myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

उम्र बढ़ने के साथ हाई बीपी होने की आशंका बढ़ जाती है। लेकिन संतुलित जीवनशैली और कुछ एक्सरसाइज की मदद से आप हाई बीपी की समस्या को कम कर सकते हैं। लेकिन यह जानना जरूरी है कि बीपी नियंत्रित करने के लिए किस तरह की एक्सरसाइज मायने रखती है। आप यह कतई न सोचें कि एक्सरसाइज में आपको एक्सपर्ट बनना है, इसके बजाय बीपी को नियंत्रित करने के लिए धीमी गति से एक्सरसाइज शुरू करें और रोजमर्रा की जिंदगी में शारीरिक गतिविधियों को अधिक शामिल करें।

(और पढ़ें- हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं)

एरोबिक एक्सरसाइज
हालांकि बीपी को नियंत्रित करने के लिए कई तरह की एक्सरसाइज मौजूद हैं। लेकिन एरोबिक एक्सरसाइज बीपी को कम करने के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद है। एरोबिक एक्सरसाइज में बास्केट बाॅल, टेनिस, जाॅगिंग, स्वीमिंग और घर के काम जैसे फर्श की सफाई करना शामिल हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक एक सप्ताह में 150 मिनट तक एक्सरसाइज करें। अगर एरोबिक एक्सरसाइज करते हुए आपका बीपी बढ़ता है तो परेशान न हों। यह अस्थाई है। जैसे ही आप सामान्य होंगे, आपका बीपी भी सामान्य हो जाएगा।

(और पढ़ें- हाई ब्लड प्रेशर में क्या परहेज करना चाहिए)

साइकिलिंग
विशेषज्ञों के मुताबिक साइकिलिंग बीपी को कम करता है। अतः हाई बीपी के मरीज नियमित साइकिलिंग कर अपने बीपी को कम कर सकते हैं। साइकिलिंग के और भी फायदे हैं मसलन पैरों की मांसपेशियों को मजबूती देता है, जिसका सीधा प्रभाव वैस्कुलर हेल्थ पर पड़ता है। आप रोजाना घंटों साइकिलिंग करने के बजाय पूरे एक सप्ताह में दो से चार घंटे के लिए साइकिलिंग करके भी इसका भरपूर लाभ उठा सकते हैं। इससे आपके जोड़ पर नकारात्मक प्रभाव भी नहीं पड़ेगा।

(और पढ़ें- हाई बीपी के लिए बहुत ही उपयोगी जूस)

स्वीमिंग
कुछ समय पहले एक शोध हुआ। इसमें शोधकर्ताओं ने 43 वयस्क पुरूष और महिलाओं जिन्होंने एक सप्ताह पहले ही स्विमिंग शुरू की थी, उनको शामिल किया था। निष्कर्ष पर पता चला कि जो लोग नियमित स्वीमिंग करते हैं, उनका हाई बीपी का स्तर कम हो जाता है। इस तरह देखा जाए तो स्विमिंग भी हाई बीपी को कम करने में उपयोगी एक्सरसाइज में से एक है।

(और पढ़ें- बीपी लो होने पर क्या करना चाहिए)

वेट लिफ्टिंग
हाई बीपी को कम करने में वेट ट्रेनिंग भी फायदेमंद एक्सरसाइज है। इस बात का ध्यान रखें कि वेट ट्रेनिंग एरोबिक एक्सरसाइज की तरह बीपी को अस्थाई रूप से बढ़ा देता है। खासकर जब आप किसी भारी वजन को उठाते हुए अपनी सांस रोकते हैं तो ऐसे में बीपी का बढ़ना सामान्य है। लंबे समय तक वेट लिफ्टिंग एक्सरसाइज करने से हाई बीपी की समस्या कम होती है और इससे आपके पूरे स्वास्थ्य को भी लाभ पहुंचता है।

(और पढ़ें- हाई बीपी के लिए योग)

इन बातों का रखें ध्यान:

  • कुछ लोग रोजाना एक्सरसाइज करने के बजाय सप्ताह में एक दिन घंटों एक्सरसाइज करते हैं। जबकि ऐसा करने से शरीर को ज्यादा थकान होती है और इसका भरपूर फायदा भी आपको नहीं मिलता।
  • घंटों एक्सरसाइज करने की वजह से आपको चोट लग सकती है या फिर शरीर को किसी तरह का नुकसान झेलना पड़ सकता है।
  • रोजाना एक्सरसाइज करने के लिए आधे घंटे का समय नहीं मिलता है तो एक्सरसाइज को दस-दस मिनट करके तीन हिस्सों में बांट लें। इस तरह आप ओवर एक्सरसाइज करने से भी बच जाएंगे और एक्सरसाइज का पूरा फायदा भी उठा पाएंगे।
  • कोई भी एक्सरसाइज करते हुए आपकी छाती में दर्द, छाती में जकड़न, चक्कर आना, थकान होना, सांस लेने में तकलीफ होने जैसी समस्या हो तो तुरंत एक्सरसाइज बंद कर दें।
  • किसी भी तरह की एक्सरसाइज को शुरू करने से पहले डाक्टर से अवश्य मिलें।

यहां बताए गए एक्सरसाइज को करके आप अपने हाई बीपी को कम कर सकते हैं। लेकिन एक्सरसाइज को करते वक्त ध्यान रखें कि अगर कोई भी तकलीफ हो तो एक्सरसाइज न करें।

  1. एक्सरसाइज से हाई बी.पी को कम करने में मदद कर सकते हैं ये 7 टिप्स
और पढ़ें ...