myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

टमाटर के बिना भारतीय रसोई अधूरी है! टमाटर अक्सर एक सब्जी माना जाता है, हालांकि वास्तव में यह एक फल है। टमाटर का वैज्ञानिक नाम सोलनम लाइकोपेर्सिकम (Solanum lycopersicum) है और यह मूल रूप से मेक्सिको को पाए गए थे। टमाटर नरम और गुलाबी रंग के होते हैं। इनमें कई बीज होते हैं जिनका स्वाद मीठा होता है। चाहे आप इसे फल कहे या फिर सब्ज़ी, लेकिन हम सब जानते हैं कि टमाटर पोषण का एक पावरहाउस है। आप इसे अपने दैनिक आहार में शामिल करके इसके अत्यधिक स्वास्थ्य लाभों का आनंद उठा सकते हैं।

टमाटर- पाचन में सुधार, रक्त परिसंचरण को बढ़ाने, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम, गुर्दे की रक्षा, समय से पहले उम्र बढ़ने को रोकने और सूजन को कम करने में मदद करते हैं। यह मधुमेह, त्वचा की समस्याएं, और मूत्र पथ के संक्रमणों से भी राहत प्रदान करते हैं। टमाटर में एंटीऑक्सिडेंट अच्छी मात्रा में होते हैं जो कैंसर के विभिन्न रूपों को पैदा होने से रोकते हैं। यह विटामिन और खनिजों का भी एक अच्छा स्रोत हैं और कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों से भी बचाते हैं।

टमाटर में अच्छी मात्रा में विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन के होते हैं। इसके अलावा इसमें फोलेट और पोटेशियम, नियासिन, विटामिन बी 6, मैग्नीशियम, फास्फोरस और ताँबा सम्मलित हैं और ये सभी ही अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं। टमाटर के पौष्टिक गुणों की सबसे अच्छी बात यह है कि यह सोडियम, संतृप्त वसा, कोलेस्ट्रॉल और कैलोरी में स्वाभाविक रूप से कम है।

  1. टमाटर खाने का सही तरीका - Tamatar khane ka sahi tarika in Hindi
  2. टमाटर खाने का समय - Tamatar khane ka sahi samay in Hindi
  3. टमाटर की तासीर - Tamatar ki taseer in Hindi
  4. टमाटर के फायदे - Tamatar ke Fayde in Hindi
  5. टमाटर के नुकसान - Tamatar ke Nuksan in Hindi
  6. टमाटर की प्यूरी बनाने की विधि
  • टमाटर हर घर में सब्जी बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। यह सब्जी में एक अच्छा सव्वद जोड़ता है। 
  • टमाटर का जूस बनाकर भी पिया जा सकता है। यह जूस त्वचा को निखारने में मदद करता है। 
  • टमाटर का सूप भी अधिकतर लोगों को पसंद होता है। 
  • टमाटर की सॉस भी बाजार में आसानी से उपलब्ध होती हैं और आप इसे घर पर भी बना सकते हैं। 
  • टमाटर का इस्तेमाल सलाद के रूप में भी किया जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि रात के समय में टमाटर खाना सबसे अच्छा होता है क्योंकि यह शरीर के चयापचय को बनाय रखता है और आपका स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है। टमाटर को रात के समय खाने से यह आपको लंबे समय तक अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें - 

टमाटर की तासीर ठंडी होती है। यह शरीर को ठंडक पहुंचता है। इसे नियमित मात्रा में ही खाएं क्यूंकि टमाटर का अधिक सेवन भी आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

  1. टमाटर के अन्य फायदे - Other benefits of Tomatoes in Hindi
  2. टमाटर के फायदे स्किन के लिए - Tamatar ke Fayde for Skin in Hindi
  3. टमाटर के लाभ बनाएँ हड्डियों को मजबूत - Tomato for Bones in Hindi
  4. टमाटर के जूस के फायदे लाएं नेत्र दृष्टि में सुधार - Tomato Juice Benefits for Eyes in Hindi
  5. टमाटर का उपयोग लगाए बालों की समस्याओं पर रोक - Tomato ke Fayde for Hair in Hindi
  6. टमाटर खाने के फायदे हैं रक्त-शर्करा स्तर को कम करने के लिए - Tomato Helps in Diabetes in Hindi
  7. टमाटर के औषधीय गुण करें कैंसर से बचाव - Tomato for Cancer Cure in Hindi
  8. टमाटर खाने के लाभ हैं वजन घटाने में मददगार - Tomato Helps in Weight Loss in Hindi
  9. टमाटर सूप के फायदे नींद को बढ़ावा देने के लिए - Tomato Soup for Sleep in Hindi
  10. टमाटर के गुण करें उच्च रक्तचाप को कम - Tomato Good for Low Blood Pressure in Hindi
  11. टमाटर का रस है सूजन को दूर करने में फायदेमंद - Tomato Juice for Inflammation in Hindi

