myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

महिलाओं में यौन समस्याएं आम हैं। अनुमान है कि युवा और मध्यम आयु वर्ग की लगभग एक-तिहाई महिलाओं और अधिक उम्र की आधी से ज्यादा महिलाओं को यौन समस्याएं प्रभावित करती हैं।

(और पढ़ें - पुरुषों के यौन रोग के उपाय)

  1. महिलाओं की यौन समस्याएं - Types of sexual dysfunction in Hindi
  2. महिलाओं की यौन समस्याओं के कारण - Causes of Female Sexual Problems in Hindi
  3. महिलाओं की यौन समस्याओं का निदान - Diagnosis of Female Sexual Problems in Hindi
  4. महिला यौन समस्याओं के इलाज के तरीके - Female Sexual Dysfunction Treatment in Hindi
  5. महिला यौन समस्याओं की घर पर स्वयं - देखभाल
  6. महिलाओं की यौन समस्याओं की रोकथाम - Prevention of Female Sexual Problems in Hindi
  7. महिलाओं की यौन स्वास्थ्य समस्याएं और समाधान के डॉक्टर
  8. क्या मेडिटेशन से बेहतर हो सकती है महिलाओं की सेक्स लाइफ

महिलाओं की यौन समस्याओं के निम्नलिखित मुख्य प्रकार हैं।
यौन इच्छा या उत्तेजना का अभाव:- यौन इच्छा या सेक्स ड्राइव की कमी अक्सर कामेच्छा के अभाव के रूप में वर्णित की जाती है और कई महिलाएं विभिन्न प्रकार के लक्षणों का अनुभव कर सकती हैं। यौन उत्तेजना की कमी का परिणाम योनि में लुब्रिकेशन की कमी, संबंधों में चिंता या ख़राब स्वास्थ्य के रूप में सामने आ सकता है।

(और पढ़ें - सेक्स के बारे में जानकारी)

यौन इच्छा की कमी और यौन उत्तेजना की कमी अक्सर एक साथ होते हैं। एक का इलाज अक्सर दूसरे में सुधार करता है। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने चिकित्सक को उन सभी लक्षणों का ब्यौरा दे जिनको आप महसूस करते हैं, क्योंकि इलाज के लिए विभिन्न प्रकार के उपचार उपलब्ध हैं।

चरम-सुख (ओर्गास्म) प्राप्त करने में समस्याएं:- इसमें कभी भी चरम-सुख (ओर्गास्म) न प्राप्त करना, ओर्गास्म में विलम्ब या ओर्गास्म की अनियमितता और ओर्गास्म संवेदनाओं की ताकत में कमी को शामिल किया जाता है। हालाँकि, कुछ महिलाओं को सेक्स का आनंद लेने के लिए ओर्गास्म प्राप्त करने की ज़रूरत नहीं होती है लेकिन कुछ महिलाओं और उनके यौन साथी के लिए यह समस्या हो सकती है।

सेक्स के दौरान या बाद में दर्द:- कुछ महिलाओं को सेक्स के दौरान दर्द का अनुभव हो सकता है यह योनि में लुब्रिकेशन की कमी के कारण और प्रवेश से पहले अपर्याप्त फोरप्ले के कारण हो सकता है। यह एक समस्या बन सकती है और एक महिला यौन अंतरंग होने या सेक्स का मजा लेना मजबूरन बंद सकती है।

(और पढ़ें - सेक्स के फायदे)

इंसानों में यौन समस्याओं के कारण बहुत ही विविध और जटिल हैं। कुछ समस्याएं एक साधारण, प्रतिवर्ती शारीरिक समस्या से जुड़ी हुई होती हैं वहीं कुछ समस्याएं अधिक गंभीर चिकित्सा स्थितियों, जीवन की मुश्किलों या भावनात्मक समस्याओं के कारण हो सकती हैं।

(और पढ़ें - सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं और सेक्स करने के तरीके)

कई प्रकार की शारीरिक या चिकित्सकीय स्थितियां महिला के यौन जीवन में संतुष्टि को कम कर सकती हैं। ऐसी कुछ समस्याएं निम्नलिखित हैं:-

  1. थकान (और पढ़ें – थकान दूर करने के घरेलू उपाय)
  2. गंभीर बीमारियां जैसे मधुमेह, हृदय रोग, यकृत रोग, किडनी रोग
  3. कैंसर
  4. तंत्रिका संबंधी विकार
  5. संवहनी (रक्त प्रवाह) विकार
  6. हार्मोनल असंतुलन
  7. रजोनिवृत्ति
  8. गर्भावस्था (और पढ़ें - पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करें और बच्चा गोरा होने के उपाय)
  9. शराब या नशीली दवाओं का दुरुपयोग

(और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स कैसे करें)

यौन समस्या का मूल्यांकन एक व्यापक चिकित्सा साक्षात्कार के साथ शुरू होता है। अपने डॉक्टर को किसी भी प्रकार की मेडिकल या मानसिक बीमारी, हाल ही में या पहले कभी हुई सर्जरी और कोई भी दवाई जैसे ओवर-द-काउंटर ड्रग्स, जड़ी-बूटियां या सप्प्लिमेंट्स ले रहे हैं, तो इसके बारे में बताएं।

