myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हमारे यहां लगभग हर सब्जी में टमाटर का इस्तेमाल किया जाता है। यह स्वाद में तो बेहतर है, इसके साथ ही यह पोषक तत्वों से भी भरपूर है। निश्चित रूप से आप इस बात से अवगत होंगे। लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि रोजाना टमाटर का जूस पीने से हाई ब्लड प्रेशर को कम किया जा सकता है? जी, हां। कहने की जरूरत नहीं है कि हाई बीपी एक खतरनाक बीमारी है। इसे नोटिस करना काफी मुश्किल होता है, क्योंकि आसानी से इसके लक्षण नजर नहीं आते।

(और पढ़ें - बीपी लो होने पर क्या करना चाहिए)

यदि समय रहते हाई बीपी का इलाज नहीं किया जाए तो रक्त वाहिकाएं संकरी और मोटी होने लगाती है जिससे मरीज को हार्ट अटैक हो सकता है या फिर स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं। अतः हाई बीपी के मरीज के लिए जरूरी है कि वह बीपी को संतुलित रखे। डाॅक्टर इसके लिए हेल्दी डाइट का सेवन करने की सलाह देते हैं। इसी क्रम में टमाटर के जूस को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। टमाटर के जूस में ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल को कम कर हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकते हैं।

(और पढ़ें - ब्लड प्रेशर का नॉर्मल रेंज कितना है)

अध्ययन क्या कहते हैं

एक अध्ययन में 481 जापानी प्रतिभागियों को शामिल किया गया। उन्हें बिना नमक वाले टमाटर के जूस को एक साल तक पीने को कहा गया। सभी प्रतिभागियों ने इस बाबत एक डायरी बनाई। इसका नाम रखा गया, टोमेटो जूस डायरीज। इसमें उन्होंने रिकाॅर्ड रखा कि इन लोगों ने एक दिन में कितनी मात्रा में टमाटर का जूस पीया और शरीर में किस तरह के बदलाव उन्होंने महसूस किए।

(और पढ़ें - हाई बीपी के लिए बहुत ही उपयोगी जूस)

जरनल फूड साइंस एंड न्यूट्रिशन में प्रकाशित इस अध्ययन से पता चला कि लगभग 94 प्रतिशत प्रतिभागियों, जिनका प्री-हाइपरटेंशन या हाइपरटेंशन का इलाज नहीं किया गया था, का ब्लड प्रेशर तीन फीसदी तक कम हुआ। टोक्यो मेडिकल एंड डेंटल यूनिवर्सिटी के अनुसार पुरूष और महिलाओं, दोनों पर इसका समान रूप से असर होता है। हालांकि शोधकर्ताओं का कहना है कि अभी इस संबंध में और शोध किए जाने की जरूरत है। साथ ही यह भी जानने की जरूरत है कि टमाटर के जूस के सेवन से और क्या फायदे मिल सकते हैं।

विशेषज्ञों की टीम का यह भी कहना है कि रोजाना टमाटर के एक कप जूस के सेवन से हाइपरटेंशन स्टेज 2 के मरीज, हाइपरटेंशन स्टेज 1 में शिफ्ट कर सकते हैं। हालांकि इसके साथ ही यह भी जानना जरूरी है कि मरीज टमाटर के सूप के साथ-साथ अन्य किन चीजों का सेवन करता है।

हाल ही में इजरायल के बेन गुरियन यूनिवर्सिटी में भी इस संबंध में एक अध्ययन हुआ। इसके तहत 16 हफ्तों तक हल्के हाइपरटेंशन के 31 मरीजों पर शोधकर्ताओं ने रोजाना टोमेटो एक्स्ट्रैक्ट सप्लीमेंट के प्रभाव को नोटिस किया। शोधकर्ताओं के अनुसार इस एक्स्ट्रैक्ट से औसतन 10 प्वाइंट तक सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर कम हुआ और डायस्टोलिक प्रेशर औसतन 4 प्वाइंट तक कम हुआ।

हालांकि इसके ठोस परिणाम के लिए और भी अध्ययन किए जाने की दरकार है। लेकिन यह कहा जा सकता है कि टोमेटो एक्स्ट्रैक्ट हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए दवा की तरह काम करता है। दूसरी दवाओं की तरह इसका कोई नकारात्मक परिणाम नहीं है। शोधकर्ताओं के मुताबिक संभवतः टमाटर में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट जैसे लाइकोपीन, बीटा कैरोटीन और विटामिन ई से ही आपको लाभ पहुंचता होगा। इसके साथ ही टमाटर में पोटेशियम भी पाया जाता है जो कि ब्लड प्रेशर को बेहतर करता है।

कुल मिलाकर कहने की बात यह है कि हाई बीपी के मरीजों के लिए टमाटर लाभकारी है। अलग-अलग अध्ययन भी इस बात की पुष्टि कर चुके हैं। इसके बावजूद यह जानना जरूरी है कि कितनी मात्रा में टमाटर उपयोगी है। इसके लिए आप डाॅक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

(और पढ़ें - लो बीपी का होम्योपैथिक इलाज)

और पढ़ें ...