myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सेक्स, पार्टनर के प्रति प्यार दिखाने का एक तरीका है। सेक्स करते हुए दोनों पार्टनर्स को मजा आना चाहिए जबकि कई बार महिलाओं के लिए सेक्स दर्द की वजह बन जाता है। आश्चर्य की बात ये है कि सेक्स के दौरान दर्द होने के बावजूद महिलाएं इसको लेकर गंभीर नहीं होतीं और न ही इस संबंध में अपने पार्टनर से बात करती हैं। कई बार किसी बीमारी की वजह से सेक्स के दौरान दर्द हो सकता है इसलिए महिलाओं को चाहिए कि सेक्स के दौरान हो रहे दर्द की वजह को जानें और दर्द से छुटकारा पाने का उपाय ढूंढें।

लुब्रिकेशन की कमी

अगर सेक्स के दौरान महिला में प्राकृतिक रूप से लुब्रिकेशन (निजी अंगों में चिकनाई) की कमी होगी तो महिलाओं को सेक्स के दौरान दर्द का अहसास होता है। वैसे भी 40 की उम्र के बाद जब महिलाओं को मेनोपाॅज हो जाता है, तो लुब्रिकेशन की समस्या बढ़ जाती है।

(और पढ़ें - सेक्स के लिए लुब्रिकेशन)

ऐसे में सेक्स के दौरान दर्द भी बढ़ जाता है। बेहतर सेक्स के लिए बाजार में उपलब्ध लुब्रिकेंट पदार्थ का इस्तेमाल कर सकती हैं। खासकर मेनोपाॅज पार कर चुकी महिलाओं के लिए यह ज्यादा लाभकारी है।

यूटीआई

यूरिन इन्फेक्शन होने की वजह से मूत्राशय और मूत्रमार्ग में दर्द होने लगता है। चूंकि मूत्राशय और मूत्रमार्ग दोनों ही योनि के ठीक ऊपर स्थित हैं इसलिए ऐसे में सेक्स के दौरान दर्द का अहसास हो सकता है। अगर यूरिन इन्फेक्शन है तो तुरंत डाॅक्टर से संपर्क करें।

(और पढ़ें - यूरिन इन्फेक्शन के घरेलू उपाय)

डाॅक्टर आपको यूरिन टेस्ट के लिए बोल सकते हैं। इससे पता चलेगा कि आपको किस तरह का इन्फेक्शन है। तभी आपको उपयुक्त दवा और ट्रीटमेंट दिया जा सकेगा। जब तक आप यूरिन इन्फेक्शन का इलाज नहीं कराएंगी तब तक सेक्स के दौरान दर्द बना रहेगा। इसके साथ ही ध्यान रखें कि अगर दवा के बावजूद यूरिन इन्फेक्शन कम न हो, तो डाॅक्टर को इसके बारे में बताना जरूरी है।

गर्भनिरोधक गोलियां

विशेषज्ञों का कहना है कि इन दिनों ज्यादातर महिलाओं को सेक्स के दौरान हो रहे दर्द की बड़ी वजह गर्भनिरोधक गोलियां हैं। दरअसल, गर्भनिरोधक गोलियां लेने की वजह से सेक्स हार्मोन का अतिरिक्त उत्पादन होता है। इससे महिलाओं के शरीर में बायोकेमिकल बदलाव होते हैं। नतीजतन, सेक्स के दौरान महिलाओं को दर्द होने लगता है।

जो महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियां ले रही हैं, अगर उन्हें सेक्स के दौरान दर्द होता है तो उन्हें इन गोलियों को लेना बंद कर देना चाहिए। इस मामले में आपको डाॅक्टर से संपर्क करना चाहिए। आमतौर पर सही ट्रीटमेंट की मदद से 6 माह में ही गर्भनिरोधक गोलियों की वजह से सेक्स के दौरान हो रहे दर्द से राहत मिल जाती है।

सेक्स के प्रति उदासीनता

सेक्स के प्रति उदासीनता की वजह से भी महिलाओं को सेक्स के दौरान दर्द होता है। दरअसल, महिलाओं को संभोग के 30 से 45 मिनट पहले फोरप्ले की जरूरत होती है ताकि सेक्स का मजा ले सके। ऐसा न करने पर  महिलाओं के लिए सेक्स एक बोझ की तरह हो जाता है।

(और पढ़ें - सेक्स न करने के नुकसान)

मानसिक रूप से सेक्स के लिए तैयार न होने की वजह से संभोग के दौरान महिलाओं को दर्द का अहसास होता है। ऐसे में महिलाओं को इस संबंध में अपने पार्टनर से बात करनी चाहिए। 

सेक्स में दर्द से राहत के लिए महिलाओं को अपनी भावनाओं को नियंत्रित करना सीखना होगा। उदाहरण के तौर पर, अगर महिला सोचती है कि सेक्स में होने वाला दर्द कभी कम नहीं होगा, तो इससे सेक्स के प्रति चाह कम होती चली जाएगी। साथ ही सेक्स करने से डर लगने लगेगा। कुछ दवाओं की मदद से सेक्स के दर्द से छुटकारा मिल सकता है। इसके लिए डाॅक्टर से संपर्क करें। 

और पढ़ें ...