(और पढ़ें - हली बार सेक्स और सेक्स पोजीशन)

एक पूर्ण शारीरिक परिक्षण भी किया जायेगा। आपकी समस्या के प्रकार को ध्यान में रखते हुए, आपका डॉक्टर पेल्विक परिक्षण को शामिल कर सकता है या परिक्षण के इस भाग के लिए आपको एक स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास भेज सकता है। कुछ अन्य प्रकार की समस्याओं के लिए, अन्य विशेषज्ञों के साथ परामर्श की आवश्यकता हो सकती है।

ज्यादातर मामलों में प्रयोगशाला परीक्षणों की ज़रूरत नहीं होती है, हालांकि आपके डॉक्टर कुछ स्थितियों को खारिज करने के लिए परीक्षण का अनुरोध किया जा सकता हैं। आपके हार्मोन के स्तरों की जांच के लिए ब्लड टेस्ट कर सकते हैं। एक्सरे और अन्य रेडियोलॉजी परीक्षण केवल असामान्य परिस्थितियों में आवश्यक होते हैं।

(और पढ़ें - एसटीडी रोग क्या है)

समस्या के प्रकार के आधार पर यौन समस्याओं का उपचार अलग-अलग होता है। कभी-कभी किसी उपचार की आवश्यकता नहीं होती है।

यदि यौन समस्या किसी मेडिकल या शारीरिक समस्या के कारण होती है, तो आपका डॉक्टर या परामर्श विशेषज्ञ उचित उपचार योजना का सुझाव देगा। यह निश्चित रूप से समस्या की प्रकृति के आधार पर भिन्न होगा। इस योजना में दवा, जीवन शैली में बदलाव या शल्य चिकित्सा शामिल हो सकती है। आपका डॉक्टर काउन्सलिंग करवाने की सलाह भी दे सकता है भले ही समस्या शारीरिक हो।

ड्रग ट्रीटमेंट्स:- महिलाओं की सेक्स समस्याओं के उपचार के लिए दवाएं भी मिलती हैं। अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार मार्केट में उपलब्ध दवाओं का उपयोग किया जा सकता हैं। मधुमेह या अवसाद जैसी समस्याओं का इलाज करने से भी यौन समस्याओं में राहत मिल सकती है।

सेक्स थेरेपी:- इस थेरेपी में एक व्यक्ति या दंपति अपने यौन या रिश्ते की समस्याओं का आकलन और उपचार करने के लिए एक अनुभवी चिकित्सक के साथ काम करते हैं। साथ में वे उन कारकों की पहचान करते हैं, जो समस्या को गति प्रदान कर रहें हैं। इन कारकों के प्रभाव को हल करने या कम करने के लिए एक विशिष्ट उपचार कार्यक्रम तैयार करते हैं। सेक्स थेरेपी का उपचार के अन्य रूपों के साथ संयोजन में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

योनि लुब्रिकेंट्स और मॉइस्चराइजर्स:- योनि का सूखापन एक समस्या है, तो यह लुब्रिकेंट्स और मॉइस्चराइजर्स के प्रयोग से बेहतर हो सकती है। यौन संभोग के समय योनि लुब्रीकेंट का उपयोग किया जाता है। ये अलग-अलग प्रकार में उपलब्ध हैं जैसे- तेल आधारित, पानी आधारित, सिलिकॉन आधारित इत्यादी। अपने डॉक्टर के परामर्श के अनुसार या जो आपके लिए उचित हो ऐसे लुब्रीकेंट का उपयोग कर सकते हैं।

योनि मॉइस्चराइजर योनि में नमी बनाए रखने में मदद करते हैं। इनको नियमित रूप से और सेक्स से कम से कम 2 घंटे पहले उपयोग किया जा सकता है। वे ओवर-द-काउंटर या प्रेस्क्रिप्शन पर उपलब्ध हैं। कृपया अधिक जानकारी के लिए अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

एस्ट्रोजेन:- एस्ट्रोजेन का स्तर रजोनिवृत्ति के बाद और मस्तिष्क में पिट्यूटरी ग्रंथि के आघात के बाद गिरता है (आमतौर पर सिर की चोट, अवजालतनिका (सुबरचनोइड) रक्तस्त्राव या सिर पर विकिरण के कारण)। एस्ट्रोजेन प्रतिस्थापन या तो व्यवस्थित रूप से पूरे शरीर में स्तर बढ़ाने के लिए या योनि में केवल इस क्षेत्र में स्तर बढ़ाने के लिए दिया जा सकता है।

टेस्टोस्टेरोन:- महिलाओं में, टेस्टोस्टेरोन अंडाशय और अधिवृक्क ग्रंथियों में स्वाभाविक रूप से पैदा होता है, और यह महिला यौन फंक्शन से जुड़ा हुआ है। यौन इच्छाओं में कमी टेस्टोस्टेरोन के स्तरों में गिरावट के साथ जुड़ी हो सकती है। जब एक महिला के अंडाशय को शल्यचिकित्सा (ऊ-फॉरेक्टमी) से हटा दिया जाता है, तो टेस्टोस्टेरोन का स्तर अचानक गिरता है। (और पढ़ें - टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के घरेलू उपाय)

Tibolone (Livial®):- ये अक्सर हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी (HRT) के एक प्रकार के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। यह मानव-निर्मित स्टेरॉइड है जिसमें महिला हार्मोन एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के साथ-साथ टेस्टोस्टेरोन भी हैं। यह गर्म फ़्लशेस जैसे रजोनिवृत्ति के लक्षणों में सुधार कर सकता है और कामेच्छा ('सेक्स ड्राइव') की कमी में सुधार कर सकता है।

मनोचिकित्सा:- यदि समस्या ज्ञान की कमी के कारण है, तो आपके डॉक्टर या सेक्स चिकित्सक आपको यौन प्रतिक्रिया चक्र और यौन उत्तेजना के तत्वों के बारे में (और आपके साथी को) सिखा सकते हैं। इस नए ज्ञान के साथ, कई जोड़ों को अपने आप आगे बढ़ने में मदद मिलती हैं। मनोचिकित्सा एक महिला को उसके जीवन में यौन समस्याओं की पहचान करने में सहायता कर सकती है।

(और पढ़ें - समलैंगिकता)

सभी यौन समस्याओं के लिए उपचार की आवश्यकता नहीं है कुछ समस्याओं को आप और आपके साथी द्वारा अकेले खुलेपन और रचनात्मकता के साथ हल किया जा सकता है। कुछ समस्याएं समय के साथ खुद दूर चली जाती हैं - आपको बस धैर्य और समझने की आवश्यकता है।

कभी-कभी आपके साथी के साथ समस्या की चर्चा करना ही पर्याप्त होता है। जो महिलाएं अपने पार्टनर को अपनी यौन जरूरतों के बारे में बताना सीख जाती हैं, उन्हें एक संतोषजनक यौन जीवन जीने का बेहतर मौका मिलता है।

समाधान को मज़ेदार बनाने का प्रयास करें - अपने यौन दिनचर्या में थोड़ा रोमांस और उत्तेजना लाने के तरीके सोचें। कुछ तरीके जो यौन समस्याओं पर काबू पाने में महिलाओं की मदद कर सकते हैं:-

  1. बच्चे और अन्य विकर्षण के बिना अपने साथी के साथ अकेले रहने के लिए अलग-अलग समय निर्धारित करें।
  2. उत्तेजना बढ़ाने के लिए कामुक वीडियो या पुस्तकों का उपयोग करें।
  3. अपनी कामोत्तेजना को बढ़ने के बारे में जानने के लिए हस्तमैथुन करें।
  4. जो आपको यौन उत्तेजित करता है उसके बारे में कल्पना करें। यदि उचित हो, तो अपने साथी को इन कल्पनाओं के बारे में बताएं।
  5. कामुक मालिश और स्पर्श के अन्य रूपों का उपयोग करें।
  6. नई सेक्स स्थितियों या परिदृश्यों की कोशिश करें।
  7. सेक्स करने से पहले गर्म स्नान जैसी विश्राम की तकनीक का उपयोग करें।
  8. योनि के सूखापन के कारण उत्तेजना की समस्याओं को दूर करने के लिए योनि लुब्रीकेंट का प्रयोग करें।
  9. कई उत्कृष्ट पुस्तकें बुकस्टोर्स या ऑनलाइन स्रोतों पर यौन और आपसी बातचीत की समस्याओं से निपटने में मदद करने के लिए उपलब्ध हैं। आप इनकी भी मदद ले सकती हैं।

यौन समस्याओं से बचने या ठीक करने के लिए आप सबसे महत्वपूर्ण काम यह कर सकते हैं कि अपने साथी के साथ खुलकर और ईमानदारी से संवाद करें।

सम्पूर्ण स्वास्थ को बढ़ावा देने के लिए एक स्वस्थ जीवन शैली को अपनाना आपके आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान को बढ़ाएगा, जो यौन संबंधों में आपकी रुचि और आपकी प्रतिक्रियाएं को बढ़ाएगा। आप निम्नलिखित सुझाव अपना सकते हैं:-

  1. एक स्वस्थ आहार खाएं।
  2. तम्बाकू का प्रयोग न करें।
  3. प्रत्येक दिन कम से कम 30 मिनट के लिए शारीरिक रूप से सक्रिय रहें अर्थात व्यायाम करें।
  4. प्रयाप्त आराम करें।
  5. तनाव नियंत्रण में रखें।
  6. यदि आप शराब पीते हैं, तो कम मात्रा में पिये।
  7. नियमित रूप से सिफारिश की गई स्वास्थ्य जांच जैसे पैप टेस्ट और मेमोग्राम करवाएं।

(और पढ़ें - योन स्वास्थ्य)

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

सेक्सोलोजी

Dr. Ghanshyam Digrawal

Dr. Ghanshyam Digrawal

सेक्सोलोजी

Dr. Srikanth Varma

Dr. Srikanth Varma

सेक्सोलोजी

और पढ़ें ...