myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

संभोग के दौरान दोनों पुरुषों और महिलाओं को दर्द हो सकता है, लेकिन महिलाओं को इसका अनुभव अधिक होता है और दर्द, मध्यम से काफी गंभीर भी हो सकता है।

सेक्स के दौरान अक्सर होने वाले दर्द को मेडिकल भाषा में डिस्परेयूनिया (Dyspareunia) कहते हैं। इसके कारण व्यापक रूप से भिन्न भिन्न होते हैं। इससे कठिनाई और आपके रिश्ते में भी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इसके कारण शारीरिक या मनोवैज्ञानिक हो सकते हैं या वे रजोनिवृत्ति से भी संबंधित हो सकते हैं।

(और पढ़ें - सेक्स के बारे में जानकारी)

इस समस्या का समाधान एस्ट्रोजेन थेरेपी, मौजूदा दवाएं बदल कर या काउंसलिंग द्वारा हो सकता है।

(और पढ़ें - सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन)

  1. संभोग के दौरान दर्द के लक्षण - Symptoms of pain during sex in Hindi
  2. सेक्स के दौरान होने वाले दर्द के कारण - Causes of pain during sex in Hindi
  3. सेक्स के दौरान होने वाले दर्द का निदान - Dyspareunia diagnosis in Hindi
  4. संभोग के दौरान होने वाले दर्द का इलाज - Treatment for pain during sex in Hindi
  5. सेक्स के दौरान दर्द के डॉक्टर
  6. महिलाओं की ये समस्याएं बनाती हैं सेक्स को दर्दनाक

डिस्परेयूनिया का सीधा सा लक्षण संभोग करते समय दर्द होना है जो योनि के मुख या श्रोणि की गहरायी में हो सकता है। इन जगहों पर दर्द, जलन, धमक या तेज सनसनाहट हो सकती है। सेक्स में असंतोष या उदासीनता इसके परिणाम हो सकते हैं।

(और पढ़ें - योनि में जलन का इलाज)

डिस्परेयूनिया के अलग अलग कारण हैं और इसके शारीरिक, मनोवैज्ञानिक या दोनों कारक हो सकते हैं। दर्द की जगह खासतौर से शारीरिक कारणों की पहचान करने में मदद कर सकती है।

शारीरिक कारण: शुरुआती दर्द

योनि में लिंग के प्रवेश करते समय दर्द, योनि के सूखेपन, योनि में दर्दनाक ऐंठन (Vaginismus), जननांग में चोट और अन्य कारणों से हो सकता है। (और पढ़ें - पहली बार सेक्स और सेक्स पोजीशन)

  • योनि का सूखापन:
    यौन उत्तेजना के दौरान, योनि के मुख पर उपस्थित ग्रंथियां संभोग को आसान बनाने के लिए तरल पदार्थ स्रावित करती हैं। इस तरल का बहुत कम स्रावण दर्दनाक संभोग का कारण बन सकता है।

    अपर्याप्त लुब्रिकेशन निम्न की वजह से उत्पन्न हो सकता है:
  • योनि का संकुचन (Vaginismus):
    पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों के अनैच्छिक (Involuntary) संकुचन से यह स्थिति उत्पन्न होती है, जिससे संभोग के समय दर्द होता है।
     
  • जननांगों में चोट (Genital injury):
    जननांग क्षेत्र में किसी भी प्रकार की चोट डिस्परेयूनिया का कारण हो सकती है। उदाहरण के लिए, महिला जननांग विकृति (Female genital mutilation), श्रोणि की सर्जरी या दुर्घटना से उत्पन्न होने वाली चोटें आदि। प्रसव के बाद दर्दनाक संभोग होना भी आम बात है। कुछ शोधों से पता चलता है कि 45 प्रतिशत प्रतिभागियों ने प्रसवोत्तर डिस्परेयूनिया का अनुभव किया है।
     
  • सूजन या संक्रमण (Inflammation or infection):
    योनि मुख के आसपास सूजन को वल्वर वेस्टिब्युलिटिस (Vulvar vestibulitis) कहा जाता है। इससे डिस्परेयूनिया हो सकता है। योनि में यीस्ट संक्रमण, मूत्र पथ संक्रमण या यौन संचारित रोग (एसटीआई) भी दर्दनाक संभोग का कारण बन सकते हैं।
     
