myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

जिंक हमारे शरीर के लिए एक महत्वपूर्ण खनिज है जो हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक है। जस्ता हमारे पूरे शरीर की कोशिकाओं में पाया जाता है। जिंक हमारे शरीर के ठीक से काम करने और इम्युनिटी सिस्टम (immunity system) के लिए बहुत आवश्यक है।

  1. जिंक के स्रोत
  2. जस्ता के फायदे
  3. जिंक की अधिक मात्रा से नुकसान
  4. जस्ता की कमी के लक्षण और नुकसान
  5. जिंक की सही खुराक

जिंक या जस्ता अन्य दूसरे खनिज की तरह हमारे सम्पूर्ण शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। जिंक के प्राकृतिक और अच्छे स्रोत मूंगफली, लहसुन, तिल, मशरुम, फलियां, राजमा, दालें, सोयाबीन, अलसी, बादाम, मटर, गेहूं, अंडे की जर्दी हैं। 

(और पढ़ें - लहसुन खाने का फायदा)

जिंक मानव शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है। यह हमारे शरीर के इम्युनिटी सिस्टम (immunity system) , पाचन, शारीरिक विकास, मधुमेह नियंत्रण, भूख, तनाव का स्तर, प्रजनन, स्वाद और गंध जैसे कई कार्यों के लिए महत्वपूर्ण है। हमारे शरीर में जिंक स्वाद और गंध की भावना को बनाए रखने में मदद करता है। यह घाव भरने में मदद करता है। यह मुँहासे, फोड़े जैसी समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। जिंक एक एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) के रूप में कार्य करता है। हमारे शरीर के सही विकास के लिए जिंक बहुत जरूरी है। जिंक नेत्र रोग, कान में झनझनाहट, अल्जाइमर रोग, कमजोर हड्डियों (ऑस्टियोपोरोसिस), गठियाअस्थमाएक्जिमा, और मुँहासे के उपचार में भी लाभदायक है। 

(और पढ़ें – एक्जिमा के घरेलू उपचार)

जैसे जिंक की कमी हमारे शरीर के लिए अनेकों समस्याएं लाती हैं वेसे ही जस्ता की अधिक मात्रा मानव शरीर के लिए बहुत हानिकारक है। इसकी अधिक मात्रा पेट दर्द, मतली, मुंह में जलन आदि समस्याओं को जन्म देती है।

जिंक की कमी शरीर की इम्युनिटी को कम कर देती है। जिस कारण निमोनियाखांसी, जुखाम, सांस सम्बन्धी समस्या, आँख के रोग, बालों का झड़ना, भूख न लगना, स्वाद नहीं मिलने की समस्या, त्वचा पर घाव, अंधेरे में देखने में दिक्कत, घावों को ठीक होने में ज्यादा समय लगना, शारीरिक विकास का धीमा हो जाना तथा अन्य संक्रमणों होने की संभावना बढ़ जाती है। 

(और पढ़ें – निमोनिया का घरेलू इलाज)

अनुशंसित आहार भत्ता (Recommended Daily Allowances) के अनुसार जिंक की मात्रा जन्म से 6 महीने के उम्र के शिशु को 2 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए। 9 से 13 साल के बच्चे को 8 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए। 14 से 18 साल के पुरुष को 11 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए। 14 से 18 साल की महिला को 9 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए। 19 से 50 साल के पुरुष को 11 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए। 19 से 50 साल की महिला को 8 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए। गर्भवती महिला को 11 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए और स्तनपान कराने वाली महिला को 12 मिली ग्राम के करीब लेनी चाहिए।

और पढ़ें ...

