myUpchar प्लस+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ये तो आप सभी जानते हैं कि ज़्यादातर लोग वजन कम करने के पीछे कितने पागल हैं लेकिन कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्हे अपने वजन को बढ़ाने की चिंता लगी रहती है। वो ज़्यादा से ज़्यादा खाते हैं और दिन भर बैठे रहते हैं पर फिर भी उनका वजन वही के वही रहता है। लेकिन चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, भरपूर खाने के साथ साथ आप मोटा होने के लिए योगासन भी कर सकते हैं। योग सच में एक बेहतरीन वर्कआउट है जो लगभग स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का इलाज करने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - वजन बढ़ाने के तरीके)

तो आइये आपको बताते हैं ऐसे लाभकारी योगासन जो आपको मोटा करने में मदद करेंगे। लेकिन उससे पहले आपको बताते हैं वजन बढ़ाने के लिए योग कैसे करता है मदद –

  1. वजन बढ़ाने के लिए योग कैसे करता है मदद - How Does Yoga Help You Gain Weight in Hindi
  2. मोटा होने के लिए भुजंगासन - Bhujangasana for weight gain in Hindi
  3. वजन बढ़ाने के लिए करें वज्रासन - Vajrasana for weight gain in Hindi
  4. वजन बढ़ाने में पवनमुक्तासन करे मदद - Pawanmuktasana helps gain weight in Hindi
  5. मोटा होने के लिए मत्स्यासन - Matsyasana benefits for weight gain in Hindi
  6. मोटा होने में करता है मदद सर्वांगासन - Sarvangasana yoga for weight gain in Hindi
  7. वजन बढ़ाने में शवासन है फायदेमंद - Savasana pose helps gain weight in Hindi
  8. शरीर का वजन बढ़ाने है तो करें धनुरासन - Dhanurasana for weight gain in Hindi
  9. चक्रासन से बढ़ता है शरीर का वजन - Chakrasana for weight gain in Hindi

योग बेकार मेटाबोलिज्म, तनाव, भूख न लगने वाली समस्या और पाचन क्रिया की समस्याओं को ठीक करता है। ये वजन को स्थिर करता है और आपके शरीर को स्वस्थ रखता है। योग ऑक्सीजन और रक्त के परिसंचरण को बढ़ाता है और इस तरह पोषक तत्वों के अवशोषण को सुधारने में मदद मिलती है। ये मांसपेशियों को मजबूती देता है और आपके शरीर को हष्ट-पुष्ट और लचीला भी बनाता है। योग से आपका स्टैमिना सुधरता है।

योग खासकर आपके मेटाबोलिज्म को सुचारु रूप से चलाने में मदद करता है। इसके साथ ही अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो इसमें भी ये आसन आपकी मदद करेंगे। इन आसनों को दोनों के लिए फायदेमंद माना जाता है। लेकिन ध्यान रहे वजन बढ़ाने के लिए किसी अच्छे योग ट्रेनर की मदद ज़रूर लें जो आपको योगासन करने की सही सलाह दे सके। इसके अलावा इन योगासनों के साथ साथ भरपूर पोषण वाले आहार भी लें।

(और पढ़ें - मोटा होने के लिए क्या खाना चाहिए)

भुजंगासन करने के फायदे –

भुजंगासन पाचन क्रिया पर काम करता है, जिसके चलते भूख न लगने वाली समस्या सुधरती हैं और मेटाबोलिज्म अच्छे से कार्य करने लगता है। इस आसन से प्रजनन प्रणाली (reproductive system) भी उत्तेजित होने लगती है। इसके अलावा भुजंगासन करने से ह्रदय स्वस्थ होने लगता है जिसकी मदद से सांस लेने की प्रक्रिया धीरे धीरे ठीक होने लगती है। इससे रक्त परिसंचरण ठीक होता है और पोषक तत्वों का भी अवशोषण होने लगता है। 

(और पढ़ें - भुजंगासन करने के लाभ

भुजंगासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले पेट के बल लेट जाएँ और अपने पैरों को सीधा कर लें।
  2. पैरों के पंजों को ज़मीन पर लगाकर रखें।
  3. अपनी कोहनियों को शरीर के साइड में रखें।
  4. फिर अपनी छाती को उठायें, शरीर के वजन को कोहनी पर डालें।
  5. फिर गहरी सांस लें और ज़ोर से सांस को छोड़ें। 
  6. इस अवस्था को पांच मिनट तक बनाये रखें।

(और पढ़ें - मोटा होने के लिए डाइट चार्ट)

वज्रासन करने के फायदे –

एक सिर्फ ये आसन ऐसा है जिसे आप खाने के बाद भी कर सकते हैं। ये पाचन क्रिया पर काम करता है और मेटाबोलिज्म को ठीक रखता है जिससे आपका वजन बढ़ने में मदद मिलती है। ये आसन मस्तिष्क को शांत रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें - वज्रासन करने के लाभ और विधि)

वज्रासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले बैठ जाएँ।
  2. अब अपने दोनों हाथों को जाँघों पर रखें।
  3. नज़र सीधी रखें।
  4. कमर को भी एकदम सीधा रखें।
  5. अब सामने की तरफ ध्यान लगाकर सांस लेते रहें।

(और पढ़ें - बाइसेप्स कैसे बनाये)

पवनमुक्तासन करने के फायदे –

ये आसन पाचन क्रिया पर काम करता है, जिसके चलते पाचन क्रिया उत्तेजित हो जाती है और सुचारु रूप से कार्य करने लगती है। ये मेटाबोलिज्म को शांत करता है और शरीर में पोषण को अवशोषित करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - पवनमुक्तासन करने की विधि)

