myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्या आपको पता है पानी के साथ थोड़ा सा नमक आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ आपकी सुंदरता के लिए भी कितना फायदेमंद है। इलेक्ट्रोलाइट और एंटी-इंफ्लेमेटरी युक्त नमक का पानी गले में खराश, बुखार और फटी हुई एड़ियों से छुटकारा पाने के लिए भी बहुत फायदेमद होता हैं। तो चलिए जानते हैं नमक का पानी हमारे लिए किस तरह लाभदायक है। 

  1. नमक के पानी के फायदे - Salt Water Benefits in Hindi
  2. नमक के पानी के नुकसान - Salt Water Side Effects in Hindi

लेकिन ध्यान रखें इसके लिए आपको सादे नमक का उपयोग नहीं करना है। इसके लिए आप अपरिष्कृत नमक (काले नमक या समुंद्री नमक) का उपयोग कर सकते हैं। क्योंकि, अपरिष्कृत नमक आपके लिए अच्छा होता है। यह रक्त शर्करा को संतुलित करने, हड्डियों को मजबूत रखने, चयापचय को नियमित करने, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करता है। प्राकृतिक नमक कई रूपों में पोषक तत्वों और खनिजों को प्रदान करता है। यह नमक सल्फर, कैल्शियम, सोडियम, मैग्नीशियम, सिलिकॉन, बोरान, पोटेशियम, ब्रोमिन और स्ट्रोंटियम जैसे खनिजों में परिपूर्ण होता है। तो आइये जानते हैं इसके लाभों के बारे में -

(और पढ़ें - मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के उपाय)

  1. नमक पानी के फायदे सर्दी खांसी में - Gargling with warm salt water good for a sore throat in hindi
  2. नमक के पानी के फायदे इनग्रोन नाखून के लिए - Salt water helps treat ingrown toenail in hindi
  3. नमक वाले पानी के फायदे बुखार में - Salt water treatment for fever in hindi
  4. नमक और पानी का उपयोग संवेदनशील दातों के लिए - Salt water rinse for sensitive teeth in hindi
  5. नमक पानी के गुण दूर रखे गले का दर्द - Warm salt water gargle for tonsillitis in hindi
  6. नमक युक्त पानी का उपयोग फटी हुई एड़ियों पर - Saltwater good for cracked heels in hindi
  7. नमक पानी से फायदा बदबूदार पैरों की समस्या में - Salt water for smelly feet in hindi
  8. नमक के पानी के फायदे हाइड्रेशन के लिए - Salt Water for Hydration in Hindi
  9. नमक का पानी पीने के फायदे रखें पाचन को स्वस्थ - Drinking Salt Water for Digestion in Hindi
  10. नमक के पानी का उपयोग करे सूजन को कम - Salt Water Reduce Inflammation in Hindi
  11. नमक पानी के फायदे करें अच्छी नींद में मदद - Salt Water for Better Sleep in Hindi
  12. शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालें नमक का पानी - Salt Water for Detoxification in Hindi
  13. नमक के पानी के लाभ हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए - Salt Water for Bones in Hindi
  14. साल्ट वाटर फॉर स्किन - Salt Water for Skin in Hindi
  15. नमक के पानी में नहाने के फायदे हैं सोरायसिस में लाभकारी - Salt Water for Psoriasis in Hindi
  16. नमक का पानी पीएं वजन कम करने के लिए - Drinking Salt Water to Lose Weight in Hindi
  17. एक्ने का इलाज करें नमक के पानी से - Salt Water Good for Acne in Hindi

नमक पानी के फायदे सर्दी खांसी में - Gargling with warm salt water good for a sore throat in hindi

अगर आप सर्दी खांसी के कारण गले खराब की समस्या से पीड़ित हैं और डॉक्टर के पास जाते हैं तो वो आपसे दवाइयां लेने के अलावा नमक के पानी के साथ गरारे करने को कह सकते हैं। नमक का पानी गले के ऊतक जो सूज गए हैं, उनमें मौजूद पानी को निकालता है और गले की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। यह संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया और एलर्जी से लड़ने में मदद करता है और उनको बढ़ने से रोकता है। खराब गले से छुटकारा पाने के लिए एक कप गर्म पानी (250 मिलीलीटर) में एक चम्मच नमक डाल कर हर सुबह गरारे करें।

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

नमक के पानी के फायदे इनग्रोन नाखून के लिए - Salt water helps treat ingrown toenail in hindi

