myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

शिमला मिर्च का नाम तो आप सबने सुना ही होगा। शिमला मिर्च पौष्टिक सब्जियों में से एक है। यह खाने में बेहद स्वादिष्ट लगती है। इसलिए इसका प्रयोग कई व्यंजनों में किया जाता है। इसे सलाद, सब्जी, चाइनीस फास्ट फूड आदि आहारों में उपयोग किया जाता है। यह तीन रंगों में हमें देखने को मिलती है जैसे लाल, पीली और हरी।

(और पढ़ें - वजन घटाने के लिए व्यायाम)

 हरी, लाल, पीली तीनों शिमला मिर्च ही सेहत के लिहाज से लाभदायक होती हैं। तीनों में ही विटामिन ए, विटामिन सी और बीटा कैरोटीन (beta carotene) की भरपूर मात्रा होती है। इस सब्जी में बिल्कुल भी कैलोरी नही होती इसलिए वजन घटाने की चाहत रखने वालों के लिए यह सब्जी बहुत ही फायदेमंद है।

(और पढ़ें - वजन घटाने के लिए योग)

शिमला मिर्च कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों जैसे विटामिन सी, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। इसमें पर्याप्त मात्रा में मिनरल्स भी मौजूद होती है। इसलिए आज से ही शिमला मिर्च अपने आहार में शामिल कर लीजिए। आइए बताते हैं आपको शिमला मिर्च के फायदों के बारे में -

  1. शिमला मिर्च के फायदे पाचन तंत्र दुरुस्त करें
  2. शिमला मिर्च खाने के फायदे कैंसर के लिए
  3. शिमला मिर्च के गुण वजन कम करे
  4. शिमला मिर्च के फायदे मधुमेह के लिए
  5. शिमला मिर्च के लाभ हृदय के लिए
  6. शिमला मिर्च के लाभ त्वचा के लिए
  7. बालों के लिए शिमला मिर्च फायदे
  8. शिमला मिर्च के फायदे अल्सर में
  9. दर्द निवारक है शिमला मिर्च के गुण
  10. शिमला मिर्च के अन्य गुण

हमारे शरीर की अधिकतर समस्याएं हमारे पाचन तंत्र से जुड़ी होती है। यदि खाने का पाचन ठीक से नहीं होता है तो दस्त, कमज़ोरी आदि परेशानियां होने लगती हैं। इसलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पाचन तंत्र का स्वस्थ रहना बहुत ज़रूरी है। शिमला मिर्च में पाचन से संबंधित समस्याओं को दूर करने के कई गुण होते हैं। इसका सेवन करने से पाचन क्रिया सुचारू रूप से कार्य करने लगती है जिससे पेट में दर्द रहना, गैस, कब्ज आदि से निजाद मिलती है। इसके अतिरिक्त इसको खाने से पेट में होने वाले छाले भी दूर हो जाते हैं।

(और पढ़ें -लिवर को साफ और स्वस्थ रखने के आहार)

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। शरीर में किसी तरह की साधारण गाँठ से भी कैंसर होने का ख़तरा बना रहता है। माना जाता है कि शिमला मिर्च में कैंसर से बचाव करने के गुण होते हैं। इसका सेवन हमारे शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को विकसित नही होने देता है। इसलिए हर रोज किसी ना किसी रूप में शिमला मिर्च का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

यदि कोई अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं तो बिना कुछ सोचे शिमला मिर्च को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। इसमें कैलोरी की मात्रा ना के बराबर होती है। इसलिए इसे खाने से वजन कम होता है। साथ ही इससे मेटाबोलिज्म भी सुधरता है। शिमला मिर्च का सेवन करने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है। यह हमारे शरीर से सारे विषैले पदार्थो को बाहर निकाल देती है और हमारे शरीर से चर्बी कम होने लगती है।

(और पढ़ें - वजन घटाने के आसान तरीके)

हम अपने आसपास देखें तो हमें हर चौथा इंसान मधुमेह से ग्रस्त मिलता है। मधुमेह आज के समय में एक आम बीमारी बन गई है। पर शिमला मिर्च का रोजाना सेवन करने से मधुमेह से राहत मिलती है। शिमला मिर्च के सेवन से हमारे शरीर में शर्करा का स्तर सही रहता है। 

(और पढ़ें - मधुमेह रोगियों के लिए रागी से बनें व्यंजन)

शिमला मिर्च में हमारे दिल की सेहत को अच्छा रखने वाले कई गुण होते हैं। शिमला मिर्च में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत कम होती हैं इसलिए इसका सेवन करने से हृदय की धमनियां कभी भी बंद नहीं होती है और हमारा हृदय स्वस्थ रहता है।

शिमला मिर्च में विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है। इसलिए इसका सेवन हमारे त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। शिमला मिर्च के उपयोग से त्वचा में कसाव आता है। यदि हम लाल शिमला मिर्च की बात करें तो इसमें बीटा कैरोटीन होता है। यह शरीर में प्रवेश कर विटामिन ए में परिवर्तित हो जाता है। झुर्रियों के विकास को रोकने और रंग को साफ करने में लाल शिमला मिर्च का सेवन बहुत ही लाभदायक है।

लाल शिमला मिर्च में विटामिन ब6 का अच्छा स्रोत पाया जाता है। लाल शिमला मिर्च के सेवन से बालों कि झड़ने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। यह हमारें बालों के रोम में ऑक्सिजन की भरपूर मात्रा पहुंचाता है और साथ-साथ बालों की जड़ में रक्त का संचार सुधारता है। इससे बालों का विकास होता है और बाल झड़ना बंद हो जाते हैं। यह बालों को सफेद होने से भी रोकता है।

लाल शिमला मिर्च आंतों में होने वाली सिकुड़न को कम करता है। इसलिए यह अल्सर के इलाज में फायदेमंद है। साथ ही यह गैस की समस्याओं को दूर करने में भी सहायक है। शिमला मिर्च में भरपूर मात्रा में विटामिन ए, सी और एंटीऑक्सीडेंट होता है। शिमला मिर्च के उपयोग से दिल से जुड़ी बीमारियों और मोतियाबिंद से बचाव होता है। 

(और पढ़ें – पेट में गैस के घरेलू उपचार)

शिमला मिर्च में दर्द निवारक तत्व पाए जाते हैं। यह दर्द को त्वचा से मेरुदण्ड (spinal cord) तक जाने से रोकता है। इसलिए नसों के दर्द के इलाज में यह सहायक है। इसके अतिरिक्त गठिया की समस्या से भी राहत देता है।

इसमें विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। इसलिए यह श्वेत रक्त कोशिकाओं को संक्रमण से बचाता है। इससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। शिमला मिर्च का सेवन सांस से संबंधित समस्याओं जैसे फेफड़े का इन्फेक्शन और अस्थमा से बचाव करता है। यह शरीर में समाए हाई बीपी (triglycerides) के लेवेल को कम करता है। इससे कैलोरी को ख़त्म करने में मदद मिलती है। लाल शिमला मिर्च में कैप्साइसिन मौजूद होता है। यह रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करता है। इसलिए हीपैरटेंशन(hipertension) के मरीज़ो को इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए। कमजोर आँखो वालों के लिए भी शिमला मिर्च बहुत उपयोगी है। इसमें मौजूद विटामिन ए आँखो के लिए उपयोगी होता है। वहीं इसमें मौजूद अन्य यौगिक उम्र से संबधित आँखो की समस्याओं के ख़तरे को कम करने में मदद करते हैं। विटामिन सी से भरपूर होने की वजह से यह संक्रामक रोगों

और पढ़ें ...