पवनमुक्तासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले कमर के बल लेट जाएँ।
  2. अब घुटनों को मोड़ें और उन्हें छाती के पास लेकर आएं।
  3. फिर उन्हें अपने दोनों हाथों से पकड़ लें।
  4. फिर सिर को थोड़ा ऊपर उठायें और अपनी नाक को घुटनों के बीच लेकर जाएँ।
  5. कुछ सेकेण्ड के लिए इस अवस्था में बने रहें।
  6. इस आसन को करते समय गहरी सांस लें और छोड़ते रहें।

(और पढ़ें - वजन बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज)

मत्स्यासन करने के फायदे –

मत्स्यासन मोटा होने के लिए बहुत ही बेहतरीन आसन है। ये शरीर की कई प्रणालियों पर काम करता है जैसे थाइरोइड ग्लैंड। ये बढे हुए थाइरोइड ग्लैंड को नियंत्रित करता है, जिसके कारण वजन बढ़ सकता है। ये पाचन क्रिया को मजबूत करता है और ह्रदय को स्वस्थ रखता है। मेटाबोलिज्म और पोषण का अवशोषण सुधरता है और वजन घटने जैसी समस्या का इलाज होता है।

(और पढ़ें - मत्स्यासन करने के लाभ)

मत्स्यासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले कमर के बल लेट जाएँ और अपने पैरों को पदमासन की अवस्था में ले आएं।
  2. अब धीरे धीरे अपनी कमर को मोड़ें और सिर को ज़मीन पर टिका दें। इसमें आपकी कमर ज़मीन से नहीं लगनी चाहिए।
  3. इस अवस्था को कुछ सेकेण्ड के लिए बनाये रखें और फिर पुरानी अवस्था में वापस आ जाएँ।

(और पढ़ें - बॉडी बनाने के लिए क्या खाना चाहिए)

सर्वांगासन करने के फायदे –

इस आसन से आपके शरीर में रक्त और ऑक्सिजन के परिसंचरण को सुधारने में मदद मिलती है। इस आसन में आप उलटे होते हैं और इसलिए इसकी मदद से रक्त उन जगहों पर आसानी से पहुँच जाता है जहां आम तौर से सही ढंग से नहीं पहुंच पाता। इससे शरीर में ऊर्जा के प्रवाह को रोकने वाली बाधाएं हट जाती हैं और शरीर ऊर्जा से भर जाता है। इससे आपको वजन बढाने में मदद मिलती है। 

(और पढ़ें - सर्वांगासन करने की विधि)

सर्वांगासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले शवासन में लेट जाएँ।
  2. अब हाथों को कूल्हों पर लगाएं और धीरे धीरे पैरों को ऊपर उठायें।
  3. आपकी ठोड़ी छाती से लगनी चाहिए, यहां तक अपने शरीर को लेकर आएं।
  4. इस अवस्था में कुछ देर ऐसे ही बने रहे और फिर पुरानी अवस्था में धीरे धीरे वापस आ जाएँ।

(और पढ़ें - बॉडी बनाने के तरीके)

शवासन करने के फायदे –

ये आसन पूरी तरह से शरीर को आराम देता है। इस समय में आपके शरीर में मौजूद पोषण का अवशोषण और ज़्यादा बढ़ा जाता है। इस आसन में पूरे शरीर पर प्रभाव पड़ता है।

(और पढ़ें - शवासन करने की विधि और लाभ)

शवासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले अपने कमर के बल लेट जाएँ।
  2. फिर अपने हाथों को शरीर के साइड में रख दें।
  3. नज़र ऊपर की तरफ रखें।
  4. शरीर को एकदम ढीला छोड़ दें।
  5. फिर आँखे बंद कर लें और ध्यान लगाने की कोशिश करें।

(और पढ़ें - चेस्ट बढ़ाने की एक्सरसाइज)

धनुरासन करने के फायदे –

धनुरासन आपके थाइरोइड ग्लैंड की मसाज करता है, पाचन क्रिया को सुधारता है और भूख बढ़ाता है। इस आसन से रक्त परिसंचरण को सुधारने में मदद मिलती है और पेट से संबंधित समस्याएँ कम होती है। ये तनाव को दूर करता है और कमर की मांसपेशियों को स्ट्रेच करता है।  

(और पढ़ें - धनुरासन करने की विधि)

धनुरासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले पेट के बल लेट जाएँ।
  2. अपने पैरों को ऊपर लेकर जाएँ और कमर की ओर मोड़ लें।
  3. अब कंधे को ऊपर उठायें और पीछे की तरफ मोड़ें और अपने दोनों हाथों से पैर के टखनों को पकड़ लें।
  4. नज़र सामने रखें।
  5. इस अवस्था को 15 से 30 सेकेण्ड के लिए बनाये रखें।

चक्रासन करने के फायदे –

चक्रासन आपके होर्मोनेस को संतुलित करता है और हिप्स को लचीला बनाता है। ये पोज़ आपके शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने में मदद करता है जिससे शरीर की सभी प्रक्रियाओं को सही ढंग से चलने में मदद मिलती है। इस आसन को करने से आपका रक्त शुद्ध होता है और मेटाबोलिज्म भी ठीक हो जाता है।

(और पढ़ें - चक्रासन करने का लाभ)

चक्रासन कैसे करें –

  1. सबसे पहले कमर के बल लेट जाएँ।
  2. अब अपने पैरों को मोड़ें और दोनों हाथों को पीछे की तरफ, सिर के पास रख लें।
  3. फिर शरीर को ज़मीन से ऊपर उठायें।
  4. अपनी क्षमता के अनुसार शरीर को उठाकर रखें।
  5. एक से पांच मिनट तक अवस्था में बने रहें।
  6. फिर पुरानी अवस्था में वापस आ जाएँ।

वजन बढ़ाने लिए योगासन सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...