myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हमारे यहां ज्यादातर लोग यही मानते हैं कि सेक्स का मज़ा सिर्फ युवा ही ले सकते हैं जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। आप 50 के बाद भी सेक्स का आनंद उठा सकते हैं। हालांकि, बढ़ती उम्र में स्वास्थ्य से संबंधित कई समस्याएं होने लगती हैं, जिस वजह से पुरूष और महिलाएं सेक्स से दूरी बना लेते हैं। सेक्स से दूर रहने की बजाय बेहतर होगा कि आप इससे जुड़ी समस्याओं के बारे में जानकर उनका समाधान करें।

आज इस लेख में हम आपको 50 की उम्र में सेक्स से जुड़ी समस्याओं और उनके समाधान के बारे में बताने जा रहे हैं।

(और पढ़ें - सेक्स न करने के नुकसान)

पुरूषों की समस्याएं

  • स्तंभन दोष : 
    पुरूषों के लिए यह एक भयावह शब्द है। जिन पुरूषों में स्तंभन दोष होता है, वे सेक्स के लिए उत्तेजित नहीं हो पाते हैं। 50 साल की उम्र पार कर चुके पुरूषों को भी इस तरह का डर रहता है। उन्हें लगता है कि वे सेक्स के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हो पाएंगे या फिर सम्भोग के दौरान उन्हें इरेक्शन की समस्या हो जाएगी।
    आपको बता दें कि 50 साल की उम्र सेक्स के लिए सही होती है। अगर युवावस्था में आपकी सेक्स लाइफअच्छी रही है तो फिर इस उम्र में आपको सेक्स को लेकर कोई समस्या नहीं आनी चाहिए।
    हां, इरेक्शन में परेशानी हो सकती है। वैसे भी सेक्स पूरी तरह दिमाग का खेल होता है। अगर आप मानसिक रूप से सेक्स के लिए तैयार हैं और पार्टनर के साथ आपका रिश्ता अच्छा है तो इस उम्र में भी आपको स्तंभन दोष की परेशानी नहीं होनी चाहिए। सेक्स के दौरान सिर्फ अपने और अपनी पार्टनर के बारे में सोचें। इसके बावजूद किसी सेक्स प्रॉब्लम के लिए आप डाॅक्टर से बात कर सकते हैं।

(और पढ़ें - सेक्स कितनी बार करें)

  • शीघ्रपतन: 
    पुरुषों को शीघ्रपतन की समस्या भी हो सकती है जिसका इलाज संभव है। शोधों के अनुसार 18 से 49 साल की उम्र के बीच के पुरूषों को साल में कम से कम एक बार शीघ्रपतन जरूर होता है। 50 साल की उम्र में भी इस दर में कोई बदलाव नहीं आता।
    चिंता, तनाव होने की वजह से शीघ्रपतन हो सकता है। अगर आपके साथ ऐसा होता है तो परेशान न हों। अपने पार्टनर के साथ कुछ रोमांटिक पल बिताएं और फोरप्ले का आनंद लें। बॉडी मसाज से भी आप कामोत्तेजना महसूस कर सकते हैं। इस तरह तनाव और चिंता में भी कमी आ सकती है, जिससे शीघ्रपतन भी कम होगा।

(और पढ़ें - कामेच्छा बढ़ाने के उपाय)

महिलाओं की समस्याएं

  • योनि में सूखापन: 
    रजोनिवृत्ति होने के बाद महिलाओं में एस्ट्रोजन बनना बंद हो जाता है, जिससे उनकी योनि में सूखापन होने लगता है। योनि की ड्राइनेस की वजह से महिलाएं सेक्स से दूर रहती हैं। योनि में सूखापन है, तो इसके लिए लुब्रिकेंट या अन्य विकल्पों का इस्तेमाल कर सकती हैं।
    इससे योनि का सूखापन कम होगा और सेक्स के दौरान तकलीफ भी नहीं होगी। वैसे मेनोपाॅज की वजह से 50 साल पार कर चुकी महिलाओं को गर्मी लगने और ज्यादा पसीना आने की शिकायत रहती है। उन्हें इस उम्र में कई तरह की शारीरिक परेशानियां भी झेलनी पड़ती हैं। यही वजह है कि 50 पार कर चुकी महिलाएं सेक्स करने से कतराती हैं।

(और पढ़ें - अच्छे सेक्स के लिए व्यायाम)

  • सेक्स की चाह में कमी: 
    कुछ महिलाओं में मेनोपाॅज के बाद सेक्स की चाह काफी हद तक कम हो जाती है। यहां तक कि वे सेक्स से पूरी तरह दूरी बना लेती हैं। लेकिन इसके विपरीत कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं, जिन्होंने मेनोपाॅज के दौर का पूरा लुत्फ उठाया है। इस दौरान उनमें सेक्स के प्रति चाह पहले की तुलना में बढ़ी है। (और पढ़ें - मेनोपाॅज में ब्रेस्ट पर क्या पड़ता है असर)
    इस तरह की महिलाओं को मेनोपाॅज के बाद सेक्स की चाह में कमी का अहसास नहीं होता। इसके उलट वे मेनोपाॅज के बाद भी सेक्स करने के तरीके खोज लेती हैं। मेनोपाॅज होने का मतलब सेक्स से दूर रहना नहीं है। इसके बाद आपको अपने रिश्ते की एक नई शुरुआत पर ध्यान देना चाहिए।

(और पढ़ें - कामेच्छा की कमी के कारण)

और पढ़ें ...