यदि आपके पैरों के नाखून अंदर की और बढ़ने लगें जिससे आपको पीड़ा और सूजन का अनुभव हो तो आप अपने पैरों को नमक वाले पानी में 15 मिनट के लिए भिगोएं और फिर पैरों को सूखा लें। इससे आपके नाखून नरम होंगे और आपको इनग्रोन नाखून को काटने में आसानी होगी। साथ ही अंदर से बढ़ते नाखून के कारण हुई सूजन का उपचार करने में भी मदद मिलेगी।

(और पढ़ें - नाखूनों की देखभाल कैसे करें)

नमक वाले पानी के फायदे बुखार में - Salt water treatment for fever in hindi

बुखार से निपटने में भी नमक का पानी बहुत फायदेमंद है। बुखार से निपटने के लिए नमक युक्त ठंडे पानी में कपड़े को भिगोकर जब सिर पर लगाया जाता है तो यह शरीर से गर्मीं को कपड़े पर स्थानांतरित करता है और नमक में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखते हैं । इस प्रकार यह आपके शरीर के तापमान को कम करने में मदद करता है। बुखार से निपटने के लिए एक कप ठंडे पानी में आधा चम्मच नमक डालकर एक कपड़े को उसमें भिगोकर 2 से 3 मिनट के लिए माथे पर रखें।

(और पढ़ें – बुखार के घरेलू उपचार)

नमक और पानी का उपयोग संवेदनशील दातों के लिए - Salt water rinse for sensitive teeth in hindi

यदि आप आइस क्रीम, गर्म चाय या कॉफी पीने से डरते हैं और दाँत की संवेदनशीलता से परेशान हैं तो दाँत की संवेदनशीलता से निपटने के लिए इस होम रेमेडी का प्रयोग कर सकते हैं। नमक का पानी एक जीवाणुरोधी एजेंट के रूप में कार्य करता है क्योंकि यह बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है। यह मसूड़ों को जीवाणुओं के हमले से बचाने में मदद करता है और इस प्रकार संवेदनशील दातों से छुटकारा दिलाता है। दातों की संवेदनशीलता से बचने के लिए एक गिलास गर्म पानी में 2 छोटी चम्मच नमक मिलाकर नियमित रूप से कुल्ला करें।

(और पढ़ें - दांत दर्द के घरेलू उपाय)

नमक पानी के गुण दूर रखे गले का दर्द - Warm salt water gargle for tonsillitis in hindi

यदि आपका बच्चा गले के दर्द की समस्या के बारे में आपको बताता है जो टॉन्सिलिटिस या बढ़े हुए एडिनॉइड में हो सकती है, तो इस समस्या से निपटने के लिए आप नमक के पानी का उपयोग कर सकते हैं। नमक की अधिक मात्रा उन ऊतकों में भरे हुए द्रव को बाहर निकालती है जो सूजे हुए हैं और इस तरह गले की सूजन को कम करने के साथ दर्द से भी राहत दिलाने में मदद करती है। निर्जलीकरण के कारण बढ़ने वाले बैक्टीरिया को भी रोकने में नमक का पानी मदद करता है। इस समस्या से बचने के लिए एक कप गर्म पानी में एक छोटा चम्मच नमक डाल कर गरारे करें। लेकिन यह सुनिश्चित कर लें कि आपका बच्चा ऐसा करने में असहज महसूस न करे क्योंकि नमक का पानी पीने से उल्टी भी हो सकती है।

(और पढ़ें - गले के दर्द का उपाय)

नमक युक्त पानी का उपयोग फटी हुई एड़ियों पर - Saltwater good for cracked heels in hindi

यदि आप फटी हुई एड़ियों के कारण रात को सो नहीं पा रहे हैं तो आप इस आसान और सरल घरेलू उपाय को आजमा सकते हैं। नमक का पानी न केवल पैरों को मुलायम बनाता है, फटी हुई एड़ियों का उपचार करता है और मृत त्वचा को हटाता है बल्कि त्वचा के संक्रमण और जलन से पीड़ित होने के खतरे को भी कम करता है। इस समस्या से बचने के लिए थोड़े गर्म पानी में नमक डालें और 10 मिनट के लिए अपने पैरों को भिगोएँ। अब एक प्युमिस पत्थर की मदद से मृत त्वचा से छुटकारा पाने के लिए पैरों को रगड़ें। प्रभावी परिणाम पाने के लिए बिस्तर पर जाने से पहले सप्ताह में कम से कम दो बार ऐसा करें।

(और पढ़ें - दादी माँ के घरेलू नुस्खे और फटी एड़ियों का इलाज)

नमक पानी से फायदा बदबूदार पैरों की समस्या में - Salt water for smelly feet in hindi

