इसमें कोई दो राय नहीं कि शराब पीना सेहत के लिए हानिकारक होता है. फिर भी ऐसे लोगों की कमी नहीं है, जो रोजाना शराब का सेवन करते हैं. अधिकतर लोग रात को शराब पीते हैं और सुबह सिरदर्द, उल्टी या थकान महसूस करते हैं. ये सभी हैंगओवर के लक्षण हो सकते हैं. शराब पीने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है और लिवर भी डैमेज हो सकता है. इसलिए, शराब का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए या फिर कम मात्रा में करना चाहिए.

आज इस लेख में आप हैंगओवर के लक्षण, कारण व इलाज के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - पार्टी से पहले हैंगओवर का डर)

  1. हैंगओवर क्या है?
  2. हैंगओवर के लक्षण
  3. हैंगओवर के कारण
  4. हैंगओवर का इलाज
  5. सारांश
हैंगओवर क्या है? के डॉक्टर

हैंगओवर कई लक्षणों का एक समूह है, जो अधिक शराब पीने के बाद महसूस हो सकता है. जो व्यक्ति अधिक शराब पीता है, उसे अगले दिन हैंगओवर ज्यादा हो सकता है. ऐसे लोगों को हैंगओवर होने पर शारीरिक व मानसिक रूप से कुछ ठीक नहीं लगता है. हैंगओवर शराब पीने के 24 घंटे बाद तक रह सकता है.

जो रात को जितनी अधिक शराब पीता है, उसे अगली सुबह उतने ही अधिक हैंगओवर के लक्षण महसूस हो सकते हैं. ये लक्षण कुछ इस प्रकार के हो सकते हैं -

थकान और कमजोरी

थकान और कमजोरी हैंगओवर का लक्षण हो सकता है. दरअसल, शराब शरीर को अधिक इंसुलिन बनाने के लिए प्रेरित करती है. इससे शरीर में ब्लड शुगर लेवल कम होने लगता है. ऐसे में थकान और कमजोरी महसूस हो सकती है. 

(और पढ़ें - शराब का नशा उतारने के घरेलू उपाय)

अधिक प्यास लगना

शराब एक मूत्रवर्धक ड्रिंक है. इसका मतलब है कि शराब पीने के बाद व्यक्ति बार-बार पेशाब करता है. इससे शरीर में मौजूद पानी, मिनरल्स और विटामिन बाहर निकल जाते हैं. इसकी वजह से व्यक्ति को बार-बार प्यास लग सकती है और मुंह सूख सकता है.

सिरदर्द व मांसपेशियों में दर्द

शराब पीने के बाद हैंगओवर होने पर सिरदर्द महसूस हो सकता है. दरअसल, शराब पीने से हृदय तेजी से पंप करना शुरू कर देता है और रक्त वाहिकाओं में ब्लड नहीं पहुंच पाता है. इस दबाव के कारण सिरदर्द हो सकता है. इतना ही नहीं मांसपेशियों में दर्द होना भी हैंगओवर का ही एक लक्षण हो सकता है.

(और पढ़ें - शराब की लत खत्म करने वाली दवा)

मतली व उल्टी

शराब पीने के बाद पेट में गैस बन सकती है. इसकी वजह से हैंगओवर होने पर मतली और उल्टी जैसा महसूस हो सकता है. शराब पीने के बाद कई लोग पेट दर्द की शिकायत भी कर सकते हैं.

नींद न आना

हैंगओवर की वजह से नींद भी प्रभावित हो सकती है. शराब नींद चक्र में बाधा डाल सकती है. वैसे तो सामान्य रूप से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए, लेकिन शराब पीने के बाद व्यक्ति 5 से 6 घंटे ही सो सकता है. ऐसे में हैंगओवर के कारण नींद पूरी नहीं हो पाती है.

चक्कर आना

शराब पीने से बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है. चक्कर आना डिहाइड्रेशन का ही एक लक्षण होता है. शरीर में पानी की कमी होने पर ब्लड प्रेशर कम हो जाता है. ऐसे में चक्कर आ सकते हैं.

(और पढ़ें - ज्यादा शराब दिल के लिए है घातक)

ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत

शराब पीने के बाद व्यक्ति को काम करते समय ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत आ सकती है. इसकी वजह से वे सही निर्णय नहीं ले पाते हैं.

मूड में बदलाव

मूड बदलना भी हैंगओवर का एक लक्षण हो सकता है. इसकी वजह से व्यक्ति डिप्रेशनस्ट्रेस या एंग्जायटी फील कर सकता है. रिसर्च के अनुसार, शराब पीने के बाद व्यक्ति अधिक गुस्सा कर सकता है.

