myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ज्यादातर लोग धूप में निकलने से पहले सनस्क्रीन लगाते हैं। जाहिर है हर कोई अपनी स्किन को मुलायम और दमकती हुई बनाना चाहता है। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादातर लोग सनस्क्रीन के इस्तेमाल के दौरान कुछ गलतियों को दोहराते हैं। परिणामस्वरूप सनस्क्रीन लगाने के बावजूद इसका पूरा फायदा आपको नहीं मिलता। दरअसल ज्यादातर लोग त्वचा में नमी बनाए रखने के महत्व से अनजान हैं। जबकि त्वचा में नमी की कमी की वजह से त्वचा में जलन और रूखी त्वचा की समस्या हो सकती है। अतः सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हुए जो गलतियां आप करते हैं, उन्हें करने से बचें। अगर आप उन गलतियों के बारे में नहीं जानते हैं, तो हम बताते हैं।

(और पढ़ें - एक अच्छी सनस्क्रीन कैसे चुनें)

स्किन टाइप अनुसार सनस्क्रीन न चुनना
आपकी त्वचा के लिए वही सनस्क्रीन सही है, तो त्वचा को सूट करे। जबकि ज्यादातर लोग बिना स्किन टेस्ट किए ब्रांडेड सनस्क्रीन ले आते हैं। नतीजतन उन्हें इसका भरपूर लाभ नहीं मिलता। विशेषज्ञों के अनुसार मार्केट में सनस्क्रीन के उत्पादों की भरमार है। आप इनमें से अपनी त्वचा के अनुरूप बेहतरीन विकल्प चुनें। स्किन टेस्ट करें करने के लिए सबसे पहले सुसक्रीन को अपने हाथ पर थोड़ी सी जगह लगाए और गौर करें की कहीं त्वचा पर लाल चकत्ते तो नजर नहीं आ रहे। अगर नजर आये तो ऐसे सनस्क्रीन को न चुनें। 

( और पढ़ें - त्वचा पर चकत्ते का कारण)

सनस्क्रीन सही तरह से न लगाना
सनस्क्रीन लगाने के दौरान जो दूसरी सबसे बड़ी गलती आप करते हैं, वह है सही तरह से सनस्क्रीन न लगाना। ज्यादातर लोग सनस्क्रीन लागने के बाद बहुत ज्यादा मात्रा में क्रीम लेते हैं और आंखों के नीचे काफी मात्रा में लगा लेते हैं। इससे कई बार आंखों में जलन और खुजली की समस्या पैदा हो जाती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए ऐसा सनस्क्रीन खरीदें जिसमें टाइटेनियम डाईऑक्साइड और जिंक ऑक्साइड मौजूद हों। ये रासायनिक युक्त सनस्क्रीन से ज्यादा प्रभावी होते हैं और आँखों में जलन की समस्या भी पैदा नहीं करते।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल के घरेलू उपाय)

चेहरे को बहुत तेज रगड़ना
सनस्क्रीन लगाने के बाद चेहरे को आराम से और हल्के हाथों से मसाज करनी चाहिए। विशेषज्ञों के अनुसार चेहरे की मसाज करने से रक्त प्रवाह बेहतर होता है, जिससे त्वचा क्रीम को आसानी से सोख लेता है। जबकि त्वचा जोर हाथों से रगड़ने की वजह से त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। दरअसल तेज हाथों से त्वचा रगड़ने की वजह से त्वचा की कार्यप्रणाली में बाधा आती है और त्वचा में जलन भी हो सकती है। परिणामस्वरूप माइक्रोऑर्गैनिस्म जैसे बैक्टीरिया और फंगस से आपको संक्रमण हो सकता है। अतः सनस्क्रीन को चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करते हुए लगाएं।

(और पढ़ें - चेहरे की मसाज कैसे करते हैं)

कान, होंठ पर नहीं लगाते सनस्क्रीन
ज्यादातर लोग अपने हाथ, पैर, पीठ और शरीर के दिख रहे सभी हिस्सों में अच्छी तरह सनस्क्रीन लगाते हैं। लेकिन कान, होंठ गर्दन, हथेली का पिछला हिस्सा और पैर के पंजों के ऊपर का हिस्सा छोड़ देते हैं। जबकि स्क्वैमस सेल कैंसर (त्वचा की बाहरी परत पर धीरे-धीरे फैलने वाला कैंसर) ज्यादातर सूरज के संपर्क में आने की वजह से शरीर के इन्हीं अंगों को प्रभावित करता है। अतः एसपीएफ युक्त सनस्क्रीन ही खरीदें।

(और पढ़ें - सनबर्न से छुटकारे के लिए घरेलु उपाय)

एसपीएफ क्रीम आपको त्वचा संबंधी समस्याओं से बचाए रख सकती है। लेकिन इसे अप्लाई करते वक्त जो गलतियां आप कर रहे हैं, उसे सुधारना आवश्यक है। तभी इसका भरपूर लाभ उठा सकते हैं।

और पढ़ें ...