myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

इस विश्व प्रसिद्ध खाद्य को वास्तव में किसी परिचय की कोई जरूरत नहीं है। लेकिन बहुत सारे लोग इस स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ के बारे में इसके सबसे दिलचस्प तथ्यों के बारे में से कुछ नहीं जानते हैं। चॉकलेट खाना छोटे बच्चो से लेकर बड़ों तक सबको पसंद होता है। लेकिन अधिकतर लोग चॉकलेट को जंक फूड समझते हैं इसीलिए रोजाना चाकलेट खाने से बचते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है, चॉकलेट खाना बुरा नहीं है यदि आप इसका रोज सिमित मात्रा में सेवन करें। और आप यह जानकर हैरान होंगे कि आपके पसंदीदा कोकाआ का उपयोग 3000 से अधिक वर्षों से किया जा रहा है।

  1. चॉकलेट के फायदे - Chocolate ke Fayde in Hindi
  2. चॉकलेट के नुकसान - Chocolate ke Nuksan in Hindi
  3. दिमाग पर चॉकलेट का असर अच्छा या बुरा

चॉकलेट के तीन आवश्यक घटक कोकाआ, दूध और चीनी होते हैं और यह आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। चॉकलेट के स्वास्थ्य लाभों में स्वस्थ हृदय के कार्य, मूड को अच्छा रखना, उचित मस्तिष्क और तंत्रिका के कार्य और तनाव से राहत आदि शामिल है।  तो आइये जानते हैं इसके लाभों के बारे में -

  1. चॉकलेट के फायदे तंत्रिका तंत्र के लिए - Chocolate for Nervous System in Hindi
  2. चॉकलेट के लाभ रखें हृदय को स्वस्थ - Chocolate for Heart Health in Hindi
  3. चॉकलेट खाने के फायदे अवसाद रोकने के लिए - Chocolate for Depression in Hindi
  4. हाई ब्लड प्रेशरहाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखें चॉकलेट से - Chocolate Good for Blood Pressure in Hindi
  5. चॉकलेट खाने के लाभ करें कोलेस्ट्रॉल को कम - Chocolate Good Reducing Cholesterol in Hindi
  6. चॉकलेट ऑक्सीडेशन नियमित करती है - Chocolate Regulates Oxidation in Hindi
  7. चॉकलेट के गुण करें कैंसर से बचाव - Chocolate Prevents Cancer in Hindi
  8. खांसी और ठंड के दौरान चॉकलेट है लाभकारी - Chocolate During Cough and Cold in Hindi
  9. डार्क चॉकलेट खाने के फायदे डायबिटीज के लिए - Dark Chocolate for Diabetes in Hindi
  10. चॉकलेट फॉर एनर्जी - Chocolate for Energy in Hindi

चॉकलेट के फायदे तंत्रिका तंत्र के लिए - Chocolate for Nervous System in Hindi

चॉकलेट में विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट फ्लैनोनोइड होते हैं, जिनके मुख्य घटक पोलीफेनॉल्स होता है जैसे कटेचिंस, एपकेचिन और प्रोसीडिन जो मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र को उम्र के साथ सुस्त होने से रोकते हैं। साथ ही साथ मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र को मुक्त कणों द्वारा क्षति से बचाते हैं। ये मस्तिष्क में सेरोटोनिन के स्तर को भी बढ़ाते हैं जिससे मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ जाती है, इसे सक्रिय और तेज रखते हुए। ये तंत्रिका तंत्र विकारों के इलाज में भी सहायक होते हैं, जैसे अल्जाइमर रोग। 

(और पढ़ें - दिमाग तेज करने के घरेलू उपाय और क्या खाये)

चॉकलेट के लाभ रखें हृदय को स्वस्थ - Chocolate for Heart Health in Hindi

एपकेचिन और गैलिक एसिड जैसे फ्लेवोनोइड, हृदय को स्वस्थ रखने में बहुत प्रभावी होते हैं, विशेष रूप से उम्र और तनाव के खिलाफ। कोकाआ में पाए जाने वाले संतृप्त फैटी एसिड होने के बावजूद स्टैरिक एसिड, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नहीं बढ़ाता है और दिल के दौरे की संभावना भी कम कर सकता है। फ्लेवोनोइड के एंटीऑक्सीडेंट गुण भी मुक्त कणों द्वारा दिए गए नुकसान के खिलाफ दिल की रक्षा करते हैं। 

(और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

चॉकलेट खाने के फायदे अवसाद रोकने के लिए - Chocolate for Depression in Hindi

कोकाआ में कैफीन होता है (हालांकि कॉफी जितना नहीं) जो कि एल्कालोइड, थियोब्रोमाइन और फेनिलेथाइलमाइन (एक अमाइन, विशेष रूप से अवसाद को कम करने के रूप में जाना जाता है) सभी प्रकृति में उत्तेजक होते हैं। ये मूड को सुधारते और अवसाद को कम करने में बहुत प्रभावी होते हैं। कोकाआ में ट्रिप्टोफैन भी शामिल है (जो एक अमीनो एसिड है) जो तनाव को कम करने में बहुत ही प्रभावी पाया गया है।

(और पढ़ें - डिप्रेशन के घरेलू उपाय)

हाई ब्लड प्रेशरहाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखें चॉकलेट से - Chocolate Good for Blood Pressure in Hindi

कोकाआ में फ्लेवोनोइड पॉलीफेनोल होते हैं जैसे कटेचिंस, एपकेचिन और प्रोसीडिन, जो कि खून में नाइट्रिक ऑक्साइड स्तर को बढ़ाते हुए देखा जाता है, जो उचित रक्तचाप को बनाए रखने में मदद करता है। नाइट्रिक ऑक्साइड रक्त के घनत्व या जमावट (थक्के) को रोकने और द्रवत्व को बनाए रखने में विशेष रूप से उपयोगी है जिससे धमनियों और नसों पर दबाव कम होता है।

इसमें थियोब्रोमाइन नामक एक और यौगिक होता है जिसमें मूत्रवर्धक गुण होते हैं। यह पेशाब को बढ़ाने में मददगार होता है, जो उच्च रक्तचाप को कम करने में भी मदद करता है। कोकाआ में मौजूद पोटेशियम हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में भी सहायक है। दूसरी तरफ, कम रक्तचाप से पीड़ित लोगों के मामले में, कैफीन और थियोब्रोमाइन जैसे उत्तेजक रक्तचाप को बढ़ाने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - हाई बीपी का आयुर्वेदिक इलाज)

 

चॉकलेट खाने के लाभ करें कोलेस्ट्रॉल को कम - Chocolate Good Reducing Cholesterol in Hindi

द जर्नल ऑफ़ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, चॉकलेट का सेवन कम-घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है, जिसे "खराब वसा" भी कहा जाता है। शोधकर्ताओं के अध्ययन के अनुसार चॉकलेट वाले प्लांट स्टेरोल्स (पीएस) और कोको फ्लैनोल्स (सीएफ़) युक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर कोई नहीं प्रभाव पड़ता है। कम वसा वाले आहार के रूप में पीए और सीएफ़ युक्त चॉकलेट का नियमित सेवन, कोलेस्ट्रॉल को कम करके और रक्तचाप में सुधार करके हृदय संबंधी स्वास्थ्य में मदद कर सकते हैं। फिनलैंड के शोधकर्ताओं ने पाया है कि चॉकलेट के सेवन से स्ट्रोक से पीड़ित होने का खतरा कम होता है। (और पढ़ें - स्ट्रोक का इलाज)

(और पढ़ें - हाई कोलेस्टरॉल कम करने के घरेलू उपाय)

 

चॉकलेट ऑक्सीडेशन नियमित करती है - Chocolate Regulates Oxidation in Hindi

पॉलीफेनोल जैसे कैटेचिन, एपटेकिन, प्रोक्सीडिन (फ्लैनोनोड्स के घटक) और विटामिन सी कोको में मौजूद बहुत अच्छे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। ये मुक्त कणों के प्रभावों को कम करते हैं और इन खतरनाक सेलुलर बायोप्रोडक्ट्स के कारण हुए नुकसान को भरते हैं। ये आयु-संबंधित विकार जैसे कि दृष्टि, सुनने में परेशानी, मस्तिष्क की सुस्ती और नर्वस विकारों को रोकने में भी प्रभावी होते हैं।

(और पढ़ें – आँखों के सूखेपन के घरेलू उपाय)

चॉकलेट के गुण करें कैंसर से बचाव - Chocolate Prevents Cancer in Hindi

कोकोआ में मौजूद फ्लेवोनोइड में एंटी कैंसर गुण होते हैं। ये कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं। इसके अलावा, इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण मुक्त कणों के कैसर को उत्पन्न करने वाले प्रभावों को बेअसर करने में भी मदद करते हैं।

(और पढ़ें - कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

 

खांसी और ठंड के दौरान चॉकलेट है लाभकारी - Chocolate During Cough and Cold in Hindi

इसमें मौजूद विटामिन सी, एल्किलॉइड और फ्लेवोनोइड खांसी और सर्दी से राहत देते हैं। फैटी एसिड जैसे कि स्टेरिकिक एसिड, पाल्मिक एसिड और ऑलीइक एसिड में लगातार खांसी और सर्दी के कारण हो रहे गले में दर्द से राहत मिलती है। 

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

 

डार्क चॉकलेट खाने के फायदे डायबिटीज के लिए - Dark Chocolate for Diabetes in Hindi

कैफीन जैसे अल्कलॉइड की उपस्थिति के कारण डार्क और शुगर फ्री चॉकलेट (कोको) शायद आपको टेस्ट में ज्यादा अच्छे न लगें। इन अल्कलॉइड्स की कड़वाहट खून में चीनी को बेअसर कर देती है। इसके अलावा, प्रकृति में उत्तेजक होने के कारण, ये पित्त और इंसुलिन के स्राव को प्रोत्साहित करते हैं, जो डायबिटीज़ के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - शुगर कम करने के घरेलू उपाय)

 

चॉकलेट फॉर एनर्जी - Chocolate for Energy in Hindi

फैटी एसिड जैसे स्टैरिकिक एसिड और पाल्मिक एसिड (दोनों संतृप्त) और ओलिक एसिड (असंतृप्त) कोलेस्ट्रॉल जमा होने के जोखिम के बिना, वजन को कम करके ऊर्जा प्रदान करते हैं। जब कोको से चॉकलेट बनाया जाता है, तो कोलेस्ट्रॉल की मात्रा दूध के प्रकार (टोन, अर्ध-टोन या पूर्ण क्रीम) और दूध उत्पादों (मक्खन, दूध सॉलिड) पर निर्भर करती है। चॉकलेट में चीनी भी ऊर्जा और शरीर को आराम देता है। 

(और पढ़ें - ये 7 प्राकृतिक एनर्जी ड्रिंक रखेंगी आपको ऊर्जावान)

 

  1. चॉकलेट में उच्च कैलोरी होती है, जिसमें बड़ी मात्रा में चीनी शामिल होती है इसलिए, यदि कोई व्यक्ति अपने वजन को सामान्य रखने की कोशिश कर रहे हैं तो चॉकलेट के सेवन को सिमित करना अच्छा हो सकता है।
  2. ज्यादातर चॉकलेट में चीनी की बड़ी मात्रा से दांत क्षय (tooth decay) हो सकता है।
  3. इसके अलावा, चॉकलेट खराब अस्थि संरचना और ऑस्टियोपोरोसिस का कारण हो सकता है।
  4. चॉकलेट्स में मौजूद एल्कालोड्स सिरदर्द, माइग्रेन, न्यूरोटिक गड़बड़ी, एलर्जी और कब्ज पैदा कर सकता है। 
  5. अधिक मात्रा में सेवन करने पर इसमें मौजूद कैफीन अन्य दवाओं (विशेषकर होम्योपैथिक दवाइयों) को बेअसर करता है। इसलिए, ऐसे मामलों में चॉकलेट से बचा जाना चाहिए। 
  6. चॉकलेट्स में पाए जाने वाले कैफीन और अन्य अल्कलॉइड और अमाइन की उपस्थिति के कारण नशे की लत लग सकती है।
और पढ़ें ...