myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

मेस्टोइडेक्टमी सर्जरी कान में मौजूद मेस्टोइड एयर सेल को निकालने के लिए की जाती है। यह सर्जरी तब की जाती है जब ये कोशिकाएं संक्रमित हो जाती हैं या व्यक्ति को कोलेस्टीटोमा होता है। सर्जरी से पहले आपको छह घंटे के लिए भूखा रहने को कहा जा सकता है। डॉक्टर सर्जरी के दौरान आपको जनरल एनेस्थीसिया देंगे ताकि आप सर्जरी के दौरान सो जाएं।

सर्जरी के लिए आपके कान के पीछे चीरा लगाया जाता है और कान की हड्डी के संक्रमित हिस्से में छेद किया जाता है। सर्जरी के बाद घाव वाले स्थान को सूखा रखें। यदि आपको असामान्य लक्षण जैसे चक्कर आना या सुनाई देने में समस्या महसूस होती है तो इसके बारे में डॉक्टर को सूचित करें। सर्जरी के दो हफ्ते बाद फॉलो अप के लिए डॉक्टर के पास जाने को कहा जाएगा।

  1. मेस्टोइडेक्टमी क्या है - Mastoidectomy kya hai
  2. मेस्टोइडेक्टमी क्यों की जाती है - Mastoidectomy kyon ki jati hai
  3. मेस्टोइडेक्टमी से पहले की तैयारी - Mastoidectomy se pehle ki taiyari
  4. मेस्टोइडेक्टमी कैसे की जाती है - Mastoidectomy kaise ki jati hai
  5. मेस्टोइडेक्टमी के बाद देखभाल - Mastoidectomy ke baad dekhbhal
  6. मेस्टोइडेक्टमी के खतरे और जटिलताएं - Mastoidectomy ke khatre aur jatitayein

मेस्टोइडेक्टमी मेस्टोइड बोन के एयर कोशिकाएं को निकालने के लिए की जाती है। मेस्टोइड हड्डी वह सख्त हड्डी होती है जो कि आपको कान के पीछे महसूस होती है। यह हड्डी अंदर से मधुमक्खी के छत्ते की तरह बालों से भरी होती है जिनमें हवा जाने के लिए स्थान होता है, इन्ही बालों के जैसे आकार को मेस्टोइड कोशिका कहा जाता है। यह एयर स्पेस को कान के मध्य भाग से भी जोड़ती है। इसीलिए जब किसी व्यक्ति के मिडिल ईयर में रोग होता है तो ये मेस्टोइड हड्डी तक फ़ैल जाता है। ऐसी स्थिति में मेस्टोइडेक्टमी जरूरी हो जाती है।

यह सर्जरी आमतौर पर कोलेस्टिटोमा को निकालने के लिए की जाती है। कोलेस्टिटोमा में इयर ड्रम के पीछे त्वचा की असामान्य ग्रोथ हो जाती है जो कान के मिडिल भाग की तरफ बढ़ती जाती है या फिर मेस्टोइड हड्डी की तरफ बढ़ती है। इससे मेस्टोइड बोन दबने लगती है और बहरापन हो सकता है। सर्जरी की मदद से इयर ड्रम को ठीक किया जाता है और व्यक्ति के सुनने की क्षमता वापस आ जाती है। 

मेस्टोइडेक्टमी दो तरह से की जाती है -

  • कम्बाइंड एप्रोच टिमपेनोप्लास्टी - इसे क्लोज्ड केविटी सर्जरी भी कहा जाता है यह आमतौर पर 9 से 13 महीने के अंतराल में दो अवस्थाओं में की जाती है 
  • मोडिफाइएड रेडिकल मेस्टोइडेक्टमी - इस सर्जरी को ओपन केविटी सर्जरी भी कहा जाता है इस प्रक्रिया की सलाह कोलेस्टिटोमा को ठीक करने के लिए दी जाती है

मेस्टोइडेक्टमी की सलाह निम्न स्थितियों में दी जाती है -

डॉक्टर इस सर्जरी की सलाह कोलिस्टोटोमा या मेस्टोइडायटिस (मेस्टोइड बोन में बैक्टीरियल संक्रमण) के निम्न लक्षण दिखाई देने पर दे सकते हैं -

  • चक्कर आना
  • एक कान में सुनाई न देना
  • कान में दबाव महसूस होना
  • सिरदर्द
  • बुखार
  • चक्कर आना या चिड़चिड़ापन
  • कान में लालिमा, दर्द, सूजन या कोमलता
  • कान में दर्द
  • कान से स्त्राव निकलना

