myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नियमित सेक्स करना आपके लिए अच्छा होता है। शोधकर्ताओं ने हमारे बेडरूम में किए जाने वाले कार्यों से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के अध्ययन में काफी समय लगाया है, आपने भी सेक्स करने से होने वाले लाभ के बारे में कई बार पढ़ा होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यौन संबंध न बनाना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है? सेक्स की कमी आपके शरीर को कई तरीकों से प्रभावित कर सकती है।

(और पढ़े - सेक्स करने के फायदे)

संयम के प्रभाव प्रत्येक केस के हिसाब से अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन सेक्स ना करने के फायदे और नुकसान दोनों हो सकते हैं। यदि आप लंबे समय तक बिना किसी यौन गतिविधि के रह रहे हैं, तो आप संभावित रूप से कई समस्याओं की चपेट में आ सकते हैं।

संभोग न करने के आपके समग्र स्वास्थ्य पर कोई स्थायी प्रभाव तो नहीं पड़ेगा, लेकिन आपके शरीर और मस्तिष्क में कुछ अप्रत्याशित परिवर्तनों के होने की आशंका हो सकती है। आपके मूड से लेकर बीमारी के प्रति आपके जोखिम तक सेक्स न करना आपके शरीर और दिमाग में कई तरह की गड़बड़ पैदा कर सकता है।

(और पढ़े - सेक्स कब और कितनी बार करें)

इस लेख में महिला और पुरुषों पर सेक्स न करने से लंबे समय में होने वाले कुछ दुष्प्रभाव बताए गए हैं। इसके साथ संबंध न बनाने से होने वाले कुछ फायदे भी बताए गए हैं।

  1. सेक्स ना करने के महिला को नुकसान - Sex na karne ke mahila ko nuksan in hindi
  2. सेक्स ना करने के पुरुष को नुकसान - Sex na karne ke purush ko nuksan in hindi
  3. सेक्स न करने से महिला और पुरुष दोनों को नुकसान - Sex na karne ke mahila-purush donon ko nuksan in hindi
  4. सेक्स न करने के फायदे - Sex na karne ke fayde in hindi
  5. संभोग नहीं करने से हो सकते हैं ये नुकसान के डॉक्टर

हम में से कई लोग शायद सेक्स के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। लेकिन हर किसी के लिए जब तब एक लंबा समय बिना सेक्स के गुजरना स्वाभाविक है। इसमें आश्चर्य की बात नहीं है कि महिलाएं ऐसे समय में सबसे बुरी स्थिति में होती है।

(और पढ़े - सेक्स टॉय उपयोग करने के फायदे)

यदि आप उन महिलाओं में से एक हैं जिन्होंने सेक्स करना बंद कर दिया है, तो आपको फिर से यौन संबंध रखने के लिए और अपने यौन जीवन को बेहतर बनाने के लिए हर संभव चीज करनी चाहिए। यहाँ महिलाओं को सेक्स न करने से होने वाले कुछ नुकसान के बारे में बताया गया है।

(और पढ़े - सेक्स जीवन को बेहतर करने के उपाय)

  1. सेक्स ना करने से यौन इच्छा में कमी हो सकती है - Sex na karne se hota hai libido change in hindi
  2. संभोग न करने से योनि की दीवारे कमजोर होती है - Sambhog na karne se yoni ki diwar hoti hai kamjor in hindi
  3. संबंध न बनाने से योनि में गीलापन कम होने लगता है - Sex na karne se yoni ka gilapan kam hota hai in hindi
  4. यौन संबंध न बनाने से बढ़ सकती है ऐंठन - Sex na karne se badh sakti hai ethan in hindi

सेक्स ना करने से यौन इच्छा में कमी हो सकती है - Sex na karne se hota hai libido change in hindi

सेक्स न करने से आपकी सेक्स ड्राइव (कामेच्छा) में कमी हो सकती है या आपकी सेक्स ड्राइव बढ़ सकती हैं। सेक्स न करने वाले कुछ लोग कम जीवन शक्ति और सेक्स के लिए अधिक भूख के साथ अधिक सुस्त महसूस करना शुरू कर देते हैं।