तेज हृदय गति

दिल की धड़कन तेज होना भी हैंगओवर का एक आम लक्षण होता है. रिसर्च की मानें, तो शराब पीने के बाद दिल प्रति मिनट 100 बार धड़क सकता है. यह हृदय रोग के जोखिम को भी बढ़ा सकता है.

(और पढ़ें - शराब की लत से छुटकारा दिलाए केटामिन ड्रग)

मुख्य रूप से अधिक शराब पीने के कारण हैंगओवर होता है. शराब पीने के अलावा, कुछ अन्य स्थितियां भी हैंगओवर का कारण बन सकती हैं -

इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन

स्वस्थ रहने के लिए शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स का संतुलित स्तर होना जरूरी होता है. वहीं, शराब पीने से इलेक्ट्रोलाइट्स पेशाब के माध्यम से बाहर निकल जाते हैं. इसकी वजह से हैंगओवर के लक्षण महसूस हो सकते हैं.

बार-बार पेशाब करना

शराब पीने के बाद व्यक्ति को बार-बार पेशाब आ सकताहै. इसकी वजह से बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है. इसमें हैंगओवर के लक्षण, जैसे - प्यास लगना और चक्कर आना महसूस होने लगते हैं.

(और पढ़ें - नशे की लत का इलाज)

शरीर में सूजन

शराब पीने से शरीर की सूजन बढ़ सकती है. इसकी वजह से मांसपेशियों में दर्द हो सकता है, जो हैंगओवर का एक लक्षण होता है.

कब्ज

शराब पीने से पेट में एसिड का उत्पादन होता है. इससे गैस और कब्ज हो सकती है, जो हैंगओवर के लक्षणों को बढ़ा सकते हैं.

लो ब्लड शुगर की समस्या

जिन लोगों में लो ब्लड शुगर होता है, उन्हें शराब पीने के बाद हैंगओवर के लक्षण अधिक महसूस हो सकते हैं. दरअसल, शराब लैक्टिक एसिड पैदा करता है. लैक्टिक एसिड ब्लड शुगर के उत्पादन को गिरा देता है. इससे थकान और कमजोरी महसूस हो सकती है.

(और पढ़ें - नशे से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय)

हैंगओवर का सबसे कारगर इलाज शराब से दूरी बनाना है. फिर भी कुछ लोग शराब पीने की आदत नहीं छोड़ पाते हैं. ऐसे लोग निम्न उपायों के जरिए हैंगओवर से बच सकते हैं -

खाना खाएं

शराब ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकती है. ऐसे में शुगर को सामान्य करने के लिए कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाना खाएं. इसके लिए आप अंडेमछलीनट्स और एवोकाडो का सेवन कर सकते हैं.

पानी पिएं

शराब पीने के बाद बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है. ऐसे में अधिक पानी पीना चाहिए. लिक्विड डाइट लेने से डिहाइड्रेशन को रोका जा सकता है. 

(और पढ़ें - अफीम छोड़ने के फायदे)

पेन किलर लें

हैंगओवर होने पर सिरदर्द व मांसपेशियों में दर्द की शिकायत हो सकती है. ऐसे में नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स जैसे-इबुप्रोफेन या एस्पिरिन दवा ली जा सकती है. पेन किलर से दर्द से राहत मिल सकती है, लेकिन टाइलेनॉल लेने से बचें. ये दवा लिवर को नुकसान पहुंचा सकती है.

पूरी नींद लें

नींद की कमी होने पर सुबह हैंगओवर के लक्षण महसूस हो सकते हैं. इसलिए, शराब पीने के बाद पूरी नींद लेने की कोशिश करें.

(और पढ़ें - कोकीन के नुकसान)

एंटासिड टेबलेट लें

शराब के बाद पेट में गैस बन सकती है, इससे उल्टी या पेट दर्द महसूस हो सकता है. ऐसे में एंटासिड टेबलेट ली जा सकती है.

हैंगओवर से बचने का सबसे बेहतर तरीका यही है कि शराब का सेवन बिल्कुल न किया जाए. वहीं, कुछ लोग शराब पीने से होने वाले नुकसान के बारे में जानकर भी शराब पीते हैं और हैंगओवर का शिकार होते हैं. रिसर्च की मानें हैंगओवर से बचने के लिए एक से दो गिलास ही शराब पीनी चाहिए. अगर शराब पीने के बाद पीली त्वचा, सांस लेने में दिक्कतठंड लगना या बेहोशी जैसे लक्षण महसूस हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

(और पढ़ें - निकोटीन की लत से छुटकारा)

Dr. Shifa Shekhani

Dr. Shifa Shekhani

सामान्य चिकित्सा
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Afaque Rana

Dr. Afaque Rana

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Monalisa

Dr. Monalisa

सामान्य चिकित्सा
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Aadhaar Singhal

Dr. Aadhaar Singhal

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