myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

किसी अन्य मादक पदार्थ की तरह शराब भी आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकती है, खासकर अगर आप रोजाना या कभी-कभी काफी ज्यादा मात्रा में शराब या अल्कोहल पीते हैं। यहां तक कि शराब की कम मात्रा भी रोगों को बढ़ाती है। असल में शराब आपके शरीर को कई तरह से प्रभावित करती है। कुछ प्रभाव तुरंत नजर आते हैं तो कुछ लंबे समय बाद आपके शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करते हैं। शराब आपके शरीर को कितना नुकसान पहुंचाती है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितनी शराब पीते हैं, किस तरह शराब पीते हैं और किस क्वालिटी की शराब पीते हैं। आपका लिंग, शारीरिक आकार, उम्र, शराब पीने का अनुभव, अनुवांशिक वजह, आपके शरीर की पोषण स्थिति, मेटाबाॅलिज्म स्तर और कई अन्य सामाजिक कारक भी इसके लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आइए जानते हैं कि शराब आपके शरीर को किस तरह प्रभावित करती है।

पाचन तंत्र और अंतःस्रावी ग्रंथियों (एंडोक्राइन ग्लैंड) पर प्रभाव
बहुत ज्यादा शराब पीने की वजह से आपके अग्नाशय (पेनक्रियाज) द्वारा उत्पादित पाचन एंजाइम (एक तरह का प्रोटीन जो कोशिकाओं के अंदर पाया जाता है) असामान्य रूप से सक्रिय हो सकता है। इन एंजाइम्स के बनने की वजह से सूजन हो सकती है, जिसे पैंक्रियाटिटिस या अग्नाशयशोथ कहा जाता है। यह बीमारी लंबे समय तक चल सकती है जो गंभीर जटिलताओं को पैदा कर सकती है।

(और पढ़ें- शराब की लत का इलाज)

लिवर  को नुकसान
लिवर शरीर का ऐसा अंग है जो शराब सहित शरीर से हानिकारक पदार्थों को हटाने में मदद करता है। लंबे समय तक शराब पीने की वजह से इस प्रक्रिया में बाधा आती है। यह लंबे समय से बनी हुई लिवर में सूजन और लिवर रोगों के जोखिम को भी बढ़ाती है। अगर सूजन की वजह से लिवर पर धारियां बनने लगे तो इस स्थिति को सिरोसिस कहते हैं। लिवर पर बनी धारियां ऊतकों को नुकसान पहुंचाती है। जैसे-जैसे लिवर तेजी से क्षतिग्रस्त होता है, वैसे-वैसे वह शरीर से विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने में असमर्थ होने लगता है।

(और पढ़ें- अल्कोहल के फायदे मुहांसे दूर करने के लिए)

मस्तिष्क को नुकसान
शराब की पहली घूंट लेने के महज 30 सेकेंड के अंदर यह मस्तिष्क में पहुंच जाता है। यह उन रसायनों और मार्गों को धीमा कर देता है जो आपके मस्तिष्क की कोशिकाओं को संदेश भेजने के लिए उपयोगी हैं। यह आपके मूड को बदल देता है, आपका संतुलन बिगाड़ता है। इतना ही नहीं आप ठीक तरह से सोच नहीं पाते, जिन्हें आप नशा खत्म होने के बाद याद भी नहीं कर पाते क्योंकि आपके मस्तिष्क को याद करने में दिक्कतें आती हैं। अगर आप लंबे समय से शराब पी रहे हैं तो इससे आपके मस्तिष्क का काम प्रभावित होता है। इसकी कोशिकाएं बदलने लगती हैं और छोटी भी हो जाती हैं। असल में बहुत ज्यादा शराब पीने की वजह से आपका मस्तिष्क सिकुड़ जाता है। इसका गहरा असर आपकी याद्दाश्त पर पड़ता है। यह शरीर के तापमान को स्थिर बनाए रखने और आपकी गतिविधियों को नियंत्रित करने में भी मुश्किलें पैदा करता है।

(और पढ़ें- नशे की लत का इलाज)

डायरिया और सीने में जलन
बहुज ज्यादा शराब पीने की वजह से छोटी आंतें और कोलोन (बृहदान्त्र) को भी नुकसान होता है। शराब आंतों और कोलोन से होकर आने वाले भोजन की गति को प्रभावित करती है। इस वजह से शराब पीने से डायरिया हो सकता है। यह लंबे समय तक चलने वाली बीमारी बन सकती है। यही नहीं शराब के अत्यधिक सेवन की वजह से हार्टबर्न या सीने में जलन की समस्या भी होने लगती है। दरअसल यह आपकी मांसपेशियों को आराम देता है, जिस वजह से एसिड को एसोफेगस (मुंह और पेट के बीच मौूजद नली) से बाहर रखता है। नतीजतन सीने में जलन की समस्या होने लगती है।

(और पढ़ें - शराब का नशा उतारने के घरेलू उपाय)

शराब कम पिएं या ज्यादा, यह शरीर को काफी ज्यादा प्रभावित करती है। यहां बताए गए नुकसानों के अलावा इसके और भी कई नुकसान हो सकते हैं। अतः स्वस्थ जीवन जीने के लिए शराब का सेवन बंद कर दें।

और पढ़ें ...