हेपेटाइटिस सी गंभीर बीमारी है, जो लिवर को नुकसान पहुंची है. साथ ही लिवर सिरोसिस, लिवर फेलियर और लिवर कैंसर जैसी जटिलाओं का कारण भी बन सकती है. यह समस्या हेपेटाइटिस सी वायरस (एचसीवी) के कारण होती है. हेपेटाइटिस सी संक्रामक होता है, जो एक व्यक्ति से दूसरे में फैल सकता है. इसलिए, हेपेटाइटिस सी वाले व्यक्ति के निजी सामान जैसे- रेजर, तौलिया, सीरिंज आदि चीजों को नहीं छूना चाहिए. ऐसे में यह शंका होना भी सही है कि हेपेटाइटिस सी में सेक्स करना सुरक्षित है या नहीं.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि हेपेटाइटिस सी से ग्रस्त व्यक्ति के साथ सेक्स करना चाहिए या नहीं -

(और पढ़ें - हेपेटाइटिस सी टेस्ट)

  1. क्या सेक्स से हेपेटाइटिस सी फैल सकता है?
  2. क्या ओरल सेक्स से हेपेटाइटिस-सी फैलता है?
  3. सेक्स से हेपेटाइटिस सी को फैलने से रोकने के उपाय
  4. सारांश
क्या हेपेटाइटिस सी में सेक्स करना सुरक्षित है? के डॉक्टर

सेक्स के जरिए हेपेटाइटिस सी होने की आशंका कम होती है, लेकिन इस बीमारी के फैलने की कुछ प्रतिशत आशंका जरूर होती है. अगर कोई स्वस्थ व्यक्ति हेपेटाइटिस सी से ग्रस्त व्यक्ति के साथ संबंध बनाता है, तो उसे भी संक्रमण होने का जोखिम बना रहता है. ऐसा निम्न परिस्थतियों में होता है -

(और पढ़ें - हेपेटाइटिस-सी में डाइट)

इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि हेपेटाइटिस-सी ओरल सेक्स के जरिए फैल सकता है. यह तभी संभव हो सकता है जब ओरल सेक्स करने वाले या सेक्स पार्टनर के शरीर पर कहीं ब्लड मौजूद हो. यह जोखिम निम्न प्रकार से संभव है -

ओरल सेक्स के मुकाबले एनल सेक्स के जरिए हेपेटाइटिस-सी होने की आशंका ज्यादा होती है. ऐसा इसलिए है, क्योंकि 2013 के अध्ययन के अनुसार, संभोग के दौरान रेक्टल टिश्यू के फटने की आशंका अधिक होती है.

(और पढ़ें - हेपेटाइटिस का सेक्स लाइफ पर असर)

अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ सेक्स कर रहे हैं, जिसे हेपेटाइटिस सी है, तो आप निम्न उपायों को आजमा सकते हैं -

  • सेक्स या ओरल सेक्स के दौरान कंडोम का उपयोग जरूर करना चाहिए. 
  • यौन संबंध बनाने के दौरान इस बात का ध्यान रखें कि कंडोम या डेंटल डैम फट न जाए.
  • अगर सेक्स पार्टनर हेपेटाइटिस सी का रोगी है और उसके जननांग पर कोई घाव या कट है, तो इस स्थिति में यौन संबंध बनाने से बचना चाहिए.
  • अगर पार्टनर को हेपेटाइटिस सी और दूसरे को एचआईवी है, तो इस स्थिति में सेक्स करने से बचना चाहिए, क्योंकि एचआईवी वाले लोगों को हेपेटाइटिस सी होने की आशंका अधिक होती है.

(और पढ़ें - वायरल हेपेटाइटिस का इलाज)

हेपेटाइटिस सी एक वायरल इंफेक्शन है. यह रक्त के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे में आसानी से फैल सकता है. अगर स्वस्थ व्यक्ति किसी भी तरीके से संक्रमित व्यक्ति के रक्त के संपर्क में आता है, तो वह भी हेपेटाइटिस सी से संक्रमित हो सकता है. अगर आप सुरक्षित तरीके से यौन संबंध बनाते हैं, तो हेपेटाइटिस सी के होने की आशंका कम होती है. लेकिन अगर संक्रमित व्यक्ति के जननांगों पर चोट, घाव या कोई कट है, और इस स्थिति में संबंध बनाया जाता है तो स्वस्थ व्यक्ति के संक्रमित होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है. इसलिए अगर आप किसी हेपेटाइटिस सी वाले व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाने का सोच रहे हैं, तो अपनी सुरक्षा का पूरा ख्याल रखें.

(और पढ़ें - हेपेटाइटिस का आयुर्वेदिक इलाज)

हेपेटाइटिस की समस्या न हो, इसके लिए जरूरी है कि लिवर ठीक तरह से काम करे और लिवर के स्वास्थ्य के लिए नियमित रूप से Myupchar Ayurveda Yakritas का सेवन करना जरूरी है -

Dr. Murugan N

Dr. Murugan N

हीपैटोलॉजी (यकृत पित्त अग्न्याशय चिकित्सा )
18 वर्षों का अनुभव

Dr. Ashwin P Vinod

Dr. Ashwin P Vinod

हीपैटोलॉजी (यकृत पित्त अग्न्याशय चिकित्सा )
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Rathod Bhupesh

Dr. Rathod Bhupesh

हीपैटोलॉजी (यकृत पित्त अग्न्याशय चिकित्सा )
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Datta Sawangikar

Dr. Datta Sawangikar

हीपैटोलॉजी (यकृत पित्त अग्न्याशय चिकित्सा )
3 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