नमक पानी बदबूदार पैरों की समस्या से निपटने के लिए एक सस्ता और प्रभावी प्राकृतिक उपाय है। बदबूदार पैर ख़राब स्वच्छता के कारण हो सकते हैं। यह जीवाणु संक्रमण के एक अंतर्निहित कारण को भी दर्शा सकते हैं। नमक का पानी प्राकृतिक रूप से जीवाणुरोधी है और जीवाणुओं को बढ़ने से रोकता है। इस प्रकार बदबूदार पैरों से निपटने में नमक पानी आपकी मदद करता है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आधे बाल्टी गर्म पानी में एक मुट्ठी सेंधा नमक डाल कर उसमें अपने पैरों को कुछ देर के लिए डुबोएं। अब अपने पैरों को ठंडे पानी से धो लें या बर्फ के टुकड़ों को पैरों पर रगड़ें। अत्यधिक पसीने से बचने के लिए यह नियमित रूप से करें ताकि बदबूदार पैरों से आपको छुटकारा मिल सके।

(और पढ़ें - पैरों की बदबू का उपाय)

नमक के पानी के फायदे हाइड्रेशन के लिए - Salt Water for Hydration in Hindi

अधिकतर हमें अधिक पानी पीने के लिए कहा जाता है। हालांकि 'ईट फॉर हीट' के लेखक मैट स्टोन के अनुसार, खाने एवं पीने को एक मेटाबोलिक को ध्यान में रखते हुए बताया गया है कि बहुत अधिक सादा पानी पीने से शरीर पतला हो सकता है, और जब ऐसा होता है, तो यह शरीर और धीमी चयापचय पर तनाव डालता है।

(और पढ़ें - समुद्री नमक के फायदे)

सेलुलर स्वास्थ्य खनिजों और इलेक्ट्रोलाइट्स की एक विशेष एकाग्रता पर निर्भर होता है। जब हम सादे पानी की बड़ी मात्रा पीते हैं, तो बाह्य तरल पदार्थ पतला हो जाता है जिससे तनाव की प्रतिक्रिया उत्पन्न होती है और एड्रेनालाईन रिलीज़ होते हैं। लेकिन प्राकृतिक नमक के साथ पानी का सेवन करने से, शरीर को उस पानी को अवशोषित करने और उपयोग करने की अनुमति मिलती है जो आप पी रहे हैं। इसलिए ऐसे में प्राकृतिक नमक और पानी इस प्रक्रिया को धीमा कर देता है और पानी के गुणों को अवशोषित करने में मदद मिलती है। 

(और पढ़ें - पानी की कमी के लक्षण)

नमक का पानी पीने के फायदे रखें पाचन को स्वस्थ - Drinking Salt Water for Digestion in Hindi

नमक का पानी मुँह में लार ग्रंथियों को सक्रिय करता है। पेट के अंदर, प्राकृतिक नमक हाइड्रोक्लोरिक एसिड और प्रोटीन-पाचन एंजाइम को उत्तेजित करता है, ये दोनों भोजन को तोड़ने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह पानी लिवर में भी एंजाइम को उत्तेोजित करने में मदद करता है जिससे खाना पचने में आसानी होती है। पेट के एसिड को उत्तेजित करने में अपरिष्कृत और प्राकृतिक नमक की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता है। पेट हाइड्रोक्लोरिक एसिड को स्रावित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो हानिकारक जीवाणु, कवक और खमीर जैसे बाहरी तत्वों से होने वाले रोगों को मारता है। यह प्रोटीन को अधिक पचाने में मदद करता है। कम हाइड्रोक्लोरिक एसिड वाले लोग इन प्रोटीनों को पचाने में असमर्थ होते हैं, जिसके कारण गैस, सूजन और खाद्य एलर्जी हो सकती है। 

(और पढ़ें - पाचन क्रिया बढाने के उपाय)

नमक के पानी का उपयोग करे सूजन को कम - Salt Water Reduce Inflammation in Hindi

मानव शरीर को 1.5 चम्मच या 8 ग्राम प्रति दिन नमक की आवश्यकता होती है। यदि हम इस आवश्यक मात्रा में सोडियम का सेवन नहीं करते हैं, तो शरीर 'सोडियम-बोरिंग' नामक एक संकट मोड (Crisis mode) में बदल जाता है। उचित मात्रा में नमक का सेवन द्रव संतुलन और रक्तचाप को बनाए रखने में मदद करता है। नमक के कम सेवन के साथ, रेनिन नामक एक एंजाइम और एक हार्मोन जिसे एल्दोस्टेरोन कहते हैं, तेजी से बढ़ने लगते हैं। यदि यह स्थिति लंबे समय तक रहती है तो उच्च रेनिन और एल्दोस्टेरोन का स्तर शरीर में संचरण संबंधी क्षति और सूजन को बढ़ाने वाले एजेंट को बढ़ाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, नमक से पुराने रोगों जैसे कि मेटाबोलिक सिंड्रोम, हृदय रोग बढ़ने का खतरा भी रहता है। 