सर्जरी से पहले आपको निम्न तैयारी करने को कहा जा सकता है -

  • अपने कान को सूखा रखें। यदि आपको कान में कोई संक्रमण है तो डॉक्टर आपको कान में डालने के लिए ड्राप देंगे। सर्जरी से दो हफ्ते पहले से यह ड्राप डालना शुरू कर दें 
  • यदि आप रक्त को पतला करने वाली दवाएं जैसे एस्पिरिन या आइबूप्रोफेन ले रहे हैं तो डॉक्टर आपसे सर्जरी से दो हफ्ते पहले ये दवाएं लेने से मना करेंगे
  • सर्जरी से दो हफ्ते पहले धूम्रपान न करें इससे रिकवर होने में अधिक समय लगेगा
  • सर्जरी से छह घंटे पहले भूखे रहने को कहा जा सकता है। इस दौरान आप चाय, कॉफ़ी या फिर दूध भी नहीं पी सकते हैं। हालांकि, इस दौरान आप पानी और काली चाय पी सकते हैं 
  • अपनी दवाओं को पानी की बहुत थोड़ी मात्रा के साथ लें 
  • यदि आप किसी भी तरह की दवा ले रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बता दें 
  • सर्जरी से पहले आपको अनुमति फॉर्म भरने को कहा जाएगा। यदि आपको सर्जरी के बारे में कोई सवाल हैं तो आप उन्हें डॉक्टर से पूछ सकते हैं

सर्जन इस प्रक्रिया को निम्न तरह से करेंगे -

  • आपको जनरल एनेस्थीसिया दिया जाएगा
  • आपके प्रभावित कान के पीछे एक चीरा लगाया जाएगा
  • सर्जन एक बोन ड्रिल की मदद से आपके मिडिल इयर कैविटी और मेस्टोइड बोन तक जाएंगे

कम्बाइंड एप्रोच टिमपेनोप्लास्टी में मेस्टोइड बोन को निकाल दिया जाता है और कान की गुहा को बचाया जाता है।

मॉडिफाइड रेडिकल मेस्टोइडेक्टमी में मेस्टोइड बोन के साथ इयर कैनाल के पिछले हिस्से को निकाल दिया जाता है। इससे एक गुहा बन जाती है, जिससे मेस्टोइड बोन तक आसानी से पंहुचा जा सकता है। 

यदि कैविटी या गुहा बन गयी है तो इसे कार्टिलेज की मदद से सिल दिया जाता है। कार्टिलेज एक मजबूत इलास्टिक ऊतक होता है, जिससे कान का नाजुक हिस्सा बना हुआ होता है। इसके बाद सर्जन टांके लगाएंगे और घाव पर पट्टी कर दी जाएगी। वे कान का द्रव निकालने के लिए एक ड्रेन भी लगा सकते हैं, ताकि कान में द्रव का जमाव न हो। 

सर्जरी दो से तीन घंटों में पूरी हो जाएगी। 

सर्जरी के बाद आपको रिकवरी रूम में ले जाया जाएगा। आपको रात भर अस्पताल में रहने को कहा जाएगा। नर्स आप पर हुए जनरल एनेस्थीसिया के प्रभाव की जांच करेंगी साथ ही आपका रक्त चाप, हृदय की दर और ऑक्सीजन के स्तरों की भी जांच की जाएगी। अगली सुबह डॉक्टर आपके सिर से पट्टी हटाएंगे। यदि आपको दर्द है तो आपको पेन किलर दी जाएंगी और इसके बाद आप घर जा सकते हैं।

सर्जरी के बाद आपको निम्न चीज़ें महसूस हो सकती हैं -

  • ऑपरेशन के स्थान पर दर्द, सिरदर्द या कान में दबाव। यह दर्द पेन किलर से ठीक हो जाता है
  • आपके जबड़े में अकड़न या सूजन हो सकती है क्योंकि यह कान के करीब है, इसीलिए आपसे हल्का खाना खाने को कहा जाएगा
  • कुछ लोगों को महीने तक घाव के स्थान पर सुन्न महसूस हो सकता है
  • कान के अंदर लगाए गए पैकिंग पदार्थ या तो समय के साथ घुल जाएंगे या फिर डॉक्टर पहले फॉलो अप में उन्हें निकाल देंगे। घुलनशील पैकिंग के कारण कान में लगी हुई रुई का काळा या लाल रंग का हो जाना सामान्य बात है 
  • आपको कान में कुछ चटकने जैसी आवाज़ें भी सुनाई दे सकती हैं जो कि बेहद सामान्य है
  • एक से दो हफ्तों तक घाव से पस के साथ रक्त जैसा स्त्राव भी निकल सकता है
  • सर्जरी के बाद आपके स्वाद में कमी या बदलाव आ सकता है
  • कुछ लोगों को सर्जरी के एक हफ्ते बाद तक चक्कर आने की समस्या रह सकती है
  • सर्जरी के बाद आपको कुछ महीनों तक सुनने में समस्या हो सकती है, ऐसा पैकिंग, पट्टी और सूजन के कारण हो सकता है

