लिवर खराब (फेल) होना - Liver Failure in Hindi

Dr. Rajalakshmi VK (AIIMS)MBBS

February 21, 2018

March 06, 2020

लिवर खराब होना
लिवर खराब होना

लिवर खराब (फेल) होना क्या होता है ?

लिवर, शरीर का दूसरा सबसे बड़ा अंग होता है और शरीर में कई अलग-अलग कार्य करता है। लिवर आपके खाने और पीने की सभी चीजों की प्रक्रिया करता है। आपका लिवर आपके शरीर के उपयोग के लिए भोजन और पेय पदार्थों को ऊर्जा और पोषक तत्वों में परिवर्तित करता है। यह आपके रक्त में से हानिकारक पदार्थों को फिल्टर करता है और आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करता है।

(और पढ़ें - संक्रमण का इलाज)

लिवर खराब तब माना जाता है जब लिवर के बड़े हिस्से खराब हो जाते हैं और उनका इलाज संभव नहीं होता है एवं लिवर कार्य करने में सक्षम नहीं रहता है।

लिवर खराब होना एक आपातकालीन स्थिति है, जिसे तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता होती है। अक्सर, लीवर धीरे-धीरे कई सालों में खराब होता है। हालांकि, लिवर खराब होने का एक तीव्र प्रकार होता है (जो दुर्लभ है) तथा इसमें लिवर तेजी से खराब होता है और शुरू में इसका पता लगाना मुश्किल होता है।

(और पढ़ें - जिगर को साफ रखने के लिए आहार)

लिवर खराब (फेल) होने के प्रकार - Types of Liver Failure in Hindi

लिवर खराब होने के कितने प्रकार होते हैं ?

लिवर खराब होने के निम्नलिखित दो प्रकार होते हैं -

एक्यूट (तीव्र) प्रकार-
लिवर खराब होने का एक्यूट प्रकार लिवर को तीव्र गति से प्रभावित करता है। आप कुछ हफ़्तों या दिनों में लिवर की क्षति का अनुभव करेंगे। यह अचानक और बिना किसी पूर्व चेतावनी या लक्षणों के हो सकता है। इसके सामान्य कारण हैं मशरूम के द्वारा विषाक्तता या ड्रग्स का अत्यधिक उपयोग, जो बहुत अधिक एसिटामिनोफेन (टाइलेनॉल) लेने से हो सकता है।

(और पढ़ें - मशरूम के फायदे)

क्रॉनिक प्रकार-
लिवर खराब होने का क्रॉनिक प्रकार बहुत धीमी गति से प्रभावित करता है। इसके लक्षण प्रदर्शित होने में महीनों या साल लग सकते हैं। यह अक्सर सिरोसिस के परिणामस्वरूप होता है, जो आमतौर पर लम्बे समय तक शराब के उपयोग के कारण होता है।

(और पढ़ें - फैटी लीवर का इलाज)

लिवर फेल (खराब) होने के लक्षण - Liver Failure Symptoms in Hindi

लिवर खराब होने के लक्षण क्या होते हैं ?

लिवर खराब होने के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं -

यह लक्षण अन्य समस्याओं या विकारों की वजह से भी हो सकते हैं, जिसकी वजह से लिवर की खराबी का निदान करने में कठिनाई हो सकती है। कुछ लोगों में कोई लक्षण नहीं होते हैं, जब तक कि उनके लिवर एक घातक अवस्था तक खराब नहीं हो जाते।

(और पढ़ें - लिवर फंक्शन टेस्ट क्या है)

लिवर खराब (फेल) होने के कारण - Liver Failure Causes in Hindi

लिवर फेल (खराब) क्यों होता है?