(और पढ़े - कामेच्छा बढ़ाने के उपाय)

क्योंकि यह आपकी पहुँच में नहीं है तो आप अपनी यौन इच्छाओं को दूर करने की कोशिश करती हैं लेकिन कुछ लोगों के लिए, सेक्स न कर पाना उनकी सेक्स करने की इच्छा को अधिक बड़ा सकता है। आप या तो इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचती हैं या हर समय केवल इसके ही बारे में सोचती रहती हैं।

(और पढ़े - सेक्स न करने के लिए महिलाओं और पुरुषों के बहाने)

कम कामेच्छा को बढ़ाने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक वास्तव में अधिक सेक्स करना है। अधिक शारीरिक और भावनात्मक अंतरंगता का अनुभव करने से आप अपने साथी से अधिक जुड़ाव महसूस कर सकती हैं, इसलिए जब आप सेक्स करना बंद कर देती हैं सेक्स, फिर से शुरू करने की आपकी इच्छा समाप्त हो सकती है।

(और पढ़े - बेहतर सेक्स लाइफ के लिए योग)

संभोग न करने से योनि की दीवारे कमजोर होती है - Sambhog na karne se yoni ki diwar hoti hai kamjor in hindi

एक बार जब आपकी रजोनिवृत्ति शुरू हो जाती हैं, तो आपका शरीर पहले जितना अधिक एस्ट्रोजन स्राव नहीं करता है। यह वैजाइनल एट्रोफी का कारण बन सकता है, एक ऐसी स्थिति जिसमें आपकी योनि की दीवार पतली और सूखी हो जाती है तथा उसके फटने की प्रवणता बड़ सकती है।

(और पढ़े - समय से पहले रजोनिवृत्ति रोकने के उपाय)

अन्य महिलाओं की तुलना में यह मुख्य रूप से उन महिलाओं के लिए एक बहुत बड़ी समस्या है जो रजोनिवृत्ति के माध्यम से गुजर रही हैं। इसके लिए, रजोनिवृत्ति के दौरान योनि के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए नियमित रूप से यौन संबंध बनाना आपके लिए लाभदायक हो सकता है।

(और पढ़े - रजोनिवृत्ति से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य)

संबंध न बनाने से योनि में गीलापन कम होने लगता है - Sex na karne se yoni ka gilapan kam hota hai in hindi

एक अन्य दुष्प्रभाव जो मुख्य रूप से अधिक उम्र की महिलाओं पर लागू होता है, स्पष्ट रूप से आपकी योनि एक लंबे अंतराल के बाद संभोग शुरू करते समय लुब्रिकेटेड (गीली) होने के लिए संघर्ष करती है।

जब आप यौन रूप से सक्रिय होती हैं, तो आपने शायद ध्यान दिया होगा कि योनि का गीलापन उत्तेजना में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। यौन उत्साह उन ग्रंथियों को उत्तेजित करता है जो योनि में गीलापन पैदा करती हैं।

(और पढ़े - यौन शक्ति कम होने के कारण)

अगर एक महिला नियमित रूप से या बिल्कुल भी उत्तेजित नहीं होती है, तो वे योनि में सूखेपन का अनुभव कर सकती हैं, जो आपके यौन संबंध को दर्दनाक बना सकता है। यद्यपि "योनि में सूखापन” होने के अन्य कारण भी हो सकते हैं, जैसे रजोनिवृत्ति से जुड़े हार्मोनल असंतुलन, लेकिन नियमित हस्तमैथुन या साथी के साथ सेक्स करने से काफी लाभ हो सकता है।

(और पढ़े - लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कैसे करें)

यौन संबंध न बनाने से बढ़ सकती है ऐंठन - Sex na karne se badh sakti hai ethan in hindi