  • त्वचा रोग (Skin disorders):
    जननांग क्षेत्र में एक्जिमा, लाइकेन प्लेनस (Lichen planus), लाइकेन स्केलेरोसस (Lichen sclerosus) या अन्य त्वचा रोगों से भी डिस्परेयूनिया की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। कपड़ों, कपड़े धोने वाले पाउडर या निजी सफाई के लिए उपयोग किये जाने वाले उत्पादों से जलन या एलर्जी होने पर भी दर्द हो सकता है।
     
  • जन्म से असामान्यताएं होना:
    डिस्परेयूनिया के कम प्रमुख कारणों में योनि का अधूरापन (Vaginal agenesis) शामिल है। इसमें योनि पूरी तरह से विकसित नहीं होती है, या हेमैन (Hymen) में छिद्र नहीं होता है अर्थात हेमैन, योनी के मुख को बंद रखता है। (और पढ़ें - योनि के बारे में जानकारी)

शारीरिक कारण: थोड़ी देर बाद होने वाला दर्द

यदि योनि गहरायी में लिंग के प्रवेश करने पर दर्द होता है या किसी विशेष स्थिति में अधिक तेज़ होता है, तो हो सकता है ये स्थिति किसी मेडिकल इलाज के परिणामस्वरूप उत्पन्न हुयी हो।

मेडिकल उपचार जो दर्द उत्पन्न कर सकते हैं उनमें, पेल्विक सर्जरी, हिस्टेरेक्टॉमी (Hysterectomy) और कुछ कैंसर के इलाज आते हैं।

ये स्थितियां निम्नलिखित हो सकती हैं:

  • सिस्टाईटिस (cystitis):
    यह मूत्राशय के भीतर होने वाला बैक्टीरियल संक्रमण है। इसमें मूत्राशय की दीवार पर सूजन आ जाती है।
     
  • एंडोमेट्रिओसिस (Endometriosis): इसमें गर्भाशय के अंदर पाया जाने वाला एक ऊतक बढ़कर गर्भाशय के बाहर फैलने लगता है।
     
  • गर्भाशय फाइब्रॉएड (Uterine Fibroids):
    गर्भाशय फाइब्रॉएड एक प्रकार के मांसल ट्यूमर होते हैं जो गर्भाशय (गर्भ) की दीवार में बनते हैं।
     
  • अंदरूनी सिस्टाईटिस (Interstitial cystitis):
    मूत्राशय की दर्दनाक क्रोनिक स्थिति।
     
  • अनियमित मलत्याग (Irritable bowel syndrome):
    पाचन तंत्र की गड़बड़ी।
     
  • ओवेरियन सिस्ट (Ovarian cysts):
    अंडाशय के भीतर तरल पदार्थ भर जाना।
     
  • पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (PID- Pelvic inflammatory disease):
    आमतौर पर संक्रमण के कारण महिला प्रजनन अंगों में होने वाली सूजन।
     
  • गर्भाशय आगे बढ़ना (Uterine prolapse):
    एक या अधिक श्रोणि अंगों का योनि तक बढ़ जाना।

(और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स के तरीके)

मनोवैज्ञानिक कारण

सेक्स के दौरान होने वाले दर्द में आम भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक कारक अहम भूमिका निभा सकते हैं।

  • चिंता, डर और डिप्रेशन, यौन उत्तेजना में कमी ला सकते हैं और योनि के सूखेपन या योनि के संकुचन का कारण हो सकते हैं।
  • तनाव, पैल्विक क्षेत्र की मांसपेशियों को कसने के कारण दर्द पैदा कर सकता है।
  • पहले कभी यौन दुर्व्यवहार या यौन हिंसा भी डिस्परेयूनिया का कारण हो सकते हैं।

(और पढ़ें - योनि का कसाव वापस लाने के उपाय)

डॉक्टर आपसे आपका मेडिकल इतिहास पूछेंगे और दर्द के कारणों की पहचान करने के लिए पेल्विक जांच करेंगे।

(और पढ़ें - सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं और सेक्स करने के तरीके)

आपको दर्द होने वाली सही जगह, दर्द का समय और कितनी देर दर्द होता है ये पता होना चाहिए। इसके साथ ही डॉक्टर से पिछले यौन अनुभवों और प्रजनन इतिहास के बारे में खुलकर बात कीजियेगा। कुछ भी छुपाने की ज़रूरत नहीं है।

पैल्विक जांच

पैल्विक जांच के दौरान डॉक्टर, संक्रमण या संरचनात्मक असामान्यताओं की जांच करते हैं।

वो इस जांच के लिए स्पेक्युलम (Speculum- एक उपकरण) का उपयोग करेंगे जो योनि में अंदर डाला जाता है। ये डिस्परेयूनिया से ग्रस्त महिलाओं में थोड़ी असुविधा या दर्द पैदा कर सकता है।