(और पढ़ें - सूजन कम करने के उपाय)

नमक पानी के फायदे करें अच्छी नींद में मदद - Salt Water for Better Sleep in Hindi

नमक, विशेष रूप से प्राकृतिक अपरिष्कृत नमक, तनाव को कम करने में मदद करता है। ज्यादातर लोगों में तनाव का मुख्य कारण भरपूर नींद न लेना होता है।

वास्तव में यह नमक वाला पानी, इस समस्या के लिए आपकी मदद कर सकता है। शोध से पता चलता है कि प्राकृतिक नमक का तनाव के स्तर पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता है। जर्नल ऑफ़ न्यूरोसिस में प्रकाशित एक आलेख के अनुसार, यह आपके रक्तप्रवाह में सोडियम के स्तर में वृद्धि तथा तनाव को कम कर सकती है। नमक चिंता कम करने में मदद करता है और अपने दिमाग से उन सभी चिंताजनक परिस्थितियों को पैदा करने से रोकता है जो आपको सारी रात जगा कर रखती हैं।

(और पढ़ें - काले नमक के फायदे)

इतना ही नहीं, गर्म नमक पानी पीने से आपका ऑक्सीटोसिन का स्तर बढ़ सकता है। ऑक्सीटोसिन एक हार्मोन है जो आपको शांत और आराम महसूस करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - अच्छी नींद के उपाय)

शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालें नमक का पानी - Salt Water for Detoxification in Hindi

खनिजों में परिपूर्ण होने के कारण, यह पानी शरीर को अपनी प्राकृतिक डेटोक्सिफिकेशन प्रक्रिया में मदद करता है। यह पानी भी स्वाभाविक रूप से जीवाणुरोधी है और खतरनाक बैक्टीरिया से शरीर को छुटकारा दिला सकता है। बहुत से लोग कमजोर पाचन से पीड़ित होते हैं, क्योंकि उनके जठरांत्र संबंधी मार्ग में समय के साथ अपरिचित भोजन और अपशिष्ट पदार्थ पहुंचते हैं। यह अपशिष्ट पदार्थ धीरे-धीरे आपके पेट, छोटे आंत और बृहदान्त्र में उत्तेजित हो सकता है, जिससे हानिकारक जीवाणु और अन्य बाहरी तत्व बढ़ने लगते हैं। गर्म नमक पानी अनिवार्य रूप से आपके पाचन तंत्र को साफ करके और तेजी से आंत्र के कार्यों को उत्तेजित करके उन अपशिष्ट पदार्थों और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। साथ ही यह पाचन को दुरुस्‍त करके शरीर की कोशिकाओं तक पोषण पहुंचाता है।

(और पढ़ें - बॉडी को डिटॉक्स कैसे करें)

नमक के पानी के लाभ हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए - Salt Water for Bones in Hindi

ऑस्टियोपोरोसिस और अन्य हड्डियों की विकारों के बारे में एक लोकप्रिय सिद्धांत यह है कि शरीर रक्त में अम्लता को जीवित रखने के लिए हड्डियों से कैल्शियम और अन्य खनिजों का उपयोग करता है। नमक का पानी हड्डियों के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करने के लिए जाना जाता है, क्योंकि यह स्वाभाविक रूप से स्वस्थ खनिजों से भरपूर होता है और इसमें क्षारीय प्रभाव मौजूद होता है।

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस)

साल्ट वाटर फॉर स्किन - Salt Water for Skin in Hindi

प्राकृतिक नमक में खनिज होते हैं जो आपकी त्वचा की देखभाल में मदद करते हैं जिससे आप बहुत ही अच्छा महसूस कर सकते हैं। इसमें मौजूद क्रोमियम मुँहासे से लड़ता है और त्वचा के संक्रमण को कम करता है। सल्फर त्वचा को स्वच्छ और चिकना रखने में मदद करता है। यह ड्राई खोपड़ी, एक्जिमा और चकत्ते के समस्या को भी ठीक करने में मदद कर सकता है, जो अक्सर सल्फर की कमी के कारण होते हैं। जस्ता घावों को तेजी से भरता है, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और तेल ग्रंथियों की गतिविधि को नियंत्रित करता है। आयोडीन ऑक्सीजन की खपत और त्वचा की चयापचय दर को बढ़ाने में मदद करता है।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए तेल)