टमाटर के अन्य फायदे - Other benefits of Tomatoes in Hindi

  • टमाटर में मौजूद लाइकोपीन (lycopene) और ज़ीएक्सैंथिन (zeaxanthin) जैसे कुछ फ्लैवोनॉयड एंटीऑक्सिडेंट (flavonoid antioxidants) हमारे शरीर को मुक्त कणों से बचाने में मदद करते हैं।
  • टमाटर में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। टमाटर के बीज में फाइबर अधिक मित्रा में होता है और फाइबर कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए जाना जाता है।
  • टमाटर को प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले आहार के रूप में भी माना गया है। यह खासकर पुरुषों को सामान्य सर्दी- जुकाम और इन्फ्लूएंजा (influenza) से बचाने में मदद करते हैं। टमाटर में लाइकोपीन और बीटा कैरोटीन जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो हमारी प्रतिरक्षा में सुधार करने में मदद करते हैं। 
  • टमाटर में क्यूमरिक एसिड (coumaric acid) और क्लोरोजेनिक एसिड (chlorogenic acid) शरीर को सिगरेट के धुएं के प्रभाव से बचाने में मदद करते हैं। (और पढ़ें- सिगरेट पिने के नुक्सान)
  • टमाटर का सेवन हमारे पाचन तंत्र को सुधारने में मदद करता है। यह दस्त और कब्ज दोनों से ही हमारे पाचन तनरत की रक्षा करते हैं। 

टमाटर के फायदे स्किन के लिए - Tamatar ke Fayde for Skin in Hindi

टमाटर का नियमित सेवन आपकी त्वचा के निखार में चार चाँद लगा देता है। टमाटर में लाइकोपीन नामक एक एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होता है, जो त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों की क्षति से बचाता है। यह त्वचा को यूवी (UV) प्रकाश क्षति से बचाता है, जो चेहरे पर रेखाएं (Fine Lines) और झुर्रियों के मुख्य कारणों में से एक है।

(और पढ़ें- पराबैंगनी किरणों के प्रकार​)

इसके अलावा चेहरे पर बड़े रोम छिद्रों को कम करने के लिए टमाटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह मुँहासे और त्वचा पर चकत्ते या मामूली जलने के निशान के इलाज में भी मदद कर सकता है। त्वचा पर टमाटर के गूदे को रगड़ने से यह त्वचा को चमकाता है।

(और पढ़ें - झुर्रियों का इलाज)

टमाटर के लाभ बनाएँ हड्डियों को मजबूत - Tomato for Bones in Hindi

टमाटर में विटामिन K और कैल्शियम की उपस्थिति के कारण यह आपी  हड्डियों के लिए एक अच्छा आहार है। दोनों ही तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने और उनकी मरम्मत करने के लिए लाभदायक हैं।

(और पढ़ें- हड्डियों को मजबूज करने के घरेलू उपाय)

इसमें निहित लाइकोपीन नामक एंटी-ऑक्सिडेंट भी हड्डियों को बेहतर बनाने के लिए जाना जाता है, जो ऑस्टियोपोरोसिस से लड़ने का एक प्रभावी तरीका है। ऑस्टियोपोरोसिस एक बीमारी है जो हड्डी के फ्रैक्चर, विकलांगता और विकृति का कारण बन सकती है।

(और पढ़े - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए आहार)

टमाटर के जूस के फायदे लाएं नेत्र दृष्टि में सुधार - Tomato Juice Benefits for Eyes in Hindi

टमाटर में विटामिन सी और विटामिन ए की अधिक मात्रा आपकी दृष्टि में सुधार करने में मदद कर सकते हैं और रात के अंधेपन को रोक सकते हैं। हाल में हुए एक शोध से पता चला है कि टमाटर में विटामिन ए मैक्युलर डीजेनेरेशन (चकत्तेदार अध: पतन) के जोखिम को कम करने में मदद करता है। चकत्तेदार अध: पतन एक गंभीर और अपरिवर्तनीय नेत्र विकार है।

(और पढ़ें- अंधेपन के लक्षण)

टमाटर मोतियाबिंद के विकास के जोखिम को भी कम कर सकते हैं। इसके अलावा, टमाटर में फाइटोकैमिकल एंटीऑक्सिडेंट्स ज़ेक्सैथिन, ल्यूटिन और लाइकोपीन होते हैं जो आंखों की रोशनी को किसी भी प्रकार की क्षति पहुंचने से बचाते हैं।

(और पढ़े - आँखों की रौशनी बढ़ाने का घरेलू उपाय)

टमाटर का उपयोग लगाए बालों की समस्याओं पर रोक - Tomato ke Fayde for Hair in Hindi

टमाटर आपके बालों को स्वस्थ, घना व बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। टमाटर में विटामिन (विशेष रूप से विटामिन ए) और आयरन मौजूद होते हैं, जो बालों को मजबूत करने के साथ-साथ बेजान, क्षतिग्रस्त और निर्जीव बालों को भी एक नया जीवन प्रदान करके उनमें एक नई चमक ले आते हैं।

(और पढ़ें- बालों को मजबूत करने के उपाय)

इसके अलावा, टमाटर में उपस्थित अम्ल आपके बालों के पी.एच. स्तर को संतुलित करने में मदद करता है, जो बदले में बालों के रूखे रंजक को दूर करके आपके बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें- बालों को कलर कैसे करें)

यदि आप खुजली और रूसी से परेशान हैं, तो अपने बालों पर शैम्पू करने के बाद टमाटर का रस लगाएं, इसे चार से पांच मिनट तक छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।

नोट:- नियमित रूप से अपने बालों पर टमाटर का प्रयोग न करें क्योंकि टमाटर की अम्लता आपके बालों को सूखा व बेजान बना सकती है।

(और पढ़े - बालों के लिए हेयर मास्क)

टमाटर खाने के फायदे हैं रक्त-शर्करा स्तर को कम करने के लिए - Tomato Helps in Diabetes in Hindi

रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए टमाटर मधुमेह रोगियों के लिए एक अच्छा आहार हैं। इसमें बहुत कम कार्बोहाइड्रेट होता है, जो मूत्र ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में सहायता करता है।

टमाटर क्रोमियम का भी एक बहुत अच्छा स्रोत है जो रक्त में शर्करा के स्तर के साथ-साथ फाइबर को नियंत्रित करने में मदद करता है। शोधों के अनुसार, फाइबर रक्त शर्करा के स्तर को अधिक होने से रोकने में मदद करता है।

कई अध्ययनों से पता चला है कि टमाटर में उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट्स मधुमेह से प्रभावित होने वाले किडनी और रक्तप्रवाह को भी सुरक्षा प्रदान करते हैं। इसके अलावा, टमाटर जैसा कम कैलोरी वाला भोजन, वजन कम करने की कोशिश कर रहे मधुमेह रोगियों के लिए उपयोगी हो सकता है।

(और पढ़ें – शुगर के लिए आयुर्वेदिक इलाज)

टमाटर के औषधीय गुण करें कैंसर से बचाव - Tomato for Cancer Cure in Hindi

राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि अधिक टमाटर खाने से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम हो सकता है।

टमाटर में मौजूद लाइकोपीन नामक एक एंटी-ऑक्सीडेंट फेफड़े, पेट, ग्रीवा, मुँह, ग्रसनी, गले, अन्नप्रणाली, कोलन, गुदा और डिम्बग्रंथि के कैंसर जैसे अन्य कैंसर के जोखिम को भी कम कर सकता है।

(और पढ़ें- डिम्बग्रंथि कैंसर की सर्जरी)

यदि टमाटर को जैतून के तेल के साथ पकाया जाए तो इसके कैंसर-विरोधी गुणों के लाभ अधिकतम हो सकते हैं।

(और पढ़ें – कैंसर रोगियों के लिए आहार)

टमाटर खाने के लाभ हैं वजन घटाने में मददगार - Tomato Helps in Weight Loss in Hindi

टमाटर आपका वजन कम करने में भी मदद कर सकते हैं। टमाटर में बहुत कम फैट पाया जाता है और साथ ही इसमें शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है। इसमें बहुत सारा पानी और फाइबर होता है, इसलिए यह आपको ज्यादा कैलोरीज गेन कराये बिना आपके पेट को तेजी से भरने में मदद करता है।