आपका लिवर किसी भी प्रकार के लिवर के विकार के कारण खराब हो सकता है। जैसे -

  • वायरल हेपेटाइटिस (आमतौर पर हेपेटाइटिस बी)
  • सिरोसिस और
  • अल्कोहल या एसिटामिनोफेन जैसी दवाओं से लिवर को नुक्सान होना।

लिवर खराब होने से पहले लिवर का एक बड़ा हिस्सा खराब होता है।
आपका लिवर कई दिनों या हफ्तों (एक्यूट प्रकार) या धीरे-धीरे महीनों या वर्षों (क्रॉनिक प्रकार) तक खराब हो सकता है।

(और पढ़ें - हेपेटाइटिस बी टेस्ट क्या है)

लिवर खराब होने के जोखिम कारक क्या होते हैं ?

लिवर खराब होने के मुख्य जोखिम कारक निम्नलिखित हैं -

  • सिरोसिस।
  • लिवर की कोई लम्बी बीमारी।
  • लिवर रोग
  • अलकोहाल के कारण होने वाली लिवर की बीमारी।

(और पढ़ें - फैटी लीवर के घरेलू उपाय)

लिवर खराब होने से बचाव - Prevention of Liver Failure in Hindi

लिवर खराब होने से बचाव कैसे होता है?

लिवर को खराब होने से रोकने का सबसे आसान तरीका है अपने शराब पीने के स्तर को कम करना।

(और पढ़ें - शराब छुड़ाने के उपाय)

इसके अन्य बचाव के उपाय निम्नलिखित हैं -

  1. यौन सम्बन्ध बनाते समय कंडोम का उपयोग करें। (और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स के तरीके और sex kaise kare)
  2. नशीली दवाओं का उपयोग न करें या सुई को शेयर न करें।
  3. हेपेटाइटिस के लिए टीका लगवाएं।  (और पढ़ें - हेपेटाइटिस ए के उपचार)
  4. जहरीले रसायनों से अपनी त्वचा को बचाएं। (और पढ़ें - त्वचा को सुरक्षित रखने के उपाय)
  5. हवादार क्षेत्रों में एयरोसोल स्प्रे का उपयोग करें।

अगर आप बताए गए लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं, तो आपको अपने चिकित्सक से बात करें। हो सकता है आपका लिवर खराब न हो लेकिन अगर ऐसा होता है, तो इसका जल्दी पता लगाना महत्वपूर्ण है। उचित उपचार से आप लिवर रोग को नियंत्रित कर सकते हैं और सामान्य जीवन जी सकते हैं।

 (और पढ़ें - लिवर कैंसर की सर्जरी)

लिवर फेल होने का परीक्षण - Diagnosis of Liver Failure in Hindi

लिवर खराब होने का परीक्षण/ निदान कैसे होता है ?

यदि आपको समस्याएं आ रही हैं, तो अपने चिकित्सक से मदद लें। अगर आप अत्यधिक शराब का उपयोग करते थे, आपको आनुवंशिक असामान्यताएं हैं या अन्य चिकित्सा समस्याएं हैं, तो अपने चिकित्सक को अवश्य बताएं।

(और पढ़ें - स्टूल टेस्ट क्या है)

आपके चिकित्सक को आपके आवश्यक परीक्षणों के बारे में पता होगा। कई अलग-अलग ब्लड टेस्ट हैं जो रक्त में किसी भी असामान्यता का पता लगाने के लिए किये जाते हैं, जिनसे लिवर खराब होने का पता भी लग सकता है।

(और पढ़ें - ब्लड टेस्ट कैसे होता है)

बायोप्सी एक सामान्य परीक्षण है जिसका उपयोग लिवर के नुकसान को निर्धारित करने के लिए किया जाता है। लिवर बायोप्सी के दौरान, आपके लिवर का एक छोटा सा टुकड़ा निकाला जाता है और उसकी जांच की जाती है। अगर निदान जल्दी हो जाता है, तो लिवर के नुकसान को कुछ ठीक किया जा सकता है।
क्षतिग्रस्त लिवर खुद ठीक हो सकता है या दवाएं इस प्रक्रिया में मदद कर सकती हैं।

(और पढ़ें - बायोप्सी क्या होता है)

लिवर फेल (खराब) होने का इलाज - Liver Failure Treatment in Hindi

लिवर फेल (खराब) होने पर उपचार कैसे किया जाता है?

कारणों के आधार पर लिवर खराब होने पर निम्नलिखित उपचार किए जाते हैं -

  • यदि जल्दी पता चल जाए, तो एसिटामिनोफेन की अत्यधिक मात्रा के कारण हुई लिवर की खराबी का कभी-कभी इलाज इसके प्रभाव को ठीक कर के किया जाता है।
  • यदि कोई वायरस लीवर खराब होने का कारण बनता है, तो जब तक वायरस शरीर में रहता है तब तक इसके लक्षणों के इलाज के लिए अस्पताल में सहायक देखभाल दी जा सकती है। इन मामलों में, लिवर कभी-कभी अपने आप ही ठीक हो जाता है।
  • अगर आपका लिवर लम्बे समय से क्षतिग्रस्त होने के कारण खराब हुआ है, तो प्रारंभिक उपचार का लक्ष्य होता है लिवर के उस हिस्से को बचाना जो अभी तक ठीक है। (और पढ़ें - लिवर को साफ करने के लिए जूस)
  • यदि यह संभव नहीं है, तो एक लिवर प्रत्यारोपण आवश्यक होता है। लिवर प्रत्यारोपण एक सामान्य प्रक्रिया है, जो अक्सर सफल होता है।

(और पढ़ें - लिवर की प्रत्यारोपण सर्जरी)

लिवर खराब होने की जटिलताएं - Liver Failure Complications in Hindi

लिवर खराब होने की क्या जटिलताएं होती हैं ?

लिवर खराब होने की जटिलताएं निम्नलिखित हैं -

  • गुर्दे की विफलता - यह अक्सर लिवर खराब होने के बाद होती है, विशेषकर एसिटामिनोफिन विषाक्तता के परिणामस्वरूप, जो जिगर और गुर्दे दोनों को नुकसान पहुंचाता है। (और पढ़ें - किडनी रोग का उपचार)
  • असामान्य रक्तस्त्राव का विकार - शरीर में उचित रूप से खून का थक्का बनाने में असमर्थता के कारण शरीर में असामान्य रक्तस्त्राव का विकार हो सकता है। (और पढ़ें - खून का थक्का जमने के कारण)
  • संक्रमण - श्वसन और यूरिन इन्फेक्शन और साथ ही साथ ब्लड इन्फेक्शन भी लिवर खराब होने के कारण हो सकते हैं। (और पढ़ें - ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण का इलाज)
  • सेरेब्रल एडिमा (मस्तिष्क में सूजन) - लिवर खराब होने से मस्तिष्क में सूजन हो सकती है जिससे अपरिवर्तनीय मस्तिष्क की क्षति और मृत्यु भी हो सकती है। (और पढ़ें - ब्रेन इन्फेक्शन का इलाज)
  • कोमा - अगर लिवर ठीक से कार्य नहीं करता है, तो मानसिक भ्रम, ध्यान देने में कठिनाई और कोमा की स्थिति भी हो सकती है।

(और पढ़ें - मानसिक रोग का इलाज)



संदर्भ

  1. Science Direct (Elsevier) [Internet]; Acute liver failure
  2. American Family Physician. Cirrhosis and Chronic Liver Failure: Part I. Diagnosis and Evaluation. University of Michigan Medical School, Ann Arbor,Michigan; September 1, 2006, Volume 74, Number 5
  3. Grek A, Arasi L. Acute Liver Failure.. AACN Adv Crit Care. 2016 Oct;27(4):420-429. PMID: 27959298
  4. Shah NJ, John S. Acute and Chronic Liver Failure. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2019 Jan-.
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Liver Diseases

