कुछ लोगों में छोटी हाइट की समस्या देखी जाती है. छोटा कद उसका माना जाता है, जो समान उम्र और लिंग के लोगों की तुलना में छोटा होता है. कुछ बच्चों की हाइट समय के साथ धीरे-धीरे बढ़ने लगती है, तो कुछ कम हाइट के ही रह जाते हैं. आनुवंशिक कारण, अनहेल्दी डाइट, ग्रोथ हार्मोन का विकसित न होना या फिर किसी बीमारी के कारण हाइट बढ़ने में दिक्कत आ सकती है. इस स्थिति में डॉक्टर की सलाह पर कुछ स्थितियों में हाइट बढ़ाने वाली सोमाट्रेम व मैकिमोरेलिन जैसी दवाएं लेना उचित हो सकता है.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि किन दवाओं के सेवन से हाइट बढ़ सकती है -

(और पढ़ें - कद बढ़ाने के आसान उपाय)

  1. हाइट बढ़ाने में फायदेमंद दवाएं
  2. सारांश
हाइट बढ़ाने की दवा के डॉक्टर

शारीरिक विकास के लिए ग्रोथ हार्मोन सबसे जरूरी होती है. जब शरीर में ग्रोथ हार्मोन की कमी होती है, तो हाइट बढ़ने में मुश्किल आती है और कद छोटा रह जाता है. ऐसे में हाइट बढ़ाने के लिए डॉक्टर निम्न प्रकार की दवाएं दे सकते हैं -

सोमाट्रेम - Somatrem

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नाेलॉजी इंफॉर्मेशन) की साइट पर इस दवा के संबंध में एक रिसर्च उपलब्ध है. इस रिसर्च से पता चलता है कि हाइट बढ़ाने के लिए सोमाट्रेम दवा उपयोगी साबित हो सकती है. यह अध्ययन उन 5 बच्चों पर किया गया था, जो क्रोनिक किडनी फेलियर से पीड़ित हैं और उनकी हाइट नहीं बढ़ रही है. इन बच्चों की उम्र 35 से 91 महीने के बीच थी.

इन बच्चों को 6 महीने तक साप्ताहिक रूप से 3 बार सोमाट्रेम दवा दी गई. सोमाट्रेम से इलाज लेने के बाद बच्चों की लंबाई में वृद्धि देखने को मिली. इस दवा को देने के दौरान बच्चों के ग्लूकोज टोलेरेंस पर भी नजर रखी गई. सोमाट्रेम दवा से बच्चों में किसी तरह के साइड इफेक्ट नजर नहीं आए. इस रिसर्च के आधार पर कहा जा सकता है कि सोमाट्रेम उन बच्चों पर असरदार हो सकती है, जिनकी लंबाई सामान्य दर से नहीं बढ़ रही है.

(और पढ़ें - हाइट बढ़ाने के लिए क्या खाएं)

मैकिमोरेलिन - Macimorelin

कम हाइट वाले बच्चों के लिए मैकिमोरेलिन दवा भी असरदार साबित हो सकती है. यह दवा शरीर में ग्रोथ हार्मोन (जीएच) को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है. इससे लंबाई बढ़ने में मदद मिल सकती है. फिलहाल, इस दवा का प्रयोग ग्रोथ हार्मोन डेफिसिएंशी से ग्रस्त वयस्क रोगियों पर किया गया है, जिसमें अच्छे परिणाम देखने को मिले हैं. बच्चों पर अभी किसी तरह का परीक्षण नहीं किया गया है. मैकिमोरेलिन लेने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए, साथ ही दवा लेबल पर दिए गए सभी निर्देशों का पालन करना भी जरूरी है.

सर्मोरेलिन एसीटेट - Sermorelin Acetate

सर्मोरेलिन का उपयोग ग्रोथ हार्मोन की कमी का इलाज करने के लिए किया जा सकता है. रिसर्च से पता चलता है कि 12 महीने तक सर्मोरेलिन से उपचार के दौरान बच्चों की लंबाई में वृद्धि देखने को मिली. कुछ बच्चों में 36 महीने के लगातार इलाज के बाद यह प्रभाव देखने को मिला. सर्मोरेलिन ने वृद्धि हार्मोन की कमी वाले अधिकतर बच्चों की लंबाई बढ़ाने में मदद की.

(और पढ़ें - 25 वर्ष की आयु के बाद भी बढ़ सकती है हाइट)

सोमाट्रोपिन - Somatropin

सोमाट्रोपिन ऐसी दवाई है, जो बच्चों या वयस्कों की हाइट को 4 इंच या 10 सेंटीमीटर तक बढ़ाने में मदद कर सकता है. जिन बच्चों में ग्रोथ हार्मोन की कमी होती है या जो लोग जीवन की खराब गुणवत्ता का अनुभव कर रहे हैं, उनके लिए सोमाट्रोपिन फायदेमंद हो सकता है. इसे इंजेक्शन के जरिए दिया जाता है. सोमाट्रोपिन लेने के बाद सिरदर्दमांसपेशियों में दर्दएडिमाआंखों से जुड़ी समस्याएंजोड़ों में दर्दउल्टी और मतली जैसे साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं. इसलिए, डॉक्टर की सलाह के बिना इस दवा को नहीं लेना चाहिए.

कम हाइट वाले सभी बच्चे सामान्य जीवन जीने की चाहत रखते हैं. अगर बचपन में किसी बच्चे की हाइट औसतन कम है, तो इनमें 90 प्रतिशत बच्चे वयस्क होने तक सामान्य हाइट में आ जाते हैं, लेकिन 10 फीसदी बच्चों की हाइट छोटी ही रह जाती है. इसलिए बच्चों की हाइट व वजन को समय-समय पर नोट करते रहना चाहिए, ताकि किसी भी समय संशय होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह ली जा सके. साथ ही इस लेख में बताई गई दवा बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेनी चाहिए.

(और पढ़ें - बच्चों की लम्बाई बढ़ाने के उपाय)

अस्वीकरण: ये लेख केवल जानकारी के लिए है. myUpchar किसी भी विशिष्ट दवा या इलाज की सलाह नहीं देता है. उचित इलाज के लिए डॉक्टर से संपर्क करें.

Dr. Abhishek Ranga

Dr. Abhishek Ranga

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Manish Jain

Dr. Manish Jain

सामान्य चिकित्सा
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Navneet Chattha

Dr. Navneet Chattha

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr Srija V Raman

Dr Srija V Raman

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