निर्विवाद रूप से, यह महिलाएं ही हैं जो अधिक प्रभावित हो रही हैं। यह बात आपको सामान्य सोच से अलग प्रतीत हो सकती है, लेकिन आपके पीरियड के दौरान यौन संबंध आपकी मासिक धर्म से जुडी ऐंठन को कम कर सकता है। इसके अलावा, एंडोर्फिन के स्राव में भी वृद्धि हो सकती है, जो मासिक धर्म की ऐंठन को कम करने भी मदद करेगा।

(और पढ़े - मासिक धर्म में सुरक्षित सेक्स कैसे करें)

इसलिए आपके पीरियड के दौरान यौन संबंध रखना वास्तव में मासिक धर्म की ऐंठन को कम करने का एक अच्छा तरीका है। गर्भाशय एक मांसपेशी है और कई महिलाओं को वास्तव में जब वे ऑर्गेज्म प्राप्त करती हैं तो गर्भाशय संकुचन होता है, जिससे रक्त अधिक तेजी से निकलता है, जिससे बदले में मासिक धर्म में पेट दर्द (ऐंठन) कम हो जाती है।

(और पढ़े - मासिक धर्म में पेट दर्द के घरेलू उपाय)

एक अच्छी और संतुष्टि वाली सेक्स लाइफ रखने के कई फायदे होते हैं, लेकिन कई पुरुष विभिन्न कारणों से संभोग करना बंद कर देते हैं या लंबे समय तक संभोग नहीं कर पाते हैं। इसके पीछे साथी से दूर रहना या लड़ाई होना जैसी कोई भी वजह हो सकती है।

(और पढ़े - सेक्स पावर बढ़ाने के उपाय)

लेकिन, अगर आप सेक्स करना बंद कर देते हैं तो आपको कुछ गंभीर नुकसान भी हो सकते हैं। शायद आप में से कुछ पुरुषों को उन लोगों के बारे में सुनकर आश्चर्य हो सकता हैं जो सेक्स नहीं कर रहे हैं पर सचमुच ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्होंने सेक्स करना बंद कर दिया है।

(और पढ़े - सेक्स के दौरान की जाने वाली गलतियां)

इसलिए हम आपको बता रहे हैं कि आखिर नियमित सेक्स न करने से पुरुषों के शरीर पर क्या प्रभाव हो सकता है?

  1. संभोग न करने से प्रोस्टेट कैंसर का है जोखिम - Sex na karne se prostate cancer ka hai jokhim in hindi
  2. संभोग न करने से इरेक्टाइल डिसफंक्शन हो सकता है - Sex na karne se erectile dysfunction ka hai jokhim in hindi

संभोग न करने से प्रोस्टेट कैंसर का है जोखिम - Sex na karne se prostate cancer ka hai jokhim in hindi

प्रोस्टेट कैंसर पुरुषों को होने वाले कैंसर के गंभीर रूप में से एक है। अमेरिका में किये गए एक अध्ययन के आंकड़ों के मुताबिक, अपने जीवनकाल में लगभग 7 में से 1 पुरुष में प्रोस्टेट कैंसर का निदान किया जाता है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका में कैंसर से संबंधित मौतों का तीसरा प्रमुख कारण भी है।

(और पढ़े - प्रोस्टेट कैंसर सर्जरी कैसे होती है)

यदि आपका सूखा दौर आत्म आनंद तक पहुँच जाता है यानी, यदि आप हस्तमैथुन भी बिल्कुल नहीं कर रहे हैं तो शोध कहता है कि यह आपके लिए अच्छा नहीं है। असल में, कई अध्ययनों ने इस निष्कर्ष पर ध्यान दिया है कि "उच्च स्खलन आवृत्ति" (यानि सप्ताह में कम से कम 6 से 7 बार वीर्य निकालना) प्रोस्टेट कैंसर का जोखिम कम होने से जुड़ा हुआ है।

(और पढ़े - शीघ्र स्खलन के कारण और इलाज)

अतः लंबे समय तक यौन संबंध नहीं बनाने से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करने के लिए नियमित रूप से हस्तमैथुन करने पर विचार करें, यदि आप किसी कारण से अपने साथी के साथ सेक्स नहीं कर पा रहे हैं।

