किडनी आपके शरीर में मौजूद एक छोटा सा अंग है, जिसका मुख्य काम आपके शरीर में मौजूद खून से अतिरिक्त पानी और दूषित पदार्थों को बाहर निकालना है। ये सभी अपशिष्ट पदार्थ पित्त की थैली में एकत्रित होते हैं और पेशाब के जरिऐ शरीर से बाहर निकल जाते हैं। इस तरह देखा जाए तो आपकी किडनी आपके शरीर के लिए एक महत्वपूण अंग है। अतः यह जरूरी है कि आप अपनी किडनी का पूरा ख्याल रखें ताकि इसे किसी तरह की समस्या न हो। क्या आप जानते हैं किडनी को स्वस्थ रखने के सीक्रेट? आइए हम आपको बताते हैं।

(और पढ़ें - किडनी खराब होने के लक्षण)

  1. किडनी को स्वस्थ रखने के टिप्स
  2. सारांश
किडनी को स्वस्थ रखने के 6 सीक्रेट के डॉक्टर

किडनी स्वस्थ रहेगी, तो शरीर सही तरह से काम करेगा. ऐसे में यह जरूरी है किडनी बचाव के उपायों पर ध्यान दिया जाए. इन उपायों में खूब सारा तरल पदार्थ का सेवन, स्मोकिंग से दूरी बनाना, एक्सरसाइज करना शामिल है. आइए, किडनी बचाव के उपायों के बारे में विस्तार से जानते हैं -

 

हमेशा शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

किडनी को तंदरूस्त रखने के लिए जरूरी है कि आप नियमित शारीरिक रूप से सक्रिय रहें। कहने का मतलब है कि नियमित एक्सरसाइज करें। इससे लंबे समय से चल रही किडनी की समस्या के जोखिम भी कम होते हैं। इसके साथ ही बीपी कम होता है और हृदय स्वस्थ रहता है। ये दोनों कारक आपकी किडनी को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि आपको किसी एक्सपर्ट की तरह एक्सरसाइज नहीं करनी है। इसके बाजय आप वाॅकिंगरनिंगसाइकिलिंग और डांसिंग जैसी गतिविधियां कर सकते हैं। उन शारीरिक गतिविधियों को एक्सरसाइज के तौर पर चुनें, जिन्हें करने में आपको मजा आता है। इस तरह नियमित एक्सरसाइज करना आसान हो जाता है।

(और पढ़ें - किडनी रोग में क्या खाना चाहिए)

ब्लड शुगर को नियंत्रित रखें

डायबिटीज और हाई ब्लड शुगर जैसी समस्याओं की वजह से किडनी को क्षति हो सकती है। दरअसल जब आपके शरीर की कोशिकाएं रक्त में मौजूद ग्लूकोज (शुगर) का इस्तेमाल नहीं कर पातीं तो इससे किडनी को खून को साफ़ करने के लिए अतिरिक्त काम करना पड़ता है। यदि सालों साल यह प्रक्रिया चलती है तो इससे जानलेवा खतरा बढ़ सकता है। अतः अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित रखें। इससे किडनी को नुकसान होने के खतरे कम हो जाते हैं।

(और पढ़ें - किडनी फेल होने का कारण)

शरीर में पानी की कमी न होने दें

शरीर में कभी भी पानी की कमी न होने दें। लेकिन यह भी ध्यान रखें कि अतिरिक्त पानी पीना शरीर के लिए सही नहीं है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अब तक किसी भी अध्ययन ने यह साबित नहीं किया है कि अतिरिक्त पानी पीने से किडनी अपना काम बेहतर तरीके से करती है। अतः विशेषज्ञों की मानें तो शरीर की आवश्यकता अनुसार पानी पिएं। पूरे दिन में 4 से 6 गिलास पानी पीना आपकी किडनी के लिए उपयुक्त है।

(और पढ़ें - किडनी इन्फेक्शन के लक्षण)

बीपी संतुलित रखें

बीपी बढ़ने से किडनी पर इसका दबाव पड़ता है। सो, बीपी नियमित चेक करें। अगर आपको यह नहीं पता है कि आपका बीपी कम है या ज्यादा, तो बेहतर है डाॅक्टर से संपर्क करें। आपको बता दें कि किडनी को नुकसान पहुंचाने वाले कारकों में यह एक अहम वजह है। कई बार ऐसा होता है कि बीपी होने के बावजूद कोई लक्षण नजर नहीं आता। इससे समस्या गंभीर रूप ले सकती है। इससे बचने के लिए बीपी का नियमित चेकअप करें और इसे संतुलित भी रखें।

(और पढ़ें - किडनी फंक्शन टेस्ट क्या है)

धूम्रपान न करें

धूम्रपान करने से रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचता है, जिससे किडनी में रक्त प्रवाह कम होता है। अगर किडनी में रक्त प्रवाह सही न हो तो इससे किडनी की कार्यप्रणाली प्रभावित होती है। धूम्रपान हाई ब्लड प्रशर के जोखिम को भी बढ़ाती है जिससे किडनी का कैंसर होने की आशंका बढ़ती है। अत: धूम्रपान न करें।

यहां बताई गई सभी चीजों पर ध्यान रखकर आप अपनी किडनी को स्वस्थ रख सकते हैं।

हेल्दी डाइट का सेवन

मोटापे से ग्रस्त लोगों को कई तरह की बीमारियां होने का खतरा रहता है, जिसमें किडनी भी शामिल है. इसलिए, जरूरी वेट मैनेजमेंट पर ध्यान देना चाहिए. हेल्दी डाइट की मदद से वेट को मैनेज किया जा सकता है. हेल्दी डाइट के तहत कम सोडियम वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी जाती है, जैसे - फूलगोभी, ब्लूबेरी, फिशसाबुत अनाज.

(और पढ़ें - पथरी में परहेज)

किडनी हेल्दी रहेगी, तभी व्यक्ति का शरीर सही तरीके से काम कर पाएगा. किडनी बचाव के उपाय के तौर पर स्मोकिंग से दूरी, हेल्दी डाइट का सेवन, ब्लड प्रेशर मॉनिटर करना सहायक हो सकते हैं. वहीं, यदि किसी को पहले से किडनी की कोई भी बीमारी है, तो बेहतर है कि डॉक्टर से संपर्क करके उनके बताए तरीकों पर अमल किया जाए.

(और पढ़ें - किडनी स्टोन तोड़ने की दवाएं)

 
Dr. Rohit Namdev

Dr. Rohit Namdev

यूरोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव

Dr Vaibhav Vishal

Dr Vaibhav Vishal

यूरोलॉजी
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Dipak Paruliya

Dr. Dipak Paruliya

यूरोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Shyamala Gopi

Dr. Shyamala Gopi

यूरोलॉजी
20 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