/W Ointment95.9
Cataderm GCataderm G Cream9.7
ClobexClobex 10 Mg Tablet73.0
Cvate GCvate G 0.05%/0.1% Cream16.38
Epivate GEpivate G Cream10.0
Kloryl GKloryl G Cream13.83
Plosat GPlosat G Cream24.21
Supravate GSupravate G 0.05%/0.1% Cream19.28
Clopinate GClopinate G Cream52.0
Clovate GClovate G Cream73.0
Colbet GColbet G Cream45.0
Cosvate GCosvate G Cream12.95
Dermotriad PlusDermotriad Plus Cream39.5
Etan GEtan G 0.05% W/W/0.1% W/W Cream17.0
Zincoderm GZincoderm G 0.05% W/W/0.1% W/W Cream11.73
Zincort GZincort G Cream30.5
Clobetamil GClobetamil G Cream15.35
Tenovate GTenovate G Cream20.78
Topisone GTopisone G Cream58.0
Clop MgClop Mg 0.05%/0.1%/2% Cream43.43
Clovate GmClovate Gm Cream50.0
Cosvate GmCosvate Gm Cream17.65
Dermac GmDermac Gm Cream40.0
Etan GmEtan Gm Cream13.55
Globet GmGlobet Gm Globet Gm Ointment Ointment 0.05% W/W/0.1% W/W/2% W/W11.25
Lobate GmLobate Gm Cream54.0
Clobenate GmClobenate Gm Cream11.87
Soltec GmSoltec Gm Cream30.0
Zincoderm GmZincoderm Gm Cream13.54
Obet GObet G 0.05%/0.1% Cream21.15
Sterisone GSterisone G 0.05%/0.1% Cream33.5
Hinate GHinate G Cream36.0
Lozee GLozee G Cream24.0
CortecyclineCortecycline Eye Ointment9.4
TerracortTerracort Eye/Ear Drops29.62
CortigenCortigen Eye Drops53.43
Genticyn HcGenticyn Hc Eye Drop17.93
Diprovate Plus GDiprovate Plus G Cream65.4
Betzee GBetzee G Cream11.6
Dox M OzDox M Oz 100 Mg/500 Mg/50 Mg Tablet85.0
Dox M StDox M St 100 Mg/15 Mg Tablet0.0
DoxysepDoxysep 100 Mg/10 Mg Tablet0.0
Dx 24 SDx 24 S 100 Mg/15 Mg Tablet0.0
Minicycline PlusMinicycline Plus Capsule35.86
Dox M TzDox M Tz 100 Mg/600 Mg Tablet65.0
ImidoxImidox 100 Mg/600 Mg Tablet69.0
TidoTido Tablet55.0
DobactDobact Tablet75.2
Doxypal Dr LDoxypal Dr L Capsule67.75
Ec DoxEc Dox 30 Mg/100 Mg Tablet55.0
Entakon MEntakon M 400 Mg/333 Mg Capsule0.0
EntakonEntakon Tablet0.0
LancetLancet 400 Mg/333 Mg Tablet0.0
MeklinMeklin 400 Mg/333 Mg Capsule0.0
MetroclineMetrocline Capsule32.9
Fluderm GFluderm G 0.025%W/W/0.1%W/W Cream57.0
FlugetFluget 0.025%W/W/0.1%W/W Cream51.0
Fourderm AfFourderm Af Cream100.0
Azonate GcAzonate Gc Cream26.5
B N C (Omega)B N C Burn Care Cream35.86
Gentalene CGentalene C Cream45.0
Rez Q DRez Q D 600 Mg/100 Mg Tablet223.36
TiniclineTinicline 250 Mg/300 Mg Tablet44.0
TricozolTricozol Ear Drop50.5
Zincort G NeoZincort G Neo Cream36.18

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...