(और पढ़ें - मोटापा घटाने के लिए योग)

यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो अपने आहार में बहुत से टमाटर शामिल करें। आप इसे एक फल की तरह कच्चा खा सकते हैं या फिर इसे सलाद, कैसरोल, सैंडविच और अन्य भोजन में भी शामिल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - वजन कम करने के तरीके)

टमाटर सूप के फायदे नींद को बढ़ावा देने के लिए - Tomato Soup for Sleep in Hindi

पेन्सिलवेनिया पेरेलमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन विश्वविद्यालय में हुए एक अध्ययन के मुताबिक, जो लोग लाइकोपीन का सेवन करते हैं, वे लोग उन लोगों के मुकाबले बेहतर नींद का आनंद लेते हैं जो इसका सेवन नहीं करते हैं। और टमाटर लाइकोपीन का एक अच्छा स्रोत है।

(और पढ़ें- अनिद्रा के कारण)

इसके अलावा, टमाटर में विटामिन सी भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है और अपने दैनिक आहार में विटामिन सी के अधिक स्तर को शामिल करना, शान्तिप्रदायक नींद दे सकता है। तो अगर आप ठीक से नहीं सो पा रहे हैं, तो रात के खाने के समय में टमाटर सूप या टमाटर युक्त सलाद खाने का प्रयास करें।

(और पढ़ें – योग निद्रा के लाभ)

टमाटर के गुण करें उच्च रक्तचाप को कम - Tomato Good for Low Blood Pressure in Hindi

पोटेशियम से समृद्ध टमाटर, हाई बीपी को कम करने में मदद कर सकता है। अधिक सोडियम का सेवन करना रक्तचाप बढ़ा सकता है जिससे पोटेशियम की कमी हो सकती है। पोटेशियम आपके शरीर से सोडियम को निकालने में मदद करता है।

ताजा टमाटर का सिर्फ एक कप पोटेशियम की आपकी दैनिक आवश्यकता का 11.4 प्रतिशत होता है। अतः अधिक टमाटर का सेवन करना हाई बीपी से लड़ने और विभिन्न हृदय स्थितियों के जोखिम को कम करने का एक शानदार तरीका है।

इसके अतरिक्त टमाटर में लाइकोपीन, विटामिन ए और विटामिन सी, फाइबर और कैरोटीनॉयड जैसी शक्तिशाली पोषक तत्व होते हैं जो हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए मिलकर काम करते हैं।

(और पढ़ें- हाई बीपी के लिए डाइट चार्ट)

टमाटर का रस है सूजन को दूर करने में फायदेमंद - Tomato Juice for Inflammation in Hindi

बायो-फ्लेवोनोइड्स और कैरोटीनॉयड जैसे एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट्स की मौजूदगी के कारण टमाटर दर्द को कम कर सकते हैं। नियमित रूप से हल्के से मध्यम दर्द महसूस करने वाले लोग अक्सर सूजन (इन्फ्लेम्शन) का शिकार बन जाते हैं। और टमाटर में निहित सूजन को कम करने वाले गुण सूजन व जलन को कम करके आपको बार बार होने वाले दर्द से राहत प्रदान करते हैं।

एक अध्ययन में पाया गया कि टमाटर का रस रोजाना पीने से टी.एन.एफ.-अल्फा के रक्त के स्तर को कम किया जा सकता है, जो कि 34% तक सूजन का कारण बनता है। टमाटर, हृदय रोग, कैंसर, ऑस्टियोपोरोसिस और अल्जाइमर जैसी पुरानी, अपक्षयी स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए एक अच्छा भोजन है।

(और पढ़ें- सूजन कम करने के घरेलू उपाय)

तो अगली बार जब आप फल-सब्ज़ी की खरीदारी करने जाएँ, तो अपने टोकरी में टमाटर को शामिल करना ना भूलें। चाहे आप ताज़े टमाटर का सेवन करें या फिर उससे बने हुए रस, सलाद, सूप आदि का, सभी आपके स्वास्थ्य के लिए स्वास्थ्यवर्धक विकल्प है।

भारतीय व्यंजनों का एक अभिन्न अंग-टमाटर स्वाद के साथ-साथ कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है! लेकिन इसके उपभोग के कुछ संभावित नुकसान भी हैं! जी हाँ, निर्दोष दिखने वाला इस टमाटर के कुछ सामान्य और कुछ गंभीर साइड इफेक्ट्स भी हैं, जिनका चर्चा निम्नलिखित अंकों में की गयी है:-

