सेबोरीएक केरेटोसिस - Keratosis, Seborrheic in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

June 28, 2017

December 14, 2020

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
सेबोरीएक केरेटोसिस
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

सेबोरीएक केरेटोसिस त्वचा से जुड़ी एक समस्या है। इसमें त्वचा में गैर कैंसरकारी वृद्धि होने लगती है। यह दिखने में भद्दे हो सकते हैं, लेकिन हानिकारक और संक्रामक नहीं होते हैं। हालांकि, कुछ मामलों में सेबोरीएक केरेटोसिस और मेलेनोमा (एक तरह का त्वचा कैंसर) में अंतर करना मुश्किल हो सकता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है वैसे-वैसे इस समस्या का जोखिम बढ़ता जाता है।

(और पढ़ें - संक्रामक रोग)

सेबोरीएक केराटोसिस क्या है?

सेबोरीएक केराटोसिस में आमतौर पर त्वचा में पर भूरे व काले रंग के स्पॉट दिखने लगते हैं। त्वचा की यह वृद्धि उभरी हुई, पपड़ीदार व मोम जैसी दिखाई दे सकती है। आमतौर पर यह सिर, गर्दन, छाती या पीठ पर दिखाई देते हैं। वैसे तो इन मामलों में उपचार की कोई खास आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन यदि कोई व्यक्ति त्वचा की इन वृद्धि से परेशान है या उसे दिखने में ​बिल्कुल अच्छे नहीं लगते हैं तो वह सर्जरी की मदद से इन्हें निकलवाने का फैसला ले सकते हैं।

सेबोरीएक केराटोसिस के लक्षण क्या हैं? Seborrheic Kratosis Symptoms in Hindi

आमतौर पर इसमें गांठ या मस्से विकसित होने लगते हैं, जो देखने में ऐसे लग सकते हैं जैसे त्वचा पर भूरे रंग की मोम की बूंद गिर गई हो। इनका आकार महीन से लेकर एक इंच तक हो सकता है। सेबोरीएक केराटोसिस के लक्षण निम्नवत हैं :

  • त्वचा के यह उभार भूरे या कुछ मामलों में काले रंग के हो सकते हैं
  • गोल या अंडाकार आकार
  • य​​ह दिखने में अलग से चिपके हुए लग सकते हैं
  • इनका आकार बहुत छोटे से लेकर 1 इंच (2.5 सेंटीमीटर) तक के आसपास हो सकता है
  • इनमें खुजली भी हो सकती है

(और पढ़ें - त्वचा के कैंसर की सर्जरी)

सेबोरीएक केराटोसिस का कारण क्या है? - Seborrheic Kratosis Causes in Hindi

डॉक्टरों को अभी तक सेबोरीएक केराटोसिस का कारण पता नहीं चल पाया है, लेकिन इस पर शोध जारी है। चूंकि सेबोरीएक केराटोसिस के लक्षण परिवार के सदस्यों में पाए गए हैं, इसलिए ऐसा माना जाता है कि किसी जीन में गड़बड़ी इसका एक मुख्य कारण हो सकता है।

सेबोरीएक केराटोसिस के संभावित कारणों और जोखिम कारकों में शामिल हो सकते हैं :

  • सूर्य की रोशनी : कुछ लोगों में सूरज की रोशनी के संपर्क में रहने की वजह से शरीर के कई हिस्सों पर घाव बन सकते हैं। इसमें पराबैंगनी (यूवी) रोशनी भूमिका निभा सकती है। हालांकि, उन हिस्सों में भी सेबोरीएक केराटोसिस के लक्षण दिखाई दे सकते है, जो सूरज की रोशनी के संपर्क में नहीं आते हैं, इसलिए सटीक उत्तर के लिए कुछ और शोध की जरूरत है।
  • आयु : 50 या इससे अधिक आयु वर्ग के लोगों में इस समस्या का जोखिम ज्यादा रहता है। माना जाता है कि सेबोरीएक केराटोसिस किसी भी वायरल संक्रमण से संबंधित नहीं है। यह त्वचा के घर्षण का भी परिणाम हो सकता है।

सेबोरीएक केराटोसिस का निदान कैसे होता है? - Seborrheic Kratosis Diagnosing in Hindi

डर्मेटोलॉजी यानी त्वचा विशेषज्ञ अक्सर सेबोरीएक केराटोसिस के लक्षणों को देखकर इसका निदान कर सकते हैं। यदि उन्हें संदेह है कि यह लक्षण किसी अन्य परेशानी का संकेत हो सकते हैं, तो ऐसे में वे स्किन बायोप्सी कर सकते हैं। इसमें प्रभावित हिस्से का नमूना लेकर उसे लैब टेस्ट के लिए भेजा जाता है, जहां एक प्रशिक्षित पैथोलॉजिस्ट द्वारा माइक्रोस्कोप की मदद से उस नमूने की जांच की जाती है। बायोप्सी की मदद से डॉक्टर इस बारे में निश्चित हो सकते हैं कि यह कैंसरकारी है अथवा गैर-कैंसरकारी।

(और पढ़ें - स्किन कैंसर सेल्स को खत्म करने में मदद कर सकता है चुंबकीय नैनो फाइबर्स से बना ये नया बैंडेज)

सेबोरीएक केराटोसिस का इलाज क्या है? - Seborrheic Kratosis Treatment in Hindi

कई मामलों में सेबोरीएक केराटोसिस का इलाज करने की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, डॉक्टर त्वचा में किसी भी आसामान्य वृद्धि को दूर करने के लिए निम्न तरीके अपना सकते हैं :

स्थिति को ठीक करने का तरीका

त्वचा में असामान्य उभार को हटाने के लिए आमतौर पर तीन तरीके अपनाए जा सकते हैं :

  • क्रायोसर्जरी : क्रायोसर्जरी में लिक्विड नाइट्रोजन का उपयोग करके त्वचा के असामान्य विकास को रोका जा सकता है।
  • इलेक्ट्रोसर्जरी : इस प्रक्रिया से पहले प्रभावित हिस्से को सुन्न किया जाता है फिर इलेक्ट्रिकल करेंट का उपयोग करके ग्रोथ को हटा दिया जाता है।
  • क्यूरेटेज : इसमें असामान्य विकास को जड़ से खत्म करने के लिए स्कूप जैसे सर्जिकल उपकरण का उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग कभी-कभी इलेक्ट्रोसर्जरी के साथ भी किया जाता है।

सेबोरीएक केराटोसिस और मेलानोमा में अंतर - Seborrheic Kratosis vs Melanoma

मेलेनोमा त्वचा कैंसर का एक रूप है, यह जानलेवा स्थिति है जो उन कोशिकाओं (मेलानोसाइट्स) में शुरू होता है जो त्वचा में पिगमेंट (जिससे त्वचा को रंग मिलता है) को नियंत्रित करता है। सेबोरीएक केराटोसिस भी त्वचा से जुड़ी स्थिति है, लेकिन यह मेलेनोमा की तरह कैंसरकारी नहीं है। इसमें होने वाली त्वचा की असामान्य वृद्धि को अक्सर मोल्स कहा जाता है। इसमें दर्द नहीं होता और ना ही यह चिंता का कारण है।



संदर्भ

  1. Ralph Peter Braun et al. Dermoscopy of Pigmented Seborrheic Keratosis. Arch Dermatol. 2002;138(12):1556-1560.
  2. Leonid Izikson et al. Prevalence of Melanoma Clinically Resembling Seborrheic Keratosis. Arch Dermatol. 2002;138(12):1562-1566.
  3. Rashmi GS Phulari et al. Seborrheic keratosis. J Oral Maxillofac Pathol. 2014 May-Aug; 18(2): 327–330. PMID: 25328324
  4. Uwe Wollina. Seborrheic Keratoses – The Most Common Benign Skin Tumor of Humans. Clinical presentation and an update on pathogenesis and treatment options. Open Access Maced J Med Sci. 2018 Nov 25; 6(11): 2270–2275. PMID: 30559899
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Seborrheic keratosis

सेबोरीएक केरेटोसिस के डॉक्टर

Dr. R.K . Tripathi Dr. R.K . Tripathi डर्माटोलॉजी
12 वर्षों का अनुभव
Dr. Deepak Kumar Yadav Dr. Deepak Kumar Yadav डर्माटोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव
Dr. Alpana Mohta Dr. Alpana Mohta डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
Dr. Garima Dr. Garima डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

सेबोरीएक केरेटोसिस की दवा - Medicines for Keratosis, Seborrheic in Hindi

सेबोरीएक केरेटोसिस के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹138.6

20% छूट + 5% कैशबैक


₹154.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹98.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹102.2

20% छूट + 5% कैशबैक


₹98.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹73.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹75.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹122.5

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 269 entries


डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