References

  1. Nistor N., Ciontu L., Frasinariu O.E., Lupu V.V., Ignat A. and Streanga V.. Acrodermatitis enteropathica: A case report. Medicine, May 2016; 95(20): e3553. PMID: 27196457.
  2. Black M.M. Zinc deficiency and child development. The American Journal of Clinical Nutrition, 1998; 68(2 Suppl): 464S–469S. PMID: 9701161.
  3. Gupta M., Mahajan V.K., Mehta K.S. and Chauhan P.S. Zinc therapy in dermatology: a review. Dermatology research and practice, 10 July 2014; 709152. PMID: 25120566.
  4. Rondanelli M., Miccono A., Lamburghini S., Avanzato I., Riva A., Allegrini P., Faliva M.A., Peroni G., Nichetti M. and Perna S. Self-care for common colds: The pivotal role of vitamin D, vitamin C, zinc, and echinacea in three main immune interactive clusters (physical barriers, innate and adaptive immunity) involved during an episode of common colds-practical advice on dosages an. Evidence-based Complementary and Alternative Medicine, eCAM, 2018: 5813095.
  5. Haase H. and Rink L. Zinc signals and immune function. Biofactors, January-February 2014; 40(1): 27-40. PMID: 23804522.
  6. Smith M.R., DeFries R., Chhatre A., Ghosh-Jerath S., Myers S.S. Inadequate zinc intake in India: past, present, and future. Food and Nutrition Bulletin. March 2019; 40(1): 26-40. PMID: 30974983.
  7. Sharma U., Yadav N. Prevalence and risk factors of anemia and zinc deficiency among 4–6-year-old children of Allahabad District, Uttar Pradesh. Indian Journal of Public Health [serial online] 2019 [cited 2020 Jun 29]; 63:79-82.
  8. Akhtar S. Zinc status in South Asian populations—an update. Journal of Health, Population, and Nutrition, 2013; 31(2): 139–149.
  9. Gibson R.S., Raboy V. and King J.C. Implications of phytate in plant-based foods for iron and zinc bioavailability, setting dietary requirements, and formulating programs and policies. Nutrition Reviews, 2018; 76(11): 793-804.
  10. Caulfield L.E. and Black R.E. Zinc deficiency. In "Comparative Quantification of Health Risks. Global and Regional Burden of Disease Attribution to Selected Major Risk Factors." edited by Majid Ezzati, et al.
  11. Gibson R.S. A historical review of progress in the assessment of dietary zinc intake as an indicator of population zinc status. Advances in nutrition (Bethesda, Md.), 2012; 3(6): 772–782. PMID: 23153731.
  12. Prasad A.S. Discovery of human zinc deficiency: Its impact on human health and disease. Advances in Nutrition, March 2013; 4(2): 176–190.
  13. Anzilotti C., Swan D.J. and Boisson B. et al. An essential role for the Zn2+ transporter ZIP7 in B cell development. Nature Immunology, 4 February 2019; 20: 350–361.
  14. Radcliffe Department of Medicine, University of Oxford, UK [Internet]. A new role for Zinc in immune function, February 2019.
  15. Prasad, Ananda S. Zinc in human health: effect of zinc on immune cells. Molecular Medicine (Cambridge, Mass.), 3 April 2008; 14(5-6): 353-7. PMID: 18385818.
  16. Larson C.P., Roy S.K., Khan A.I., Rahman A.S., Qadri F. Zinc treatment to under-five children: applications to improve child survival and reduce burden of disease. Journal of Health, Population and Nutrition, September 2008; 26(3): 356-365. PMID: 18831230
  17. Yamaguchi M. Role of nutritional zinc in the prevention of osteoporosis. Molecular and Cellular Biochemistry, 2010; 338(1-2): 241-254. PMID: 20035439
  18. McCall K.A., Huang C. and Fierke C.A. Function and mechanism of zinc metalloenzymes. The Journal of Nutrition, May 2000; 130(5): 1437S–1446S.
  19. Cai T., Verze P., Massenio P., Tiscione D., Malossini G., Cormio L. ... Mirone V. Rhodiola rosea, folic acid, zinc and biotin (EndEP®) is able to improve ejaculatory control in patients affected by lifelong premature ejaculation: Results from a phase I‑II study. Experimental and Therapeutic Medicine, 2016; 12, 2083-2087.
  20. USDA/Agricultural Research Service. Adequate zinc eases pneumonia in elderly, study finds. ScienceDaily. ScienceDaily, 10 August 2010.
  21. Hsieh H., Vignesh K.S., Deepe G.S. Jr, Choubey D., Shertzer H.G., Genter M.B. Mechanistic studies of the toxicity of zinc gluconate in the olfactory neuronal cell line Odora. Toxicology In Vitro, 2016; 35: 24-30. PMID: 27179668.
ऐप पर पढ़ें