नमक के पानी में नहाने के फायदे हैं सोरायसिस में लाभकारी - Salt Water for Psoriasis in Hindi

चूंकि साल्ट वाटर थेरेपी का उपयोग दुनिया भर में सदियों से किया जाता है, जिसमें प्राचीन ग्रीस भी शामिल है। यह त्वचा पर अद्भुत तरीके से कार्य करता है। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि नमक पानी के स्नान से छालरोग जैसा रोग भी ठीक हो सकता है। कहा जाता है कि नमक पानी आपकी त्वचा को निम्नलिखित तरीकों से लाभ पहुंचाता है:

(और पढ़ें - सेंधा नमक के फायदे)

  1. यह रोम छिद्रों को बंद करता है,
  2. त्वचा से अतिरिक्त तेल को सोख लेता है, (और पढ़ें - रूखी त्वचा की देखभाल)
  3. त्वचा में तेल के उत्पादन को संतुलित रखता है,
  4. मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है, (और पढ़ें - मुंहासों के निशान मिटाने के उपाय)
  5. निशान को कम करता है,
  6. मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाता है,
  7. त्वचा की प्राकृतिक पीएच को पुनर्स्थापित करता है,
  8. हाइड्रेशन बढ़ाता है,
  9. सूजन कम करता है इत्यादि।

(और पढ़ें - सोरायसिस के घरेलू उपाय)

नमक का पानी पीएं वजन कम करने के लिए - Drinking Salt Water to Lose Weight in Hindi

आप नमक के पानी का सेवन करके अपना वजन कम कर सकते हैं। लेकिन यह फैट वेट को कम नहीं करता है बल्कि पानी से होने वाले वजन को कम करता है। पानी में नमक की अत्यधिक मात्रा के कारण नमकीन पेय से आपको 'आसमाटिक डायरिया' हो जाता है। नमक का पानी आपकी आंतों की सफाई करता है, जिससे आपका शरीर पानी को अवशोषित करने में असमर्थ होता है जो दस्त का कारण बनता है। 

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

एक्ने का इलाज करें नमक के पानी से - Salt Water Good for Acne in Hindi

यदि आप समुद्र के पास रहने वाले हैं तो आप बहुत भाग्यशाली हैं। लेकिन अगर आप तट पर नहीं रहते हैं, तो अगली बार एक्ने ब्रेकआउट होने पर कुछ गर्म नमक पानी का उपयोग करें। समुद्री नमक को एक कप पानी में मिक्स करें और कॉटन बॉल की मदद से एक्ने या मुँहासे के ऊपर लगाएं और ड्राई होने दें। यह उपाय बहुत ही लाभकारी है।

(और पढ़ें - पिम्पल्स हटाने के घरेलू उपाय)

  1. अध्ययनों से पता चलता है कि बहुत अधिक मात्रा में नमक का सेवन करने से शरीर में से मूत्र के माध्यम से अधिक कैल्शियम निकलता है। लिनुस पॉलिंग संस्थान के मुताबिक, आपकी हड्डियों को इस कैल्शियम की आवश्यकता होती है और इस तरह नमक पानी लगातार लेने से समय के साथ वे कमजोर हो सकती है। ऐसे में आप ऑस्टियोपोरोसिस के लिए अधिक संवेदनशील हो सकते हैं, ऐसी स्थिति में फ्रैक्चर की अधिक संभावना होती हैं। (और पढ़ें - हड्डी टूटने पर उपचार)
  2. मूत्र कैल्शियम में वृद्धि से गुर्दे की पथरी भी हो सकती है। जब ये पत्थर मूत्र पथ में फंस जाते हैं, तो वे रक्तस्राव और गंभीर दर्द पैदा कर सकते हैं और मूत्र के प्रवाह को रोक सकते हैं। (और पढ़ें - यूरिन इन्फेक्शन सिम्पटम्स)
  3. आपके शरीर में सोडियम का उच्च स्तर आपके रक्तचाप को बढ़ाता है और रक्त की मात्रा में वृद्धि पैदा करता है। उच्च रक्तचापदिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, यहीं कारण है कि नमक का ज्यादा सेवन आपके हृदय संबंधी स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है।

(और पढ़ें - ज्यादा नमक खाने के नुकसान)

और पढ़ें ...