myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सिरदर्द होने की मोटी-मोटी वजह से हर कोई वाकिफ है जैसे तनाव, माइग्रेन, साइनस, देर रात तक काम करना, लगातार कंप्यूटर पर काम करना आदि। हर तरह के सिरदर्द के अपने लक्षण और कारण होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि एलर्जी की वजह से भी सिरदर्द हो सकता है? हालांकि ऐसा कम मामलों में देखने को मिलता है। इसके बावजूद एलर्जी से हो रहे सिरदर्द को हल्के में लेना सही नहीं है। इसके कारण और उपचार जानना जरूरी है।

(और पढ़ें - एलर्जी के घरेलू उपाय)

क्यों होता है एलर्जी से सिरदर्द

विशेषज्ञों के अनुसार एलर्जी की वजह से सिररदर्द हो सकता है। हैरानी की बात है कि एलर्जी की वजह से हो रहा है सिरदर्द काफी तीव्र होता है। ठीक वैसे ही जैसे साइनस की वजह से होता है। सवाल है कैसे? जब हवा में मौजूद किसी चीज से आपको एलर्जी हो तो सांस लेने में तकलीफ होती है। इससे नाक में सूजन हो सकती है, नाक बंद हो सकती है। इससे साइनस का दर्द भी बढ़ सकता है। जब साइनस का दर्द बढ़ जाता है तो इससे सिरदर्द भी हो सकता है।

(और पढ़ें - एलर्जी में क्या खाना चाहिए)

कैसे पता लगे कि एलर्जी से है सिरदर्द

विशेषज्ञों के अनुसार अन्य वजहों से हो रहे सिरदर्द और एलर्जी की वजह से हो रहे सिरदर्द में फर्क होता है। एलर्जी की वजह से सिरदर्द होने पर आपको सर्दी-जुकाम और छींकें आने के साथ-साथ सिरदर्द का अहसास होता है। इसलिए जरूरी है कि आप हमेशा सिरदर्द की वजह पर गौर करें। एलर्जी के लक्षण नजर आने पर हो रहे सिरदर्द को सामान्य सिरदर्द से अलग उपचार किया जाता है। कई बार एलर्जी से सिरदर्द, चेहरे में दर्द, जबड़े में दर्द और दांत में दर्द की वजह से भी होता है।

एलर्जी से सिरदर्द होने पर सामान्य दवाईयों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसके बजाय सिरदर्द की वजह पर गौर किया जाता है। उदारहरण के तौर पर समझें कि एलर्जी की वजह से साइनस यानी नाक, कान और गले के हिस्से में सिरदर्द है तो डाक्टर आपके नाक का चेकअप करेंगे। इससे पता चलेगा कि नाक के अंदर कोई सूजन तो नहीं है। वजह के आधार पर ट्रीटमेंट किया जाएगा।

(और पढ़ें - एलर्जी का आयुर्वेदिक इलाज)

किस तरह की एलर्जी से हो सकता है सिरदर्द

  • एलर्जिक राइनाइटिस: 
    अगर आपको सिरदर्द होने के साथ-साथ लगातार छींकें आ रही हैं तो यह एलर्जिक राइनाइटिस हो सकता है। ऐसा अमूमन एलर्जी की बजाय माइग्रेन सिरदर्द की वजह से होता है। हालांकि एलर्जिक रायनाइटिस साइनस की वजह से हो सकता है। लेकिन इस बीमारी में हो रहा सिरदर्द साइनस के सिरदर्द से बिल्कुल भिन्न होता है। 
     
  • फूड एलर्जी:
    आहार और सिरदर्द के बीच संबंध हो सकता है। उदाहरण के तौर पर समझें कि आहार जैसे पनीर, कृत्रिम मिठाई, चाॅकलेट माइग्रेन की वजह को प्रेरित करते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि कुछ आहार में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो दर्द को प्रेरित करते हैं। इसीलिए जिस खाने से एलर्जी हो, उसका सेवन करने से सिरदर्द की समस्या हो सकती है। 
     
  • हिस्टामाइन: 
    एलर्जी के रिएक्शन से बचने के लिए शरीर हिस्टामाइन का उत्पादन करता है। लेकिन हिस्टामाइन बीपी को कम कर देता है जिस वजह से सिरदर्द हो सकता है। इसलिए ऐसी चीजों से बचे रहना जरूरी है, जिससे आपको एलर्जी हो।

    (और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट क्या है)

इस संबंध में आप क्या करें

जब आपको पता चल जाए कि आपको किसी चीज से एलर्जी है, तो उससे दूर रहने की कोशिश करें। इसके अलावा निम्नलिखित कुछ उपयों को भी आजमाएं:

  • अगर आपको धूल-मिट्टी से एलर्जी है तो घर के अंदर रहें। तड़के सुबह या देर शाम ही घर से बाहर निकलें। दरअसल दिन के इस समय पोलेन या परागज की गिनती सबसे ज्यादा होती है। इसलिए अपने घर की खिड़िकियों को बंद रखें, घर में एसी है, तो चलांए। हवा को शुद्ध करने के लिए एयर प्यूरिफायर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • घर में धूल-मिट्टी न जमने दें। अपने कमरे और आसपास भी सफाई रखें। खासकर चटाई, तकिया आदि। जिन कपड़ों या बेडशीट का आप इस्तेमाल करते हैं, उसे गर्म पानी से धोएं और तेज धूप में सुखाएं।
  • अगर पालतू पशु से एलर्जी हो तो जानवरों से दूर रहें। अगर घर में पालतू जानवर है तो उसे हाथ लगाने के बाद अपने हाथ को अच्छी तरह धोएं। उसे बिस्तर पर चढ़ने न दें।
और पढ़ें ...