लिवर खराब (फेल) होना के डॉक्टर

Dr. Abhay Singh Dr. Abhay Singh गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव
Dr. Suraj Bhagat Dr. Suraj Bhagat गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Smruti Ranjan Mishra Dr. Smruti Ranjan Mishra गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Sankar Narayanan Dr. Sankar Narayanan गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

लिवर खराब (फेल) होना की दवा - Medicines for Liver Failure in Hindi

लिवर खराब (फेल) होना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹542.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹313.25

20% छूट + 5% कैशबैक


₹255.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹245.7

20% छूट + 5% कैशबैक


₹237.3

20% छूट + 5% कैशबैक


₹220.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹161.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹200.9

20% छूट + 5% कैशबैक


₹174.3

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 104 entries

लिवर खराब (फेल) होना की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Liver Failure in Hindi

लिवर खराब (फेल) होना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

लिवर खराब (फेल) होना पर आम सवालों के जवाब

सवाल लगभग 2 साल पहले

मैं एक हफ्ते में अपने एसजीपीटी और एसजीओटी लेवल को कम करना चाहता हूं। मेरा एसजीपीटी 136 और एसजीओटी 81 है। क्या मेरा लिवर खराब है?

Dr. Abhijit MBBS , सामान्य चिकित्सा

आपका एसजीपीटी और एसजीओटी लेवल बहुत ज्यादा है। आपका लिवर डैमेज नहीं हुआ बल्कि आपको लिवर बढ़ने की प्रॉब्लम है। अगर आप किसी तरह का नशा या शराब पीते है तो इसे तुरंत छोड़ दें और ऑयली व तली चीजे एवं तीखे खाने से बचें।

सवाल लगभग 2 साल पहले

मेरी मां को किडनी इन्फेक्शन है और उनका लिवर भी ठीक से काम नहीं कर पा रहा। उन्हें पीलिया के साथ लो प्लेटलेस्ट की प्रॉब्लम है। मैं क्या करूं?

Dr. Anjum Mujawar MBBS , मधुमेह चिकित्सक

इस जानकारी की मदद से हम नहीं जान सकते हैं कि असल में आपकी मां को क्या प्रॉब्लम है। गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजिस्ट और नेफ्रोलॉजिस्ट से मिलकर अपनी मां की जांच करवा लें।

सवाल लगभग 2 साल पहले

मैंने लिवर फंक्शन टेस्ट करवाया था जिसमें एसजीपीटी लेवल 81.0 है, क्या एसजीपीटी की उच्च मात्रा लिवर के खराब होने का संकेत है? मेरा एसजीओटी का लेवल भी थोड़ा ज्यादा है। तीखा ज्यादा खाने पर मुझे एसिडिटी हो जाती है, मैं क्या करूं?

Dr. Anjum Mujawar MBBS , मधुमेह चिकित्सक

एंटीबायोटिक दवा लेने या बुखार या वायरल संक्रमण से ग्रस्त होने पर भी ओटी (ऑर्थोटोलिडाइन) और पीटी (प्रोथ्रॉम्बिन टाइम) लेवल बढ़ सकता है। एसजीपीटी लेवल 81.0 होना गंभीर बात नहीं है। आपको कोई लिवर रोग नहीं है और आपका लिवर भी खराब नहीं है। ऑयली चीजें न खाएं।

सवाल लगभग 2 साल पहले

डॉक्टर ने कहा है कि मेरा लिवर 80% डैमेज हो चुका है, अभी मेरे शरीर में दर्द होता है और कभी-कभी काम करते समय मेरा नर्वस सिस्टम (तंत्रिका तंत्र) भी ब्लॉक हो जाता है। मैं क्या करूं?

Dr. Kumawat Vijay Kumar MBBS , सामान्य चिकित्सा

आप डाइट में हाई प्रोटीन और कम नमक का प्रयोग करें। रात को खाना खाने के बाद lactihep 30 एमएल सिरप पिया करें। सीबीसी एलएफटी एस यूरिआ और क्रिएटिनिन टेस्ट करवाएं।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