(और पढ़े - सेक्स से जुड़े मर्दों के डर)

संभोग न करने से इरेक्टाइल डिसफंक्शन हो सकता है - Sex na karne se erectile dysfunction ka hai jokhim in hindi

आप पुरानी कहावत को तो जानते होंगे, "यदि आप इसका उपयोग नहीं करते हैं, तो आप इसे खो देते हैं?" विज्ञान बताता है कि कुछ हद तक, यह सच हो सकता है। अमेरिकी जर्नल ऑफ मेडिसिन में 2008 के एक अध्ययन में निष्कर्ष निकाला गया कि जो पुरुष अपने 50 60 और 70 के दशक में यौन रूप से सक्रिय नहीं थे, उनके इरेक्टाइल डिसफंक्शन से ग्रस्त होने की संभावना अधिक थी।

(और पढ़े - इरेक्टाइल डिसफंक्शन के घरेलू उपाय)

यह एक दिलचस्प खोज है, लेकिन संभवतः यह खोज उन पुरुषों के लिए जो सेक्स से दूर रहते हैं कोई स्वागत योग्य बात नहीं है। संयम या संभोग से दूरी पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन (लिंग सीधा न होने वाली अक्षमता) की संभावना में वृद्धि कर सकती है।

(और पढ़े - इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए योग)

इस विषय पर होने वाले अध्ययन अधिक उम्र के पुरुषों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, लेकिन उन सभी का एक निष्कर्ष समान होता हैं कि नियमित यौन गतिविधी करने से पुरुष की लिंग में उत्तेजना होने की क्षमता पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

(और पढ़े - सेक्स और उम्र का संबंध)

सौभाग्य से, इसका एक बहुत ही आसान समाधान है, भले ही आपके पास कोई साथी न हो, अनुसंधान से पता चलता है कि नियमित रूप से हस्तमैथुन करने से इन प्रभावों में से कुछ को कम करने में आपको काफी मदद मिल सकती है।

(और पढ़े - पहली बार सेक्स कैसे करें)

जीवन भर सेक्स न करने के नियम का पालन करना, सेक्स का अनुभव करने और फिर सेक्स करना छोड़ने से बिलकुल अलग मुद्दा है। हम इस लेख में उन लोगों की बात कर रहे हैं जो दूसरी श्रेणी में आते हैं यानि पहले लैंगिक रूप से सक्रिय थे लेकिन किसी कारण से सेक्स करना छोड़ दिया है या लंबे समय से सेक्स नहीं किया है। ऐसा होना अपेक्षाकृत आम है, खासकर ऐसे संबंधों में जो दीर्घकालिक होते हैं।

(और पढ़े - शादी से पहले सेक्स सही या गलत)

कारण कोई भी हो सकता है जैसे ब्रेकअप, आपके स्वास्थ्य में बदलाव या जीवन में तनाव के कारण आप अब सेक्स नहीं कर पाते हैं। यद्यपि समग्र स्वास्थ्य के लिए सेक्स जरूरी नहीं है, लेकिन कुछ वैज्ञानिक प्रमाण है कि शारीरिक अंतरंगता, उत्तेजना और ऑर्गेज्म कुछ अच्छे लाभों को आमंत्रित कर सकते हैं, आप सेक्स न करने पर जिनसे वंचित रह सकते हैं।

(और पढ़े - संबंधों में अंतरंगता लेन के उपाय)

ऐसे ही कुछ नुकसान निचे बताये गए हैं जो महिला और पुरुष दोनों को प्रभावित करते हैं।

  1. सेक्स ना करना बढ़ाता है तनाव और चिंता - Sex na karne se stress and anxiety badata hai in hindi
  2. सेक्स न करने से कम काम करता है दिमाग - Sex na karne se kam kaam karta hai dimag in hindi
  3. संबंध न बनाने से कमजोर होती है प्रतिरक्षा - Sex na karna immune system ko weak karta hai in hindi

सेक्स ना करना बढ़ाता है तनाव और चिंता - Sex na karne se stress and anxiety badata hai in hindi