  1. टमाटर में लायकोपिन नामक एक फाइटोकेमिकल पाया जाता है। इस फाइटोकेमिकल का अत्यधिक सेवन हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली की नियमित गतिविधियों में हस्तक्षेप कर सकता है और इसे धीमा कर सकता है। नतीजतन, हमारा शरीर कई सामान्य माइक्रोबियल (बैक्टीरियल, फंगल और वायरल) बीमारियों से खुद को बचाने की क्षमता खो देता है। इसके अतिरिक्त, यह शारीरिक क्षति की मरम्मत के लिए असमर्थ हो जाता है। (और पढ़ें- फंगल नफ़ेक्शन का इलाज)
  2. टमाटर अनेक अम्लों का एक समावेश है जिसका अत्यधिक सेवन जठरांत्र विकारों को पैदा कर सकता है।
  3. टमाटर की लाइकोपीन सामग्री के परिणामस्वरूप इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (आई.बीए.स.) जैसे कुछ गंभीर आंतों की समस्याएं हो सकती है।
  4. टमाटर के सेवन से किडनी में पथरी के निर्माण को प्रोत्साहन मिल सकता है। टमाटर के बीज कैल्शियम और ऑक्सालेट यौगिकों में समृद्ध होते हैं। यदि आप पहले से ही गुर्दे की समस्याओं से ग्रस्त है, तो इसके सेवन ना करें।
  5. अध्ययनों से पता चला है कि टमाटर के बीज में मौजूद लाइकोपीन पुरुष प्रोस्टेट ग्रंथि में असामान्यताएं पैदा कर सकता है। यह दर्द, पेशाब में कठिनाई और स्तम्भन दोष आदि का कारक है।
  6. टमाटर का लंबी अवधि के लिए लगातार खपत आपकी त्वचा का रंग बदल सकती है। और आपकी त्वचा पर नारंगी रंग का थोड़ा सा प्रतिबिम्ब नज़र आ सकता है।

मुझे यकीन है कि दुष्प्रभावों की कोई भी मात्रा आपको अपने पसंदीदा टमाटर से दूर नहीं रखेगी! लेकिन, इन दुष्प्रभावों को ध्यान में रखने की कोशिश करें और अपने टमाटर की खपत को सीमित करें!

और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Basic Report: 11695, Tomatoes, orange, raw. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  2. Sato R et al. Prospective study of carotenoids, tocopherols, and retinoid concentrations and the risk of breast cancer. Cancer Epidemiol Biomarkers Prev. 2002 May;11(5):451-7. PMID: 12010859
  3. Palozza P et al. Effect of lycopene and tomato products on cholesterol metabolism. Ann Nutr Metab. 2012;61(2):126-34. PMID: 22965217
  4. Stahl W et al. Dietary tomato paste protects against ultraviolet light-induced erythema in humans. J Nutr. 2001 May;131(5):1449-51. PMID: 11340098
  5. Debjit Bhowmik. Tomato-A Natural Medicine and Its Health Benefits . Journal of Pharmacognosy and Phytochemistry
  6. Assunta Raiola et al. Enhancing the Health-Promoting Effects of Tomato Fruit for Biofortified Food . Mediators Inflamm. 2014; 2014: 139873. PMID: 24744504
  7. Wood LG et al. Lycopene-rich treatments modify noneosinophilic airway inflammation in asthma: proof of concept. Free Radic Res. 2008 Jan;42(1):94-102. PMID: 18324527
  8. Sturtzel B, Mikulits C, Gisinger C, Elmadfa I. Use of fiber instead of laxative treatment in a geriatric hospital to improve the wellbeing of seniors. J Nutr Health Aging. 2009 Feb;13(2):136-9. PMID: 19214342
  9. Lesley B Dibley, Christine Norton, Roger Jones. Don't eat tomatoes: patient's self-reported experiences of causes of symptoms in gastro-oesophageal reflux disease. Family Practice, Volume 27, Issue 4, August 2010, Pages 410–417,
  10. Merckmedius. Allergy symptoms: Hives, rashes and swelling. Adult Health Advisor 2009.4: Wound Closure and Wound Care: D. Allergies and Hives, 2009
  11. University of Chicago Kidney Stone Evaluation and Treatment Program. How To Eat A Low Oxalate Diet. University of Chicago