myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

हमें अकसर यह सलाह दी जाती है कि बादाम को भिगोकर ही खाएं, विशेष रूप से रात भर भिगोकर अगली सुबह खाने के कई फायदे बताए जाते हैं। एक बार बादाम को भिगोलें तो उनका छिलका आसानी से उतर जाता है, वो मुलायम हो जाते हैं, अच्छे से चबाए जाते हैं और उन्हें खाना आसान हो जाता है। पर बादाम को भिगोकर खाने का यह मुख्य कारण नहीं है।

(और पढ़ें - बादाम खाने के फायदे)

बादाम प्रोटीन, फाइबर, विटामिन ई, कैल्शियम, ज़िंक, फास्फोरस, मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों से परिपूर्ण हैं। सादे बादाम में टैनिन नामक एंज़ाइम होता है जो बादाम में निहित पोषक तत्वों के शरीर में अवशोषण (absorption) को रोकता है। बादाम को रात भार भिगोने से टैनिन दूर होता है और यह पोषक तत्व आसानी से अब शरीर में अवशोषित हो सकते हैं।

सुबह सुबह सबसे पहले भीगे हुए बादाम खाने से पेट से निकला हाइड्रोक्लोरिक एसिड विनियमित (regulate) होता है। इससे एसिडिटी भी ठीक रहती है और पेट में प्रोटीन का पाचन भी पूरे दिन ठीक रहता है। इस प्रकार सीने में जलन और पेट की समस्या के लक्षणों से आपकी रक्षा होती है।

(और पढ़ें - बादाम के तेल के फायदे)

वैसे तो बीना भिगोए बादाम खाने के कोई नुकसान नहीं हैं। पर आप अगर उन्हें रात पर भिगोकर अगली सुबह छिलका उतारकर खाएँगे, तो निश्चित रूप से ज्यादा फायदा होगा। आप इन भीगे हुए बादामों को दूध में मिलाकर स्वादिष्ट बादाम का दूध भी पी सकते हैं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
4067 भारत
226आंध्र प्रदेश
10अंडमान निकोबार
1अरुणाचल प्रदेश
26असम
30बिहार
18चंडीगढ़
9छत्तीसगढ़
503दिल्ली
7गोवा
122गुजरात
84हरियाणा
13हिमाचल प्रदेश
106जम्मू-कश्मीर
3झारखंड
151कर्नाटक
314केरल
14लद्दाख
165मध्य प्रदेश
690महाराष्ट्र
2मणिपुर
1मिजोरम
21ओडिशा
5पुडुचेरी
68पंजाब
253राजस्थान
571तमिलनाडु
321तेलंगाना
26उत्तराखंड
227उत्तर प्रदेश
80पश्चिम बंगाल

मैप देखें