इस जांच के दौरान कब और कहाँ दर्द होता है, ये डॉक्टर को ज़रूर बताएं, ऐसा करने से इसके कारणों की पहचान करने में मदद मिल सकती है।

दर्द की सही जगह पता करने के लिए डॉक्टर आपके जननांगों और पैल्विक मांसपेशियों को धीरे से दबा कर चेक करेंगे।

पैल्विक अल्ट्रासाउंड द्वारा संरचनात्मक असामान्यताओं, एंडोमेट्रिओसिस (Endometriosis), गर्भाशय फाइब्रॉएड या ओवेरियन सिस्ट का पता लगाया जा सकता है।

(और पढ़ें - अल्ट्रासाउंड क्या है)

इस समस्या का इलाज दवाओं या काउंसलिंग द्वारा इसके कारण को दूर करने से होता है।

दवाएं

दवाओं द्वारा संक्रमण या उन स्थितियों का ही इलाज किया जा सकता है जो इलाज करने योग्य होती हैं।

यदि इन दवाओं से योनि में सूखापन हो रहा हो तो डॉक्टर कोई अन्य विकल्प सुझा सकते हैं।

एस्ट्रोजन हार्मोन, उन महिलाओं को योनि का सूखापन दूर करने के लिए दिया जाता है जिनमें एस्ट्रोजन का स्तर कम होता है।

प्रतिकूल प्रभावों में कम से थोड़े ज्यादा हॉट फ्लैशेस (Hot flashes) का अनुभव होता है:

डिसेंसिटाईजेशन थेरेपी (Desensitization therapy)

इस उपचार के दौरान, आप योनि को आराम पहुंचने वाली एक्सरसाइज सीखेंगी जो दर्द कम कर सकती हैं। डॉक्टर आपको सेक्स के समय दर्द कम करने के लिए पेल्विक फ्लोर के व्यायाम जैसे कीगल एक्सरसाइज या उसके अन्य तरीकों की सलाह दे सकते हैं।

काउंसलिंग या सेक्स थेरेपी (Counseling or sex therapy)

यदि लंबे समय तक सेक्स करने में दर्द हो रहा हो, तो उपचार के बाद भी आप कम यौन उत्तेजना अनुभव कर सकती हैं। यदि आप और आपके पति दर्दनाक संभोग के कारण अंतरंगता (Intimacy) से परहेज करने लगें, तो आपको उनसे बात करके अंतरंगता बेहतर बनाने की कोशिश करनी चाहिए। डॉक्टर, काउंसलर या सेक्स थेरेपिस्ट से बात करने से इन मुद्दों को सुलझाने में मदद मिल सकती है।

मनोचिकित्सा द्वारा भी नकारात्मक विचारों और व्यवहारों को बदलने में सहायता मिल सकती है।

(और पढ़ें - महिलाओं की यौन समस्याओं के इलाज)

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

सेक्सोलोजी

Dr. Srikanth Varma

Dr. Srikanth Varma

सेक्सोलोजी

Dr. Pranay Gandhi

Dr. Pranay Gandhi

सेक्सोलोजी

और पढ़ें ...

References

  1. Sorensen J, Bautista KE, Lamvu G, Feranec J. Evaluation and Treatment of Female Sexual Pain: A Clinical Review. Cureus. 2018 Mar;10(3). PMID: 29805948
  2. Mishra VV, Nanda S, Vyas B, Aggarwal R, Choudhary S, Saini SR. Prevalence of female sexual dysfunction among Indian fertile females. Journal of mid-life health. 2016 Oct;7(4):154.
  3. Mitchell KR, Geary R, Graham CA, Datta J, Wellings K, Sonnenberg P, Field N, Nunns D, Bancroft J, Jones KG, Johnson AM. Painful sex (dyspareunia) in women: prevalence and associated factors in a British population probability survey. BJOG: An International Journal of Obstetrics & Gynaecology. 2017 Oct 1;124(11):1689-97.
  4. MSDmannual Professional version [internet].Dyspareunia. Merck Sharp & Dohme Corp. Merck & Co., Inc., Kenilworth, NJ, USA
  5. MSDmannual Consumer Version [internet].Dyspareunia. Merck Sharp & Dohme Corp. Merck & Co., Inc., Kenilworth, NJ, USA
  6. American College of Obstetricians and Gynecologists [Internet] Washington, DC; When Sex Is Painful
ऐप पर पढ़ें