myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम क्या है?

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम दुर्लभ विकारों का एक समूह है, जिसमें आपका शरीर पर्याप्त स्वस्थ रक्त कोशिकाओं को नहीं बना पाता। कभी-कभी इसे "बोन मेरो फेलियर डिसऑर्डर" भी कहते हैं। कई लोगों को यह समस्या 65 की उम्र या उससे ज्यादा उम्र में होने लगती है, लेकिन यह व्यस्क लोगों को भी हो सकती है। माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम महिलाओं से ज्यादा पुरुषों में बेहद आम है। ये सिंड्रोम एक प्रकार के कैंसर होते हैं। 

(और पढ़ें - ब्लीडिंग कैसे रोकें)

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम के लक्षण क्या हैं?

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम के लक्षण जैसे थकान, सांस लेने में दिक्कत, शरीर पीला पड़ना (क्योंकि लाल रक्त कोशिकाएं कम होने लगती हैं), असामान्य फफोले पड़ना या रक्त बहना आदि। 

(और पढ़ें - खून बहना बंद कैसे करें)

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम क्यों होता है?

स्वस्थ व्यक्ति में, बोन मेरो नई रक्त कोशिकाओं को बनाता है, जो धीरे-धीरे बढ़ी होने लगती हैं। माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम तब होते हैं जब इस प्रक्रिया में कुछ रुकावटे पैदा होने लगती हैं, जिससे रक्त कोशिकाएं अच्छे से बढ़ नहीं पाती।

सामान्य तरीके से बढ़ने के बजाए, रक्त कोशिकाएं बोन मेरो में या खून में पहुंचने के बाद खत्म होने लगती हैं। धीरे-धीरे ऐसी रक्त कोशिकाएं बढ़ती जाती हैं, जिनकी वजह से समस्या बढ़ने लगती है जैसे थकान, खून की कमी, ब्लड कैंसरसंक्रमण आदि।

कुछ माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम के कारण पता नहीं चल पाते। अन्य सिंड्रोम कैंसर के उपचार, जैसे कि कीमो और रेडिएशन थैरेपी के कारण या विषाक्त केमिकल जैसे तंबाकू तथा कीटनाशक जैसे जहरीले केमिकल के संपर्क में आने के कारण होते हैं।

(और पढ़ें - हीमोग्लोबिन की कमी का इलाज​)

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम का इलाज कैसे होता है?

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम के इलाज में लक्षणों को ठीक किया जाता है जैसे थकान, ब्लीडिंग व इन्फेक्शन को ठीक किया जाता है। अगर आपको कोई लक्षण नहीं दिखते हैं तो डॉक्टर रोजाना समय-समय पर टेस्ट करेंगे और आपकी हालत पर नजर रखेंगे। अगर हालत ज्यादा गंभीर है तो डॉक्टर लाल रक्त कोशिकाओं, सफेद रक्त कोशिकाओं या प्लेटलेट्स को बदलने के लिए खून चढ़ा सकते हैं। 

(और पढ़ें - एनीमिया के घरेलू उपाय)

  1. माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम की दवा - Medicines for Myelodysplastic Syndrome in Hindi

माइलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
CelonibCelonib 100 Mg Capsule900.0
ChemotinibChemotinib 100 Mg Capsule279.0
IbatkinIbatkin 100 Mg Capsule904.76
ImatImat 100 Mg Tablet455.65
LeukanibLeukanib 100 Mg Tablet1100.0
VeenatVeenat 100 Mg Capsule855.0
AltanibAltanib 400 Mg Tablet3110.84
CadinibCadinib 400 Mg Tablet3675.15
GlivecGlivec 400 Mg Tablet3110.0
ImalekImalek 100 Mg Tablet875.9
ImanibImanib 100 Mg Capsule670.46
Imatib AImatib A 100 Mg Capsule575.0
ImatibImatib 100 Mg Capsule937.81
ImatinibImatinib 100 Mg Tablet915.38
LevinLevin 250 Mg Tablet42.86
Levin(Drl)Levin 100 Mg Tablet943.86
LupinibLupinib 100 Mg Tablet470.0
MitinabMitinab 100 Mg Tablet900.0
ShantinibShantinib 100 Mg Capsule875.0
TiminibTiminib 400 Mg Capsule3500.0
UnitinibUnitinib 400 Mg Capsule3339.0
ZealataZealata 400 Mg Tablet3454.5
LenalidLenalid 10 Mg Capsule8976.0
Lenalid MfLenalid Mf 25 Mg Capsule18501.2
LenangioLenangio 10 Mg Capsule2821.0
LenidLenid 10 Mg Capsule2900.0
LenmidLenmid 10 Mg Capsule2000.0
LenomeLenome 25 Mg Capsule17142.9
LenomustLenomust 10 Mg Capsule8750.0
LenzestLenzest 10 Mg Capsule2888.2
MyelosafeMyelosafe Capsule85.0
Myelosafe PgMyelosafe Pg Tablet105.34
DacogenDacogen 50 Mg Injection80000.0
DecitasDecitas 50 Mg Injection8096.18
DecitaxDecitax 30 Mg Injection5980.0
DecitexDecitex 50 Mg Injection7673.45
DeczubaDeczuba 50 Mg Injection7428.57
XaliboXalibo 50 Mg Injection7795.62
ZadineZadine 0.5 Mg Syrup25.21
AzadineAzadine 100 Mg Injection8333.43

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...