हर किसी के लिए आजकल तनाव एक बहुत ही गंभीर मुद्दा है। गंभीर तनाव से आपके शरीर में कई प्रतिकूल प्रभाव हो सकते हैं। अपने तनाव को कम करने के कई तरीके हैं और सेक्स इसे कम करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। एक सक्रिय यौन जीवन आपके शरीर में तनाव वाले हार्मोन के स्तर को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़े - तनाव के लिए योग)

बेहतरीन सेक्स की एक रात सचमुच दुनिया में बाकी सब कुछ बेहतर महसूस करा सकती है। यहां तक ​​कि यदि आपका बोस आपको सांस लेने तक की फुरसत नहीं देता है या यदि आप समय सीमा वाले कामों के ढेर के नीचे दबे हैं, ये सभी चीजें चीजे एक दम आसान लगने लगती हैं। जाहिर है, इसका एक वैज्ञानिक कारण है।

2010 में जर्नल ऑफ फैमिली साइकोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में, महिला कॉलेज की छात्राओं ने एक प्रमुख परीक्षा से कई महीने पहले दैनिक तनाव और यौन गतिविधि के अपने स्तर की सूचना दी। जिन महिलाओं ने सबसे ज्यादा तनाव की जानकारी दी है, उन्होंने कम सेक्स करने की भी जानकारी दी थी।

हालाँकि तनाव का प्रबंधन करने के अन्य कई तरीके हैं, लेकिन आप यह ध्यान दे तो पता चलेगा कि यदि आप यौन संबंधों में कमी करते हैं तो आपका तनाव का स्तर बढ़ जाता है। दूसरी तरफ, तनाव का उच्च स्तर सेक्स को कम आकर्षक भी बना सकता हैं।

(और पढ़े - तनाव दूर करने के घरेलू उपाय)

सेक्स न करने से कम काम करता है दिमाग - Sex na karne se kam kaam karta hai dimag in hindi

मैरीलैंड विश्वविद्यालय ने चूहों पर किये गए एक अध्ययन में यह पाया कि नियमित तौर पर यौन संबंध से चूहे अधिक स्मार्ट हो गए और उनके मानसिक प्रदर्शन में भी सुधार हुआ और लंबी अवधि तक चीजें याद रखने की क्षमता में सहायता करने वाले न्यूरॉन के उत्पादन में भी वृद्धि हुई।

(और पढ़े - स्मरण शक्ति बढ़ाने के उपाय)

एक पुरानी कहावत है कि संयम आपको अधिक बुद्धिमान बनाता है। लेकिन सच्चाई वास्तव में इसके विपरीत नजर आती है। कुछ वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया है कि नियमित सेक्स करने से मस्तिष्क के हिप्पोकैम्पस (मानव के मस्तिष्क का एक प्रमुख घटक जो मेमोरी से जुड़ा हुआ है) में न्यूरॉन वृद्धि को बढ़ावा मिलता है। वहीं, यह भी पता चला है कि संयम से मस्तिष्क पर ऐसा कोई असर नहीं होता है।

(और पढ़े - दिमाग कैसे तेज करें)

संबंध न बनाने से कमजोर होती है प्रतिरक्षा - Sex na karna immune system ko weak karta hai in hindi

छूने, उत्तेजना और ऑर्गेज्म से प्राप्त होने वाले आनंद के माध्यम से शरीर में तनाव का स्तर कम होता है, आराम की भावना उत्पन्न होती है और अच्छा महसूस करवाने वाले रसायन स्रावित होते हैं। यह सब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए काफी सहायक है क्योंकि कम तनाव वाला शरीर बेहतर ढंग से बीमारियों को रोक सकता है।

(और पढ़े - प्रतिरक्षा बढ़ाने के घरेलू उपाय)

यौन संबंध छोड़ने या सेक्स न करने से आप उन लाभों से वंचित हो जाते हैं जो आपको पहले प्राप्त हो रहे थे। इससे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को लाभ नहीं मिलता और संभावित रूप से यह आपको ठंड, फ्लू और अन्य वायरस के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकता हैं।

(और पढ़े - फ्लू के घरेलू उपाय)

मनोवैज्ञानिक कार्ल चर्नेत्स्की और फ्रांसिस ब्रेनन जूनियर ने पाया कि ऑर्गेज्म आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए अविश्वसनीय रूप से फायदेमंद हैं। उन्होंने एक अध्ययन किया जहां उन्होंने उन लोगों से जो सप्ताह में एक या दो बार सेक्स कर रहे थे, लार के नमूने प्रदान करने के लिए कहा। उन नमूनों में ठंड को खत्म करने वाला आम एंटीबॉडी इम्युनोग्लोबुलिन ए अत्यधिक उच्च मात्रा में पाया गया।

हालाँकि, सेक्स न करने से महिला और पुरुष दोनों को काफी नुकसान होने की आशंका हो सकती है लेकिन सेक्स से दूर रहने के कई फायदे भी हैं। कुछ समय के लिए सेक्स से दूर रहने का चयन करने से कई महिलाओं को अपने शरीर के बारे में अधिक जानने में मदद मिली हैं।

(और पढ़े - सेक्स के दौरान पुरुषों से क्या चाहती हैं महिलाएं)

ऐसे जोड़े जो संभोग से दूर रहते हैं लेकिन अन्य प्रकार के यौन तरीकों और स्पर्श का आनंद लेते हैं, वे आपसी स्नेह में वृद्धि का अनुभव कर सकते हैं, नए उत्तेजना जगाने वाले क्षेत्रों को खोज सकते हैं और अन्य यौन तकनीकों में स्वयं को निपुण कर सकते हैं। इससे उनके संपूर्ण सेक्स जीवन में एक नयापन और उत्साह आ सकता है।

(और पढ़े - महिलाओं और पुरुषों को उत्तेजित करने वाले अंग)

कुछ अन्य फायदे निम्नलिखित हैं -

सेक्स न करने से यूटीआई का जोखिम कम हो जाता हैं
यह आश्चर्य की बात नहीं है कि यदि आप सेक्स नहीं कर रहे हैं तो यूटीआई का जोखिम कम हो सकता है, लेकिन मूत्र पथ संक्रमण की दर भी कम हो सकती है। हालाँकि, यह लाभ आप महिला है या पुरुष इस पर निर्भर करता है।

डॉक्टर्स के अनुसार यह संभोग ही है जो बार-बार होने वाले मूत्राशय के संक्रमण के जोखिम को संभावित रूप से बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार है। प्रीमेनोपॉज़ल महिलाओं में 80 प्रतिशत यूटीआई यौन संबंध रखने के 24 घंटे के भीतर हो जाते हैं।

(और पढ़े - यूटीआई के घरेलू उपाय)

संबंध न बनाने से एसटीडी का जोखिम कम हो जाता है
संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रीय एसटीडी रोकथाम सम्मेलन में पेश किए गए रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के प्रारंभिक आंकड़ों के मुताबिक,यौन संक्रमित बीमारियों की दर वहाँ पर फिर से बढ़ रही है और एक बार फिर यह संख्या 2017 में सबसे अधिक दर्ज हुई है। हालाँकि, हमारे देश में ऐसा कोई अध्ययन उपलब्ध नहीं है, लेकिन इससे आप एक अंदाजा लगा सकते हैं।

प्रत्येक व्यक्ति (या जोड़े) अलग-अलग तरह का अनुभव कर सकते हैं। आपके लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि आप सेक्स करना क्यों बंद कर रहे हैं और अगर आपको लगता है कि आपके यौन जीवन में कुछ बदलाव की जरूरत है तो अपने साथी से बात करना भी महत्वपूर्ण है।

Dr. Pranay Gandhi

Dr. Pranay Gandhi

सेक्सोलोजी

Dr. Tarun

Dr. Tarun

सेक्सोलोजी

Dr. Ghanshyam Digrawal

Dr. Ghanshyam Digrawal

सेक्सोलोजी

और पढ़ें ...