सर्जरी के बाद निम्न बातों का ध्यान रखें -

  • सिर को तेजी से न हिलाएं
  • सर्जन आपको कान के दर्द से राहत के लिए दर्द निवारक गोलियां दे सकते हैं। उन्हें निर्देशानुसार लें
  • यदि आपको सर्जरी के बाद जबड़े में सूजन महसूस होती है तो आप हल्का खाना खाएं
  • लेटते समय अपने सिर को हल्का सा उठाए रखें, जिसका मतलब है कि सिर के नीचे दो तकिए रखें। ऐसा सर्जरी के बाद दो दिनों तक करें
  • जब तक कि कान से पस निकलना बंद न हो जाए तब तक रोजाना कान की रुई को बदलते रहें
  • सर्जरी के बाद तैरने न जाए। शावर लेते समय कान में एक रुई लगाएं और उस रुई पर पेट्रोलियम जेली लगाएं, ताकि कान में पानी न जाए
  • खांसते और छींकते समय मुंह को खुला रखें
  • नाक को तेजी से न निकालें। बल्कि हल्के से रुमाल से साफ कर लें, ताकि कान पर जोर न पड़े
  • सर्जरी के दो हफ्ते बाद साईकिल चलाने से आप हल्के व्यायाम की शुरुआत कर सकते हैं। इसके बाद एक महीने में आप शारीरिक व्यायाम शुरू कर सकते हैं 
  • सर्जरी के बाद एक हफ्ते तक काम पर न जाएं, क्योंकि तनाव के कारण संक्रमण हो सकता है
  • आपको सर्जरी के बाद अलग स्वाद भी आ सकते हैं, जो कि तीन महीने तक रह सकता है

मेस्टोइडेक्टमी के बाद आप मेस्टोइड बोन के संक्रमण से पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे और अच्छे से सुनाई देने लगेगा।

डॉक्टर के पास कब जाएं?

यदि आपको निम्न में से कोई लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं

  • तापमान का 38.5 डिग्री सेल्सियस से ऊपर होना
  • चेहरे की कमजोरी
  • अत्यधिक चक्कर
  • उल्टी
  • गंभीर सिरदर्द दर्द जिस पर दवाओं का प्रभाव न पड़े
  • दर्द में वृद्धि
  • घाव के चारों ओर लालिमा
  • ऑपरेशन स्थल से स्त्राव निकलना
  • सुनाई कम देना
  • संक्रमण
  • रक्तस्त्राव

सर्जरी के संभावित जोखिमों में शामिल हैं :

  • बहरापन
  • टिनिटस
  • सिर चकराना
  • स्वाद में गड़बड़ी
  • संक्रमण
  • चेहरे की कमजोरी
  • कान के शीर्ष पर सुन्नता
  • मस्तिष्कमेरु द्रव का रिसाव
और पढ़ें ...

References

  1. Oxford University Hospitals [internet]: NHS Foundation Trust. National Health Service. U.K.; Mastoid surgery
  2. Royal Berkshire Hospital [internet]: NHS Foundation Trust. National Health Service. U.K.; Mastoid surgery
  3. Flint PW, Haughey BH, Lund V, et al, eds. Cummings Otolaryngology - Head and Neck Surgery. 6th ed. Philadelphia, PA: Elsevier Saunders; 2015:chap 142, 139.
  4. MacDonald CB, Wood JW. Mastoid surgery. In: Myers EN, Snyderman CH, eds. Operative Otolaryngology - Head and Neck Surgery. 3rd ed. Philadelphia, PA: Elsevier Saunders; 2018:chap 134.
  5. O'Handley JG, Tobin EJ, Shah AR. Otorhinolaryngology. In: Rakel RE, Rakel DP, eds. Textbook of Family Medicine. 9th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2016:chap 18.
  6. National Health Service [internet]. UK; Mastoiditis
  7. The University of Kansas Health System [internet]. University of Kansas. Pre and Post-Operative Instructions for Your Ear Surgery
  8. Royal Cornwall Hospitals [Internet]. NHS Trust. National Health Service. UK; Mastoidectomy or combined approach tympanoplasty
  9. St Helens and Knowsley Teaching Hospitals NHS Trust [Internet]. National Health Service. UK; Advice for patients having mastoid surgery
  10. UW Health: American Family Children's Hospital [Internet]. Madison (WI): University of Wisconsin Hospitals and Clinics Authority; Your Care at Home After a Mastoidectomy
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