माउंटेन क्लाइंबर एक एडवांस एक्सरसाइज है, जो शरीर को मजबूती प्रदान करने के साथ ही हृदय रोग से भी बचाती है. खास बात तो यह है कि इसे करने के लिए बहुत ज्यादा जगह की जरूरत भी नहीं होती.

आज इस लेख में आप माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के तरीके, लाभ और प्रकार के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - वॉल सिट एक्सरसाइज)

  1. कैसे करते हैं माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज
  2. माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के लाभ
  3. माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के प्रकार
  4. सारांश
माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के फायदे के डॉक्टर

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज की शुरुआत इसके क्लासिक वेरिएशन से करनी चाहिए. इस एक्सरसाइज करने का बेसिक तरीका निम्नलिखित है -

  • शरीर को प्लैंक पोजीशन में ले आएं यानी शरीर का पूरा भार हाथों व पैर पर होगा. इस पोजीशन में ध्यान रखना है कि शरीर का भार हाथ और पैरों के बीच बराबरी से डिस्ट्रीब्यूट हो रहा हो.
  • हाथ कंधे की सीध में होने चाहिए, पीठ व पैर बिल्कुल फ्लैट और सिर भी शरीर की बराबरी में एक सीध में होना चाहिए.
  • अब जितना संभव हो सके, दाहिने घुटने को छाती के पास लाना है.
  • फिर दाहिने घुटने के सीधा करें और बाएं घुटने को छाती के पास लाएं.
  • जितना संभव हो सके ऐसा लगातार और तेजी से करना है. 
  • पैरों को बदलते समय सांस को अंदर और बाहर लेते रहना है.
  • जब एक घंटे तक माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज की जाती है, तो 650-700 कैलोरी बर्न होती है.

(और पढ़ें - लेग कर्ल एक्सरसाइज)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Urjas Energy & Power Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को शारीरिक व यौन कमजोरी और थकान जैसी समस्या के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Power capsule for men
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज एक साथ शरीर की कई मांसपेशियों और जोड़ों के वर्कआउट के लिए बढ़िया है. इससे दिल की सेहत भी दुरुस्त रहती है. आइए, विस्तार से माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के लाभ के बारे में जानते हैं -

पूरे शरीर का होता है वर्कआउट

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज को ‘कंपाउंड एक्सरसाइज’ भी कहा जाता है यानी इस एक्सरसाइज को करने से शरीर की सभी मांसपेशियां और जोड़ों का वर्कआउट होता है. इस तरह से कम समय में एक ही एक्सरसाइज के जरिए पूरे शरीर का वर्कआउट हो जाता है. माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज करने से पीठ, हिप्स, एब्स, ग्लूट्स, पैर और कंधे सब तंदुरुस्त रहते हैं.

(और पढ़ें - बर्पीस एक्सरसाइज)

बढ़ती है मोबिलिटी

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज पूरे शरीर के लिए शानदार है और मोबिलिटी को बढ़ाने में सक्षम है. इस एक्सरसाइज को करने के दौरान हिप्स और जोड़ ढीले होते हैं और उन्हें काम करने में आसानी होती है. इसे लगातार करने से जोड़ों में दर्द की समस्या भी नहीं होती है.

(और पढ़ें - बेंट ओवर रो एक्सरसाइज)

फंक्शनल फिटनेस

यह कोऑर्डिनेशन और चुस्ती में सुधार लाने में भी मददगार है. यह रोजाना के कामों में तेजी लाने के लिए भी एक बढ़िया एक्सरसाइज है और व्यक्ति को स्वस्थ बनाने में मदद कर सकती है.

(और पढ़ें - बैक एक्सटेंशन एक्सरसाइज)

दिल की सेहत रहती है दुरुस्त

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज पूरे शरीर के वर्कआउट के लिए है, तो इससे दिल की सेहत भी दुरुस्त रहती है. यह दिल को हेल्दी बनाने के साथ ही दिल की छोटी-मोटी समस्याओं को सुलझाने में मदद भी करती है.

(और पढ़ें - एरोबिक्स एक्सरसाइज)

वजन कम करने में मददगार

चूंकि, माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज में पूरे शरीर का वर्कआउट होता है, तो यह वजन कम करने में अहम भूमिका निभाती है. इसे लगातार करने से वजन कम होने में तेजी आती है.

(और पढ़ें - आइसोमेट्रिक एक्‍सरसाइज)

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज हर उम्र और फिटनेस लेवल के लोगों के लिए लाभदायक है. इस एक्सरसाइज में बदलाव लाकर इसकी कठिनता को कम या ज्यादा किया जा सकता है. आइए, विस्तार से माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के वेरिएशन के बारे में जानते हैं -

एलिवेटेड माउंटेन क्लाइंबर

यदि परंपरागत माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज को करते समय हाथ और कंधों में परेशानी महसूस होती हो, तो एलिवेटेड माउंटेशन क्लाइंबर को किया जा सकता है. इसमें हाथ को बेंच जैसी किसी ऊंची जगह पर रखने की कोशिश करनी चाहिए. इस तरह से पैरों पर शरीर का ज्यादा भार आएगा.

(और पढ़ें - क्रॉस ट्रेनर एक्सरसाइज)

Shilajit
₹449  ₹1299  65% छूट
खरीदें

जिम बॉल माउंटेन क्लाइंबर

शरीर के ऊपरी हिस्से को किसी फिक्स जगह पर सपोर्ट करके रखने से माउंटेन क्लाइंबर करना आसान हो जाता है. वहीं, जब हाथों को जिम बॉल पर रखा जाता है, तो इस एक्सरसाइज को करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. इसे जिम बॉल माउंटेन क्लाइंबर कहते हैं. जब बॉल शरीर के नीचे हिलती रहती है, तो सही फॉर्म बनाए रखने की कोशिश करके से शरीर को एक चैलेंज मिलता है.

(और पढ़ें - लेटरल रेज एक्सरसाइज)

क्रॉस बॉडी माउंटेन क्लाइंबर

माउंटेन क्लाइंबर वर्कआउट को कठिन करना हो, तो घुटने को विपरीत कंधे की ओर ले जाना चाहिए. ऐसा करते समय स्पीड अच्छी रहनी चाहिए. क्लासिक माउंटेन क्लाइंबर की तुलना में इसे करना थोड़ा मुश्किल है.

(और पढ़ें - फामर्स वॉक एक्सरसाइज)

स्पाइडरमैन माउंटेन क्लाइंबर

माउंटेन क्लाइंबर के इस वेरिएशन को पेट के निचले हिस्से को लक्ष्य करके किया जाता है. साथ ही यह शरीर के संतुलन और हिप्स को फ्लेक्सिबल बनाने में भी मदद करता है. इसे करने के दौरान दाहिने पैर को बाहर की ओर करते हुए घुटने को दाहिनी कोहनी की ओर लाना पड़ता है. एक बार जब दाहिना पैर वापस जगह पर आ जाए, तो इसी तरह से बाएं पैर से भी मूवमेंट को दोहराना होता है.

(और पढ़ें - किक बॉक्सिंग एक्सरसाइज)

वॉल माउंटेन क्लाइंबर

पैरों को जमीन से हटाकर और हाथों को दीवार से सटाकर खड़े हो जाएं, इस तरह कि जैसे आप दीवार को धक्का देने का प्रयास कर रहे हो. हाथों को कंधों की सीध में सीधा रखना है. अब दोनों घुटनों को एक-एक करके छाती तक लाने का प्रयास करें.

(और पढ़ें - ट्राइसेप्स डिप्स व्यायाम)

माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज एडवांस तरीके की एक्सरसाइज है, जिसमें शरीर की सभी मांसपेशियों का वर्कआउट होता है. फंक्शनल फिटनेस के लिए यह शानदार एक्सरसाइज है और दिल की सेहत को दुरुस्त रखने में भी मददगार है. माउंटेन क्लाइंबर एक्सरसाइज के कई वेरिएशन हैं, जिन्हें शरीर की क्षमता के अनुसार किया जा सकता है. अभी तक इस एक्सरसाइज के नुकसान सामने नहीं आए हैं.

(और पढ़ें - हैंग क्लीन एंड प्रेस एक्सरसाइज)

Dr. Himanshu Arora

Dr. Himanshu Arora

फिजियोथेरेपिस्ट
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Deep Maheshwari

Dr. Deep Maheshwari

फिजियोथेरेपिस्ट
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Mukesh Jat

Dr. Mukesh Jat

फिजियोथेरेपिस्ट
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Disha Bhav

Dr. Disha Bhav

फिजियोथेरेपिस्ट
2 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें