myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

शराब की लत क्या है ?

शराब की लत एक क्रोनिक (दीर्घकालिक) और प्रगतिशील बीमारी है जिसमें शराब पीने पर नियंत्रण रखने में समस्याएं, शराब पीते रहना, समस्याएं होने के बाद भी शराब न छोड़ना, शराब पर शारीरिक निर्भरता और शराब छोड़ने पर लक्षण होना जैसी समस्याएँ होती हैं। अगर आपको शराब पीने की लत है तो आप यह नहीं तय नहीं कर पाएंगे कि आप कितनी शराब पीएंगे, कब तक पीएंगे या इसके क्या परिणाम होंगे।

ऐसा तब होता है जब आप इतनी शराब पीते हैं कि आपका शरीर अंततः शराब का आदी हो जाता है। ऐसा होने पर, शराब आपके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज़ बन जाती है।
शराब की लत वाले लोग उसके बुरे नतीजों जैसे नौकरी खो देना या लोगों के साथ रिश्तों में समस्याएँ आना के बावजूद भी शराब नहीं छोड़ पाते हैं। उन्हें पता होता है कि उनकी शराब की लत उनके जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है लेकिन वह खुद को इसे पीने से रोक नहीं पाते।

  1. शराब की लत के चरण - Stages of Alcoholism in Hindi
  2. शराब की लत के लक्षण - Alcoholism Symptoms in Hindi
  3. शराब की लत के कारण - Alcoholism Causes in Hindi
  4. शराब की लत से बचाव - Prevention of Alcoholism in Hindi
  5. शराब की लत का निदान - Diagnosis of Alcoholism in Hindi
  6. शराब की लत का उपचार - Alcoholism Treatment in Hindi
  7. शराब की लत के जोखिम और जटिलताएं - Alcoholism Risks & Complications in Hindi
  8. शराब की लत की दवा - Medicines for Alcoholism in Hindi
  9. शराब की लत के डॉक्टर

शराब की लत के चरण - Stages of Alcoholism in Hindi

शराब की लत के कितने चरण होते हैं?

शराब की लत के निम्नलिखित तीन चरण होते हैं -

1. प्रारंभिक चरण
शराब की लत के प्रारंभिक चरण का अक्सर पता लगाना मुश्किल होता है क्योंकि शुरुआत में इसकी कोई भी स्पष्ट हानि या नुक्सान नहीं होते हैं। इस स्तर के दौरान, शराब पीने वाले का शरीर उसके प्रति सहिष्णुता का निर्माण करता है, इसलिए वह व्यक्ति नियंत्रण खोए बिना ज़्यादा मात्रा में शराब पी सकते हैं। लत के इस चरण की पहचान करने का तरीका है कि इसके सामाजिक पहलुओं को समझें। अगर आपको यह महसूस होता है कि आप तनाव या अन्य समस्याओं से निपटने के लिए लगातार शराब पीते हैं, तो यह संभव है कि आप शराब की लत के प्रारंभिक चरण में हों।

2. मध्य चरण
शराब की लत के मध्य चरण के दौरान, आप शारीरिक और सामाजिक बदलावों का अनुभव करेंगे। अत्यधिक शराब पीने के बाद आपको ब्लैकआउट हो सकता है। आपको शराब के लिए बहुत अधिक लालसा होगी और वह ना मिलने पर, लक्षणों का अनुभव हो सकता है।

3. अंतिम चरण
शराब की लत का अंतिम चरण तब होता है जब आप नियंत्रण खो देते हैं और यह आपको शारीरिक, सामाजिक और मानसिक रूप से प्रभावित करने लगती है। इस समय, आप शायद शराब पीने के इतने आदि हो चुके होते हैं कि आपने मित्रों और परिवार के साथ अपने संबंधों को नष्ट कर लिया होता है। इस चरण में ब्लैकआउट अधिक बार होते हैं और आप बिना शराब पिए रात में सो नहीं पाते हैं। कई लोग इस स्तर पर भी अपनी नौकरी संभालने में सक्षम होते हैं लेकिन वह लंबे समय तक ऐसा नहीं कर पाते। यहां तक कि अगर वे शारीरिक रूप से काम करने में सक्षम हैं, तो उनका दिमाग केवल शराब में ही रहता है।

चाहे आप इसे महसूस करें या न करें लेकिन अत्यधिक शराब पीने के कारण आप चिकित्सा समस्याओं का सामना करने लगते हैं। शराब पीने से हेपेटाइटिस, जिगर का सिरोसिस, बार-बार होने वाले श्वसन संक्रमण और पैन्क्रीअटाइटिस हो सकते हैं। गंभीर मामलों में, शराब के कारण हृदय की विफलता या मस्तिष्क की क्षति भी हो सकती है।

शराब की लत के लक्षण - Alcoholism Symptoms in Hindi

शराब की लत के लक्षण क्या हैं ?

शराब की लत के लक्षण इसके परिणामस्वरूप होने वाले व्यवहार और शारीरिक परिणामों पर आधारित होते हैं।

शराब की लत्त से ग्रस्त लोगों को निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं -

  1. अकेले शराब पीना।
  2. शराब के प्रभाव को महसूस करने के लिए अधिक पीना (उच्च सहिष्णुता होने पर)।
  3. अपनी पीने की आदतों के बारे में पूछे जाने पर हिंसक या नाराज़ हो जाना।
  4. खाना न खाना या ढंग से न खाना।
  5. निजी स्वच्छता न रखना।
  6. शराब पीने के कारण काम पर या स्कूल न जाना।
  7. शराब के सेवन को नियंत्रित करने में असमर्थ होना।
  8. शराब पीने के लिए बहाने ढूँढना।
  9. कानूनी, सामाजिक या आर्थिक समस्याएँ होने पर भी पीना जारी रखना।
  10. शराब के उपयोग के कारण महत्वपूर्ण सामाजिक, व्यावसायिक या मनोरंजक गतिविधियों को छोड़ना।

शराब की लत से ग्रस्त लोगों को निम्नलिखित शारीरिक लक्षण हो सकते हैं -

  1. शराब की लालसा।
  2. शराब न पाने पर मतली और उल्टी सहित अन्य लक्षण होना।
  3. शराब पीने की अगली सुबह कम्पन होना।
  4. शराब पीने की रात के बाद याददश्त खोना।
  5. बीमारियों जैसे कि मादक केटोएसिडोसिस (निर्जलीकरण प्रकार के लक्षण शामिल) या सिरोसिस होना।

शराब की लत के कारण - Alcoholism Causes in Hindi

शराब की लत का कारण क्या है ?

शराब की लत का कारण अभी भी अज्ञात है। यह लत तब होती है जब आप इतनी शराब पीते हैं कि आपके मस्तिष्क में रासायनिक बदलाव होने लगते हैं। ये परिवर्तन आपके लिए शराब का सेवन आनंददायक बना देते हैं जिससे आपको अधिक शराब पीनी की इच्छा होती है, भले ही इससे नुकसान हो।

अंततः, शराब की लत से जुड़ी सुखद भावनाएं दूर हो जाती हैं और इसके आदि लोग शराब को छोड़ने के बाद के लक्षणों को रोकने के लिए इसे पीते हैं। ये लक्षण काफी अप्रिय और यहां तक कि खतरनाक भी हो सकते हैं।

शराब की लत आमतौर पर समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होती है। यह पारिवारिक भी हो सकती है।

शराब की लत से बचाव - Prevention of Alcoholism in Hindi

शराब की लत का बचाव कैसे हो सकता है ?

प्रारंभिक निदान किशोरों में शराब की लत की रोकथाम कर सकता है। युवा लोगों के लिए, नशे करने की संभावना उनके माता-पिता, साथियों और अन्य आदर्शों के प्रभाव पर निर्भर करती है। वे कितना शराब के विज्ञापन से प्रभावित हैं, जीवन में कितनी जल्दी वे शराब का प्रयोग शुरू करते हैं, शराब के लिए उनकी मनोवैज्ञानिक आवश्यकता और आनुवांशिक कारक शराब की लत के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

यदि आपके आसपास कोई किशोर है, तो उनके लक्षणों के प्रति ध्यान दें जो शराब की लत की समस्या का संकेत दे सकते हैं। यह लक्षण हैं -

  1. गतिविधियों और शौक और निजी उपस्थिति में रुचि खोना।
  2. आँखों में ख़ून के धब्बे आना, ठीक से न बोल पाना, समन्वय की समस्याएँ और याददाश्त की समस्याएं होना।
  3. दोस्तों के साथ संबंधों में परिवर्तन आना।
  4. पढाई न कर पाना और स्कूल में समस्याएं आना।
  5. बार-बार मनोदशा में बदलाव और रक्षात्मक व्यवहार।

आप एक किशोर को शराब की लत को रोकने में मदद कर सकते हैं। उसके लिए एक अच्छा उदाहरण बनें और अपने बच्चे के साथ खुले तौर पर बात करें व उसके साथ समय बिताएं और उसके जीवन में सक्रिय रूप से शामिल हों।

शराब की लत का निदान - Diagnosis of Alcoholism in Hindi

शराब की लत का निदान कैसे होता है ?

शराब की लत की पहचान करना हमेशा डॉक्टर के लिए आसान नहीं होता है। अगर डॉक्टर को शराब की समस्या का संदेह होता है, तो वह उस व्यक्ति से कई प्रकार के प्रशन पूछ सकते हैं, अगर व्यक्ति एक निश्चित तरीके से जवाब देता है, तो डॉक्टर एक प्रमाण के अनुसार तैयार किए हुए प्रशनों का उपयोग कर सकते हैं।

निम्नलिखित लक्षण शराब की लत की ओर इशारा कर सकते हैं -

  1. शराब की सहिष्णुता - व्यक्ति को शराब का प्रभाव महसूस करने के लिए उसकी एक बड़ी मात्रा की आवश्यकता होती है। हालांकि, जब लीवर खराब हो जाता है और शराब को अच्छी तरह से पचा नहीं पाटा, तो यह सहिष्णुता कम हो सकती है। केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में होने वाली क्षति भी सहिष्णुता के स्तर को कम कर सकती है।
  2. शराब न पीने पर प्रभाव - जब व्यक्ति शराब से बचता या उसकी कटौती करता है, तो उसे झटके, अनिद्रा, मतली या चिंता का अनुभव हो सकता है। आमतौर पर, व्यक्ति इन लक्षणों से बचने के लिए और अधिक पीने लगता है।
  3. विचार से ज़्यादा पीना - व्यक्ति अपने विचार से अधिक शराब पीने लगते हैं या लंबी अवधि के लिए पीते हैं।
  4. कटौती करने का असफल प्रयास - व्यक्ति निरंतर शराब के सेवन को कम करने की कोशिश करता है, लेकिन सफल नहीं हो पाता या उसकी शराब को छोड़ने की लगातार इच्छा रहती है।
  5. समय लगाना - व्यक्ति बहुत अधिक समय शराब को प्राप्त करने, उसका उपयोग करने या उसे छोड़ने में बिताता है।
  6. अलग होना - व्यक्ति मनोरंजक, सामाजिक या व्यावसायिक गतिविधियों से अलग हो जाता है।
  7. दृढ़ता - व्यक्ति शराब का सेवन नहीं छोड़ता, हालांकि, उसे पता होता है कि यह उसे शारीरिक और मनोवैज्ञानिक रूप से नुकसान पहुंचा रही है।

शराब की लत के लिए टेस्ट -

  1. रक्त परीक्षण - रक्त परीक्षण केवल हाल ही की शराब की खपत को दिखा सकता है। वह यह नहीं बता सकता कि क्या एक व्यक्ति काफी समय से शराब का सेवन कर रहा है। यदि रक्त परीक्षण से पता चलता है कि शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के आकार में वृद्धि हुई है तो यह दीर्घकालिक शराब के सेवन का एक संकेत हो सकता है।
     
  2. कार्बोहाइड्रेट-डेफिशिएंट ट्रांसफिरिन (सीडीटी) (Carbohydrate-deficient transferrin) - यह एक ऐसा परीक्षण है जो भारी शराब की खपत का पता लगाने में मदद करता है। यह भी एक रक्त परीक्षण ही है।

शराब की लत का उपचार - Alcoholism Treatment in Hindi

शराब की लत का उपचार कैसे होता है ?

निम्नलिखित उपचार शराब की लत को छोड़ने में सहायता कर सकते हैं -

1. सलाह
एक योग्य सलाहकार आपको आपकी समस्याओं के आधार पर शराब छोड़ने के तरीके बताकर आपकी मदद कर सकता है और फिर पीने से बचने की एक योजना तैयार कर सकता है। संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी आमतौर पर शराब निर्भरता का इलाज करने के लिए उपयोग की जाती है।

2. अंतर्निहित समस्याओं का इलाज
एक शराबी में आत्मसम्मान, तनाव, चिंता, अवसाद या कुछ अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्याएँ हो सकती हैं। इन समस्याओं का इलाज करना भी महत्वपूर्ण है।

3. दवाएं जो शराब की गंभीर प्रतिक्रिया को गतिशील करती हैं
कुछ ऐसी दवाएं भी हैं जो शराब पीने पर एक गंभीर प्रतिक्रिया जैसे मतली, फ्लशिंग (Flushing; चेहरे, गर्दन, कान और धड़ में गर्माहट महसूस होना), उल्टी और सिर दर्द होते हैं।

4. शराब पीने की इच्छा के लिए दवाएं
कुछ दवाएं शराब पीने की इच्छा से लड़ने में मदद कर सकती हैं।

5. डीटॉक्सिफिकेशन
शराब न पीने के कारण होने वाले लक्षणों को रोकने के लिए कुछ दवाएं प्रयोग की जाती हैं। इसका उपचार चार से सात दिन चलता है।

शराब की लत के जोखिम और जटिलताएं - Alcoholism Risks & Complications in Hindi

शराब की लत के जोखिम कारक क्या हैं ?

शराब की लत के निम्नलिखित जोखिम कारक हैं -

  1. नियमित आधार पर शराब पीना - नियमित आधार पर बहुत ज़्यादा शराब पीने से शराब पर शारीरिक निर्भरता उत्पन्न हो सकती है।
  2. उम्र - जो लोग कम उम्र में शराब पीना शुरू करते हैं उन्हें शराब की लत की समस्या या उस पर शारीरिक निर्भरता होने के उच्च जोखिम होते हैं।
  3. पारिवारिक इतिहास - शराब की लत का जोखिम उन लोगों के लिए अधिक होता है, जिनके माता-पिता या अन्य करीबी रिश्तेदार इससे पहले से ही ग्रस्त होते हैं।
  4. अवसाद और अन्य मानसिक स्वास्थ्य समस्याएँ - जिन लोगों को चिंता, अवसाद या द्विध्रुवी विकार (Bipolar disorder) जैसी कुछ समस्याएँ होती हैं, उन्हें शराब की लत की समस्या होने की संभावनाएं अधिक होती हैं।
  5. सामाजिक और सांस्कृतिक कारक - दोस्त या करीबी साथी जो नियमित रूप से शराब पीते हैं, वे आपके शराब की लत के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। कभी-कभी मीडिया में दिखाय जाने वाले शराब पीने के आकर्षक तरीके भी यह संदेश दे सकते हैं कि शराब पीना ठीक है।
  6. दवाएं और शराब - कुछ दवाएं शराब के साथ परस्पर प्रभाव करती हैं और उसके विषैले प्रभावों को बढ़ाती हैं। इन दवाओं को लेने के दौरान शराब पीने से या तो उसकी प्रभावशीलता में वृद्धि या कमी हो सकती है या उसे खतरनाक भी बना सकती हैं।

शराब की लत की जटिलताएं

ज़्यादा मात्रा में शराब पीने से निम्नलिखित जटिलताएं हो सकती हैं -

  1. थकावट - व्यक्ति ज़्यादातर समय थका हुआ रहता है।
  2. याददाश्त की हानि - विशेष रूप से व्यक्ति की अल्पकालिक याददाश्त को हानि पहुंचती है।
  3. नेत्र की मांसपेशियों की कमज़ोरी - व्यक्ति की आंख की मासपेशियां काफी कमज़ोर हो सकती हैं।
  4. लीवर की बीमारियां - व्यक्ति को हेपेटाइटिस (Hepatitis) और सिरोसिस (Cirrhosis) होने की काफी अधिक संभावना होती है।
  5. जठरांत्रिय जटिलताएं - व्यक्ति को गैस्ट्रेटिस या अग्न्याशय की क्षति हो सकती है।
  6. उच्च रक्तचाप - नियमित रूप से ज़्यादा शराब पीने से व्यक्ति का रक्तचाप बढ़ सकता है।
  7. हृदय की समस्याएं - नियमित रूप से ज़्यादा शराब पीने से कार्डियोमायोपाथी (हृदय की मांसपेशी की क्षति), दिल की विफलता और स्ट्रोक हो सकते हैं।
  8. डायबिटीज - शराब पीने वालों को मधुमेह प्रकार 2 होने की बहुत अधिक सम्भावना होती है।
  9. मासिक धर्म की समस्याएँ - शराब पीने से आमतौर पर मासिक धर्म की समस्याएँ होती हैं।
  10. स्तम्भन दोष - शराब पीने से पुरुषों को स्तम्भन दोष हो सकता है।
  11. शिशु सम्बन्धी समस्याएँ - जो गर्भवती महिलाएं गर्भावस्था के दौरान शराब का सेवन करती हैं, उनके बच्चों को जन्म से समस्याएँ हो सकती हैं। (और पढ़ें - गर्भधारण करने के तरीके)
  12. हड्डियों का पतलापन - शराब पीने वाले व्यक्तियों को हड्डियों के पतलापन की समस्याएँ होती हैं क्योंकि शराब नई हड्डियों के उत्पादन में हस्तक्षेप करती है। इसका मतलब है कि फ्रैक्चर का बढ़ा जोखिम।
  13. कैंसर - शराब पीने से कई प्रकार के कैंसर होने का बहुत अधिक जोखिम होता है।
  14. दुर्घटनाएं - शराब पीने से कार दुर्घटनाएं, चोटें आदि होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।
  15. काम की समस्याएं - रोजगार की समस्याएं, बेरोज़गारी, स्कूल की समस्याएँ अक्सर शराब से संबंधित होती हैं।
  16. आत्महत्या - शराब पीने के बाद आत्महत्या करनी वाले लोगों की संख्या बहुत अधिक है।
  17. मानसिक बीमारी - शराब के ज़्यादा उपयोग से मानसिक बीमारी का खतरा बढ़ जाता है और मौजूदा मानसिक बीमारियां बदतर भी हो सकती हैं।
Dr. Ajay Kumar

Dr. Ajay Kumar

मनोचिकित्सा
14 वर्षों का अनुभव

Dr. Saurabh Mehrotra

Dr. Saurabh Mehrotra

मनोचिकित्सा
24 वर्षों का अनुभव

Dr. Om Prakash L

Dr. Om Prakash L

मनोचिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Anil Kumar

Dr. Anil Kumar

मनोचिकित्सा
12 वर्षों का अनुभव

शराब की लत की दवा - Medicines for Alcoholism in Hindi

शराब की लत के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Libotryp Tablet खरीदें
Acamprol खरीदें
Amitar Plus Tablet खरीदें
Sycodep खरीदें
Placidox खरीदें
Amitop Plus खरीदें
Toframine खरीदें
Valium खरीदें
Amitril Plus खरीदें
Trikodep खरीदें
Alzepam खरीदें
Nalcon खरीदें
Amitryn C खरीदें
Trikodep Forte खरीदें
Zepox T खरीदें
Biopose खरीदें
Naltima खरीदें
Amitryn C Plus खरीदें
Tudep खरीदें
Calmod खरीदें
Nodict खरीदें
Amivane Forte खरीदें
Anexidep खरीदें
Troxyca ER खरीदें
Clampose खरीदें

References

  1. National institute of alcohol abuse and alcoholism. Alcohol Use Disorder. U.S. Department of Health and Human Services. [internet].
  2. National institute of alcohol abuse and alcoholism. Alcohol & Your Health. U.S. Department of Health and Human Services. [internet].
  3. National institute of alcohol abuse and alcoholism. Alcohol Facts and Statistics. U.S. Department of Health and Human Services. [internet].
  4. National Health Service [Internet]. UK; National Institute on Alcohol Abuse and Alcoholism (NIAAA)
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Alcoholism and Alcohol Abuse
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें