myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम क्या है?

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम एक बहुत ही दुर्लभ समस्या है, जिसमें आपके अग्न्याशय या छोटी आंत की ऊपरी तरफ एक या एक से अधिक ट्यूमर हो जाते हैं। ये ट्यूमर अधिक मात्रा में गैस्ट्रिन हॉर्मोन का निर्माण करते हैं, जिसके कारण पेट में बहुत ज्यादा एसिड बनने लगता है। इस एसिड से पेट में छाले और दस्त जैसे लक्षण होने लगते हैं। जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है, हालांकि ये 20 से 50 उम्र के लोगों में अधिक पाया जाता है।

(और पढ़ें - दस्त रोकने के घरेलू उपाय)

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम के लक्षण क्या हैं?

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम से ग्रस्त लोगों को पेट में दर्द और दस्त की समस्या होती है। इसके अलावा इसमें दस्त  ठीक न होना, भूख न लगना, खाने की नली में दर्द, कुपोषण, मतली, उल्टी में खून आना और सांस लेते समय आवाज आने की समस्याएं भी होती हैं।

(और पढ़ें - पेट में दर्द दूर करने के उपाय)

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम क्यों होता है?

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम के सटीक कारण का अभी तक पता नहीं चल पाया है लेकिन ये बात स्पष्ट है कि ये सिंड्रोम तब शुरू होता है जब आपके अग्नाशय, आंत के ऊपरी भाग या अग्नाशय के आस-पास के लिम्फ नोड्स में ट्यूमर बनने लगता है। ये ट्यूमर ऐसी कोशिकाओं से बना होता है जो बहुत अधिक गैस्ट्रिन हॉर्मोन का निर्माण करती हैं। इस हॉर्मोन के कारण पेट में बहुत ज्यादा एसिड बनता है, जिससे पेट में छाले और दस्त होते हैं।

(और पढ़ें - लिम्फोमा के कारण)

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम का इलाज कैसे होता है?

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम के इलाज के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है और जो सर्जन आपकी सर्जरी करते हैं वे भी इस सर्जरी में निपुण होने चाहिए, क्योंकि जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम के ट्यूमर बहुत छोटे-छोटे होते हैं और उनके स्थान का पता लगाना भी मुश्किल होता है। हालांकि, अगर आपको छोटे-छोटे बहुत सारे ट्यूमर हैं या ट्यूमर लिवर तक फैले हुए हैं, तो डॉक्टर सर्जरी से केवल एक बड़ा ट्यूमर निकालने की सलाह दे सकते हैं। कुछ अन्य मामलों में, ट्यूमर को बढ़ने से रोकने के लिए डॉक्टर अन्य उपचार भी कर सकते हैं। पेट में बन रहे ज्यादा एसिड के लिए प्रोटोन पंप इन्हिबिटर्स नामक दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है।

(और पढ़ें - ब्रेन ट्यूमर का इलाज)

  1. जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम की दवा - Medicines for Zollinger Ellison syndrome in Hindi

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम की दवा - Medicines for Zollinger Ellison syndrome in Hindi

जोलिंगर एलिसन सिंड्रोम के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Pantodac DSR खरीदें
P Ppi खरीदें
Pantocar खरीदें
Pantodac खरीदें
Pantop D खरीदें
Rantac खरीदें
Zinetac खरीदें
Pantocid खरीदें
Pantocid D खरीदें
Aciloc खरीदें
Pan खरीदें
Esofag D खरीदें
Nexpro Rd खरीदें
Nexpro खरीदें
Pantop खरीदें
Pan D खरीदें
Nexpro L खरीदें
Lanspep खरीदें
Reden O खरीदें
Raciper L खरीदें
Protera खरीदें
Protonil खरीदें
Pantaset D खरीदें
Lanspro खरीदें
R T Dom खरीदें

References

  1. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Zollinger-Ellison syndrome
  2. National Organization for Rare Disorders [Internet], Zollinger-Ellison Syndrome
  3. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Zollinger-Ellison Syndrome.
  4. National Center for Advancing and Translational Sciences. Zollinger-Ellison syndrome. Genetic and Rare Diseases Information Center
  5. Paola Tomassetti et al. Treatment of Zollinger-Ellison Syndrome. World J Gastroenterol. 2005 Sep 21; 11(35): 5423–5432. PMID: 16222731
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें