डिप्थीरिया एक गंभीर बैक्टीरियल संक्रमण होता है, जो नाक और गले की श्लेष्मा झिल्ली (Mucous membrane) को प्रभावित करता है। डिप्थीरिया आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है, लेकिन दवाएं लेने से आप डिप्थीरिया की समस्या से बच सकते हैं। डिप्थीरिया के कारण गला खराब, बुखार, ग्रंथियों में सूजन और कमजोरी आदि समस्याएं होती हैं। साथ ही इसमें गहरे ग्रे रंग के पदार्थ की एक मोटी परत गले के अंदर जमना शुरू हो जाती है। 

डिप्थीरिया का इलाज करने के लिए दवाएं उपलब्ध हैं, हालांकि इसके शुरूआती लक्षण दिखते ही आप कुछ घरेलू उपाय का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हमने आपको डिप्थीरिया के घरेलू उपाय बताए हैं, यह उपाय डिप्थीरिया का इलाज करने में आपकी मदद करेंगे।

(और पढ़ें - डिप्थीरिया के इलाज)

तो चलिए आपको बताते हैं डिप्थीरिया के घरेलू उपाय –

  1. डिप्थीरिया का उपाय है लहसुन का जूस - Diphtheria ka upay hai adrak ka juice
  2. डिप्थीरिया को दूर करने में जड़ी बूटियां करें मदद - Diphtheria ko door karne me jadi bootiya kare madad
  3. डिप्थीरिया का घरेलू उपाय है नमक से गरारे - Diphtheria ka gharelu upay hai namak se grare
  4. डिप्थीरिया का नुस्खा है अनानास - Diphtheria ka nuskha hai ananas
  5. तुलसी के पत्ते से होता है डिप्थीरिया रोग दूर - Tulsi ke patte se hota hai Diphtheria rog door
  6. डिप्थीरिया बीमारी से छुटकारा पाने के लिए अरंडी की पत्तियों का इस्तेमाल करें - Diphtheria bimari se chutkara pane ke liye arandi ki pattiyo ka istemal kare
  7. डिप्थीरिया ठीक करने के लिए बर्फ का उपयोग करें - Diphtheria theek karne ke liye baraf ka upyog kare
  8. शहद और नींबू से डिप्थीरिया दूर होता है - Shehad aur nimboo se diphtheria door hota hai

लहसुन कई बीमारियों का इलाज करने के लिए बहुत ही बेहतरीन घरेलू उपाय है, जैसे डिप्थीरिया। इसका उपयोग करने के लिए दो से तीन लहसुन की फांकों को पीस लें। अब लहसुन को मुंह में रखें और फिर चबाने के बाद निगल जाएं। इस प्रक्रिया को पूरे दिन में कई बार दोहराएं। अगर आप इसे कई बार नहीं दोहरा सकते तो पूरे दिन में कई बार एक छोटा चम्मच पिसा हुआ लहसुन जरूर लें। यह उपाय इस बीमारी का इलाज करने के लिए बेहद बेहतरीन है।

(और पढ़ें - गले में जलन होने पर क्या करें)

डिप्थीरिया को दूर करने के लिए आप कई जड़ी बूटियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे अरंडी की पत्ती, सहजन की पत्तियां और लहसुन। इन सामग्रियों को एक साथ पीस लें। पेस्ट तैयार होने के बाद अब इसे मरीज को सूंघने के लिए दें। साथ ही आप इस पेस्ट को गुनगुने पानी में डालकर गरारे करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - गले में दर्द की दवा)

डिप्थीरिया में होने वाले गले में दर्द के लिए साधारण नमक भी बेहद उपयोगी है। बस आपको एक ग्लास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक मिलाकर पी जाना है। नमक के पानी का मिश्रण इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। अगर आपको सांस से संबंधित समस्या है तो यह आमतौर पर शरीर में नमक की कमी से भी होती है। इस समस्या के लिए भी यह उपाय बेहद फायदेमंद है।

(और पढ़ें - गले में खराश की दवा)

अनानास के जूस को पूरे दिन में कई बार पीने से डिप्थीरिया से छुटकारा मिलता है। अनानास का जूस संक्रमण के लक्षणों में भी सुधार करता है। अनानास के जूस में बीटा कैरोटीन होता है, जो डिप्थीरिया का इलाज करता है। 

(और पढ़ें - गले में खुजली हो तो क्या करें)

तुलसी की पत्तियों में कई स्वास्थ्य लाभ मौजूद होते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो श्वसन संक्रमण का इलाज करने में मदद करते हैं। पानी में तुलसी की पत्तियों को डालकर उसके मिश्रण को पीने से डिप्थीरिया रोग दूर होता है।

(और पढ़ें - गले में जलन के इलाज)

अरंडी की पत्तियों में सूजनरोधी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो समस्या का इलाज प्रभावी तरीके से करते हैं। बस कुछ मात्रा में अरंडी की पत्तियों को लें और फिर इन्हें मिक्सर में चला लें। जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि आप डिप्थीरिया के लिए सहजन की पत्तियों और लहसुन के जूस को मिलाकर पेस्ट तैयार कर सकते हैं। इस पेस्ट की सुगंध को सूंघे इससे आपको डिप्थीरिया की समस्या से काफी राहत मिलेगी।

(और पढ़ें - गले के दर्द को ठीक करने के उपाय)

 

डिप्थीरिया की समस्या ठीक करने के लिए आप आइस पैक का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर ठंडे पानी में कपड़ा डालकर उसे निचोड़ने के बाद गले पर लगा लें। डिप्थीरिया से होने वाले गले में दर्द के लिए बर्फ का इस्तेमाल बेहद उपयोगी है।

(और पढ़ें - बर्फ की सिकाई के फायदे)

डिप्थीरिया की परेशानी दूर करने के लिए एक बड़ा चम्मच नींबू का जूस और एक छोटा चम्मच शहद को एक ग्लास गुनगुने पानी में मिलाकर पी सकते हैं। इस मिश्रण को रोजाना चार से पांच दिन तक पिएं। डिप्थीरिया के कारण होने वाले गले में दर्द के लिए यह उपाय बेहद फायदेमंद है।

(और पढ़ें - शहद और गर्म पानी के लाभ)

और पढ़ें ...